Get Indian Girls For Sex
   

गर्भधारण से बचने के लिए क्या करें ?

गर्भधारण से बचने के लिए क्या करें ?  : गर्भधारण से बचने के लिए कई तरीके मौजूद हैं, इन्हें अपनाकर न केवल अनचाहा गर्भ को रोका जा सकता है बल्कि परिवार नियोजन के लिए ये तरीके बहुत कारगर साबित होते हैं। इसके लिए बाजार में कई प्रकार की गर्भनिरोधक गोलियां मौजूद हैं। यदि आप गोलियों का प्रयोग नही करना चाहतीं तो पुरुष और महिला नसबंदी भी कर्राई जा सकती है। र्
कई बार अनजाने में महिलायें अनचाहे गर्भधारण का शिकार हो जाती हैं। इसलिए जरूरी है आप ऐसे उपायों को जानें जो अनचाहे गर्भ को ठहरने से रोकता हो। आईए हम आपको गर्भधारण करने से बचने वाले उपायों के बारे में जानकारी दे रहे हैं

गर्भधारण से बचने के उपाय :

गर्भनिरोधक गोलियांर्
गर्भधारण करने से बचने के लिए बाजार में कई प्रकार की गर्भनिरोधक गोलियां मौजूद हैं। जिनका सेवन करने से अनचाहा गर्भ नही ठहरता है। असुरक्षित यौन संबंध बनाने के ७२ घंटे के भीतर इन गोलियों का सेवन करने से गर्भधारण की संभावना कम होती है। ऐसी गोली को खाने के बाद भोजन लेना सही रहता है। खाली पेट खाने से उल्टी हो सकती है। अगर गोली खाने के तीन घंटों में ही आपको उल्टी आ जाती है, तो जल्द से जल्द दूसरी गोली ले लीजिए। इस गोली का ज्यादा सेवन करने से बाद में गर्भधारण करने में दिक्कत हो सकती है, इसलिए इन गर्भनिरोधक गोलियों का अधिक प्रयोग करने से बचिए।
नसबंदीर्
गर्भधारण को रोकने के लिए न केवल महिला बल्कि पुरुष भी नसबंदी करा सकते हैं। पुरुष नसबंदी को ‘भैसेक्टोमी’ भी कहा जाता है। पुरुष नसबंदी में शुक्राणुओं को ले जानी वाली नलियों को बंद कर दिया जाता है। आप इसे कराने के बाद भी सामान्य तरीके से वर्ीयपात करते हैं, किंतु उस वर्ीय में डिंब को निषेचित करने के लिए कोई शुक्राणु नहीं होते। यह गर्भनिरोध का एक स्थायी उपाय है और इसका कोई भी साइड इफेक्ट नही होता है। नसबंदी के बाद गर्भधारण करने की संभावना न के बराबर होती है
काँपर-टीर्
गर्भधारण करने से बचने के लिए काँपर-टी भी बहुत ही कारगर तरीका है। गर्भ को रोकने के लिए इसकी सफलता की दर काफी अधिक है। यह १० साल तक के लिए प्रभावी है। यह एक छोटे टी के आकार का प्लास्टिक होता है, जिसे महिला के गर्भाशय में लगा दिया जाता है। इसे काँपर आईयूडी भी कहते। इसका अर्थ है- इंट्रायूटेरिन डिवाइस, अर्थात गर्भाशय में लगाया जाने वाला उपकरण। इसे तांबे के तार के एक छल्ले में लपेटा गया होता है।
कंडोम
यौन संबंध बनाने के दौरान कंडोम का प्रयोग करने से अनचाहा गर्भ नहीं ठहरता है। लेकिन कंडोम का प्रयोग करने से पहले उसके सही ढंग से प्रयोग के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है। अगर पुरुष मित्र ने कंडोम सही तरीके से नहीं पहना है तो यह सेक्स के बीच में ही फट जाता है, जिससे महिला गर्भवती हो सकती है। इसलिए यौन संबंध बनाने से पहले कंडोम के सही उपयोग की जानकारी ले लें। आजकल बाजार में महिला और पुरुष दोनों प्रकार के कंडोम मिलते जो अनचाहे गर्भ से बचाने में कारगर हैं।
इम्प्लांट
यह हार्माेनयुक्त एक छोटी छडÞ होती है, जिसे महिला की बांह की चमडÞी के नीचे डÞाल दिया जाता है। इसे ३-५ साल के लिए डÞाला जाता है। इम्प्लांट कराने के बाद यह लगातार प्रोजेस्टाँन हार्माेन निकालता रहता है जो महिला को गर्भवती होने से बचाता है। यह हार्माेन महिला की गर्भग्रीवा -र्सर्विक्स) के चारों तरफ के म्यूकस को गाढÞा कर देता है, जिसके कारण शुक्राणु इसके पार नहीं जा सकते। हार्माेन की मात्रा के अनुसार, यह आपके अंडाशय से डिंब का उत्पादन भी बंद कर सकता है। इम्प्लांट्स, इम्प्लानान, नाँरप्लांट और जैडेल ब्रांड नाम से जाने जाते हैं।र्
