Get Indian Girls For Sex
   

जेठ ने स्तन गांड और चूत में लंड फसाया बोबे भी चुसे - hindi sex stories xxx stories

01

Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lila

जेठ ने स्तन गांड और चूत में लंड फसाया बोबे भी चुसे - hindi sex stories xxx stories : मेरा नाम सीमा है, मेरी गांड बड़ी और मोटी है मेरा फिगर 34-30-34 है स्तन भी काफी अच्छे मोटे मोटे है. मेरी उम्र 24 साल की है और मेरा एक बेटा भी है. मैं एक शादीशुदा लड़की हूँ पर एक रंडी से कम भी नहीं, में अपनी चुदाई करवाने के लिये रोज रोज नए नए लंड तलाशती हूँ और खूब मजे लेकर अपने बोस्ड़े में डलवाती हु रोज रोज चुदवाने की पूरी कोशिश करती हूँ. जब कोई रंडुआ मर्द मेरे स्तन को चूसता है और स्तन के बिच में लंड अर्थात लोडा दे कर अर्थात बोबे के बीच दबा कर आगे पीछे करता है तो अलग ही मजा आता है, मैंने हजारो बार अपने स्तन चुद्वाए है Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lila

तीन महीने पहले ही मेरी चुदाई का इंतजाम हुआ है अर्थात मेरी शादी हुई थी और चुदाई का नशा हम दोनों पती पत्नी पर जोरो से था, मेरे पति विकास रोजाना कम से कम दो बार मेरी चूत का मजा लेते थे और मैं हफ्ते में दो तिन बार उनसे लंड अर्थात लोडा स्तन के बिच रगड़वाती थी, विकास का लंड अर्थात लोडा काफी लम्बा था, उनका लोडा करीब 8-10 इंच लम्बा और बेलन से भी ज्यादा मोटा है. लेकिन मेरा दिल तब टूट गया जब मुझे पता चला की विकास को एक हफ्ते के लिए ऑफिस की दुसरी ब्रांच में मुंबई जाना पड़ेगा, मैं अपने घर होती तो चिंता नहीं थी पड़ोस का दीपक और हिमांशु दोनों मेरे स्पेर लंड अर्थात लोडा पड़े ही थे वहाँ तो लेकिन ससुराल में थोड़ी दिक्कत थी. मैंने कैसे भी कर के बिन चुदाई के दो दिन तो निकाल दियें, लेकिन मेरी चूत और स्तन बहुत बैचेन हो उठे थे और वह लंड के लिए तड़प रहे थे. एक दिन की बात हैं जब मेरे सास ससुर एक शादी में गए थे, मैं और मेरे जेठ और जेठानी भी गए थे साथ में. सास ससुर वही रुके और हम तीनो वापस घर को आने के लिए निकले, तभी रास्ते में जेठानी कांता अपने मम्मी के घर जानेका बोल के हमसे अलग हो गई. मेरी जेठानी कांता भी मेरी तरह चुदक्कड़ ही थी. मैंने चुपचाप उसके मोबाइल के मेसेज देखे थे, और मुझे यकीन था वोह जरुर किसी जवान लंड अर्थात लोडा से चुदवाने के लिए ही हम से अलग हुई थी.

Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lila

मैं मन ही मन उसकी किस्मत से जलती हुई घर आ गई, जेठ ने कॉफ़ी मांगी और मैंने उन्हे कॉफ़ी बना कर पिला दी, मैं अब कमरे में आ गई और फिर से मेरे अन्दर सेक्स की लहर दोड़ पड़ी तभी मेरी चूत और स्तन दोनों फिर से उठ खड़े हुए, मैंने वही पड़ी एक दारु की बोतल उठा ली और उसे लंड अर्थात लोडा समझ के अपने बोस्ड़े के ऊपर रगड़ने लगी, मुझे लगा की मैंने दरवाजा बंध कर लिया है लेकिन वो आधा खुला रह गया था और मुझे पता ही नहीं चला की मेरा जेठ मुझे करते हुए देख रहा है. मैं एक हाथ से बोतल को चूत पर लगा रही थी और दुसरे हाथ से मेरे स्तनों को जोर जोर से दबा रही थी. में कई दिनों से सेक्स की भूकी थी और मेरे तन बदन में आग लगी हुई थी, कसम से अगर कुत्ता भी उस वक्त मुझे लंड अर्थात लोडा देता तो मैं उसे अपनी चूत के अंदर डाल देती. मुझे हफ्ते में कम से कम तिन चार बार लंड अर्थात लोडा चाहिए, और विकास के ट्रेनिंग जाने से मेरी एवरेज बिगड़ गई थी. मुझे पता ही ना चला की मेरा जेठ मेरी यह प्यास चाय की चुस्कियो के साथ मजे से देख रहा है.Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lila

