Get Indian Girls For Sex
   

दोस्तों यह मेरी पहली सच्ची स्टोरी है। में मुंबई के कल्याण का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 25 साल है.. मेरा लंड बहुत मोटा और लम्बा है। तो दोस्तों में अब सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ.. यह कहानी उस समय की है जब में 10th क्लास में पड़ता था और उस समय मैंने एक लड़की को कहा था कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ। उस लड़की का नाम पूजा था वो बहुत सेक्सी और मस्त फिगर वाली लड़की थी और उस टाईम उसका फिगर 36- 28- 36 के बराबर ही था.. लेकिन मुझे उसके बूब्स बड़े ही अच्छे लगते थे। तो हम अक्सर पार्क में ही मिलते थे और वो मेरे ही साथ मेरे स्कूल में थी.. लेकिन वहाँ पर हमारी ज्यादा बात नहीं हो पाती थी और इस तरह से महीने बीत गए थे।

मेरे पापा सुबह जब ऑफिस जाते और माँ घर पर ही रहती थी। फिर एक दिन मेरे गावं से कॉल आया कि वहाँ पर कोई जरूरी काम है और एक शादी भी है.. तो माँ को जाना पड़ा और पापा और में नहीं जा सके। तो मेरी माँ एक महीने के लिए हमारे गावं चली गई थी और शाम तक में घर पर अकेला ही रहा था। फिर दूसरे दिन जब मैंने यह बात पूजा को स्कूल में बताई तो वो सुनकर स्माईल देने लगी और बोली कि तो क्या करना है? फिर मैंने उससे बोला कि कल स्कूल मत जाना हम लोग मेरे घर पर ही मिलते है। तो वो मना करने लगी और बोली कि किसी को पता चल गया तो क्या होगा? तो मैंने कहा कि तू डर मत किसी को कुछ नहीं पता चलेगा.. मेरा पापा के जाने के बाद तू आ जाना और उस दिन वो अपने घर पर चली गई और में भी बहुत खुश था.. क्योंकि में भी बहुत दिनों से उसे चोदने की सोच रहा था और हम दोनों एक ही उम्र के थे वो 15 साल की थी और में भी 15 साल का था.. लेकिन उसका फिगर देखकर लगता था कि वो 18-19 साल की होगी। उसके बड़े -बड़े बूब्स, थोड़ी मोटी गांड, गोरे रंग में वो बहुत अच्छी दिखती थी।

फिर उस रात को में यही सोच रहा था कि कल ना जाने क्या होगा? में उसके साथ कैसे कैसे करूंगा? कहीं वो मना ना कर दे? मैंने अब तक उसे किस ही किया था और एक दो बार उसके बूब्स को दबाया था बस.. लेकिन क्या करूं मुझे मौका ही नहीं मिल पा रहा था? फिर अगले दिन में सुबह जल्दी ही उठ गया था और पापा अपने टाईम पर ऑफिस चले गये और में उनके ऑफिस जाने के बाद ही स्कूल जाता था मेरी 07.30 बजे का स्कूल था और पापा 7 बजे ऑफिस जा चुके थे। मेरा दिल अब बहुत जोर जोर से धड़क रहा था और में सोच रहा था कि पता नहीं ना जाने क्या होगा? फिर में कॉलोनी के बाहर आ गया और पूजा का इंतज़ार करने लगा। वो हमेशा 7.10 तक आ जाती थी और हम लोग साथ में ही स्कूल जाते थे.. हमारे स्कूल का 10 मिनट का रास्ता था। तो उस दिन वो 07.15 पर आ गई तब जाकर मेरी जान में जान आई और मैंने उसे इशारे से मेरे पीछे आने को कहा। मेरा घर ग्राउंड फ्लोर पर था और बाकी के लोग वहाँ पर नहीं रहते थे। तो में जल्दी से अपनी बिल्डिंग के पास गया और पूजा को अंदर आने को कहा अंदर आने के बाद मैंने दरवाजा अंदर से बंद किया और मेरा दिल जोर से धड़क रहा था और हम लोग बेड पर एक साथ बैठे थे।

