loading...
Get Indian Girls For Sex
   

मेरी मकान मालिक अंकल से चुदवाने की सच्ची कहानी

Bull fucks young slutty schoolgirl Full HD Porn FREE Download XXX00009

मेरी मकान मालिक अंकल से चुदवाने की सच्ची कहानी

मेरी मकान मालिक अंकल से चुदवाने की सच्ची कहानी : हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शवेता है और घर पर सभी लोग मुझे प्यार से शिखा बुलाते हैं। दोस्तों आज में आप सभी को मेरी मकान मालिक से चुदवाने की कहानी बताने जा रही हूँ। वैसे यह कुछ समय पुरानी बात है और में उस समय 12वीं में पढ़ता थी। में जिस मकान में रहता थी, उस  मकान मालिक की उम्र करीब 36 साल थी, लेकिन वो इतनी उम्र होने के बाद भी एक बहुत ही सेक्सी मर्द था और में उन्हे अंकल कहकर बुलाती थी  और उन अंकल का नाम अरुण था और मुझे लगता था की वो मेरी सुन्दरता के दीवाने है, मुझे जब भी मौका मिलता था, में उनसे बात ज़रूर करती और इसी बहाने में उन्हें अपने गोरे गोरे बूब्स को निहारने का मौका देती और अंकल मेरे बूब्स को देखकर एकदम पागल हो जाते , क्योंकि इतनी कम उम्र में भी मेरे बूब्स बहुत बड़े बड़े थे.. फिर वो बातों के बीच में मेरे बड़े साईज़ के बूब्स, गांड को देखते|

माँ के बदले में माँ की चुदाई सेक्स स्टोरी इन हिंदी

में भी कभी कभी अपने गहरे गले के टॉप को जानबूझ कर निचे कसका देती जिससे गहरे गले के टॉप से गोल गोल बूब्स दिख जाते|  फिर एक बार मेरे माता-पिता दस दिन के लिए हमारे एक करीबी रिश्तेदार के घर दूसरे शहर गये हुए थे और मुझे खाना बनाना नहीं आता था, इसलिए अंकल ने कहा कि में उन्ही के घर पर खाना खा लिया करूँ। फिर में उनकी यह बात सुनकर बहुत खुश थी और मेरी चूत में भी खुजली होने लगी थी की अब तो मुंगे मोका मिल ही गया अंकल के काले नाग के दर्शन करने का और वैसे भी इतना अच्छा मौका कौन गँवाना चाहेगा, तो में 8 बजे उनके घर जाती थी और खाना खाने के बाद वापस अपने कमरे में चली जाती थी, फिर में उस रात को भी हर रात की तरह 8 बजे अंकल के घर पहुची, अंकल ने दरवाज़ा खोला और हर बार की तरह वो मुझे  सेक्सी नज़रो से देखते रह गए|

मैंने सेक्सी गहरे गले का टॉप और जालीदार सलवार पहन राखी अंकल  गहरे गले के टॉप में से मेरे सुंदर बूब्स को निहार रहे थे, में जब मूड कर जाती तो वो मेरे जालीदार टॉप से मेरी काली ब्रा और पीठ को देखते, मेरा तो मन कर रहा था कि उन्हे पकड़ लूँ और अंकल से कहू की माँ आप से चुदना चाहती हु आज आप मुझे बजा डालो आज तो जैसे मेरे चुदाई के अरमान सातवे आसमान पर थे| फिर मुझे अंकल बहुत खुश नज़र आ रहे थे, शायद उनको भी मेरे दिल की इच्छा का पता चल गया था और वो भी मेरे साथ बैठकर खाना खाने लगे और फिर खाना खाते-खाते अचानक से मेरा टॉप नीचे सरक गया और उन्हें मेरे  बड़े-बड़े बूब्स दिखने लगे और में तिरछी नजर से उनको देखती रही, अंकल को भी मज़ा आ रहा था

मासूम लड़की को चुदाई के गंदे कामों में धकेलने की कहाँनी

फिर खाना खा लेने के कुछ देर बाद मैंने चुदाई के लिये अंकल को सेट करने के लिये अंकल से बोला कि अंकल मुझे रात को अकेले में डर लगता है तो जब तक तुम्हारे माता-पिता नहीं आ जाते, तुम मेरे घर पर ही रात को रुक जाया करो। फिर में उनकी यह बात सुनकर मन ही मन खुशी से झूम उठी और में अपनी कुछ किताबें अंकल के घर ले गई जिसमे कुछ सेक्स से समबंदी भी थी| में समज गयी थी की जिस चुदाई की आग में में जल रही हु अंकल भी उस चुदाई की आग में बुरी तरह से जल रहे है |

