Get Indian Girls For Sex
   

A_pregnant_pause_by_gorkath

 लोग इस बात कि जानकारी ठीक से नहीं रखते कि आखिर बच्चा पैदा करने में क्या-क्या सावधानियां रखीं जायें। इसकी एक बड़ी वजह यह भी है कि हमारे समाज में sex और उससे संबधित बातों के बारे में बोलना-सुनना बुरा माना जाता है और सही जानकारी ना मिल पाने के कारण लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है।

Friends, (मित्रो) यहाँ दी गयी जानकारी मैंने विभिन्न websites से collect (संगृहीत) की है जहाँ expert doctors (विषेशज्ञ डॉकटरों) ने गर्भावास्ता से related (सम्बंधित) बातें बतायीं हैं। मेरा मानना है कि यह जानकारी आपके लिए काफी उपयुक्त है, पर फिर भी आप किसी भी बात पर अमल करने से पहले यदि अपने doctor (डॉक्टर) से concern (सलाह) कर लें तो बेहतर होगा।
HOW TO GET PREGNANT IN HINDI?
गर्भवती कैसे बनें? 
पहले आपको Pregnancy (गर्भावस्था) से related कुछ facts बता देता हूँ:-जितने भी लोग बच्चा पैदा करना चाहते हैं, उनमे से लगभग 85% लोग एक साल के अन्दर ऐसा करने में सफल हो जाते हैं। जिसमे से 22% लोग तो पहले महिने के अन्दर ही सफल हो जाते हैं। यदि एक साल तक प्रयास करने पर भी बच्चा ना हो तो यह समस्य का विषय हो सकता है और ऐसे couples (जोड़ों) को infertile (बांझ) समझा जाता हैं।
बच्चा पैदा होने के लिए couples के बीच सेक्स (सम्भोग/intercourse) का होना अनिवार्य है। और इसके दौरान पुरुष का penis (लिंग) स्त्री के vagina (योनी) में जाना चाहिए और उसे स्त्री के vagina में sperm ( शुक्राणु ) छोड़ने होंगे, जिससे sperm, uterus (गर्भाशय) के मुख के पास इकठ्ठा हो जायेगा। यह प्रक्रिया सेक्स के दौरान स्वत: ही हो जाती है, इसलिए इसकी चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं है।
इसके आलावा सम्भोग ovulation (डिंबक्षरण) के समय के आस-पास होना चाहिए। डिंबक्षरण एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमे महिलाओं के Ovary (अंडाशय ) से egg (अंडे) निकलते हैं। Ovulation Menstruation Cycle (OMC) यानि डिंबक्षरण मासिक धर्म चक्र का पार्ट होता है, जो कि MC के चौदहवें दिन, जब bleeding start हो जाती है तब शुरू होता है।
बच्चा पैदा करने के लिए महिलाओं में सेक्स के दौरान orgasm (मामोन्माद-तृप्त) होना अनिवार्य नहीं है। डॉक्टर्स का कहना है कि दरअसल fallopian tube (डिंबवाही नलिका) जो कि अंडे को ovary (अंडाशय) से uterus (गर्भाशय) तक ले जाता है, sperm (शुक्राणु) को अपने अन्दर खींच ले जाता है और उसे egg से मिलाने की कोशिश करता है और इसके लिए महिलाओं में orgasm/मामोन्माद का आना जरूरी नहीं है।
Female Anatomy-महिला शारीरिक रचना
9 Tips to get pregnant/गर्भवती होने के लिए 9 युक्तियाँ: 
(1) डॉक्टर से जांच कराएं : बच्चे की planning/प्लानिंग करने से पहले डॉक्टर से सलाह ले लेना और अपनी जांच करा लेना चाहिए। इससे यह पता चल जायगा कि आपको किसी तरह कि शारीरिक परेशानी तो नहीं है, या कोई infection/संक्रमण वगैरह तो नहीं है। इससे Sexually Transmitted Disease (यौन संचारित रोग) होने की सम्भावना ख़तम हो जाएगी। साथ ही अगर डिम्बग्रंथि अल्सर, फाइब्रॉएड, endometriosis (अन्तर्गर्भाशय-अस्थानता), गर्भाशय के स्तर की सूजन जैसे परेशानियों की भी जांच हो जाएगी।
(2) Ovulation (डिंबक्षरण) के समय के आस-पास सम्भोग करें : Gynecologists (स्त्रीरोग विशेषज्ञों) का मानना है कि बच्चा पैदा करने के लिए स्त्री के eggs ovary से निकलने के 24 घंटे के अन्दर ही fertilize (निषेचित) होने चाहियें। आदमी के sperms औरत के reproductive tract (प्रजनन पथ) में 48 से 72 घंटे तक ही जीवित रह सकते हैं। चूँकि बच्चा पैदा करने के लिए आवश्यक embryo (भ्रूण ) egg और sperm के मिलन से ही बनता है, इसलिए couples को ovulation के दौरान कम से कम 72 घंटे में एक बार ज़रूर सम्भोग करना चाहिए और इस दौरान पुरुष को इस्त्री के ऊपर होना चाहिए ताकि sperms के leakage की सम्भावना कम हो। साथ ही पुरुषों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो 48 घंटे में एक बार से ज्यादा ना ejaculate (वीर्यपात) करें वरना उनका sperm count काफी नीचे जा सकता है, जो हो सकता है कि egg जो fertilize करने में पर्याप्त ना हो।
Ovulation (डिंबक्षरण) का समय कैसे पता करें? Ovulation (डिंबक्षरण) का समय पता करने का अर्थ है उस समय का पता करना जब ovaries से fertilization के लिए तैयार egg निकले। इसे जानने के लिए आपको अपने period-cycle (मासिक-धर्म) का अंदाजा होना चाहिए। यह 24 से 40 दिन के बीच हो सकता है। अब यदि आप को अपने next period के आने का अंदाजा है तो आप उससे 12 से 16 दिन पहले का समय पता कर लीजिये, यही आपका ovulation (डिंबक्षरण) का समय होगा।
For Example उदाहरण के लिए : यदि period की शुरुआत 30 तारीख को होनी है तो 14 से 18 तारिख का समय ovulation (डिंबक्षरण) का समय होगा।
बच्चा पैदा करने के लिए उपयुक्त समय का पता करने का एक और तरीका है : Vagina (यौनि) से निकलने वाले चिपचिपे तरल को अपने ऊँगली पर लीजिये और उसकी elasticity check कीजिये, जब ये अधिक और देर तक लचीला रहे तो समझ जाइये कि ovulation (डिंबक्षरण) हुआ है और अब आप बच्चा पैदा करने के लिए सम्भोग कर सकते हैं।
(3) एक healthy lifestyle (स्वस्थ जीवन शैली) बनाए रखें। बच्चा पैदा करने के chances/अवसर बढ़ाने के लिए बेहद आवश्यक है कि पति-पत्नी एक स्वस्थ्य-जीवनशैली बनाये रखें। इससे होने वाली संतान भी अच्छी होगी। खाने–पीने में पर्याप्त भोजन और फल की मात्रा रखें। Vitamins/विटामिन्स की सही मात्र से पुरुष-स्त्री दोनों की fertility rate/प्रजनन दर बढती है। रोजाना व्यायाम करने से भी फायदा होता है।
सिगरेट पीने वाली महिलाओं में conceive (गर्भ धारण)  करने के chances 40 % तक घट जाते हैं। 
(4) Stress-free (तनाव-मुक्त) रहने का प्रयास करें : इसमें कोई शक नहीं है कि अत्यधिक तनाव आपके reproductive function (प्रजनन कार्य) में बाधा डालेगा. तनाव से कामेक्षा ख़तम हो सकती है और extreme conditions (चरम स्थितियों) में स्त्रियों में menstruation की प्रक्रिया को रोक सकती है। एक शांत मन आपके शरीर पर अच्छा प्रभाव डालता है और आपके pregnant/गर्भवती होने की सम्भावना को बढ़ता है। इसके लिए आप regularly breathing- exercises (नियमित रूप से साँस लेने सम्बन्धी-अभ्यास) और relaxation techniques (आराम की तकनीक) का प्रयोग कर सकती हैं।
(5) Testicles (अंडकोष) को ज्यादा heat/गर्मी से बचाएँ : यदि sperms/शुक्राणू ज्यादा तापमान में expose / अरक्षित हो जायें तो वो मृत हो सकते हैं। इसीलिए testicles (जहाँ sperms का निर्माण होता है) body के बाहर होते हैं, ताकि वो ठंढे रह सकें। गाड़ी चलते समय ऐसे beaded सीट का प्रयोग करें, जिसमे से थोड़ी हवा पास हो सके और बहुत ज्यादा गरम पानी से इस अंग को ना धोएं। वैसे आम तौर पर इतना अधिक precaution (एहतियात) लेने की ज़रुरत नहीं है, पर जो लोग आग की भट्टी या किसी गरम स्थान पर देर तक काम करते हैं, उन्हें सावधान रहने की ज़रुरत है। X-Ray technicians को हमेशा lead coat पहन कर काम करना चाहिए। अन्यथा बच्चे में जन्मजात विसंगतियां हो सकती हैं।
 
