Get Indian Girls For Sex
   

(फिर मैंने उसे उल्टा लेटा दिया और अपना लंड उसकी गांड के गड्ढो के बीच रगड़ रहा था और फिर उसकी भी नींद खुल गई तो मैंने कहा कि मुझे तेरी गांड मारनी है। तो वो बोली कि ठीक है कर लो जो भी तुम्हारी मर्जी हो और वो जल्दी ही मान गयी।)

11193354_1462572700700781_7916464985012293570_n

Hindi Sex Stories Chadti Jawani मेरी माँ सेक्स टीचर

हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम राज अग्रवाल है और मेरी उम्र 22 साल है। में हैदराबाद का रहने वाला हूँ और लेकिन कहानी को शुरू करने से पहले में कामुकता डॉट कॉम को धन्यवाद देना चाहता हूँ.. क्योंकि इस वेबसाईट के माध्यम से में अपनी कहानी आप लोगों तक पहुंचा रहा हूँ। दोस्तों मधु और मेरे बीच अब हर सप्ताह सेक्स होता थाएक दिन में मधु के यहाँ पर गया हुआ था.. तो मधु ने बताया कि उसकी दीदी घर पर आने वाली है और उसकी दीदी बंगलोर में इंजिनियरिंग की पढ़ाई करती है और उनकी अब थोड़े ही दिनों में छुट्टियाँ शुरू हो जाएगी तो वो यहाँ पर कुछ दिनों के लिए आ जाएगी.. उसका नाम रिचा है। दोस्तों में आपको बता दूं कि रिचा मधु की बड़ी बहन है और उसका गोदाम तो मधु से बड़ा है। उसका फिगर कुछ 36-28-34 का है.. एकदम मस्त गोरी चिट्टी है।

मधु को अपने फ्रेंड के भाई की शादी में भोपाल जाना था और रिचा की भी कॉलेज की छुट्टियाँ चल रही थी तो वो यहाँ पर मधु के फ्लेट पर कुछ दिनों के लिए रुकने के लिए आ गई। मधु और रिचा बहुत क्लोज़ हैं तो इसलिए मधु ने रिचा को एक दिन हमारे बारे में सब कुछ बता दिया.. तो मधु ने मुझे शनिवार को डिनर पर अपने घर पर बुलाया। तब उसकी दीदी भी आई हुई थी और रिचा हमसे करीब एक साल ही बड़ी है। तब पहली बार मैंने रिचा को देखा और रिचा को देखते ही मेरे तो होश ही उड़ गये और मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि रिचा जैसी माल इस धरती पर होती होगी। उसके चूतड़ एकदम सही है और वो जब चलती है तो गांड के साथ साथ उसके बूब्स भी मस्त उछलते है। में तो उसके बूब्स का दीवाना हो गया था। फिर हमने एक साथ बैठकर डिनर किया और उसकी बहन ने मेरे बारे में पूछा वगेरा वगेरा। मुझे यह बात बाद में पता चली कि वो दोनों इतने क्लोज़ थे कि दोनों एक दूसरे की चूत में उंगली भी डालते हैं और अपनी अपनी चूत को ठंडा करते है।

फिर अगले दिन में और रिचा मधु को स्टेशन छोड़ने गये और उसे छोड़कर हम ऑटो करके वापस अपने घर पर आ रहे थे। हमने ज़्यादा बातें नहीं की.. लेकिन मेरे दिमाग़ में तो यह बात चल रही थी कि उसको कैसे चोदूं और मैंने उससे सीधे सीधे पूछा कि क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है? तो उसने बोला कि नहीं है। फिर मैंने उससे पूछा कि तुम हैदराबाद कितने बार आ चुकी हो? तो उसने कहा कि में बहुत कम आई हूँ और इस शहर के बारे में ज़्यादा कुछ जानती भी नहीं हूँ और उसने मुझे कहा कि में ही उसे हैदराबाद क्यों नहीं घुमा देता? तो में सोचने लगा कि यह बहुत अच्छा मौका है तो मैंने भी जल्दी से हाँ कर दी और फिर उसने कहा कि आज में बहुत थक गयी हूँ तो हम कल सुबह चलगें। फिर मैंने कहा कि ठीक है और दिन में अपनी क्लास बंक करके उसे घूमाने ले गया और हम सुबह 9 बजे निकले उससे पहले हमने नाश्ता किया और उस दिन गर्मी बहुत थी तो मैंने कहा कि आज बहुत गर्मी है तो क्यों ना हम वाटर पार्क चलें? फिर उसे तो मेरे और मधु के बारे में सब पता था.. तो उसे भी ऐसे किसी मौके की तलाश थी और फिर उसने भी ठीक है कह दिया। फिर हमने वहीं से एक टेक्सी बुक की और वहाँ से हम सीधा वाटर पार्क चले गये और वाटर पार्क में हमने एंट्री करवाई और अंदर चले गये.. लेकिन उस दिन ज़्यादा भीड़ भी नहीं थी.. क्योंकि वो सोमवार का दिन था।