फिर मैंने अंकल ने कहा कि क्यों अंकल मेरे साथ सोने में तुम्हे क्या कोई आपत्ति है? प्लीज तुम मेरे साथ ही सो जाओ ना, फिर में अंकल के पास में सोने के ख्याल से बिल्कुल पागल हो रही थी, क्योंकि मैंने आज तक जिससे केवल बात की थी, मुझे आज उनके साथ सोने का मौका भी मिल रहा था और उस समय गर्मी बहुत ज़्यादा थी, इसलिए अंकल ने मुझसे कहा कि बेटी तुम अपनी टॉप उतार दो और ब्रा में ही सोजाओ अँधेरे में कुछ नहीं दिखेगा में अंकल के चुदाई से इरादे साफ साफ समझ रही थी की अंकल मुझे चुदाई के लिये नंगा कर रहे है और में मन ही मन में कुश भी हो रही थी मेरी चुदाई की मनोकामना जो पुरी होने जा रही थी। अंकल बोले बेटी तुम इतनी गर्मी में केवल ब्रा और चड्डी में भी रह सकती हो|

फिर अचानक से अंकल के मुँह से ‘ब्रा’  चड्डी जैसे शब्द सुनकर में बहुत रोमांचित हो गई और फिर क्या था, में अपना टॉप खोलने लगी और में जैसे जैसे हुक खोलती जाती मेरे उभरे हुए बूब्स बाहर आ जाते। फिर आख़िर में मैंने टॉप खोल दिया और उसे एक तरफ फेंक दिया, ज़ालिम   बड़े बड़े कसे हुए बूब्स उस काली ब्रा में दबे हुए थे, उन्हे देखकर कर शायद अंकल का मन कर रहा था कि मेरे बूब्स को मसल दूँ और जीभ से चाट लूँ और चूस लूँ, लेकिन मुझे संयम बनाए रखना था।

फिर जैसे तैसे मैंने पढ़ाई में ध्यान लगाना शुरू किया और थोड़ी ही देर बाद अंकल बोले कि   मेरी कमर में दर्द हो रहा है, अगर तुम बुरा ना मानो तो तेल से इसकी मालिश कर दो? तो यह बात सुनकर मेरे बूब्स धीरे धीरे तन्ने लगे। फिर मैंने अपनी ब्रा को ठीक किया और अंकल के करीब पहुँच गयी। फिर मैंने कहा  आपको जो भी काम हो करवा लीजिए, मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है। फिर क्या था? मैंने अंकल की कमर की मालिश शुरू कर दी| फिर मैंने अंकल के शरीर को जैसे ही हाथ लगाया वो बोले हाँ कितना अच्छा लग रहा है, मेरे बदन की थकान जैसे कि तुमने खत्म कर दी। फिर वो बोले कि थोड़ा और नीचे दबाना और मेरी चड्डी को भी उतार दो।

इससे तुम्हे मालिश करने में आसानी होगी और मुझे भी आराम मिलेगा। दोस्तों मुझे अपने कानों पर विश्वास नहीं हो रहा था, इसलिए मैंने कुछ नहीं किया तो इस पर अंकल बोले कि सोच क्या रही हो मेरी चड्डी को उतार दो और फिर दोबारा ऐसा सुनते ही मैंने अंकल की चड्डी एक झटके में खींच कर निकाल फैकी अंकल की चड्डी में से बहुत बुरी साड्डान और  आ रही थी। फिर अंकल की कली और गोल-गोल गांड मेरी आँखों के सामने थी और मैंने उनकी गांड के आस पास मालिश शुरू कर दी और में उनकी गांड को धीरे-धीरे मसल रही थी और अंकल भी सिसकियाँ ले रहे थे, उन्हे भी बहुत मज़ा आ रहा था। में मालिश करे करे अंकल के पैर पर बेठ गयी फिर अंकल बिल्कुल नासमझ बनते हुए बोले कि यह क्या है मेरे पैरों के पास? तो मैंने कहा कि अंकल यह मेरी चूत है, तो इस पर अंकल ने कहा कि अपनी चूत अंकल को नहीं दिखाओगी और एक बार जी भरकर में भी तो देखूं कि मेरी बेटी की चूत कैसे दीखते है? और यह कहते हुए वो एकदम उठ गए|

दोस्तों फिर अंकल ने मेरी चड्डी को खोल दिया और अब में नंगी थी। मेरी चूत देख कर अंकल का लंड पूरी तरह से तनकर खड़ा हुआ था और मेरी चूत को सलामी दे रहा था। फिर में अंकल के खडे लंड को देखकर बोली कि बाप रे अंकल तुम्हारा लंड कितना बड़ा है और यह तो एकदम तनकर खड़ा है फिर मैंने अंकल से पूछा क्या आप भी अपनी बेटी के जिस्म को देखकर बेताब हो गये हो? क्यों अंकल क्या कभी किसी लड़की को चोदा है? और इस 8 इंच के लंड का क्या फ़ायदा? अगर इसे इस्तेमाल ही ना किया हो और ऐसा कहते ही मैंने अंकल के काले नाग को अपने मस्त होठों से चूम लिया। फिर मेरे शरीर में एक बिजली सी दौड़ गयी। फिर अंकल ने धीरे से कहा कि क्या तुम मुझसे चुदवाओगी?