फिर 10 मिनट बैठने के बाद वो बोली कि क्या तुम्हे डर नहीं लगता कि तुम बिल्कुल अकेले रहते हो? तो मैंने ना में सर हिला दिया.. फिर मैंने उसकी तरफ देखा तो वो आज कुछ ज्यादा ही सेक्सी लग रही थी और मेरा तो मन कर रहा था कि अभी ही पकड़ कर उसको चोद दूँ.. लेकिन में सोच रहा था कि कहीं बात बिगड़ ना जाए। तो मैंने उसका एक हाथ पकड़ कर उसे कहा कि में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ.. तो वो शरमा गयी और वो कुछ नहीं बोली। फिर मैंने उससे पूछ कि क्या तुम मुझसे प्यार नहीं करती हो? तो वो बोली कि नहीं में भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ.. उसने एकदम धीरे से बोला। तो मैंने बोला कि प्लीज एक बार फिर से बोलो ना और में उसके एकदम पास आ गया और उसने अपनी गर्दन नीचे कर ली और बोली कि में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ और मैंने झट से उसे उसके गाल पर किस किया तो वो कुछ नहीं बोली और में उसके और करीब आ गया था।

फिर थोड़ी देर के बाद में बेड पर बैठे बैठे ही उसको अपनी बाहों में लेने लगा तो वो भी मेरा साथ देने लगी थी। में एकदम सच कह रहा हूँ दोस्तों.. पहली बार मुझे इतना अच्छा लग रहा था कि में जन्नत में आ गया हूँ। उसके बूब्स एकदम मुलायम मुलायम लग रहे थे और उसके बदन की खुश्बू ही कुछ अलग लग रही थी। फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया तो वो बोली कि नहीं नहीं यह सब ग़लत है और हमे शादी के पहले यह सब नहीं करना चाहिए। तो दोस्तों मैंने सोचा कि आज चूत मिलने से तो रही.. फिर मुझे किसी फिल्म का एक सीन याद आया और में बोला कि क्या तुम मुझसे प्यार नहीं करती और मुझ पर विश्वास नहीं करती हो और यह बोलकर में खड़ा हो गया और उसका चेहरा एकदम से रोने के जैसा हो गया था।

फिर एक मिनट के बाद उसने मेरा हाथ पकड़कर अपनी तरफ किया और बोली कि में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ और पागलो की तरह किस करने लगी और मैंने भी उसका साथ दिया। फिर मैंने उसे किस करते करते बेड पर लेटा दिया और उसे किस करने लगा, उसके गालो पर होंठो पर और फिर धीरे धीरे मैंने एक हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और दबाने लगा तो उसने अपनी आंखे बंद कर ली और धीरे धीरे मैंने एक हाथ उसकी पीठ पर रख दिया और ऊपर नीचे करने लगा और हम लोग 20 मिनट तक यह सब करते रहे। फिर मैंने उससे कहा कि अपने स्कूल के कपड़े निकाल दो.. नहीं तो गंदे हो जाएगे। तो वो बोली कि मुझे शरम आ रही है।

मैंने बोला कि तुम अपने ऊपर चादर ले लो। तो वो मान गई और उसने अपनी सलवार कमीज़ दोनों को निकाल दिया और चादर लेकर बैठ गयी और मैंने भी अपनी टी-शर्ट और पेंट निकाल दी और में उसके साथ लेट गया और अब हम दोनों लगभग नंगे थे और में उसे किस कर रहा था और उसके बूब्स को भी दबा रहा था.. उस टाइम मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया और वो मेरी अंडरवियर से बाहर आ रहा था।

फिर मैंने उसकी ब्रा जो काली कलर की थी उसे निकाल दी और उसने गुलाबी कलर की पेंटी भी निकाल दी। तो हम दोनों एकदम से पूरे नंगे थे और मेरा लंड उसकी चूत को छू रहा था। उसकी चूत पर थोड़े थोड़े से बाल थे उसने भी अपनी आँखे बंद कर ली थी। मैंने उसको किस किया और अपना लंड उसकी चूत पर लगाया तो उसने आआहह उफफ किया। फिर में उसके ऊपर आ गया था और उसके निप्पल को मुहं में लेकर चूसने लगा.. वो एकदम से कड़क हो गई थी और उसने मुझे कसकर पकड़ लिया था और मेरा लंड अब उसकी चूत के अंदर जाने के लिए मचल रहा था। तो मैंने उससे कहा कि मेरा मन अब चुदाई करने का हो रहा है।

