Get Indian Girls For Sex
   

11219517_944424962297168_4798625220908559195_n
मेरे बड़े मधुर और निजी सम्बन्ध है समीरा आंटी से ?
मैंने एक दिन बड़ी बेबाकी और  बड़ी बेतकुल्लफी से पूंछा :- तेरी बेटी चोद लूँ, आंटी ?
वह बोली :- हां हां बड़े शौक से चोद लो ? पर एक बात है की मैं जब किसी की चुदाई देखती हूँ तो बहुत चुदासी हो जाती हूँ . ऐसे में तुम्हे मुझे भी चोदना पड़ेगा ? अगर तेरे लौड़े में इतना दम है तो तू बड़े मजे से चोद ले मेरी बेटी ? मुझे कोई ऐतराज़ नहीं है ?
मैं बोला :- हां हा आंटी मैं तैयार हूँ .
आंटी बोली :- सोंच ले एक बार फिर भोषड़ी के आरिफ ?  दो दो चूत एक साथ चोदने की दम है तेरे लौड़े में ? अगर है तो आजा खोल के अपना लण्ड ? मैं खोलती हूँ अपनी चूत ? और अभी तेरे सामने ही खोल देती हूँ अपनी बेटी की चूत ? हंसी मजाक की बात अलग है आरिफ , बड़ों बड़ों की माँ चुद जाती है दो दो चूत चोदने में ? लोगों की गांड फट जाती है माँ बेटी दोनों को एक साथ चोदने में ? सोंच ले पहले अगर तू नहीं चोद पाया तो फिर मैं कहाँ जाऊंगी चुदाने और कहाँ जाएगी मेरी बेटी चुदाने ? हम दोनों बिना चुदे कैसे रह पायेंगी ? इससे पहले की मैं कोई जबाब देता उसकी बेटी जोया आ गयी .
आंटी बोली :- अरी जोया तू कहाँ इतनी देर से अपनी माँ चुदा रही थी ? मैं जाने कब से तेरा इंतज़ार कर रही हूँ . जोया बोली :- मैं यही तो थी पड़ोस में,  अम्मी .
आंटी बोली :- पड़ोस में क्या गांड मरा रही थी की किसी का लौड़ा हिला रही थी तू  ?
जोया बोली :- आज तो अंकल थे ही नहीं तो लौड़ा किसका हिलाती ? तू मुझ पर पता नहीं इतना शक क्यों करती है  बहन चोद ? मैं जानती हूँ की तू किस किस का लौड़ा हिलाया करती है ? किस किस का लौड़ा चूसा करती है और किस किस से चुदवाया करती है ?

आंटी बोली :- अरे तो मैंने तुझे कभी किसी का लौड़ा हिलाने से मना किया है क्या ? मैं तो चाहती हूँ की तू लौड़ा हिलाये, लौड़ा चाटे, लौड़ा चूसे, लौड़ा पिये और लौड़ा अपनी चूत में पेले ?
जोया बोली :- चाहने से क्या होता है, अम्मी ? कभी कोई लण्ड मेरे हाथ में रखा है तूने ? पड़ोस की रहीमा आंटी को देख ? उसे जब भी कोई लण्ड मिलता है तो वह सबसे पहले अपनी बेटी के हाथ में रख देती है . अपनी बेटी की बुर में पहले लण्ड पेलती है बाद में अपनी बुर में ? और एक तुम हो ? जब भी कोई लण्ड तेरे हाथ में आता है तो तू सीधे उसे अपनी बुर में घुसेड़ लेती है ? गांड उठा उठा कर चुदाने लगती है ? तब मेरी बुर का ख्याल नहीं आता तुझे ? अभी कल ही जुम्मन अंकल का लण्ड तूने अपनी चूत में डाला था . मैं भी वहां बैठी थी . बस तेरी चुदाई देखती रही पर तूने ये तक नहीं कहा की जोया तू भी थोड़ा चाट ले लण्ड ? मैं  बहन चोद ललचा कर रह गयी ? अब मैंने सोच लिया है की मैं भी लड़कों को लाया करूंगी और कमरे में जाकर खुद मजे से चुदाया करूंगी . तेरी चूत जलती है तो जले ? तेरी गांड जलती है तो जले ? मुझे क्या ? अरे कभी तूने किसी अंकल की झांटें तक नहीं बनवाई मुझसे ? अगर बनवाती तो उसी बहाने मैं भी लण्ड चाट लेती ? चूस लेती लण्ड ? चूम लेती लण्ड ?  थोडा प्यार से पुचकार लेती लण्ड ? पर तू मादर चोद है बड़ी स्वार्थी ? लण्ड देख कर तू सारी दुनिया भूल जाती है . क्या तुझे यह मालूम है की तेरी चुदाई देख कर, मेरी चूत भी चुदासी हो जाती है ?  मेरे चूत की आग भड़क जाती है ? मेरे मुंह में पानी आ जाता है ? मेरी लार टपकने लगती है लेकिन मैं दिल मसोस कर रह जाती हूँ . जबसे मैं पड़ोस के अंकल का लण्ड हिलाने लगी हूँ तबसे थोड़ी राहत है मुझे ? जब से अंकल के दोस्तों के लण्ड हिलाने का मौका मिला है तबसे बड़ा अच्छा लगने लगा है मुझे . अब तो रहीमा आंटी मुझे लण्ड पकडाने लगी है . मेरी चूत चुदवाने लगी है . मेरे मुंह में लण्ड डालने लगी है . आंटी खुद कभी कभी मेरी बुर चोद देती है .