बेलन के जैसा लंड अर्थात लोडा था मेरे जेठ जी का बहुत मोटा था

हाय क्या लोडा था मेरे तो बोबे ही तन गए थे उनका लोड देख कर मैंने अब जोर जोर से अपने चूत पर साड़ी पहने हुए ही यह बोतल रगडनी चालू कर दी थी.मुझे बोतल का कड़ापन लंड अर्थात लोडा जैसा ही मजा दे रहा था, मेरा जेठ पंकज कब खड़ा हो कर रूम के दरवाजे के निकट आया कसम से मुझे पता ही नहीं चला. मैंने अपना काम जारी रखा, तभी वह दरवाजा खोल के अन्दर आया. मैंने उन्हें देखा और चोंक गई, पंकज बोले की घबराओ नहीं तुम्हारी चुदाई की प्यास में शांत कर देता हु, कोई दिक्कत नहीं तुम्हारी प्यास मैं समझ सकता हूँ. मैं डर गई थी के ये सब के सामने मेरी पोल ना खोल दे, लेकिन उसके तो इरादे दुसरे ही लग रहे थे .

वो मेरे करीब आया और बोला करती रहो तुम्हे देख के मुझे भी उत्तेजना हो रही है, वो उत्तेजना जो मेरी घरवाली मुझे नहीं दे पाती. यह सुन के मेरी जान में जान आई. तो पंकज भी अपनी बीवी, जो की शायद जवान लंड अर्थात लोडे की प्यासी थी, उस से खुश नहीं था और मुझे अपनी चूत चुदाई और गांड पेलवाने  का रास्ता नजर आने लगा. मैं रंडी की तरह फिर से बोतल से अपनी चूत रगड़ने का कार्यक्रम चलाने लगी, पंकज मेरे पास आया गया और उसने मेरे स्तन और गांड पर हाथ फेरने लगा, मेरे स्तन के निप्पलस अकड गए थे जिनको पंकज ब्लाउज के उपर से ही दो ऊँगली में लेकर जोर से दबाने लगा, मेरे मुहं से एक आह निकल पड़ी और मैं उसको लिपट गई, उसका गर्म गर्म लंड अर्थात लोडा मेरे चूत के आगे स्पर्श करने लगा. मैं तो उत्तेजित हो चुकी थी इसलिए मैंने तुरंत उसका पेंट खोला और उसका हथियार बहार निकाला, विकास जितना लम्बा नहीं था लेकिन उससे काफी मोटा लंड अर्थात लोडा था उसके बड़े भैया का.Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lila
मैंने पंकज का लंड अर्थात लोडा हाथ में लेकर उसका कद माप लिया और फिर में तुरंत निचे बैठ गई इस तगड़े लंड अर्थात लोडा की मस्त चुसाई करने के लिए. मैंने लंड अर्थात लोडा को अपने मुहं में रखा ही था की पंकज बोल पड़ा, ओह्ह्ह्ह ओह्ह्ह….शायद इस बेचारे का लंड अर्थात लोडा आज तक चूसा नहीं गया था कभी, कांता शायद लंड अर्थात लोडा का ख़याल कैसे रखते है वो नहीं जानती थी तभी तो पंकज कह रहा था की कांता उसे उत्तेजित नहीं कर पाती. लेकिन मैंने इस तगड़े लंड अर्थात लोडा को दो तिन मिनिट तक गले तक ले ले कर और भी बड़ा कर दिया. मैं लंड अर्थात लोडा चूस रही थी और साथ में अपने स्तन को दबा भी रही थी. पंकज ने पूरी लंड अर्थात लोडा चुसाई में अपनी आँखे बंध रख के इस खुशी को समेटे ही रख़ा.

