Get Indian Girls For Sex
   

दोस्त की सीधी साधी माँ को चोदा और उनकी गाँड फाडी - आंटी बहुत ज़ोर ज़ोर से रो रही थी

Beautiful Indian House Wife Romance With Neighbor Young Boy fucking house wifeFull HD Nude images Collection_00022

नमस्कार दोस्तो मैं हूँ रवि और मैं आपके सामने अपनी एक कहानी ले के आया हूँ | ये कहानी मेरी और मेरे दोस्त की मम्मी की है | बात आज से ५ साल पहले की है जब मैं १९ साल का था और मेरा दोस्त अंकित भी १९ का था | मैने और अंकित ने ग्रॅजुयेशन में अड्मिशन लिया था | और मैं और मेरा दोस्त दोनो साथ साथ कॉलेज जाते थे | फिर एक दिन अंकित कॉलेज के बाद मुझे अपने घर ले गया और कहा की भाई घर मे थोड़ा काम है तो प्लीज़ मेरी हेल्प कर दो मै मान गया और उसके घर गया | आज पहली बार मैं उसके घेर जा रहा था | हम दोस्त तो पिच्छले ३ साल से थे लेकिन आज तक मई उसके घर नही गया था | हम दोनो बाइक से उसके घर पहुँचे तो उसकी मम्मी ने दरवाजा खोला , मैं उसकी मम्मी को देखते ही दंग हो गया क्यू की उसकी मा की उम्र थी तो ४० की लेकिन वो दिखने मे २८ से जादा नही लग रही थी, उनका शरीर एक दम मस्त था , उनको देखते ही मेरा लॅंड खड़ा हो गया , बड़ी बड़ी चूची, मोटा पिछवाड़ा, हाए क्या गायब का माल थी,| उन्होने काले कलर का सलवार सूट पहना था और इसमे वो एक दम सेक्सी अप्सरा लग रही थी, | मैने नमस्ते आंटी कहा उन्होने भी नमस्ते रवि कहा शायद अंकित ने पहले ही मेरे बारे मे उन्हे बता दिया था , की मैं अंकित का बेस्ट फ्रेंड हू और हम दोनो ३ साल से दोस्त हैं|