मैं एक तरफ खड़ा खडा माँ बेटी की बातें सुन रहा था . मैं अपने आप को बड़ा लकी मानने लगा की मुझे इस तरह की खुली खुली बातें सुनने को मिली . मुझे यह भी फील हुआ की लड़कों में जितनी ज्यादा इच्छा चोदने की होती है उससे ज्यादा इच्छा लड़कियों में चुदाने की होती है . जोया की बातों ने मेरी आँखे खोल दी ? मैं देख रहा था की किस तरह जोया अपनी माँ की गांड मार रही है . आखिर कार आंटी की गांड फट ही गयी .
वह बोली :- हाय जोया आज मुझे अहसास हो रहा है की मैंने अपनी चूत की आग के आगे तेरी चूत की आग पर ध्यान नहीं दिया ? मैंने यह नहीं सोचा की मेरी बेटी जवान हो गयी है . उसे मुझसे भी ज्यादा बड़े बड़े लण्ड की जरुरत है ? मुझे अफ़सोस है की मैं तेरी चूत की आग बुझाने में तेरी कोई मदद नहीं कर सकी . लेकिन अब हुआ सो हुआ ? अब मेरी आँखे खुल गयी है . अब देखना तुम, मैं एक से एक बेहतरीन लण्ड तेरी बुर में घुसेडूंगी ? अभी देखो यह आरिफ खड़ा है . मैंने पहले सोचा था की हम दोनों मिलकर चुदायेंगी इससे पर अब मैं चाहती हूँ की तू ही चुदा ले ? मैंने अभी तक इसका लण्ड देखा नहीं है . हां इसने मेरी चूंचियाँ खूब दबायीं है . मेरी चूत पर हाथ फेरा है मेरी गांड भी सहलाई है . पर आगे नहीं बढ़ सका ? आज इसने अपनी इच्छा तुम्हारी बुर चोदने की ज़ाहिर की है . इसकी इच्छा पूरी करो बेटी ? खोलो अपने कपडे ? करो इस बहन चोद को नंगा और पकड़ो इसका लण्ड ? आज मैं सामने बैठ कर तेरी मस्त चुदाई का मज़ा लूंगी .
जोया दौड़ कर अपनी अम्मी से लिपट गयी और बोली हाय अम्मी लगता है की मैंने कुछ ज्यादा ही कह दिया है . अम्मी बोली नहीं ? बिलकुल नहीं ? तुमने मेरी आँखे खोल दी है . आज से तू मेरी दोस्त है . समझी बुर चोदी जोया ? मैं बोली हां समझी मेरी हरामजादी मादर चोद अम्मी ? दोनों खूब खिलखिला कर हंस पड़ी ? समीरा आंटी और जिया दोनों मिलकर मुझे बेड रूम में ले गयी .आंटी मेरे कपडे खोलने लगी और जोया अपनी माँ को नंगी करने लगी . मैं जोया के कपडे उतारने लगा . पहले समीरा आंटी नंगी हुई . उसको नंगी देख कर मेरा लौड़ा हिनहिनाने लगा . उसके बाद जब जोया नंगी हुई तो मेरा लौड़ा काबू के बाहर हो गया . आंटी ने लण्ड मुठ्ठी में पकड़ लिया .
उसे हिला कर बोली - हाय जोया देख तो इसका लौड़ा तो बहुत बड़ा है . मैं तो समझती थी की छोटा होगा लण्ड क्योंकि इसकी उम्र ही कितनी है ? लेकिन ये तो मर्दों वाला है लण्ड ?
जोया ने भी हाथ लगा कर मेरा लण्ड देखा और बोली  :- हां अम्मी तुम ठीक कह रही हो . फिर उसने एक इंची टेप से लण्ड नापा . जोया बोली हाय अल्ला, ८" से बड़ा है लण्ड अम्मी . ये तो भोषडा चोदने वाला लण्ड है ? अब तो अम्मी तुम्हे अपना भोषडा चुदाना पड़ेगा ?
आंटी बोली  :- नहीं जोया . अब मैं नहीं तुम चुदाओगी ? मैं तुम्हे चुदते हुए देखूँगी . जोया बोली नहीं अम्मी अगर तुम नहीं चुदाओगी तो फिर मैं चोदूंगी तेरा भोषडा ? आज तो जरुर चुदेगा मेरा माँ का भोषडा ?
