Get Indian Girls For Sex
   

(जैसे जैसे लंड अंदर जा रहा था वैसे वैसे वो और जोर जोर से चिल्ला रही थी.. आअहह नहीं मत करो में मरररर गयी.. अब क्या था ट्राई करते करते लंड पूरा उनकी गांड में चला गया।)

vlcsnap-2015-12-12-23h23m59s298

Hindi Sex Stories Kamukta दिव्या मामी की नाभि की चुदाई

हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम कुश है और मेरी उम्र 24 साल है.. में नेपाल में रहता हूँ। मेरे घर में हम तीन लोग है.. में, मम्मी और पापा। दोस्तों में बचपन से ही पढ़ाई में आगे रहा हूँ और पढ़ाई में आगे रहने के कारण मुझे घर में कोई भी कुछ नहीं बोलता है क्योंकि में अपना पढ़ाई का टाईम खुद ही निकाल लेता हूँ। मुझे बचपन से ही औरतो की नाभि बहुत पसंद है। जब में छोटा था तब में बहुत ज़िद्दी था और में गुस्सा होने के बाद ना पढ़ता था और ना ही खाना ख़ाता था। फिर मेरी मम्मी मेरे ऊपर बहुत चिल्लाती थी। फिर जब मेरी गर्मियों की छुट्टियाँ स्टार्ट हो गई तब में और मेरी मम्मी मेरे मामा के घर काठमांडू चले गये।

फिर में एक दिन वहाँ पर ठीक रहा.. लेकिन दूसरे दिन में फिर से खाने में जिद करने लगा.. तब मेरी मम्मी मुझसे बहुत गुस्सा हुई और चिल्लाने भी लगी.. लेकिन ठीक उस समय मेरी मामी आ गई और मम्मी से पूछने लगी कि बच्चे पर क्यों चिल्ला रही हो? तब मम्मी ने मामी को सब कुछ बता दिया और तब मामी ने मम्मी से कहा कि अब आप इसको मेरे ज़िम्मे में छोड़ दो.. में इस को बिल्कुल ठीक कर दूंगी। तब मम्मी ने कहा कि ठीक है और फिर मम्मी वहाँ से चली गयी। तभी मामी ने मुझसे पूछा कि कुश तुम अपनी मम्मी को इतना परेशान क्यों करते हो? तो मैंने कुछ जवाब नहीं दिया। फिर मैंने मामी के हाथ से भी कुछ नहीं खाया.. तभी मामी बोली कि में तुझे एक चीज़ दिखाऊँगी.. लेकिन तू जब खाना खा लेगा तो। तब मैंने उनसे पूछा कि क्या दिखाओगी आप? फिर मामी ने कहा कि तू पहले जल्दी जल्दी खाना खाले उसके बाद दिखाऊँगी और फिर मैंने जल्दी से खाना खत्म कर दिया।

फिर मामी मुझे अपने बेडरूम में ले गई उस समय घर पर कोई भी नहीं था। सब लोग बाहर मंदिर के दर्शन के लिए गये थे। फिर मामी बेड पर लेट गयी और उन्होंने अपनी साड़ी का पल्लू हटा दिया और फिर उन्होंने कहा कि देख यह नाभि है। फिर उन्होंने मेरा हाथ उनके पेट पर रख दिया और बोली कि मेरे पेट को मसल.. तो में उनके पेट को दबाने लग गया। फिर उन्होंने कहा कि कुश अपनी उंगली मेरी नाभि के अंदर डालो तो मैंने उंगली उनकी नाभि के अंदर डाल दी। फिर वो बोली कि ज़रा इसको सूँघो तो में सूँघने लगा.. तो एकदम मेरी उंगली से उस समय अजीब सी बदबू आ रही थी.. लेकिन मुझे कुछ भी एहसास नहीं हुआ और कुछ दिन के बाद में वहाँ से अपने घर लौट गया.. क्योंकि मेरा स्कूल खुलने का समय हो गया था। फिर जैसे जैसे में बड़ा होते गया तो मुझे नाभि वाली बात याद आने लगी और में सेक्सी बातें करने लगा और जैसे जैसे में बड़ा होता गया में मेरी मामी की तरफ आकर्षित होने लगा। मेरी मामी की उम्र करीब 35 साल है और उनका फिगर 34-30-36 है और मेरी मामी पहले से बहुत खूबसूरत दिखने लगी है। दोस्तों यह बात तब की है जब में एमबीए 1st साल का पेपर देकर फ्री हुआ था। तो मेरा मन नहीं लग रहा था तो में मामा के घर पर चल गया और वहाँ पर पहुँचने के बाद मैंने मेरे मामा, मामी और नानी को नमस्ते कहा और उनके चरण स्पर्श किए। मेरे मामा का बहुत बड़ा बिजनेस है और वो आज कल नेपाल से बाहर ही रहते है और मेरी नानी बहुत बूढ़ी है और मेरी मामी का कोई भी बच्चा नहीं है। जब में वहाँ पर पहुंचा तो मेरी मामी ने लाल कलर की साड़ी पहनी हुई थी.. फिर कुछ घंटे तक मुझे वो बाद याद नहीं आई और फिर जैसे ही मामी खाना लेकर ऊपर आई तो मेरी नजर मामी के पेट पर गई और में देखकर दंग रह गया कि मामी अपनी साड़ी नाभि से 3-4 इंच नीचे पहनी है। मामी की नाभि को देखते ही में टॉयलेट में जाकर मुठ मारकर बाहर आ गया।

