Get Indian Girls For Sex
   

क्या चूत को चाटना और चुसना शाकाहारी होता है - Hindi Sex Talking

Group sex at the museum with Aletta Ocean fucking each other in the group Full HD Porn Nude images Collection_00016

कहा जाता है – अगर आपको पिज़्ज़ा अच्छा लगता है तो लड़की की चूत को चाटना और चुसना भी अच्छा लगता होगा.

ज्यादातर मर्द मुख मैथुन (oral sex) करने के लिए बेताब होते है या ऐसा भी कह सकते है कि मुख मैथुन से ही चोदने की या चुदाई की शुरुआत करते है और लगभग सभी औरतों को चूत चटवाने और चुसवाने में बड़ा ही मज़ा आता है.

वैसे बता दूँ कि चूत को चाटना और चुसना को “चूत खाना” भी कहते है.

उस दिन, मेरे एक शाकाहारी दोस्त ने मुझे पूछा – “ क्या चूत खाना शाकाहारी है? ”

उसका सवाल बड़ा ही अजीब था, और दिलचस्प भी.

मैं अपने आप को एक बहुत बड़ा चोद्नेवाला समझता हूँ मगर ऐसा सवाल ने मेरे दिमाग कभी जन्म नहीं लिया. (शायद किसीने मेरे सर को नहीं चोदथा…)

मेरा वो शाकाहारी दोस्त कुछ ऐसे चिंतित लग रहा था जैसे उसने कोई जुर्म किया हो. ( मुझे लगता है चूत खाके ही पूछता होगा! )  उसके चेहरे पर एक अफ़सोस सा था कि अगर चूत खाना मांसाहारी निकला तो वो आज के बाद कभी चूत खाने का अलौकिक आनंद नहीं उठा पायेगा

मैं तो सोचता रह गया.

क्या जवाब दूं? उसको सही ढंग से कैसे समजाऊँ?

कुछ देर के लिए मैं उसे चूत के सम्बंधित कुछ मनोरंजक सवाल पूछने लगा.

हकीकत में, मनोरंजक सवाल पूछते वक़्त मैं ओरल सेक्स के बारे में जो भी पढ़ा हुआ था वो याद कर रहा था और उसमे से उसके सवाल का कोई तार्किक जवाब ढूंढ रहा था.

 

पहला केस

मैंने खुद को ही पूछा – क्या चुंबन शाकाहारी है?

फिर मैंने खुद को ही जवाब दिया – “हाँ, है. ”

जो हम चुंबन करते वक़्त करते है वो ही हम चूत चाटते और चूसते वक़्त करते है. आखिर में, होंठ और चूत अपने शरीर के ही दो हिस्से है और दोनों दिखने में काफी मिलते झूलते है. ये बात अलग है कि होंठ कुछ ओर काम के लिए बने है और चूत कुछ ओर…!

अब – होंठों को चूमना अगर शाकाहारी है तो फिर चूत को चाटना और चुसना भी शाकाहारी ही हुआ. मेरा ये तर्क कुछ ढीला सा सही मगर सोचने लायक जरूर है.

दूसरा केस

क्या दूध शाकाहारी है?

जा हाँ, दूध पूरी तरह से शाकाहारी है.

अब अगर दूध जानवर के शरीर के अन्दर से निकलते हुए भी (जानवर के मांस का एक हिस्सा होते हुए…) शाकाहारी है तो फिर चूत को खाना भी शाकाहारी ही हुआ.

तो मेरा तर्क ये साबित करता है कि “चूत खाना” एक शाकाहारी क्रिया है.

पहला और दूसरा केस मैंने उसे विस्तार से समझाया – वो समझा और ऐसी संतोषपूर्ण मुश्कुराहट के साथ निकल गया जैसे चूत चाटने का मज़ा अब उससे कोई छीन नहीं सकता.

मैंने उसे समझाने में कामयाब जरूर हुआ था, मगर खुद को नहीं.

दोस्तों,

मैं आपको मुख मैथुन के लिए कुछ टिप्स देता हूँ…

जिसे भी अच्छा लगता है – मुख मैथुन, चूत को चाटना और चुसना, एक अलौकिक और स्वर्गीय क्रिया है. लेकिन मुख मैथुन करते वक़्त चूत/लौड़ा का साफ़ और स्वस्थ होना बहुत जरूरी है.

मुख मैथुन करते वक़्त चूत या लौड़े को साफ़ कैसे करे?

चूत और लौड़े को गरम पानी और/या विनेगर से नियमित रूप से, जैसे कि सुबह शाम, साफ़ करना बहुत जरूरी है. ये गुप्तांग साफ़ करने की एक आदत बना लेनी चाहिए.

आप  घबराइए मत…  चुत और लौड़ादोनों शाकाहारी है.  आप बेफिक्र होकर चाट चाट सकते है, चूस सकते है, और अलौकिक आनंद उठा सकते है.

याद रखियेगा… मुख मैथुन करते वक़्त सफाई आपको गिल्ट फ्री आनंद देती है…

तो फिर मज़े लीजिये… जब तक मैं कोई नई मुख मैथुन की सेक्सी कहानी लेकर वापस लौटू, तब तक गर्लफ्रेंड या बीवी की चूत को चाटना शुरू कर दीजिये… बस, चाटते रहिए, चूसते रहिए,

और फिर चोदते रहिए और चुद्वाते रहिए…

(मुख मैथुन से मुंह के रोग भी होते है. इसलिए साफ़ और स्वस्थ मुख मैथुन कीजिये और सुरक्षित रहिए.)