ऐसा कह कर जोया मेरा लण्ड पीने लगी . मेरा लौड़ा मस्त टन्नाया हुआ था . मुझे लण्ड चुसाते हुए मज़ा आने लगा . मेरे मन की तमन्ना पूरी होने लगी . इसी लड़की का नाम ले ले के मैंने जाने कितनी बार सड़का मारा है आज यही लड़की मेरा लण्ड चूस रही है . आंटी बगल में बैठी हुई मेरे चूतड़ों पर हाथ फेर रही है और बीच बीच में पेल्हड़ चाट रही है . मैं उसकी चूंची दबा रहा हूँ . उसकी चूत सहला रहा हूँ . फिर मैं जोया की बुर चाटने लगा . मैं सीधा नंगा लेटा हुआ था . जोया की चूत पे मेरा मुह था . मेरा लण्ड खड़ा था जिसे समीरा और जोया मिलकर चाटने लगी . जोया सी सी की आवाज़ कर रही थी उसकी चिकनी चूत बड़ी मस्त लग रही थी .इतने में आंटी ने लण्ड पकड़ कर उसकी चूत के मुह पे रखा और मुझसे कहा आरिफ अब धक्का मारो और चोदो मेरी बेटी की बुर . मैं मजे से चोदने लगा . पूरा लौड़ा अन्दर पेल देता फिर पूरा लौड़ा बाहर निकालता और फिर अन्दर घुसा देता .

  • आंटी बोली वाह तुम तो बढ़िया चोद लेते हो ? लगता है कई बुर चोद चुके हो ?
  • नहीं आंटी मैं पहली बार चोद  रहा हूँ .
  • जोया बोली झूंठ न बोलो ? इतना बढ़िया तो पड़ोस का अंकल भी नहीं चोदता ? तुम चोद चुके हो बुर ?
  •  हां यार चोद चूका हूँ बुर ?  लेकिन उतना मज़ा नही आया जितना आज आ रहा है .
  • पहले बताओ किसकी बुर चोदा है तुमने ?
  • सिमरन आंटी की चूत चोदा है मैंने और फिर उसकी बेटी  मनप्रीत कौर की बुर चोदी है .
  • और बताओ किस किस की चोदी ?
  • और कॉलेज की २/३ लड़कियों को चोद चुका हूँ .
  • भोषड़ी के अपनी माँ चोदी है तूने ?
  • माँ नहीं माँ की बहन चोदी है . मुझे खाला की बुर चोदने में मज़ा आता है ?
  •  इसका मतलब तुम बड़े तगड़े चुदयिया हो ?  तूने किसी की गांड मारी है ?
  • हां कॉलेज की लड़कियां सब की सब बुर चोदी गांड मरवाती है .
  • मेरी गांड मारोगे ?
  • हां तुम कहोगी तो मारूंगा . वैसे मुझे चूंची चोदने का मन है .
  • अरे यार चोद लेना मेरी चूंची और मेरी अम्मी की भी चूंची ?

अचानक आंटी ने लण्ड जोया की बुर से निकाला और उसे पोंछ कर मुंह में ले लिया . थोडा चूसने के बाद फिर जोया की बुर में घुसा दिया . तीन चार बार आंटी ने ऐसा ही किया . मुझे भी मज़ा आया . मैं पहली बार माँ बेटी दोनों को चोद रहा था . हालाँकि आंटी ने अभी बुर नहीं चुदवाई लेकिन तैयारी जोरों की है . मैं तो समझता हूँ की जोया ही अभी दूसरी पारी में मेरा लण्ड अपनी माँ की चूत में घुसा कर चोदेगी . मैंने जोया को उसकी माँ के आमने पटक पटक के चोदा . आगे से चोदा पीछे से चोदा ऊपर से चोदा नीचे से चोदा . जोया मादर चोद बड़ी खुश हो रही थी . उससे ज्यादा उसकी माँ खुश हो रही थी .
मैंने कहा :- आंटी मज़ा आ रहा है न तुम्हे अपनी बेटी चुदवाते हुए  .
वह बोली :- हां भोषड़ी के आरिफ मैं नहीं जानती थी की तेरा लौड़ा इतना जानदार इतना शानदार होगा  ?  तू तो घोड़े की तरह चोदता है बुर ?
मैंने कहा :- अभी तो मैंने तेरी बुर चोदी ही नहीं आंटी ?
तब तक जोया बोली :_ यार तुम चिंता न करो अभी मैं तेरा लण्ड  इसके भोषडा में घुसेड़ कर चोदूंगी . मैं जब झड़ने को आया तो दोनों माँ बेटी मुंह खोल कर लण्ड के सामने खड़ी हो गयी . मेरी पिचकारी पहले जोया के मुंह में गयी और दूसरी उसकी माँ के मुंह में . दोनों ने जम कर चाटा मेरा लण्ड .
एक दिन मैं अपने दोस्त अतीक के घर पहुँच गया . उसने मेरा वेलकम किया और अन्दर कमरे में बैठाया . फिर उसने मुझे अपनी बीवी सारा से मिलवाया . मैं सारा को देखते ही कल्पना लोक में घूमने लगा . इतनी खूबसूरत है उसकी बीवी मैंने कभी सोचा भी न था . उसका चेहरा और और चूंची वाह खुदा ने बड़े इत्मीनान से बना