Get Indian Girls For Sex
   

मामी को ब्लैकमेल करके सेक्स करा रंडी की तरह अलग अलग पोज में चोदा Sex Stories

मामी को ब्लैकमेल करके सेक्स करा रंडी की तरह अलग अलग पोज में चोदा Sex Stories : हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अभी है और में बरेली उत्तरप्रदेश से हूँ। में इस साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ और इसकी हर एक स्टोरी लाजवाब है। आज में पहली बार अपनी स्टोरी लिखने जा रहा हूँ। वैसे तो में कई लड़कियों को चोद चुका हूँ, लेकिन मेरा मन मेरी मामी को चोदने का था। ये घटना उस समय की है जब में बी.एस.सी 2nd ईयर में था और मेरी छोटी मामी हमारे शहर में ही रहती थी। मामा हमारे शहर में ही जॉब करते है और उनका एक 5 साल का बच्चा है। में आपको उनके फिगर के बारे में बता दूँ, वाह क्या फिगर है? जो उसे देख ले उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाए। वो लगभग 27 साल की है, बड़े बूब्स और मस्त गांड है, जब वो चलती है तो उनकी गांड ऐसे हिलती है कि बस पूछो मत, लंड अपने आप उनकी गांड देखकर खड़ा हो जाता है। तो दोस्तों में उनका बहुत दिनों से दीवाना था और उनके नाम की मुठ मारना मेरे लिए रोज का काम हो गया था, कभी-कभी में कॉलेज से सीधे उनके घर पहुँच जाता था, मामा ऑफिस चले जाते थे और उनका बेटा स्कूल चल जाता था।

अब में उनके शरीर को निहारता रहता था, क्या बूब्स थे? मेरा मन करता था कि अभी खोलकर चूसना शुरू कर दूँ, लेकिन मन में कभी सेक्स को लेकर ख्याल नहीं आया, में डरता भी था कि कहीं मामी ने मेरे घरवालों को बोल दिया तो बहुत बड़ी प्रोब्लम हो जायेगी। एक दिन की बात है मामा के बेटे का बर्थ-डे था, सभी का निमंत्रण था तो सभी लोग मामा के घर आए, मामी ने काले कलर की साड़ी पहनी थी, वो क्या माल लग रही थी? वो लाल लिपस्टिक में एकदम रंडी लग रही थी। मेरा मन कर रहा था कि में उसे अभी ले जाकर नंगा कर दूँ और चूत चाटकर उन्हें चोद दूँ और उन्हें पूरे टाईम अपने बदन से चिपकाकर रखूं। फिर पार्टी शुरू हुई, सबने डिनर किया और अब मेरा ध्यान तो बस मामी पर था। फिर डांस भी हुआ और मामी ने भी डांस किया सब मस्ती में लगे हुए थे।

अब मुझसे रहा नहीं गया तो में बाथरूम में गया और मामी के नाम की मुठ मार दी। अब रात काफ़ी हो गई थी और हम सब लोग मामी के घर पर ही रुक गये थे, फिर सुबह होते ही सब जाने लगे और अब मेरा जाने का मन नहीं था तो मैंने एक प्लान बनाया। में देर तक सोता रहा और जब माँ ने मुझे जगाया तो मैंने सिर दर्द की बात कही। फिर मम्मी बोली कि हम सब जा रहे है जब तुम्हे आराम मिल जाए तो आ जाना। तो मामी ने भी यही बात बोली, क्योंकि हमारे घर एक ही शहर में है तो किसी को कोई प्रोब्लम नहीं हुई। फिर सब चले गये और मामा ऑफिस चले गये और मामी ने बेटे को स्कूल भेज दिया।

अब घर में सिर्फ़ में और मामी थे, तो मामी बोली कि में चाय बनाकर लाती हूँ तुम्हें कुछ आराम मिलेगा। फिर मैंने हाँ कह दिया और फिर मामी चाय लेकर आई और हम साथ में चाय पीने लगे और हम दोनों बातें करने लगे।

मामी : दर्द कैसा है अब?

में : अब आराम है मामी।

मामी : कॉलेज नहीं जाओगे आज?

में : में आज छुट्टी कर लूँगा।

फिर मामी ने स्माइल किया, तभी मेरे मोबाईल में मेरे दोंस्त का एक नॉनवेज मैसेज आया तो मेरी हंसी निकल गयी।

मामी : किसका मैसेज है?

में : मामी कुछ नहीं वो ऐसे ही।

मामी : अरे बता दो, मामी से क्या छुपाना?