(6) सेक्स के बाद थोड़ी देर आराम करें : सेक्स के बाद थोड़ी देर लेटे रहने से महिलाओं कि योनी से sperms के निकलने के chances नहीं रहते। इसलिए सेक्स के बाद 15-20 मिनट लेटे रहना ठीक रहता है।
(7) किसी तरह का नशा ना करे : ड्रग्स , नशीली दवाओं, सिगरेट या शराब के सेवन आदमी-औरत, दोनों के hormones/हार्मोन का संतुलन बिगड़ सकता है और आपकी प्रजनन क्षमता को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। बच्चों में भी जन्मजात विसंगतियां हो सकती हैं।
(8) दवाओं का प्रयोग कम से कम करें : कई दवाइयां , यहाँ तक कि आराम से मिल जाने वाली आम दवाइयां भी आपकी fertility पर बुरा प्रभाव डाल सकती हैं.कई चीजें ovulation को रोक सकती हैं , इसलिए दवाओं का उपयोग कम से कम करें. बेहतर होगा कि आप किसी भी दावा को लेने या छोड़ने से पहले डॉक्टर से सलाह ले लें.खुद अपना इलाज करना घातक हो सकता है, ऐसा risk ना लें।
(9) Lubricants (चिकनाई) को avoid (टालें) करें : Vagina को lubricate में प्रयोग होने वाले कुछ ज़ेल्स, तरल पदार्थ, इत्यादि sperms को महिलाओं की reproductive tract में travel करने में बाधक हो सकते हैं। इसलिए इनका प्रयोग अपने डाक्टर से पूछ कर ही करें। वैसे किसी artificial lubricant (कृत्रिम स्नेहक) का प्रयोग करने की आवश्यकता ही नहीं है, क्योंकि orgasm के दौरान शरीर खुद ही पर्याप्त मात्रा में liquid produce करता है जो sperm और ova दोनों के लिए healthy होता है। Click Here Next >>