Get Indian Girls For Sex
   


मेरा नाम शक्ति है, मेरी उम्र 24 साल है, मेरा कद 5’11″ है और , मैँ देखने में काफी हैंडसम, सेक्सऔर एक अच्छे घराने से हूँ. हमारा खानदानी बिज़्नेस कपडे का है. मैं बहुत वक्त से मेरी लाईफ मेँ घटी एक घटना को आप लोगोँ के साथ शेयर करना चाहता था. इसलिये मैंने सोचा कि मैं आज अपनी ज़िन्दगी की वो सच्ची घटना जो मेरे साथ घटित हुई है, आप सबसे यहाँ शेयर करूँ. दोस्तोँ, यह कहानी शुरू होती है 1 साल पहले. मेरा एक दोस्त है राकेश परमार, उसकी उम्र करीब 27 साल है. उससे मेरी दोस्ती 4 साल पहले हुई थी. उसकी बौडी काफी अच्छी है, और देख्न मेँ वो भी काफी सुन्दर है. हम दोनोँ मिल कर कामसूत्र विडियो नंगा हो कर देखा करते थे और लंड हिला के मूठ मारा करते थे.

एक साल पहले उसकी शादी हो गई. उसकी पत्नी 24 साल की है और उनका नाम गीता है. गीता भाभी देखने में बहुत अच्छी हैं, पतला बदन, गोरा रंग, सेक्सी और उनका व्यवहार भी बहुत अच्छा है. उसकी शादी के छः महीने बाद मैंने देखा कि गीता भाभी मुझसे ज्यादा ही बातें करने लगी थी और बहुत बार राकेश के सामने भी वो नौनवेज बात कह देती थी और हंस देती थी. एक दिन मैंने राकेश को किसी काम से फ़ोन लगाया तो गीता भाभी ने फ़ोन उठाया, भाभी ने कहा- आपने तो आना ही बंद कर दिया? मैंने कहा- भाभी, आजकल थोडा बीज़ी चल रहा है. फिर भाभी बोली- कोई लड़की मिल गई है क्या जो मुझे भूल गये? और फिर वो हंसने लगी. मुझे एक झटका सा लगा कि भाभी ज्यादा ही खुल कर बातें कर रही हैं. मैंने कहा- ठीक है, बाहर आते ही मेरी बात करवाना.

मैं गीता भाभी से दूर रहने की कोशिश करता था,मुझे डर था कि कहीँ कुछ गलत ना हो जाये हमारे बीच मेँ. एक दिन मुझे राकेश ने मुझे कहा, तू क्या कर रहा है आजकल? आज छुट्टी है. मैं और गीता अकेले हैं, घरवाले बाहर गये हैँ, तू घर आ जा. मैंने कहा- ठीक है, आता हूँ मैं. मैं तुरंत निकला और राकेश के यहाँ पंहुचा और दरवाजा खटखटाया. सामने देखा कि गीता भाभी हैँ उन्होँने हंसते हुए अन्दर आने को कहा. गीता ने ब्लू जींस और पिंक कलर का टॉप पहन रखा था, वो बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही थी. हम राकेश के बेडरूम में गए. वहाँ कोई नहीं था, मैंने कहा- भाभी, राकेश कहाँ है? भाभी बोली- उनका कोई काम निकल गया था तो वो कह कर गए हैं कि थोडी देर् मेँ आयेंगे. भाभी मेरे लिए एक ग्लास पानी ले लाई और मुझसे थोड़ी दूर जाकर बेड बैठ गई. मैं उनके सामने बेड पर ही बैठा था.

तभी भाभी बोली कि आजकल आप तो आते ही नहीं? क्या कोई मिल गई जो हमको भूल गए? मैंने कहा नहीँ ऐसी कोई नहीं मिली है. फिर भाभी बोली राकेश ने मुझे सब कुछ बता दिया है कि आप दोनों क्या क्या करते थे अकेले मेँ… रोज कामसूत्र विडियो देखते थे ना? यह कह कर वो मेरे पास आकर बैठ गयी और मुस्कराते हुए मुझे देखने लगी. मुझे लगा साले राकेश ने इसे सभी बताया होगा, लंड और लंड हिलाने की बात भी…!!! मैँ यह सुन कर काँप गया और तभी वो झट से उठी और मेरे सीने से लिपट गयी. मैँ डर गया और तभी वो हुआ जो मैँने सोचा भी ना था.

फिर वो बोली कि चलो हम दोनोँ मिल कर वही कामसूत्र विडियो एक साथ एखते हैँ. मैँ मुँह खोल के उन्हेँ देखने लगा. मेरा लंड खड़ा हो रहा था पेंट के अंदर ही. फिर भाभी बोली- आप इतना शरमाते क्यों हैं? देखिये आपका चेहरा कितना लाल हो रहा है. और फिर वो मेरे पास आकर मुझसे सटते हुए कहने लगी कि इस्तरह शर्मायेंगे तो कैसे काम चलेगा देवरजी. वो बिल्कुल मेरे पास बैठी थी और मैं उनसे सट गया था, उनकी चूची मेरे कन्धे  के पास थे. तब मुझसे अपने पर काबू रखना मुश्किल हो रहा था. तभी भाभी मुझसे और भी ज़्यादा चिपक गई. मैं बैठा था और भाभी मुझ पर आकर मेरी गोद मेँ बैठ गयी. मैंने कहा- भाभी, यह सब क्या है? तो वो मुझे गाल और गले पर किस करने लगी और कहने लगी- मैं तुम्हें पसन्द करती  हूँ. और फिर वो बार बार मुझे किस करने लगी. मैंने भी उन्हें बाहों में जकड़ लिया फिर उनके होठों पर किस करने लगा और चूसने लगा.