अब हम अंदर गये आंटी ने कोल्ड ड्रिंक दी हमने पी फिर मैने पूछा की काम क्या है भाई तो अंकित ने बताया की उसके पापा तो १० दीनो के लिए टूर पे मुंबई गये हैं ऑफीस के काम से और घर की पुताई भी होनी है तो क्या तुम सामान सेट करने मे हमारी मदद कर सकते हो ?
मैने कहा अरे भाई ये भी कोई कहने वाली बात है और मैं भी काम करने मे जुट्ट गया | अब मई रोज क्लास के बाद उसके घर पे जाता था उसकी हेल्प करने| पुताई का काम ५ दिन का था , २ दिन बीत गये तीसरे दिन अंकित कॉलेज नही आया तो मई उसके घर गया, दोपहर के २ बजे थे, धूप बहुत थी , मैं अंकित के घर पहुँचा और डोरबेल बजाई दरवाजा आंटी ने खोला तो मैने नमस्ते कहा और पूछा की आज अंकित नही आया तो आंटी बोली की अरे बेटा वो उसके पापा का आरजेंट कॉल आया था तो उसको रात मे मुंबई जाना पड़ा | मैने कहा ओह तो मई जाता हू जब वो आएगा तो मैं आऊंगा| तो आंटी ने कहा बेटा अगर बुरा ना मानो तो प्लीज़ मेरी हेल्प करा दो मई सुबह से अकेली ही पुताई के चक्कर मे समान इधर से उधर सेट कर रही हू, मैने कहा बिल्कुल आंटी जी | और मैं आंटी के साथ काम करने लगा, थोड़ी देर के बाद आंटी ने खाने की प्लेट लगा दी और हमने खाना खाया फिर आंटी ने कहा अब तुम थोरी देर आराम कर लो अंकित के रूम मे , मई भी थोडा सो जाती हू| फिर मैं अंकित के रूम मे सो गया १ घंटे बाद मेरी आँख खुली तो मैं बाथरूम जाने लगा, जैसे ही मैने बातरूम का दरवाजा खोला मेरी आँख खुली की खुली रह गयी क्यू की बातरूम में आंटी बिल्कुल नंगी थी उनकी चूची ३८ की और मोटी गॅंड ४० की ओफफो मैं तो देखता ही रह गया आंटी अपनी सेक्सचूत मे उंगली कर रही थी मैं झट से बाहर आया लेकिन मेरे मन मे अब आंटी का नंगा शरीर नज़र आ रहा था | थोड़ी देर के बाद आंटी बाहर आई मॅक्सी पहन के उनकी चुचि अभी भी तनी हुई थी सयद उन्होने अंदर ब्रा नही पहनी थी, आंटी मेरे पास आई और कहने लगी प्लीज़ बेटा ये बात किसी को मत बताना नही तो मेरी बहुत बदनामी होगी, मई चुप रहा तो आंटी ने फिर कहा प्लीज़ कुछ तो बोलो बेटा, मैने कहा आप ऐसा क्यू कर रही थी तो आंटी ने कोई जवाब नही दिया मेरे बार बार पूछने पे आंटी ने बताया बेटा मेरा भी मन करता है मैं भी औरत हू , तो मैने पूछा तो क्या अंकल नही करते तो आंटी ने कहा वो तो ३ ,४ महीने मे एक बार आते हैं बाकी टाइम मैं क्या करू बताओ??
तो मैने झट से कहा मैं मर गया हू क्या जो आप हाथ से काम चला रही हैं? पता नही कैसे मेरे मूह से ये बात निकल गयी |
आंटी मेरा मूह ताकती रह गयी और मैने अपना एक हाथ आंटी की कमर मे डाली और आंटी के सुर्ख गुलाबी होंठो पे अपने होत रख दिए ,
तो आंटी ने मुझे एक चटा मारा , मुझे गुस्सा आ गया मैने कस के पकड़ के आंटी को फ्रेंच किस करने लगा और कहा आज तुम नही बचोगी ,अगर आराम से नही कारवावगी तो मे तुम्हारी बुर का भोसड़ा बना दूँगा | आंटी डर गई और चुप छाप खड़ी हो गयी मे उन्हे किस पे किस करता रहा फिर आंटी भी गरम हो गाइ और मेरा साथ देने लगी हम दोनो होठ से होठ मिलाके स्मूच करने लगे आंटी के मूह से सिसकारी निकालने लगी आह आह ओह ओह उम उम मेरे राजा तुम पहले कहा थे मेरा जिस्म तड़प रहा है इसकी प्यास बुझा दो आह आह आह आह आह
फिर मैने आंटी की मॅक्सी निकाल दी आंटी ने अंदर कुछ नही पहना था | पूरी नंगी थी मेरा लॅंड खरा हो गया फिर मई भी नंगा हो गया | आंटी ने मेरा लॅंड देखा और कहा हाय राम इतना मोटा ओर लंबा लॅंड ओफो कैसे लूँगी इतना बड़ा तो तेरे अंकल का भी नही है अरे राजा चोद दो मुझे आज|
मैं उनकी चुचियो को चूसने लगा आंटी को बहुत जाड़ा मज़ा आने लगा उन्होने मेरा लॅंड पकड़ लिया और हिलाने लगी| मैं उनकी चूची को चूस रहा था , और एक उंगली उनके बुर मे डाल दी आंटी की चूत आज भी एक 18 साल की लड़की की तरह थी, शायद आंकल का लॅंड सच मे बहुत छोटा था|
फिर मैने आंटी को लिटा दिया और उनकी बुर चाटने लगा आंटी की बुर पानी छोड़ने लगी आंटी बस अहः आह आह आह आह ओह ओह ओह उम उम उ रवीिइ आह आह कर रही थी,,,, फिर आंटी बोली बेटा जल्दी से अपना लॅंड मेरी चूत मे डालो जल्दी!!!!!!
मैने आंटी को और तडपया और एक साथ ३ उंगली डाल दी वो आ आह आह आह आह आह करने लगी और कहने लगी प्लीज़ मैं हाथ जोड़ती हू पैर पड़ती हू प्लीज़ मेरी बुर चोद दो प्लीज़ प्लीज़ डाल दो ना हे राम डालो जल्दी डालो वरना मई मार जाऊंगी डाल दो , वो बहुत तड़प रही थी चूड़ने के लिए रो रही थी गिड़गिदा रही थी फिर,
मैने भी ना आव देखा ना ताव एक ही झटके मे अपना पूरा८ इंच का लॅंड आंटी की चूत मे डाल दिया |
आंटी की बुर फट गई और वो चिल्लाने लगी मार डाला हे राम मार डाला रे रवि ने ओह ओह ओह धीरे धीरे करो प्लीज़ धीरे करो मैं तो स्पीड से चोद्ता रहा | आंटी चिल्लती रही मैं छोड़ता रहा १ घंटा १० मिनिट के बाद मेरे लॅंड का पानी निकाला तब तक आंटी ६ बार झड़ चुकी थी|
फिर ५ मिनिट के बाद लॅंड देवता फिर खरे हो गये और मैने फिर उनकी चूत मे अपना लॅंड डाल दिया आंटी बहुत ज़ोर ज़ोर से रो रही थी कह रही थी भगवान बचा ले इस जानवर से हाए कहा फँस गई इतना तो मैं सुहाग रात मे नही रोई हे भगवान इस बार मैने अंत्य को ५० मिनिट चोदा आंटी बेहोशी हालत मे हो गई \
फिर एक घंटे के बाद हमने साथ मे जूस पिया और फिर मैने उनकी गाँड फाडी |
उस दिन के जब भी मौका मिलता है मई आंटी को खूब चोद्ता हू, आंटी ने अपनी छोटी बहन को भी मुझसे चुद वाया |