गर्भधारण से बचने के लिए जरूरी है कि आप यौन क्रिया से विरत रहें। गर्भधारण करने से बचने का यह तरीका सबसे अच्छा और कारगर है। इसके अलावा गर्भनिरोधकों का प्रयोग करने से पहले एक बार चिकित्सक की सलाह अवश्य लीजिए।
सिआरएस की नीलोकन लोकप्रिय
नेपाल में सिआरएस कम्पनी द्वारा उत्पादित ‘नीलोकन हृवाइट’ गोटी अस्थाई परिवार नियोजन के लिए सुरक्षित और आधुनिक उपाय है। देश भर में इसका अच्छा और सहज बाजार है। हर रोज निलोकन हृवाइट की गोली खाने से गर्भनिरोध के लिए प्रभावकारी होता है। पहली सन्तान देर से जन्माने के लिए सन्तानों के बीच में जन्मान्तर का समय कायम रखने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है।
इसका प्रयोग करने के लिए सबसे उत्तम समय माहवारी के पहले पाँच दिनों के अन्दर माना गया है। अगर आप स्वयं को गर्भवती नहीं है, ऐसा निश्चित रूप से मानती हैं तो नीलोकन हृवाइट जिस समय से भी शुरु कर सकती हैं। फिर भी इसके प्रयोग के बाद सात दिन तक आप को ढÞाल- पैन्थर भी प्रयोग करना चाहिए।
इसकी एक गोटी रोज लेना जरूरी है। जिस रोज यौन सर्म्पर्क नहीं हो, उस रोज भी इसे लेना जरूरी है। हर रोज एक ही समय में लेने से इससे भूलने की सम्भावना कम होती है। अगर आप गोटी खाना भूल जाती हैं तो याद पडÞते ही गोटी खा लीजिए। अर्थात् जिस रोज याद पडÞे, उस रोज दो गोटी खाइए। यदि लगातार दो दिनों तक या उससे ज्यादे दिनों तक आप गोटी लेना भूल गई हैं तो छुटी हर्ुइ गोटी को मिलाकर प्रति दिन दो गोटी लिया करें। उसके बाद दैनिक एक गोटी लें। इस बीच सात दिनों तक सहवास न करें। और करना हीं हो तो ढाल-पैन्थर का प्रयोग करें।
भविष्य में आपको जब सन्तान की जरूरत महसूस हो, तब गोटी खाना छोड दें। कुछ महीने बाद ही आप गर्भवती हो सकती हैं। इस गोटी का प्रयोग बहुत ही सुरक्षित है। संसार में करोडÞों महिलाएं इसका प्रयोग करती हैं। आप के शरीर के लिए यह गोटी उपयुक्त है या नहीं, इस बारे में आप नजदीकी किसी दुकान में अथवा किसी स्वास्थ्यकर्मी से मिलकर सलाह ले सकती हैं।
यदि आप गर्भवती महिला हैं अथवा ६ महिने तक के बच्चे को दूध पिला रही हैं तो इस गोटी का प्रयोग न करें। स्तन क्यान्सर हुआ हो तो, जण्डिस हुआ हो तो अथवा लीभर सम्बन्धी कोई रोग हुआ हो वा विगत में हृदयाघात, मस्तिष्क सम्बन्धी रोग हुआ हो और यदि आप ज्यादा धूम्रपान करती हों और ३५ वर्षसे ऊपर की हों तो इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। सही तरीके से इसका प्रयोग करने से यह बहुत लाभदायक गोटी है। इसका प्रयोग करने से पहले इसके पैकेट के अन्दर जो निर्देशिका रहती है, उसे अवश्य पढÞ लें। इसका प्रयोग करते समय यदि आप कोई नई बीमारी महसूस करती हैं तो इसका प्रयोग बन्द कर स्वास्थ्यकर्मी से सलाह लें।
मगर सावधान ! इस गोटी के प्रयोग से आप एचआईभी एड्स वा अन्य यौन रोग से नहीं बच सकती हैं। यदि आप एचआईभी एड्स वा यौनजन्य संक्रमण के खतरे में हैं तो कृपया कण्डम का प्रयोग करें और अपने को सुरक्षित रखें। ज्यादा जानकारी के लिए आप नजदीक के दवाखाने में अथवा स्वास्थ्यकर्मी से मिलें।

Top Porn Posts & Pages