गीता भाभी अपना हाथ मेरी पैंट पर फिराने लगी और मैंने भी मेरा हाथ उनके मस्त टॉप में घूसेड दिया और फिर उनकी मस्त मस्त चूची को दबाने लगा. फिर मैंने उनका टॉप निकाल दिया तो उनकी मुझे सफ़ेद रंग की ब्रा दिखी, मैंने अब ब्रा भी खोल दी. अब वो भी सिर्फ जींस में थी. उनकी चूची बहुत बडी बडी और गोरी गोरी थी. दबाने पर वो और भी कठोर हो रही थी. उनके निपल्ल बिल्कुल गुलाब की तरह गुलाबी थे, मैं उसे मुँह मेँ ले कर चूसने लगा और वो गर्म साँसें छोड़ रही थी. फिर मेरी जींस का बटन खोल कर वो  मेरे पैंट को खोलने लगी. मैंने अपना कमीज उतर दिया, उन्होंने मेरी पैंट. मैं सिर्फ अण्डरवीयर में था. वो ऊपर से मेरा लंड दबाने लगी और फिर उन्होंने मुझे पूरा नंगा कर दिया. उनकी आँखों के सामने मेरा लंड झटके मार कर कूद रहा था, उन्होंने थोड़ी देरतक दिल से   मेरा लंड देखा फ़िर बोली कितना मोटा है आपका. और फिर उन्होंने मेरा लंड अपने हाथो में पकड़ लिया, ऐसा लग रहा था कि जैसे गीता भाभी मेरा लंड खा जायेगी अपनी आक्न्होँ से.

तभी इशारा किया और मैंने भाभी की जींस का बटन खोल कर उसे निकालने लगा. भाभी अपनी पैंटी को नीचे उतारकर पलंग पर लेट गई और अपनी चूत की तरफ देख के बोली- शक्ति, इसे चूसो ना. और फिर मैं मजे से गीता की चूत अपनी जीभ से चाटने लगा. मैं खूब मजे मेँ चूत चाट रहा था और वो चिल्ला रही थी- आह. उफ़्फ़….अम्मं…आ…..आम्मं….अह….. तभी दरवाजा खोला तो मैंने देखा- सामने राकेश खड़ा था. राकेश को सामने देखकर मैं डर गया. इतने में राकेश ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और वो न्यूड होकर गीता से लिपट गया. मुझे सब कुछ अजीब लग रहा था.फिरगीता ने मुझे देखा और बोली- यह हम दोनों की प्लानिंग थी. राकेश गीता को किस करते हुए हंस रहा था ! राकेश भाभी को किस करने लगा तो गीता भाभी बोली- शक्ति म भी आओ यहाँ पास मेँ. और गीता ने मेरा मोटा लंड अपने होंठ में लेकर सक करना शुरू कर दिया और राकेश भाभी की चूत पर जीभ फिराने लगा. भाभी बडे ही मजे से मेरा लंड सक कर रही थी और राकेश भाभी को मज़ा दे रहा था, वहाँ पर ऐसा महौल लग रहा था जैसे कोई वेश्या दो लोगोँ से चुद कर पोर्न फिल्म मेँ काम कर रही हो !

फिर राकेश ने अपना लंड चूत में पेल दिया और कुछ ही देर में उसके लंड ने पानी निकाल दिया. तब गीता ने मेरे लंड को देखकर कहा शक्ति अब तुम ज़रा मेरी चूत में इसे पेलो. मैंने गीता की चूत में अपना विशालकाय लंड पेला और चोदना शुरू किया. पूरे रूम में बस सी… सी…. आह….. आह्…… की आवाजें आ रही थी. मैं भी ज़ोर ज़ोर से चुदाई मेँ दम लगा रहा था. अब मैने गीता भाभी को अपने ऊपर लिया और उसकी चूत में नीचे से अपने लंड को पेल दिया. अब वो मुझे चोद रही थी. मैं भी उनकी गांड को अपने दोनों हाथों से पकड़ कर नीचे से धक्के लगा रहा था. करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मुझे पता चल गया कि अब वो पानी निकालने वाली है. मैं तुरंत उसके ऊपर आ गया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. उसने मेरे सारे बदन को पकड लिया. ज़ोर से आवाज करती हुई वो झड़ गई. अब तो मैँने भी और ज़ोर से लंड से धक्के ताबडतोड लगाने शुरु कर दिये. वो चिल्लाने लगी…आह आह आह…

थोड़ी देर बाद मेरा भी पानी निकलने लगा और मैँने लंड को भाभी के मुँह पर टिका दिया और मेरे लंड ने उसके चेहरे पर लंड से पिचकारी छोड़ दी. आह… उफ़्फ़….मैंने कहा भाभी, यह सब क्योँ किया? भाभी बोली- शक्ति हम एक जैसी चुदाई से बोर हो रहे थे और हमेँ कुछ नया चाहिये था तो हमने यह प्लानिंग बनाई. राकेश बोला- मुझे तुम्हें छिप कर सेक्स करते देखने में बहुत मज़ा आ रहा था. मैं बहुत ज्यादा हौट हो रहा था. फिर तो हमने मन लगा कर सेक्स किया और अब हमेँ जब भी सेक्स करने की इच्छा होती है तो हम बेझिझक सेक्स करते हैं. चाहे रात हो या दिन हम सेक्स ज़रुर करते हैँ, लेकिन हमेशा सेक्स करने के पहले हम लोग कामसूत्र विडियो ज़रुर देखते हैँ और विडियो मेँ दिखाए पोज़ को भी इस्तेमाल करते हैँ.