मेरी चूत भी पानी उगल रही थी मेरी पुरी चूत गीली हो चुकी थी, मैंने फट से अपने दोनों बूब्स खोले और जेठ जी का लंड अर्थात लोडा उसके बिच में रख दिया, पंकज मेरा इरादा समझ गए और उन्होंने मेरे स्तनो को अपने दोनों हाथो से दबा लिया और अपने गधे जितने मोटे लंड से चोदना शरू क्र दिया, मैं बूब्स के बिच में थूंक कर उन्हें चिकना करती रहेती थी जिससे पंकज को ज्यादा घर्षण ना लगे. वो करीब 5 मिनिट तक मेरे स्तन की अपने लंड अर्थात लोडा से मस्त चुदाई करते रहे और इस बिच मैं अपनी चूत के अंदर ऊँगली डाल डाल के उसे हिलाती रही.

पंकज जी ने अब अपना लंड अर्थात लोडा मेरे बोबो के बिच से निकाला, मेरे बूब्स और उनका बेलन जैसा लंड अर्थात लोडा दोनों लाल लाल हो गए थे घर्षण के कारण उन में गजब की गर्मी निकल रही थी, मैंने अब अपनी चूत अपने जेठ के लंड अर्थात लोडा के लिए खोल दी और पंकज मुझे चूत के अंदर लंड अर्थात लोडा दे कर हिलने लगे, विकास का लंड अर्थात लोडा अंदर तक जाता था लेकिन मेरे जेठ पंकज का लंड अर्थात लोडा मोटा होने की वजह से वो चपोचप चिपका था मेरी चूत से और टाईट चूत के अंदर उसका एक एक झटका मुझे एक नया अहेसास दे रहा था.

पंकज जी मेरी चूत का पानी निकालते हुए उसको करीबन 15-20 मिनिट तक चोदते रहे, इस बिच मैं 2 बार झड़ चुकी थी लेकिन यह एम्ब्युलंस जैसा लंड अर्थात लोडा अभी भी थका नहीं था. पंकज ने अपना लंड अर्थात लोडा बहार निकाला और उन्होंने मुझे गांड के करीब से पकड के उलटा कर दिया. Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lilaओह्ह…य=उनका इरादा अब मेरी गांड मैं लंड अर्थात लोडा देने का था शायद, हां ऐसा ही था…उन्होंने मेरी गांड को उठाने के लिए पहेले अपनी एक ऊँगली उसके अंदर थूंक लगाके डाली, मुझेगुदगुदी होने लगी और मैं उछल पड़ी, पंकज ऊँगली को तेजी से अंदर बहार करने लगे….मेरे से उत्तेजना बर्दास्त नहीं हो रही थी इसलिए मैंने अपना हाथ पीछे किया और उनका लंड अर्थात लोडा बिना देखे ही हिलाने लगी. यह लंड अर्थात लोडा अभी भी लोहे की रोड के जैसा सख्त ताना हुआ था उर उसमे कम्पन हो रहा था .

पंकज ने अपने हाथ में थूंक लिया और अपने लोडे और मेरी गांड पर मल दिया, उसके बाद जो मेरी गांड फटी उस लंड अर्थात लोडे से की मुझे लगा की मैं मर ही जाऊँगी, मैं जेठ जी को उनका लंड अर्थात लोडा गांड से निकाल देने के लिए विनंती करने लगी. लेकिन जेठ ने तो मेरे स्तन दबाते हुए कहा, “रानी केवल दो मिनिट सब्र कर लो, यह सेक्स तुम्हारी जिन्दगी का सब से बढ़िया सेक्स होंगा…!” Click Here To Read >>जीजू बताइए न किसकी चूची बड़ी है Jiju Saali Ke Sex Lilaउसके हाथ मेरे चुन्चो को जोर से दबाने लगे और एक मिनिट के अंदर मुझे सच में मजा आने लगा…अब मैंने अपनी गांड धीरे हिलाई ताकि यह तगड़ा लंड अर्थात लोडा उसके अंदर मजे से चुदाई कर सके. में जोर जोर से चुदाई की खुशी में चिल्लाने लगी अपने मुहं से आह आह फ़क मी ओह कम ओन…हां…हो… फ़क माय पुसी अह्हह्हह्हह्हह…ऐसी उत्त्जेक और कामुक आवाजे निकलने लगी उधर वो भी आहा आहा की आवाजे निकालने लगा और उसकी यह आवाजे थोड़ी देर में और भी तीव्र हो गई. इसके साथ ही उसके गांड में धक्के मारने की रफ़्तार भी जोरो पर पहुँच गई और फिर उसने एक झटके से गांड से लंड अर्थात लोड