Get Indian Girls For Sex

इंडियन सेक्स स्टोरी इन हिंदी अमिताभ बच्चन ने मुझे लिटाया और मेरी चूत को ध्यान से देखा

हिंदी सेक्स स्टोरी इन हिंदी अमिताभ बच्चन ने मुझे लिटाया और मेरी चूत को ध्यान से देखा : दोस्तों मेरा नाम नेहा है और मैं मुंबई कि रहने वाली हूँ. मेरी उम्र 22 साल है और मेरा रंग गोरा है और जिस्म बहुत ही सेक्सी और आकर्षक है. मेरे माता और पिता के मरने के बाद मैं पिछले 3 साल से अपनी बड़ी बहन, जीजाजी और उनके इकलौते बेटे अमिताभ बच्चन के साथ, मुंबई के एक बड़े शहर में रहती हूँ.

मैं अभी पड़ायी कर रही हूँ. मेरे जीजाजी बैंक में अफसर हैं और दीदी स्कूल टीचर हैं. उनका बेटा अमिताभ बच्चन 22 साल का है और वो भी पड़ायी कर रहा है. यहाँ भी देखे >> Amitabh bachchan fucking अमिताभ बच्चन बॉलीवुड की हीरोइनों की चुदाई करते हुए Nude images अमिताभ बच्चन बॉलीवुड की हीरोइनों की चुदाई करते हुए  मुझे मेरा अलग कमरा मिला हुआ है और मेरे कमरे के साथ बाथरूम भी लगा हुआ है. मैं अपने कमरे में जयादातर बिना कच्छी और ब्रा के अर्धनग्न ही रहती हूँ. जीजाजी के जाने के बाद मैं अक्सर एक छोटीसी निकर और एक लो नेक की बनियान ही पहनती हूँ जिससे मेरी लंबी टाँगे और मेरे मम्मों के दर्शन सब को आराम से हो जाते हैं.

अब मैं आप को उस घटना के बारे में बताना चाहूंगी जिस ने मेरे जीवन में बदलाव लाया और मुझे बेशर्म बना दिया. पहले मैं अपने जिस्म कि नुमाइश नहीं होने देती थी और हमेशा सलवार कमीज ही पहने रहती थी. लेकिन उस घटना के बाद मेरे पहनावे में बदलाव आगया और मैं घर में जिस्म की नुमाइश करने लगी.

इंडियन सेक्स स्टोरी इन हिंदी अमिताभ बच्चन ने मुझे लिटाया और मेरी चूत को ध्यान से देखा

Amitabh Bachchan Fucking Aishwarya Rai Nude - Celebrity Sex अमिताभ बच्चन बॉलीवुड की हीरोइनों की चुदाई करते

जीजाजी के सामने तो मैं अपने जिस्म को ढक के रखती हूँ और ढंग के कपड़े ही पहनती हूँ पर दीदी और अमिताभ बच्चन के सामने नेकर बनियान में ही घूमती रहती हूँ, कभी कभी तो उनके सामने ही टॉपलेस हो कर अपने कपड़े भी बदल लेती हूँ. दीदी बहुत टोकती है पर मैं परवाह ही नहीं करती हूँ.

मेरी विर्जिन चूत मरवाने की यह घटना आज से एक साल पहले हुई थी. उस समय मुझे टाईफाइड हो गया था इसलिए डाक्टर ने मुझे बिस्तर पर ही आराम करने को कहा. यहाँ भी देखे >> ऐश्वारिया राय की चुदाई करते हुए अमिताभ और अभिषेक बच्चन डाक्टर ने मुझे कुछ दिनों के लिए नहाने धोने को भी मना किया और दीदी से मेरे जिस्म को गीले कपड़े से पोंछ करने को कहा. सिर्फ हंगने और मुतने के लिये बाथरूम जाने कि इजाजत दी और वहां भी कोई पकड़ के ले जाए.

ज्यादातर तो दीदी ही मुझे हंगने और मुतने लेकर जाया करती थी लेकिन कभी कभी अमिताभ बच्चन भी मुझे बाथरूम ले जाता था. वह मुझे अंदर छोड़ कर बाहर खड़ा हो जाता था और जब मैं आवाज देती थी तो वह वापिस मुझे बिस्तर तक छोड़ देता था. दो सप्ताह के बाद मेरा बुखार तो उतर गया था लेकिन ज्यादा कमजोरी के कारण डाक्टर ने अगले १५ दिन के लिए भी वैसा ही आराम करने को कह दिया था. दीदी कि जिद पर और जीजाजी कि आज्ञा के कारण मैं बिस्तर पर ही लेटी रहती थी और जब जरूरत पड़ती थी तब दीदी को या अमिताभ बच्चन को आवाज़ लगा देती थी.

इस तरह अभी सात दिन ही बीते थे कि खबर आई कि गांव में जीजाजी का बाप मर गया है और इसलिए जीजाजी और दीदी को तुरंत वहां जाना पड़ा. जाने से पहले दीदी ने रेखा (कामवाली बाई) को घर के बाकी काम के साथ साथ मेरा कपडे से पोंछने और खाना बनाने को भी कह दिया था, इसलिए वह दिन में हमारे घर पर ही रहती थी और शाम का खाना बना कर अपने घर चली जाती थी. देर शाम और रात में तो मुझे अमिताभ बच्चन पर ही निर्भर रहना पड़ता था.

