Get Indian Girls For Sex
   

चोद चोद कर रंडी की गांड और चूत दोनों को फैला डाला - हिंदी सेक्स

चोद चोद कर रंडी की गांड और चूत दोनों को फैला डाला - हिंदी सेक्स : मेरा घर GB रोड से पास ही है घर नही रूम कह  सकते है मै ने  उस रूम को किराये पर लिया है  सायद आप लोगो GB  रोड के बारे में सुना होगा अगर आप लोग नही जानते तो मै आप लोगो से अगर अक लाइन में बताना चाहू तो रंडियों का कारखना आप कह सकते है  मै अक्सर उस रस्ते से आता जाता हु उस में से हर रोज किसी को आपने रूम में  लाकर पेलता  हु एक दिन की बात है मै ने एक  नई माल को पटा लिया था मै ने उसे आपने रूम में लेक  कर आया और बोला आज रत को तुम यही रुकोगी उस ने तो थोर सा नखरा किया लेकिन बाद में ,वह मान गाई  !
मै ने पास के होटल से कहने की कुछ चीजे मंगाई और साथ में दारू भी !खाना कहने के बाद मै ने उस से कहा की दारू तू आपने होटो से पिलावे , उस ने आपने आपने मुह में दारू लेकर मेरे मुह दल रही थी !फिर उस ने आपने सरे कपरे दिया और आपनी बूर को मेरे मुह पर कहकर थोर थोर  दारू अपने बूर से पिलाने लगी बूर से  दारू पिने का माजा था ही कुछ और था  मैने रात को रंडी को बेड पर लेटा दिया और दोनों पैरो को चूमने लगा और धीरे धीरे मै उस के बूर के पास पहुच रहा था उस के मुह से आआआआआआआआआअ ,,ऊऊऊऊऊऊऊ की आवाज निकल रही थी मै थोरी देर में बूर के पास आकर उस की पानटी को थोरा सा हटाया और बूर को हाथो से मसलने लगा, उस ने बूर के सारे बल को साफ कर के आई थी मै फिर बूर को मीठे रसगुले की तरह चूसने लागा चुचुचुचुचु य्य्य्य्य्य्य ;मै  बूर में  पसीने को वह चाट रहा था बुत ही प्यार से,और फिर मै आपने मुह के जीभ से उस के बूर में पेल राहा था वह भी पुरे जोस में आगई थी थोरी देर में उस के बूर से पानी निकलने  लागा मै भी कम नही था मै उस के बूर के सरे पानी को चटा जा रहा था उस हसीना के बूर में पसीना देख कर मेरा लंड जोर जोर से पेलने के लिए बेताब था ! । फिर मै ने अपनी पैट को उतरा और अपने लंड को उस के मुह में घुसेर दिया और मुह में पेलने लागा  वावावावावावावा  ऒऒऒऒऒऒओ फुक्कफुक्कफुक्कफुक्क मै ने अपने पुरे लंड को उस के कन्ठ तक गुसेड राहा था उस के आखो में से आसू निकल रहे थे फिर भी मै मुह में पेले जारहा था  फिर मै ने उसे बेड पर लेटा दिया और दोनों पैरो को फैला दिया और उस के बूर पर थूका कर लंड को रगरने लागा !बूर में लसदार के करन बूर से चप चप चप चप चप चप की आवाज आ रही थी और उस के मुह से आआआआआआ फ़्क्फ़्क्फ़्क्फ़्क्फ़्क्फ़्क्फ़्फ़्क   की आवाज निकल रही थी !

मै उस के चूची को पकर कर  मिस रहा था !उस के बूर के अंदर तो मनो की अजीब रस भरा हुआ हो मेरे लंड जब उसके बूर में जाता था तो लगता हा की चपक गया बूर में चप चप आवाज आरहा था फिर मै ने उसके उल्टा क्र के बूर में  लैंड को रख कर धिरे धिरे पेलने लगा !उस के बूर का रंग लाला हो गया था !और बूर के उपरी हिसे से हसीना के बूर से पसीना जैसा मॉल था थोरी देर में उस के बूर से वाइट रग का मॉल बहर आने लागा और मेरा लंड  अब एक रेल की तरह आगे पीछे आता जाता राहा  !लग रहा था की सायद वह अक बार झर गई थी फिर मै ने आओने लंड को उस के बूर से बहर निकल और उल्टा हो कर मै ने आपना लंड उसके मुह में और उसका बूर अपने मह में ले कर हम दोनों अक दुसरे को चाटने लगे लिंग को चाटने लगे  ही  में वह फिर से जोस में आ गई !आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ही  में वह फिर से जोस में आ गई इस बार में ने आपने मोटे लंड को उसके बूर के नची वाले गंड में डाल दिया ! गार तो इतना मस्त  था की लग रहा था की आज तक किसी ने इस के गर को पेल नही हो थोरी देर में फिर मै ने लंड को उसके बूर के अंदर दाल दिया !बूर का छेद थोर सा फ़ेल गया था इस कर के बूर के लालगुदी नजर आरहा रहा था   मेरे लंड कोबूर अंदर जाने में कोई दिक्त नही हो रही थी!  मै और तेजी से पेल में लगा ,उस के मुह से आआआआआअ ऊऊऊऊऊऊऊऊउ की आवाज निकल रही थी मै एक दम जोर जोर से और पेलने लगा मेरे पैर उसके चुतर को को चट चट  मर रहा था  !लगभग 5 मिनिट के बाद  मेरा भी लंड का माल अक दम मेरे लंड के मुह पर आ गया और मै ने उस सरे माल (सप्न) को उसके बूर के उपरी हिसे में गिर दिया,आआआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह अब जा कर मेरे लैंड को आराम  मिला !कैसी लगी रंडी की चुदाई की कहानी , रिप्लाइ जररूर करना