Get Indian Girls For Sex
   

Lesson1

आजकल मेरा पूरा घर हमेशा चोदा चोदी में व्यस्त रहता है।  किसी की चूत चुदती है तो किसी का भोसड़ा चोदा जाता है ? किसी की गांड मारी जाती है तो किसी की बुर में पेला जाता है लण्ड ? कोई लण्ड चाटती है तो कोई पेल्हड़ ? कोई लण्ड पीने आती है तो कोई अपनी गांड मराने ? कोई अपनी बीवी चुदवाने आता है तो कोई दूसरों की बीवी चोदने आता है ? कोई बुर चाटता है तो कोई लण्ड ? कोई अपनी माँ का भोसड़ा चुदवाती है तो कोई अपनी बेटी की बुर ? कोई अपनी सास चुदवाने आती है तो कोई अपनी बहू ? कोई अपनी देवरानी की बुर में लण्ड पेलती है तो कोई अपनी जेठानी की बुर में ? कोई अपने टीचर से चुदवाती है तो कोई अपने स्टूडेंट से ? कोई अपने बॉस से चुदवाती है तो कोई अपने पड़ोसियों से ?
मेरा घर चुदाई की आवाज़ों से गूंजता रहता है। पूरा घर चुदाई की महक से भर जाता है।  इन सबके बीच मैं भी खूब चुदवाती हूँ। मुझे नये नये लण्ड से चुदवाने का बड़ा जबरदस्त शौक है। यह शौक कैसे डेवेलप हुआ मैं आपको बताती हूँ ?
मैं एक कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के पद पर काम करती हूँ। मेरे स्टूडेंट्स मेरे नजदीक रहते है।  मैं सबका काम मन लगा कर करती हूँ और सब लड़कों और लड़कियों का ख्याल रखती हूँ। मेरा नाम है काजल मैं २७ साल की एक जवान खूबसूरत और सेक्सी लड़की हूँ। मैं एक बंगाली लड़की हूँ।  मेरी चूंची बड़ी बड़ी है।  मेरे चूतड़ मस्त है और गांड तो बड़ी मस्तानी है बुर चोदी ? मैं जब चलती हूँ तो लड़कों की निगाहें मेरी हिलती हुई चूंचियों पर ही रहती है। मुझे सेक्स में बड़ा मज़ा आता है।  मेरी एक फैंटसी है की मैं सभी लड़के लड़कियों को अपने घर बुला कर उन्हें नंगा करके रखूँ ? लड़को के लण्ड पकड़ पकड़ कर देखूं और लड़कियों को दिखाऊँ ? लड़के मेरी चूंची और सभी लड़कियों की चूंची पकडे उनकी चूत पर हाथ फिराएं और गांड सहलाएं ? सभी लड़कियां लड़को के लण्ड पियें ? मैं भी सबके सामने सबके लण्ड पीकर देखूं ?  सब लड़कियां सब लड़कों से चुदवायें ? मैं भी सबके लण्ड अपनी चूत में पेलूँ ? पता नहीं की मेरी यह फैंटसी कभी पूरी होगी की नहीं
मैं हमेशा यही सोंचा करती थी।  धीरे धीरे मैं लड़कों को अपने घर बुलाने लगी और उनसे हंस हंस कर बात करने लगी मजाक करने लगी और बीच बीच में उन्हें अपनी चूंचियां दिखाने लगी। लड़कियां भी मेरे घर आने लगी।  उनसे थोड़ा ज्यादा मजाक करने लगी। पर इसके आगे नहीं बढ़ पा रही थी मैं ? मेरा फ़्लैट दादर मुंबई में है। फ़्लैट बहुत बड़ा है और मैं अकेली ही रहती हूँ क्योंकि मेरे माँ बाप अमेरिका में रहते है और साल में एक बार ही आतें है।
एक दिन मैं शाम को दादर बीच पर टहल रही थी। वहां इसी समय कई पड़के लड़कियां आपस में चिपके हुए बैठे रहते है।  मैं कई बार लड़कियों को लण्ड पकड़ते हुए देखा है और लड़कों को चूंची पकड़े हुए ? इत्तिफ़ाक़ से उस दिन मैं एक लड़के को पहचान गयी।  वह मेरे कॉलेज का था।  मैं बोली अरे विकी तू यहाँ ? ये कौन लड़की है तेरे पास ? लड़की जब मेरे सामने आयी तो मैं बोली वाओ, पूजा तुम ? तुम दोनों छुप छुप कर यहाँ क्या कर रहे हो ? कोई और जगह नहीं मिली तुम्हे ? वह बोला मेम यहाँ जगह कहाँ मिलती है हमें ? हम तो बस ऐसे ही गुज़ारा करते है।  मुझे थोड़ा तरस आ गया और मैं उन दोनों को अपने घर ले आई।  मैंने कहा अब तुम लोग कमरे में जाओ और खूब एक दूसरे को प्यार करो ? जब तक चाहो तब तक करो और कपडे उतार कर करो। अंदर से दरवाजा बंद कर लेना ? जब आना हो तो बाहर आ जाना मैं यही ड्राइंग रूम में बैठी हूँ।
मैं चुपचाप एक खिड़की से उनका नज़ारा देखने लगी। मैंने जब दोनों को नंगा देखा तो मज़ा आ गया। पूजा की चूंची बड़ी मस्त थी उसकी जांघे मोटी हो गयी थी और उसकी चूत चिकनी थी।  उधर विकी का लण्ड भी  तगड़ा था।  टन तनाता हुआ लण्ड देखने में मुझे मज़ा आ रहा था। पूजा लण्ड चूसने लगी और विकी उसकी चूंची दबाने लगा।  तब तक मेरा फोन आ गया और मैं बातें करने लगी। विकी पूजा जब वापस आये तो मैजे बात की ?

