Get Indian Girls For Sex

आपका लिंग (लंड) जितना मोटा होगा – आप उतना ही ज़्यादा सेक्स करेंगे

आपका लिंग (लंड) जितना मोटा होगा – आप उतना ही ज़्यादा सेक्स करेंगे

आपका लिंग (लंड) जितना मोटा होगा – आप उतना ही ज़्यादा सेक्स करेंगे : यह सच है कि मुंबई जैसे महानगर में अकेले रह कर काम कर लेने वाला आदमी पूरी तरह से अलग ही तरह का हो जाता है। यहाँ आप सिर्फ यह भर नहीं सीखते कि कैसे टाइम पर ट्रेन पकड़नी है बल्कि रोज सुबह 6 बजे कैसे उठना है यह भी सीख जाता है आदमी। यहाँ मैंने एक सीधा सा सच जान लिया: हमसे सारी औरतें झूठ बोलती हैं! “छोड़ो, रहने दो, हम अलग हैं”, कमी तुममे नहीं मुझमें है…’सुने हुए लग रहे हैं न ये वाक्य? इसको सही मत मानिए, असली बात तो ये है कि वो आपके लिंग (लंड) के साइज़ से नाखुश है।

 

मैं और मेरी गर्लफ्रेंड सीमा 6 महीने तक अफेयर में रहे। हर चीज बढ़िया थी और सेक्स भी करते थे हम। लेकिन कुछ दिनों बाद वो सेक्स के लिए मना करने लगी, और उसके बाद उसने कह दिया कि हम दोनों में कुछ मेल नहीं है और वो मुझसे शादी नहीं करेगी। मैंने उसे वापस पाने की कितनी कोशिश की। मैं सोचता था कमी मुझमें ही है उसमें नहीं, और फिर मुझे पता चला कि वो एक लोकल जिम के ट्रेनर के साथ फँस गई है। वो जिम का ट्रेनर बड़ा आकर्षक था और कई लड़कियों से अफेयर कर चुका था।

 

फिर मैं मुंबई आ गया, जब मैं चला गया तब उसे पता चला होगा कि उसने क्या खो दिया। मुंबई में मुझे कुछ ऐसे साथी मिले जो शाम को एक दूसरे की ज़िंदगी की दास्तानें सुनाया करते थे। उनमें से एक ने अपनी प्रेम कथाओं का चिट्ठा खोल दिया। उसने बताया कि 20 का होने तक वो कम से कम 20 लड़कियों को पेल चुका था। वो एक साथ दो और तीन लड़कियों के भी मजे ले चुका था। वैसे वो दिखने में बड़ा पढ़ाकू था – दुबला-पतला और चश्मा लगाने वाला। मैंने सोचा फेंकू है और हम लोगों को चमका रहा है। फिर मैंने उसके मोबाइल में कई लड़कियों के मैसेज देखे जो उसको अपनी चूचियों वाली नंगी फोटो भेज रही थीं।

 

मैंने उससे बात करके उसका सीक्रेट जानने की सोची। और उसने अपनी कहानी मुझे बताई।

 

पता चला कि पूरा श्रेय उसके लिंग (लंड) को जाता था, या ठीक बोलूँ तो उसके लिंग (लंड) की मोटाई को। लड़कियाँ उसको देखते ही गीली हो जाती थीं, और खुद ही उससे ठोकने को कहने लगती थीं। लेकिन हमेशा से ऐसा नहीं था।

 

वो पहले एक नॉर्मल लड़का ही था, दिन रात मोबाइल गेम खेलना और लड़कियों से तो पहले वो कोई बात ही नहीं करता था। फिर एक बार इंटरनेट पर उसने लिंग (लंड) बड़ा करने की एक क्रीम खोज निकाली, और उसे ऐसे ही मजे के लिए ट्राय करने की सोची। और आपको क्या लगता है, क्या हुआ होगा – उसका लंड बड़ा होने लगा, लंबाई में तो उतना नहीं लेकिन मोटाई बढ़ने लगी ।

loading...