फिर मैंने कहा हा और अब वैसे भी इस लंड का इस्तेमाल होना चाहिए ना, क्योंकि ऐसे लंड को देखकर मेरी भी जवानी भड़क उठी है और आज सारी रात हम लोग चुदाई करते हुए बिताएँगे, क्यों बोलो चोदोगे ना अपनी बेटी को। फिर अंकल मेरी यह बात सुनकर एकदम खुशी से झूम उठे और उन्होंने थोड़ा घबराते हुए कहा कि क्यों नहीं। फिर मैं अंकल से बोली कि आज की रात मेरी जवानी तुम्हारे नाम हुई अंकल तुम आज जितना चाहो इसके मज़े ले लो, में तुमसे कुछ भी नहीं बोलूँगी।

में सिर्फ़ काले कलर की ब्रा में मेरे अंकल के सामने खड़ी हुई थी और मेरा जिस्म, सुडोल शरीर, मदमस्त चूत, सुंदर बूब्स और गुलाबी रसीले होंठ यह सब आज रात मेरे अंकल के थे। दोस्तों मेरी तो जैसे आज लॉटरी लग गयी थी फिर अंकल ने काँपते हुए हाथों से मेरी ब्रा का हुक एक एक करके खोल दीये और इसके बाद अंकल ने मेरे कंधे से ब्रा की डोरी को नीचे कर दिया और ब्रा को उतार कर फेंक दिया और अब में अंकल  के सामने पूरी तरह से नंगी थी। फिर अंकल ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे रसीले होठों को अपने होठों के बीच दबाकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगे, इससे में भी जोश में आ गयी| अंकल ने अपनी जीभ को मेरे मुँह में डाल दिया और अंदर तक घुमाने लगे और अब हम दोनों एक दूसरे के मुँह को अपनी जीभ से चूसे रहे थे।

में अंकल के मुँह को अपनी जीभ से चूसे जा रही थी और इसके बाद अंकल ने मेरे बूब्स को मसलना शुरू किया, अंकल बोले वाह बेटी क्या मुलायम बूब्स है तेरे अंकल अपने दोनों हाथों से मेरे मोटे मोटे बूब्स को मसल रहे थे।

फिर में अंकल से बोलने लगी कि हाँ एक एक करके दोनों बूब्स को चूस लो और मेरे यह बूब्स तुम्हारे होठों के लिए तरस रहे है, प्लीज आज अपनी रंडी बेटी को खुश कर दो और फिर अंकल जोश में आकर और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगे और बीच बीच में अपने दातों से उन्हे दबा भी देते  । मेरी कामुकता और भड़क उठती है और अब मुझसे नहीं रहा जाएगा, फिर मैंने अंकल से बोला की अब अपनी रंडी बेटी की प्यासी चूत को चोदने को तैयार हो जाओ और यह कहकर मैंने अपने दोनों पैर फैला दिए और एकदम चित हो गयी। फिर उन्होंने अपना लंड पकड़ा और उसके ऊपर से चमड़ी को नीचे कर दिया एक हाथ से अंकल ने अपने  लंड को पकड़ा और फिर मेरी चूत में घुसा दिया और में एकदम दर्द से कराह उठी उूउफफफ्फ़ माँ आई मर गयी उह्ह्ह अह्ह्ह्ह इतना मोटा लंड मेरी चूत में डलवाने से मेरी चूत फट जाएगी, अह्ह्हहह सच अंकल तू बड़ा ज़ालिम है और आज तूने अह्ह्ह्हह्ह् आईईईईईई मुझे बहुत खुश कर दिया और मैंने जरा भी नहीं सोचा था कि एक 8 इंच का लंड मेरी चूत को नसीब होगा और आज से मेरी जवानी तुम्हारी गुलाम हो गयी है, बस आज से दस दिन और दस रातें केवल मेरी चुदाई होगी और में तुझसे इतना चुदवाउंगी कि मेरी चूत फट जाए।