में : वो एक नॉंनवेज मैसेज था, मामी।

मामी : ओह, क्या बात है? क्या मैसेज है?

में : अरे, नहीं मामी कुछ नहीं ऐसी बात नहीं है।

मामी : मुझे भी पढ़ा दो फिर ऐसी बात नहीं है तो।

में : अरे, नहीं मामी रहने दो वो तो दोस्त लोग भेजते रहते है।

मामी : अरे, दिखा दो अभी में जानती हूँ ये उम्र ही ऐसी है।

अब मेरी झिझक थोड़ी खुली तो मैंने मोबाईल मामी को दे दिया, उसमें चूत लंड वाला मैसेज था। अब मामी ने पढ़ते ही स्माइल कर दिया, अब में थोड़ा और खुल गया था और तभी मैंने मज़ाक में बोला मामी आपने भी तो बचपन में दोस्तों को मैसेज किये होंगे।

मामी : हाँ की थी, हम भी ऐसे ही मैसेज करते थे।

में : फिर तो आपने बचपन में काफ़ी मजा किया होगा?

मामी : हाँ किया था, वो दिन तो ग़ज़ब के थे।

फिर मामी बोली में नहाकर आती हूँ तो मैंने कहा ठीक है मामी। अब मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे और मेरी सेक्स की इच्छा बढ़ती जा रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मामी नहाकर आई तो वो बॉडी पर टावल लपेटे थी और उनकी गोरी जांघे चमक रही थी, अब में तो पागल हुए जा रहा था। फिर मैंने मामी से बोला कि आप तो बहुत हॉट दिख रही हो तो मामी बोली अच्छा? शर्म नहीं आती ऐसी बात करते हुए। फिर में थोड़ा डर गया कि मैंने कुछ ग़लत तो नहीं बोला

में : सॉरी मामी।

मामी : अरे, कोई बात नहीं वैसे तुम भी बड़े हो गये हो।

में : हाँ मामी और एक स्माइल दे दी, फिर मैंने कहा कि मामी काश मुझे भी आप जैसी बीवी मिल जाए तो मजा आ जाए।

मामी : तुम्हें क्या मजा आयेगा? और मामी ने स्माइल किया।

में : वो तो मुझे ही पता है मामी की मुझे क्या मजा आयेगा?

मामी : अच्छा क्या बात है? और फिर से स्माइल किया।

अब उनकी स्माइल मुझे पागल बना रही थी और अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था। अब मामी ड्रेसिंग टेबल के आगे खड़े होकर बाल बना रही थी, तभी में उनके पास गया और उनकी कमर में हाथ डाल दिया तो वो एकदम से पलटी और बोली कि ये क्या बदतमीज़ी है अभी? फिर मैंने कहा मामी आई लाइक यू और एक बार आपको प्यार करना चाहता हूँ तो वो बोली में ये बात तुम्हारे घर में बताउंगी तो में डर गया और उनके पास गया और उन्हें सॉरी बोला। फिर थोड़ी देर बाद में प्यार से बोला कि मामी प्लीज एक बार और मैंने जाकर उनकी गांड पर हाथ लगा दिया। फिर वो पीछे हट गई और अब वो मुझसे बोली ये ग़लत है में तुम्हारी मामी हूँ और शादीशुदा हूँ और एक बच्चे की माँ हूँ। फिर मैंने कहा तो क्या फ़र्क पड़ता है? मामी में बस आपको प्यार करता हूँ, बस एक बार प्यार करने दो। फिर मामी ने मना कर दिया और फिर अब मुझे गुस्सा आ गया।

में : मामी देखो मैंने अगर बाहर जाकर लोगों को झूठ भी बोल दिया कि आप मेरे साथ सेक्स करती है तो भी आपकी बदनामी हो जायेगी, मेरा क्या है? आज यहाँ हूँ कल कहीं और जाऊंगा, लेकिन आपको यहीं रहना है और आप कैसे लोगों से नज़रें मिलाओगी? इसलिए कहता हूँ कि एक बार प्यार करने दो, नहीं तो बदनाम तो में वैसे भी कर दूँगा।

