Get Indian Girls For Sex
   


makaan-malkin-lonely-shobha-auntyमेरा नाम रमेश है और मै एक प्राइवेट कंपनी मे काम करता हु | मेरे साथ एक रवि नाम का शख्स काम करता है | दोनों का एक ही काम होनो के कारण, हम दोनों मे काफी पटती है | रवि शादीशुदा है और मै कुवारा | रवि की बीवी बहुत मस्त माल है, एक तो बला की खुबसूरत है और दूसरा उसकी फिगर बहुत मस्त है | रवि और उसकी बीवी कॉलेज मे मिस्टर एंड मिस कॉलेज हुआ करते थे और काफी प्रतियोगिता मे साथ-साथ हिस्सा लेते थे | वही से उनका प्यार परवान चड़ा और बाद मे उन्दोनो की शादी हो गयी | मेरे रवि के घर काफी आना जाना था और मै अक्सर रवि के घर खाना खाने चला जाता था | मै रवि के बीवी की बहुत तारीफ़ करता था | मै हमेशा उनको कहता था, भाभी आप जितनी खुबसूरत हो; उतना अच्छा ही खाना भी बनाती हो | जवाब मे, भाभी सिर्फ मुस्कुरा देती थी | वेसे तो वो दोनों बहुत खुश थे और एक दुसरे को अपनी जान से ज्यादा प्यार करते थे | लेकिन, कुदरत का नियम है; कि, जब मीठा ज्यादा हो जाये, तो नमकीन की जरुरत होती है | यही कारण मेरी खुशमती का कारण बना |मुझे नहीं मालूम था; कि, रवि और उसकी बीवी को पोर्न फिल्म देखने के आदत है | एक बाद रवि को २-३ दिन के लिए शहर से बाहर जाना पड़ा | पहली रात तो रवि की बीवी अकेले काट ली | लेकिन, दुसरे दिन रवि का फ़ोन आया; कि, आज रात के लिए मे उसके घर चला सोने जाऊ | मैने कहा, मै रात को खाने के वक़्त चला जाऊंगा | मै शाम को जल्दी फ्री हो गया, तो मै सीधे ही रवि के घर चले गया | भाभी उस समय ब्लू फिल्म देख रही थी | मेरे घंटी बजाने पर उन्होंने टीवी बंद किया और दरवाजा खोला | मुझे देखकर बोली, बड़ी जल्दी आ गये, आप | मुझे बिठाकर, वो मेरे लिए चाय बनाने चली गयी | मैने टीवी चालू किया, तो मेरे होश उड़ गये | टीवी पे ब्लू फिल्म चल रही थी | मुझे समझ नहीं आ रहा था, कि क्या हो रहा है, मेरे हाथ मे रिमोट था और मेरे हाथ कॉप रहे थे | मै तो बस टकाटक टीवी देख रहा था और मेरा लंड झट से तन गया था | इतने भाभी रसोई से निकल कर आयी और मुझे टीवी देखते हुए देखा और जोर से हंस पड़ी | बोली, क्या हुआ? कभी ब्लू फिल्म नहीं देखी क्या? फिर, उन्होंने मेरे लंड कि तरफ देखा और बोला, बेचारे का क्या हाल बना रखा है |फिर, वो मेरे पास आयी और चाय को टेबल पर रखा और मेरी पेंट कि जिप खोल ली | मैने कहा, भाभी ये आप क्या कर रही हो? उन्होंने कहा, मौके का फायदा उठा रही हु | जिप खोलके उन्होंने, मेरा लंड बाहर निकाल लिया | पहली बार, किसी औरत ने, मेरा लंड छुआ था | वो तो फुंकारे मार रहा था | भाभी ये देखकर खुश हो गयी, कि मै नया बकरा था उनके लिए | उन्होंने, मेरा लंड अपने मुह मे ले लिया और किसी बच्चे के तरह उसको लालीपॉप समझ कर चूसने लगी | मेरा लंड और बडा और मोटा होने लगा था और भाभी उसको पूरा पाने अंदर ले चुकी थी और चुसे जा रही थी | मुझे हल्का दर्द और हल्का मज़ा आ रहा था और मै मज़े मे सी-आ-ओह-ओऊ कर रहा था | फिर, मुझे अपने अंदर से कुछ आता लगा, तो मैने भाभी को पीछे फेक दिया और झटके के साथ मेरा सारा पानी भाभी के कपड़ो पर गिर गया | भाभी थोड़ी नाराज़ होते हुए बोली, सब बर्बाद कर दिया, ये तो मेरे लिए था |भाभी कपडे बदलने चली गयी और मुझे अंदर से आवाज़ दी | मे देखने के लिए अंदर घुसा, तो देखा भाभी नंगी पलंग पर लेटी थी | और उन्होंने, अपने पैर खोल रखे थे | बोली, आजा राजा, थोडा रस पान तू भी कर ले | मैने कहा, भाभी मुझे कुछ नहीं आता | वो बोली, जो अभी ब्लू फिल्म मे देखा है, वो ही करो | मैने झट से अपने कपडे उतारे और अपना मुह भाभी की चूत मे घुसा दिया और जीभ से चाटने लगा | शुरू मे तो, मुझे कुछ अजीब सा लगा, पर बाद मे मज़ा आने लगा | मै कभी धीरे और कभी तेज़ चूत को चाट रहा था और भाभी उसके मज़े ले रही थी | मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था और सहन नहीं हो रहा था | मैने भाभी को पीछे धक्का दिया और अपना लंड भाभी की चूत पर लगा दिया | भाभी ने उसको अपने हाथो से छुपा लिया और बोली अभी नहीं राजा, मेरे होठो को कौन पानी देगा | मै भाभी के ऊपर गिर गया और उसके होठो को अपने होठो दबा लिया और चूसने लगा | अपने हाथो से मैने उसके चूचो को दबाना शुरू कर दिया और अपना लंड उनकी चूत पर रख दिया | लेटे-लेटे ही मैने अपना लंड भाभी की चूत मे घुसाना शुरू कर दिया | भाभी की चूत काफी बड़ी थी, तो वो आराम से अंदर चला गया | भाभी को ये मालूम था, इसलिए उसने अपनी चूत को अंदर से कस लिया और मेरा लंड अंदर जा कर चिपक गया | फिर, हम दोनों ने अपनी गांड हिलानी शुरू कर दी और लेटे-लेटे आराम से एक दुसरे को चोदने लगे |थोड़ी देर मे, मै भाभी की चूत मे झड गया और तभी भाभी भी झड गयी | हम दोनों काफी थक गये थे, तो काफी देर ऐसे ही लेटे रहे | बाद मे भाभी ने मुझे मस्त चाय पिलाई और मस्त खाना खिलाया | उस रात भाभी को मैने ४ बार चोदा और सुबह रवि के वापस आने पर अपने घर चला गया |