फिर अंकल मेरी यह बात सुनकर जोश में आकर ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर मेरी वर्जिन चूत को चोदने लगे। में भी अपनी गांड को उठा उठाकर धक्के मार रही थी और हम दोनों एक जिस्म हो गये, कभी में अंकल के ऊपर होती तो कभी अंकल मुझे नीचे कर देते और वो मुझे लगातार चूमे जा रहे थे और हम जिस बेड पर हम चुदाई कर रहे थे, वो भी अब ज़ोर ज़ोर से हिल रहा था और पूरे कमरे में बेड की चूं चूं की आवाज़ और मेरी सिसकियों की आवाज़ गूँज रही थी, लेकिन हम दोनों चुदाई में मस्त थे। फिर ज़ोर ज़ोर से धक्के देक़र घपाघप मेरी चूत मार रहे थे, घर्षण से कुछ तकलीफ़ भी हो रही थी। तभी अंकल ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और फिर उसे मेरे मुँह में देकर उसपर थोडा थूक लगाने को बोला मैंने वैसा ही करा अंकल बोले की बेटी अब तुझे चुदने में और भी मज़ा आएगा थूक लगाने के कारण अब लंड आसानी से अंदर बाहर हो रहा था

दोस्तों अंकल और में वासना के आग में जल रहे थे, अंकल का साप जैसा काला  लंड मेरी चूत में घुसा हुआ था और में अपनी गांड को ऊपर नीचे कर रही थी और सिसकियाँ ले रही थी, हाँ अंकल अह्ह्ह्हह्ह उह्ह्ह्हह्ह्ह्हह् तेरा लंड और मेरी चूत आईईईईईइ अंकल बोले रंडी बेटी अब ऐसे ही मज़ा करेगी, तू अपनी पढ़ाई को तो कुछ दिनों के लिए भूल जा, क्योंकि ऐसा मौका बार बार नहीं आएगा। फिर जब अंकल मेरे ऊपर चढ़कर मुझसे चोद रहे थे तो उनके ज़ोरदार झटके से मेरे बूब्स उछल रहे थे, वाह क्या नज़ारा था। फिर अंकल ने कहा कि जानती हो बेटी में जब भी हस्तमैथुन करता था तो तुम्हारे बारे में ही सोचता था ऐसा मौका नहीं मिल पाएगा और इन दस दिनों तक में अपनी सारी दिल की तमन्ना पूरी करूँगा, बोलो क्या मेरा साथ दोगी ना?

फिर में बोली कि मेरे जानेमन यह चूत अब तुम्हारे लंड की दीवानी हो गयी है और अब तुम जैसे चाहो वैसे मुझे चोदो, तो यह बात करते करते हम दोनों चुदाई करते रहे और पलंग ज़ोर ज़ोर से हिल रहा था, अंकल मेरे बोबो को अपने दातों से धीरे-धीरे काट भी रहे थे| और अब तक तीन बार मेरी चूत अपना पानी छोड़ चुकी थी.. फिर अंकल ने मुझसे कहा की रानी बेटी मुझे लगता है कि मेरा लंड अब झड़ने वाला है, बताओ कहाँ पर निकालूं? मैंने कहा की अंकल यह मेरी पहली चुदाई है इस लिये आप सारा माल मेरी चूत में ही भर दो में गर्भनिरोधक गोली खा लुंगी और आख़िर में अंकल मेरी चूत में ही झड गए अंकल के पानी से मेरी चूत लबालब भर गयी थी । फिर अंकल ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और हम दोनों लेट गये और हम दोनों इस चुदाई से बहुत खुश थे। फिर थोड़ी देर बाद हमारी वासना फिर से जाग उठी इसके आगे की कहानी फिर कभी बताऊंगी उम्मीद करती हु की अभी तक आप सभी के लंड से पिचकारी चल गयी होगी |

 

मेरी मकान मालिक अंकल से चुदवाने की सच्ची कहानी

loading...

Related Post – Indian Sex Bazar

Big Boob Photos My nipples are very sensitive Full HD Nude fucking ima... Big Boob Photos My nipples are very sensitive Full HD Nude fucking images Big Boob Photos My nipples are very sensitive Full HD Nude fucking imag...
गुलाबी गांड वाली कॉलेज की चालू लड़की – मैंने उसकी चूत में उंगली ड... हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 21 साल है. इस कहानी में आपको मेरी लाईफ का पूजा के साथ का सबसे हसीन पल बताने जा रहा हूँ. में एक सामा...
Naked chick Sucking Dick Full hd porn 4K Naked chick Sucking Dick Full hd porn 4K Naked chick Sucking Dick Full hd porn 4K: Full hd porn 4k XXX PORN FREE Download .Naked chick Sucking Dick F...
Indian Piano teacher fucking sexy student Huge natural tits Full HD Po... Indian Piano teacher fucking sexy student Huge natural tits Full HD Porn Indian Piano teacher fucking sexy student Huge natural tits Full HD Porn...
गोरी चूत वाली फिलिपिनी लड़की की दिल्ली में चुदाई... हाई दोस्तों मैं चंडीगढ़ से मनप्रीत, आज मैं आपको मेरी चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ जो की एक सच्ची घटना हैं. यह मेरे लास्ट दिल्ली ट्रिप की बात हैं, ...

loading...