  • मैंने पहले विकी से पूंछा - बोलो भोसड़ी के विकी तुम्हे पूजा की चूंचियां कैसी लगी ?
  • वह बोला मेम ,,,,,,,,?
  • मैंने कहा मुझे मेम मत कहो ?  मुझसे गालियों से बात करो ।  मुझे बुर चोदी काजल कहो, बहन की लौड़ी काजल कहो, मादर चोद काजल कहो ?
  • हां तो माँ की लौड़ी काजल मुझे पूजा की चूंची बड़ी अच्छी लगी।
  • लण्ड चूसा तेरा पूजा ने ? चूत चाटी तूने पूजा की ?
  • हां पूजा ने मेरा लण्ड चूसा और मैंने उसकी चूत चाटी ?
  • उसकी बुर चोदने में मज़ा आया तुम्हे माँ के लौड़े विकी ?
  • अरे नहीं यार काजल उस भोसड़ी वाली ने चुदवाया ही नहीं बुर ?
  • मैंने पूजा से पूंछा अरे तूने क्यों नहीं चुदवाया अपनी बुर ?
  • अब क्या बताऊँ तुमसे बुर चोदी काजल मुझे बहुत दिनों के बाद इसका लौड़ा चूसने का पूरा मौका मिला तो मैं लौड़ा ही चूसने में मस्त हो गयी,  मेरा मन इसका लण्ड मुंह से बाहर निकालने का हो ही नहीं रहा था।  और ये भोसड़ी का फिर मेरे मुंह में ही झड़ गया ?
  • इसका लण्ड पसंद आया तुझे ?
  • हां बहुत पसंद आया मुझे इसका लण्ड ? बड़ा मोटा है सख्त है प्यारा प्यारा है इसका लण्ड ?
  • और किस किस का लण्ड पकड़ती हो तुम ?
  • ३/४ और लड़कों के लण्ड पकड़ती हूँ मैं ? लेकिन मुझे लण्ड चूसने का मौका नहीं मिलता काजल ? कुछ करो न यार ?
  • तो तुम उन सबको मेरे घर ले आया करो और खूब मस्ती से यहाँ चूसा करो लण्ड ? विकी तुमने कितनी लड़कियों को पकड़ाया है अपना लण्ड ?
  • सीमा, रोली, प्रिया, साजिया और सबा ये पांच लड़कियां मेरा लण्ड पकड़ती है और छठी पूजा है ?
  • अब तुम भी लड़कियों को यही लेकर उन्हें लण्ड चुसाया करो और चोदा करो उनकी बुर ?