वो बोली कि नहीं मुझे बहुत डर लग रहा है और कहीं कुछ हो गया तो क्या होगा? तो मैंने बोला कि डरो मत कुछ नहीं होगा में हूँ ना। तो वो मान गई.. लेकिन बोली कि मुझे डर लग रहा है और मैंने सुना है कि पहली बार बहुत दर्द होता है? फिर मैंने कहा कि तुम डरो मत.. अगर तुम्हे ज्यादा दर्द हो तो बोल देना में नहीं करूंगा। फिर बहुत टाईम के बाद वो मान गई और मैंने उसे किस करना शुरू किया और एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और में धीरे धीरे नीचे चला गया और मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा और एक ऊँगली से उसकी गीली चूत के अंदर डाल दिया तो वो आहह उूउफ्फ्फ्फ़स की आवाज़ निकाल रही थी।

तो में धीरे धीरे ऊँगली अंदर बाहर कर रहा था और वो आहाहह उउउ अहहाअ की आवाज कर रही थी। फिर मैंने उसकी एक जांघ को पकड़कर अलग किया और दोनों पैर फैला दिए और अपने लंड को उसकी छोटी सी चूत पर रख दिया और एक हाथ से चूत को फैलाने लगा और लंड को अंदर डालने लगा जैसे ही लंड का टोपा अंदर गया वो ज़ोर से चिल्लाने लगी और मुझे दूर कर दिया। में थोड़ा डर गया और उसको फिर से समझाने लगा। फिर 30 मिनट के बाद मैंने फिर से ट्राई किया और इस बार मैंने थोड़ा सा तेल लिया और थोड़ा अपने लंड पर लगाया और थोड़ा उसकी चूत पर भी लगाया और इस बार मैंने अंदर नहीं डाला। पहले लंड को उसकी चूत पर लगा दिया और उसके ऊपर लेट गया और किस करने लगा.. वो भी मेरा साथ दे रही थी। फिर में एक हाथ से लंड को पकड़ कर अंदर डालने लगा और साथ में किस भी कर रहा था और एक ज़ोर के झटके के साथ आधा लंड अंदर डाल दिया।

तो वो रोने लगी और थोड़ा सा खून भी निकल रहा था.. करीब 5 मिनट तक में उसे किस कर रहा था और मैंने लंड को अभी आधा ही अंदर डाला था। फिर जब वो शांत हुई तो मैंने पूरा का पूरा लंड अंदर डाल दिया। पहली बार मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। फिर मैंने पूजा की तरफ देखा तो वो रो रही थी। फिर धीरे धीरे वो शांत हो गई और वो भी अब मेरा साथ दे रही थी और अपनी गांड उठा उठाकर चुदवा रही थी और में अपना लंड उसकी चूत में पूरा अंदर डाल रहा था.. मेरा लंड खून से लाल हो गया था और उसकी आआहा उउउहह और ज़ोर से ज़ोर से चोदो और ज़ोर से चोदो कह रही थी में उसके ऊपर लेटकर पूजा को चोद रहा था और 15 मिनट के बाद पूजा का पानी निकल गया था और मैंने महसूस किया कि उसकी चूत एकदम कस गयी थी.. मेरा लंड दब रहा था और उसने मुझे कसकर पकड़ लिया था और किस करने लगी थी.. लेकिन मेरा लंड तो अभी भी तनकर खड़ा था।

मैंने चोदना जारी रखा और में ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर पूजा को चोद रहा था और पूजा बार बार कह रही थी कि चोदो ना और चोदो आआहह उऊहह म्‍म्म्मम पूरे कमरे में आवाजें आ रही थी और लगभग 30 मिनट और चोदने के बाद मैंने पूजा की चूत में ही पानी निकाल दिया और उसके ऊपर लेट गया और उस दिन मैंने पूजा को 3 बार और चोदा उसकी हालत बहुत खराब हो गयी थी और में भी बहुत थक गया था। अब जब भी मुझे टाईम मिलता है में पूजा को चोदता रहता हूँ ।