फिर अगले दिन मामा बाहर चले गए एक सप्ताह के लिए.. तो मैंने सोचा कि यही एक अच्छा मौका है मामी को पटाने के लिए.. फिर उसी दिन दोपहर में मामी किचन में खाना बना रही थी। तो मैंने पीछे से जाकर अचानक से मामी के गाल छू दिए जिससे मामी एक बार डर गयी। फिर मैंने पूछा कि मामी क्या बना रही हो? तो मामी ने कहा कि तुमको क्या खाना है? तो मैंने कहा कि मुझे तो बहुत कुछ खाना है। फिर मामी मुझे देखने लगी और में उनको स्माईल देकर चला गया.. कुछ देर बाद फिर में किचन में गया और मामी के पेट को देखकर मेरा लंड खड़ा होने लगा.. तो मैंने एक मिनट के बाद चुपके से जाकर मामी के पेट को पकड़ लिया और मामी एक सेकण्ड के लिए डर गयी थी और उन्होंने अपना पेट अंदर कर लिया और मैंने अपनी एक ऊँगली को उनकी साड़ी के पास ले जाकर उनकी नाभि के अंदर डाल दिया। फिर मामी बोली कि चल बदमाश तू मुझे कितना डराता है.. जा मुझे खाना बनाने दे।

फिर में वहाँ से चला गया और में पास वाले रूम में जाकर अपनी ऊँगली को सूंघने लग.. वाह क्या मस्त स्मेल आ रह थी। फिर ऊँगली को सूंघते सूंघते मेरा अचानक से वीर्य निकल गया.. लेकिन तभी अचानक मामी वहाँ पर आ गई और मुझे देखने लगी और पूछने लगी कि क्या कर रहे हो शैतान? मैंने कहा कि कुछ नहीं तो। मामी को मुझ पर शक हो गया था। फिर उस दिन में पास वाले रूम पर लेटे लेटे सोच रहा था कि में मामी को कैसे चोदूं और फिर उनकी नाभि को सोचते सोचते मैंने फिर से मुठ मारी और अगले दिन सुबह उठकर फ्रेश हो गया और फिर मैंने नानी को देखा तो उनकी तबीयत कुछ ठीक नहीं थी तो वो सो रही थी। फिर में वहाँ से चला गया और मैंने किचन में देखा तो मामी ऊपर से मिक्सर ग्राइंडर उतार रही थी.. लेकिन वो थोड़ा ऊपर रखा था जो उनसे नहीं उतर रहा था। तभी में वहाँ पर गया और बोला कि मामी क्या हुआ? तो वो बोली कि ऊपर से मिक्सर ग्राइंडर उतार रही हूँ। तो मैंने कहा कि क्या आपको हेल्प चाहिए? तो वो बोली कि हाँ। फिर में बोला कि अच्छा ठीक है में आपको आगे से पकड़ता हूँ आप मिक्सर ग्राइंडर उतार लेना। तो वो बोली कि देखकर मुझे गिराना नहीं.. फिर में बोला कि नहीं गिराऊँगा। फिर मैंने मामी को उठाकर ऊपर किया तो उनकी नाभि मेरी आँखों के सामने आ गई और उसमे से स्मेल आ रही थी। तो मैंने मामी को हल्का सा और ऊपर किया और नाभि को अपनी नाक तक लेकर आ गया। फिर अचानक से उनकी नाभि को सूंघने लगा और किस करने लगा। फिर मामी मुझे बोली कि कुश यह क्या कर रहे हो? नीचे उतारो मुझे। में डर गया और मैंने मामी को नीचे उतार दिया और मामी मुझसे बहुत गुस्सा हो गई थी। मैंने फिर उनको सॉरी बोला और गार्डन में जाकर बैठ गया। कुछ घंटे बाद मामी आई और बोली कि तुम यहाँ पर क्या कर रहे हो? में तुम्हे ऊपर ढूंड रही थी.. चलो हमे बाहर जाना है तो तैयार हो जाओ। तो में वहाँ से उठकर बाहर जाने के लिए तैयार हो गया।

फिर मामी ने मुझे उनके रूम से आवाज़ दी.. कुश एक बार इधर आओ। फिर में मामी के रूम पर चला गया और उन्होंने पूछा कि में कौन सी साड़ी पहनूं? तो मैंने कुछ नहीं बोला। फिर उन्होंने पूछा कि क्या अभी तक तुम गुस्सा हो? फिर मैंने कहा कि नहीं.. तो उन्होंने कहा कि चलो अब बताओ में कौन सी साड़ी पहनूं? तभी मैंने कहा कि हरी वाली तो उन्होंने