सोमवार को भीड़ बहुत कम रहती है तो में पुरुष टॉयलेट गया और सिर्फ़ स्विम्मिंग ट्रंक्स पहन कर बाहर आया और बाहर बहुत सी लड़कियाँ हॉट और सेक्सी थी उनको देखकर मेरा लंड तो तरस रहा था। तभी रिचा अंदर से आई और मेरा मुहं तो खुला की खुला रह गया। वो काली कलर की हॉट बिकिनी में थी उसके बूब्स क्या लटक रहे थे यार सच आआहह में तो पागल ही होये जा रहा था और में ना जाने किस ख़यालों में खो गया था और ग़लती से मेरे मुहं से सेक्सी निकल गया। फिर वो मेरे पास आई और बड़े ही सेक्सी अंदाज़ से उसने कहा कि धन्यवाद। में तो उस पर मानो फिदा हो गया था। उसने कहा कि चले नहाने.. तो मैंने कहा कि क्यों नहीं डियर? हमने वहाँ पर रैन डिस्को किया। रैन डिस्को में बहुत लोग थे और हम सब नाच रहे थे और नाचते नाचते जानबूझ कर में उसे छूने की कोशिश कर रहा था और वो भी अपनी मोटी गांड मेरे लंड से सटा कर नाच रही थी।

फिर मेरा लंड तो हथोड़े सा कड़क हो गया था और उसे इस बात का पता भी चल गया था। तभी उसने मेरे लंड पर एक हाथ मारा और पीछे मुड़कर मुझे आँख मारकर स्माईल देने लगी। तो में समझ गया कि यह भी साली किसी रंडी से कम नहीं है और आज तो साली को चोदकर ही रहूँगा। फिर हम करीब पांच घंटो की मजे मस्ती करने के बाद उसके घर पहुँचे और शाम हो चुकी थी और हम थोड़े थके हुए थे। तो उसने कहा कि तुम आज यहीं पर रुक जाओ.. मुझे मधु के बारे में कुछ बातें करनी है। तो में समझ गया कि यह मुझसे क्या चाहती है? तो मैंने भी थोड़ा नाटक करते हुए आख़िर में हाँ बोल दिया। फिर रात के उस समय दस बज रहे थे और हम दोनों टीवी देख रहे थे कि तभी आचनक लाईट चली गयी और घर में एकदम अंधेरा था और हमे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। फिर में रिमोट को उठाने के लिए साईड में हाथ बढ़ा रहा था कि मुझे अपने पेंट के ऊपर कुछ महसूस हुआ।

वो रिचा का हाथ था और मैंने हाथ को झट से पकड़ लिया.. उसने सॉरी कहा और बोली कि वो मोबाईल ढूंड रही थी। में अब समझ गया कि यह नाटक कर रही है तभी वो मोमबत्ती लेने उठी और खिड़की की और बढ़ चली और फिर में भी उसके पीछे चल दिया। तो मैंने रिचा से पूछा कि तुम क्या ढूंड रही हो? तो उसने कहा कि में मोमबत्ती ढूंड रही हूँ। तभी मैंने कहा कि मेरे पास 7 इंच की एक लम्बी मोमबत्ती है उसमें आग लगा आज तू। तो वो हंस कर बोली कि तुम ना बहुत शैतान हो और अब मुझे ग्रीन सिग्नल