 

वो इसके रिज़ल्ट से इतना खुश हो गया कि उसने अपने नए लौड़े को आजमाने का भी फैसला कर लिया। उसने अपने कॉलेज की एक ऐसी लड़की को बुलाया जो थोड़ी आवारा टाइप की थी, और उसने को तबीयत से जबर्दस्त ठोका। लड़की को इतना मजा आया कि उसने पूरे कॉलेज और हॉस्टल की लड़कियों में बड़े लिंग (लंड) वाले इस पढ़ाकू लड़के की खबर फैला दी। और तब से उसकी ज़िंदगी बदल गई।

 

वो घर पर चुदाई-पार्टियां करने लगा, और यहाँ तक कि वीडियो भी रिकॉर्ड कर लेता था। उसके बिस्तर पर हमेशा झन्नाट माल ही होता था। लड़कियाँ उसकी हर इच्छा पूरी करती थीं, वे बस ये चाहती थीं कि वो उनको अपने मोटे लौड़े से बार-बार खुश कर दे। उसने तो अपनी काम वाली बाई को भी बजा दिया था और अब वो हर रोज उसके यहाँ जबर्दस्ती ‘झाड़ू-पोंछा’ करने चली आती है’।

 

मैंने उससे किसी तरह इसका सीक्रेट उगलवा लिया (वैसे वो किसी को भी ये बताने से साफ मना कर देता है) और अब मुझे भी पता चल गया है कि वो ये क्रीम कहाँ से ऑर्डर करता है। मैं उसके जैसा नहीं हूँ और मेरे हिसाब से ये जानकारी सब के पास पहुंचनी चाहिए, और आपको तो इससे मदद वाकई में मिलेगी। इसका नाम है XTRA MAN । आप इसे सिर्फ ऑफिशियल वेबसाइट से ही ऑर्डर कर सकते हैं, ये कहीं और नहीं बेची जाती। ये पूरी तरह से नैचुरल है, इसमें कोई केमिकल नहीं है और आपको इसलिए चिंता की बिल्कुल जरूरत नहीं है ।

 

और फिर मैं मुंबई छोड़कर अपने शहर वापस आ गया और वहाँ एक नई नौकरी ढूंढ ली। इसी के एक महीने के पहले मैंने यह क्रीम अपने लिए ऑर्डर कर दी थी और इसे उपयोग भी करने लगा था। इसका एक छोटा साइड-इफेक्ट था, इससे हमेशा खड़ा रहने लगा था। मैं क्रीम को लगाए बिना भी पूरे टाइम चुदाई की ही सोचता रहता था…

 

मैंने एक हफ्ते बाद जब अपना लिंग (लंड) नापा तो उसकी मोटाई कुछ मिलीमीटर बढ़ गई थी। एक महीने में टोटल 2 सेमी मोटाई बढ़ गई थी! अब फर्क बाहर से ही दिखने लगा था। मैं अब लड़कियों की तलाश में बदहवास हो चुका था! और सबसे बड़ी बात तो ये थी कि मैं सीमा को यह दिखा देना चाहता था कि मैं भी अब कई चीजें करके दिखा सकता था।

 

और जैसे ही मैं घर आया, और एक दिन जब मेरे घर वाले बाहर गए थे, मैंने घर वापस आने की खुशी में एक पार्टी दी। मैंने अपने सब दोस्तों को बुलाया। मेरी पार्टी में मेरे कॉलेज की क्लास की सबसे सुंदर लड़की नमिता भी आई थी। उसे उसके बॉयफ्रेंड ने कुछ ही दिन पहले छोड़ दिया था और उसे एक सहारे की जरूरत थी।

 

आश्चर्य की बात ये है कि मुझे उसे पटाने में बिल्कुल टाइम नहीं लगा – जब हर कोई वापस चला गया तो वो मेरे बिस्तर पर थी। हमने सुबह तक ठुकाई की, वो इतनी ज़ोर-ज़ोर से आहें भर रही थी कि हमारे पड़ोसी भी जाग गए होंगे।

 

और मैं क्या बताऊँ, मैं जबर्दस्त साबित हुआ! उस दिन से नमिता, जो अब मेरे बिना रह ही नहीं सकती, मुझे रोज फोन करती है और मिलने के लिए पूछती है। और हर बार यही कहती है कि उसे समझ नहीं आता कि मेरी पहले वाली गर्लफ्रेंड ने मुझे छोड़ कैसे दिया, क्योंकि ऐसे शानदार लौड़े को कौन लड़की छोड़ना चाहेगी!

 

लेकिन मैं इतने पर ही कहाँ रुकने वाला था, मुझे तब तक चैन नहीं मिलेगा जब तक मैं कम से कम 20 लड़कियों की न ले लूँ।

 

और जैसा मैंने सोचा था, शहर में सीमा को भी उसकी सहेलियों से मेरे बारे में और मेरी सेक्स पावर का पता चल ही गया। पता चला कि उसके जिम के ट्रेनर से उसके साथ चीटिंग की और वो काफी दुखी थी और हर चीज को दोबारा पहले जैसा कर देना चाहती थी।

 

तो यारों, आपको पता होना चाहिए – यदि आपका लिंग (लंड) छोटा है तो आप चाहे जो कर लें आपको नॉर्मल लड़कियाँ मिल ही नहीं सकत