  • अरे वाह तब तो मज़ा आ जाएगा बहन चोद काजल।

मैंने बातों में और चाय पानी में एक घंटा लगा दिया।  फिर मैंने कहा पूजा अब मैं भी तेरे सामने विकी का लण्ड पियूंगी। मैंने अपने कपडे उतारे और मुझे नंगी देख कर उसका लौड़ा भनभना उठा।  मैंने फिर बड़ी मस्ती से पिया उसका लण्ड तब जाने दिया।
दूसरे दिन मैं कॉलेज में ही थी जब पूजा मेरे पास आई और मेरे कान में बोली भोसड़ी की काजल तू मुझे अपने घर की चाभी दे दे मैं कुछ लड़कों को लेकर जा रही हूँ।  ड्रिंक्स का इंतज़ाम करती हूँ और तुम भी जल्दी आ जाओ। आज मैं तेरी बुर चोदूंगी। यह सुनकर मेरे बदन में आग लग गयी।  मैंने उसे चाभी दे दी।  एक घंटे के बाद मैं भी घर पहुँच गयी। पूजा मुझे अंदर कमरे में ले गयी। मैंने देखा की वह तीन लड़के केवल चड्ढी पहने बैठे है।  उन्हें देख कर मेरी चूत की आग भड़क उठी।  तब तक पूजा बोली काजल देखो बहन चोद ये है अदनान, ये सनी और ये है जग्गी माँ का लौड़ा ? आज इन तीनो के लण्ड हम दोनों की बुर चोदेंगे ? मैंने मजाक में कहा पूजा बहन की लौड़ी अगर मैं गांड मराना चाहू तो ? -- तो ये भोसड़ी वाले गांड भी मारेंगे काजल ? वो सबा मेम है न वह तो खूब गांड मरवाती है अपनी --  वाओ, क्या वह भी मेरी तरह लण्ड की शौक़ीन है -- हां यार वह तो अंकल लोगों से ज्यादा चुदवाती है बुर चोदी ? बड़े बड़े मर्दों के लण्ड पेलवा लेती है अपनी बुर में ? -- अच्छा उसने कभी मुझे बताया ही नहीं भोसड़ी वाली ने ?
मैं ये बातें कर ही रही थी की पूजा ने मेरे सारे कपडे उतार दिया और मैं मादर चोद नंगी हो गयी।  पूजा तो खुद ही कपडे उतार कर नंगी हो गयी । मैं आगे बढ़ी और अदनान की चड्ढी खोल डाली तो उसका लौड़ा टन्ना कर मेरे सामने आ गया।  मैंने लण्ड पकड़ा तो मज़ा आ गया।  मैं बोली पूजा इसका तो सुपाड़ा बड़ा मस्त और खूबसूरत है।  वह बोली हाय काजल ये मुस्लिम लण्ड है।  कटा लण्ड है।  इसका सुपाड़ा हमेशा बाहर ही रहता है। बुर चोदने में मुस्लिम बड़ा अच्छा होता है ? फिर मैंने सनी का भी लौड़ा खोल लिया।  लौड़ा मेरे मन का निकला ।  मैंने दोनों लण्ड से खेलने लगी और नज़र मेरी जग्गी के लण्ड पर थी जिसे पूजा चाट रही थी। पहली बार आज मेरे सामने तीन तीन लण्ड टन टना रहे थे। मैं मस्त होती जा रही थी ।
पूजा बोली :- बोलो काजल किसका लण्ड पेलूँ मैं तेरी बुर में पहले ?
मैंने कहा :- तू किसी का भी लण्ड पेल दे मेरी चूत में, बुर चोदी पूजा ? लेकिन ख्याल रख की मैं भी खूब कस कस के चोदूंगी तेरी चूत ?
वह बोली :- तेरी माँ का भोसड़ा काजल ? तू मेरी बुर चोद के क्या उखाड़ लेगी ? मेरी तो झांटें भी नहीं है उखाड़ने को ? माँ की लौड़ी काजल ?
मैंने कहा :- तो फिर मैं तेरी माँ की झांटें उखाड़ूँगी।
ऐसा कह कर मैं अदनान से चुदवाने लगी और जग्गी का लौड़ा चूसने लगी।  उधर पूजा सनी से चुदवाने लगी। सारा कमरा चुदाई की महक से भर उठा ? हम दोनों ने इन तीनो लड़को से अदल बदल कर खूब चुदवाया और फिर तीनो झड़ते हुए लण्ड मिलकर चाटे ? बड़ा मज़ा आया उस दिन पूजा के साथ बुर चुदवाने में ?  तब मुझे मालूम हुआ की ग्रुप चुदाई का मज़ा ही कुछ और है ?  अगले दिन छुट्टी थी।  सवेरे सवेरे सबा आ गयी वह बोली हाय काजल मैंने सुना है तू कॉलेज के लड़कों के लण्ड है -- हां पकड़ती तो हूँ तो क्या हुआ ? -- नहीं नहीं हुआ कुछ भी नहीं।  बस ये बताओ की कॉलेज के लड़कों के अलावा किसी और का लण्ड पकड़ती हो ? -- अभी तक तो नहीं पकड़ा पर पकड़ सकती हूँ ? है कोई ऐसा