ये सुनकर मामी को झटका लगा। उन्होंने इस चीज की उम्मीद कभी नहीं की होगी, लेकिन मेरे पास और कोई रास्ता भी नहीं था। अब मामी बेड पर बैठ गई और सोच में डूब गई। फिर में मौके का फ़ायदा उठाकर मामी के पास में बैठ गया और उनकी जांघ पर हाथ फेरने लगा। फिर उन्होंने कुछ संकोच किया, लेकिन उन्होंने ज्यादा विरोध नहीं किया। अब में समझ गया था कि अब मामी समझ गई है और रास्ता साफ़ है, उस टाईम 12 बज रहे थे और उनका बेटा 2 बजे वापस स्कूल से आता है तो मेरे पास काफ़ी टाईम था। फिर मैंने उनका चेहरा उठाया और होंठो पर हल्का किस किया तो उन्होंने गर्दन घुमा ली। फिर मैंने फिर से उनका चेहरा अपनी तरफ किया और उनके होंठो पर अपने होंठो को रख दिया और चूसने लगा तो अब मामी कोई जवाब नहीं दे रही थी और में उनके नरम होंठ चूस रहा था। दोस्तों क्या मज़ा आ रहा था? फिर मैंने उन्हे बेड पर लेटा दिया और उनके होंठ चूसने लगा।

फिर 15 मिनट तक होंठ चूसने के बाद शायद मामी को भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी मुझे खींचकर मेरे होंठ चूस रही थी और मेरे सिर को सहला रही थी। फिर मैंने उनकी साड़ी निकाल दी और उनका पेटीकोट और ब्लाउज भी निकाल दिया। अब मामी काले कलर की पेंटी और ब्रा में थी, वो क्या लग रही थी? में तो उन्हें देखते ही उन पर टूट पड़ा और उन्हें फ्रेंच किस करने लगा और अब में पेंटी के ऊपर से उनकी गांड दबा रहा था। अब उनके बूब्स मेरे सीने पर लग रहे थे और अब में नंगा होकर कुर्सी पर बैठ गया और उन्हें अपनी गोद में बैठा लिया, वो क्या एहसास था? मज़ा आ गया था। अब मेरा 7 इंच का लंड उनकी पेंटी के ऊपर से टच हो रहा था। फिर मैंने उनकी ब्रा भी निकाल दी और उनके बूब्स चूसने लगा, अब मुझे उनके गोल-गोल बूब्स चूसने में जन्नत का मज़ा आ रहा था और अब मामी भी आवाज़े निकाल रही थी.. आह्ह्ह्हह उईईईइ आआआआअ। दोस्तों ये कहानी आप सेक्स समाचार  डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उनकी पेंटी के ऊपर से उनकी चूत को रगड़ना शुरूकर दिया और उनकी मस्त मखमल जैसी चूत थी। अब मामी को भी मज़ा आने लगा था, अब वो मेरे लंड को सहला रही थी और अब उनके हाथों में मेरा लंड बहुत मस्त लग रहा था। फिर मैंने उनसे बोला कि जान मेरा लंड चूसो तो मामी बोली कि हाँ जी बिल्कुल चूसती हूँ। फिर मामी मेरी गोद से ऊतर गई और नीचे बैठ गई और उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी, अब वो मेरे लंड को बहुत अच्छे से चूस रही थी। फिर में बोला मामी मेरा होने वाला है तो उन्होंने बोला कि होने दो और मामी ने मेरा सारा पानी अपने बूब्स पर ले लिया, फिर मामी बोली कि तुम तो इतनी जल्दी आउट हो गये?

में : मेरी जान ये तो पहला विकेट गिरा है, अभी तो मुझे 10 बार बैटिंग करनी है।

मामी : अच्छा? तो फिर आ जाओ।

फिर मामी ने अपनी पेंटी उतार दी और बेड पर लेट गई और बोली कि अब मेरा रस भी चाटो। फिर मैंने उनकी टांगे फैलाई और अब उनकी मखमली चूत मेरे सामने थी तो मैंने उसे तुरंत चाटना शुरू कर दिया। अब मामी तड़पने लगी थी और मौन कर रही थी आहहाअ ऊओह उऊहह अयाया और चाटो आहह्ह्हह ओहह्ह्ह्ह उहहह्ह्ह आआआआआ आहहह्ह्ह्ह। फिर मेरा लंड दुबारा खड़ा हो गया तो मामी बोली कि अब अंदर डाल दो, फाड़ दो मेरी चूत को। फिर मैंने बोला साली रंडी अब कितनी जल्दी है पहले तो बहुत नखरे कर रही थी, जब चुदना ही था तो इतना ड्रामा क्यों किया?

मामी : मेरे राजा चूत आसानी से मिलने वाली चीज़ नहीं है। फिर मैंने क