दीदी के जाने के अगले दिन सुबह जब रेखा ने मेरे कपड़े उतार कर मेरे बदन को स्पंज कर रही थी तब मैंने देखा कि अमिताभ बच्चन खिड़की से झांक कर मुझे देख रहा था. मुझे बहुत गुस्सा आया पर उस समये मैं चुप रही. जैसे ही रेखा वहां से चली गई तब मैंने अमिताभ बच्चन को बुला कर उसकी उस हरकत पर बहुत डांटा.

मेरी डांट सुन कर तो वह खिलखिला कर हंस पड़ा. जब मैंने उससे हँसने का कारण पुछा तो वह कहने लगा कि यह नज़ारा तो वह रोज देखता रहता था, जब उसकी मम्मी भी मेरा स्पंज करती थी तब भी वह इसी तरह झाँक कर यह सब देखता रहता था.

मेरे पूछने पर कि उसे यह सब देखने से क्या मिलता है, तो उसने कहा कि उसे मेरे गोरे रंग का जिस्म, मेरे मम्में और उनके उपर लगी काली काली निप्प्लें तथा नीचे विर्जिन चूत के उपर के भूरे रंगे के बाल देखने बहुत अच्छे लगते हैं और वह उन्हें छूने कि इच्छा भी रखता है. यह सुन कर मैं दंग रह गई और उसे एक बार फिर से डांट कर वहां से भगा दिया.

अगले दिन सुबहे मुझे बहुत पसीना आने कि वजह से जिस्म में खुजली हो रही थी और उधर से रेखा का सन्देश आया था कि वह देर से आयेगी. जब मुझसे खुजली बर्दास्त नहीं हुई, तब मैंने सोचा कि क्यों न अमिताभ बच्चन का सहारा लिया जाए और उसे ही कपडे से पोंछने को कह दूं. उसने तो मुझे नग्न देखा हुआ ही था तो मुझे उससे किसी बात कि शर्म नहीं आनी चाहिए.

यह सोच कर मैंने अमिताभ बच्चन को आवाज दी और उसे रेखा के देर से आने के बारे में बताया तथा उसे आग्रह किया कि वह मेरा स्पंज कर दे. यह सुन कर वह पहले तो हिचकचाया फिर पूछने लगा कि क्या मैं उसे जिस्म की सब जगहें कपडे से पोंछने दूंगीं. जब मैंने उसे हाँ कही तब वह खुशी खुशी भाग कर बाथरूम में गया और सारा सामान ले आया. फिर उसने आगे बढ़ कर मेरे कपड़े उतारने शुरू किये. पहली मेरी कमीज उतारी, फिर मेरी ब्रा उतारी, फिर मेरी सलवार और कच्छी भी उतार दी. यहाँ भी देखे >> करीना कपूर की चुदाई kareena kapoor showing big boobs ass nipple pussy chut gand sex scene collection xxx naked pics big boobs sucking photo अब मैं उसके सामने बिलकुल नग्न थी. यही वह क्षण था जब से मेरे जीवन में बदलाव आया था और मैं शर्मसार से बेशर्म बन गई थी तथा घर भर में कम कपड़ों में ही घूमना शुरू कर दिया था तथा दीदी और अमिताभ बच्चन के सामने अर्धनग्न भी हो जाती थी.

अमिताभ बच्चन ने बड़े ध्यान से मेरी नग्नता को निहारा, मेरे मम्मों, निप्पलों तथा विर्जिन चूत के बालों पर हाथ फेरा. फिर मुझे उल्टा कर के मेरी पीठ और टांगो को स्पंज किया, मेरे विर्जिन चूतडों को जोर जोर से रगड़ कर स्पंज किया और मेरी गांड में ऊँगली भी कर दी. जब मैंने उससे पुछा कि वह यह क्या कर रहा था तो उसने कहा कि अंदर तक स्पंज कर रहा था. उसका इस तरह गांड में ऊँगली करना और मेरे विर्जिन चूतडों को दबाना तथा मसलना मुझे बहुत अच्छा लग रहा था इसलिए मैंने उसे कुछ देर ऐसा करने दिया.

कुछ देर के बाद में उसने मुझे सीधा किया और मेरे सिर और चेहरे, मेरी गर्दन, छाती, मम्मों, पेट, कमर, जाहंगों और टांगों को स्पंज किया. इसके बाद उसने मेरी दोनों टांगो को चौड़ा कर उन के बीच में विराजमान मेरी विर्जिन चूत को भी रगड़ते हुए स्पंज कर दिया. जब वह विर्जिन चूत का स्पंज कर रहा था तब उसने उसमे भी ऊँगली करने कि कोशिश की पर मैंने उसे रोक दिया. फिर मैंने उसे जल्दी से स्पंज खतम करने को कहा. इस के बाद उसने मुझे सूखे तौलिए से पोंछ दिया और मेरे मम्मो और उन की निप्पलों को पकड़ कर मसला और थोड़ी देर बाद वह मेरी विर्जिन चूत के बालों के उपर हाथ फेरने लगा.

उस कि इस हरकत से मैं बहुत गर्म होने लगी थी लेकिन अपनी बिमारी की कमजोरी को ध्यान में रखते हुए मैंने अपने पर काबू रखा तथा उसे अलग हटने को और कपड़े पहनाने के लिए कहा. अमिताभ बच्चन मेरे साफ़ कपड़े निकाल लाया और सब से पहले उसने मुझे कच्छी पहनाई लेकिन उपर करने से ने पहले मेरी विर्जिन चूत के बालों को अच्छी तरह मसला और एक बार फिर ऊँगली करने कि नाकाम कोशिश की.

इसके बाद उसने म