Get Indian Girls For Sex

Hindi Intercourse Story मेरी चुदासी चूत की जवान लंड से चुदाई – सेक्स स्टोरी हिंदी में

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम सुनीता है. मेरी पिछली कहानी थी

अपने पड़ोसी के मोटे लंड से चुदी
अब मैं अपनी कहानी सुनाने जा रही हूँ. आजकल सभी लड़कियां शादी से पहले और बाद में भी पर पुरुष से सेक्स करना पसन्द करती हैं. मैं भी अपने पति के अलावा दूसरे के साथ सेक्स करती हूँ. आज मैं इसी को लेकर अपनी कहानी आपको बताना चाहती हूँ और आशा करती हूँ कि यह कहानी आपको पसंद आएगी.

मैं एक खुले विचारों की विवाहिता लड़की हूँ और मुझे लड़कों से दोस्ती करने में कोई दिक्कत नहीं होती है. मैं लड़कों से भी खुलकर बात कर लेती हूँ और इस वजह से मेरी सभी तरह के लड़कों से अच्छी दोस्ती हो जाती हूँ.

इस कहानी में मैंने एक लड़के से दोस्ती की है. एक लड़के से मेरी दोस्ती हो गई और हम दोनों एक दूसरे से खुलकर बातें करने लगे. उसके बाद हम दोनों ने सेक्स किया. ये सब कैसे हुआ इसका विवरण मैं लिख रही हूँ.


दरअसल मुझे बहुत सारे लड़के पसंद करते हैं लेकिन मैं अपने नजदीक के लड़कों से सेक्स करना पसंद करती हूँ क्योंकि इनका लंड हमेशा मुझे मिलता रहता है.

मेरे पड़ोस में एक लड़का रहता है, जो किराये पर कमरा लेकर रहता है और पढ़ता है. उसकी मम्मी भी कभी कभी उसके रूम पर आती हैं. वो लड़का सभी से बहुत अच्छे से सबसे बात करता है और कभी कभी मुझसे भी बात करता है.


चूंकि वो अकेले रह कर पढ़ता है, तो हम सब लोग उसको प्यार करते हैं. मेरे घर में जब भी कभी कुछ अच्छा बनता है, तो मैं उसके रूम पर जाकर उसको दे देती हूँ और वो बड़े स्वाद से खा लेता है.

इसी तरह से हम दोनों में नजदीकियां बढ़ने लगीं और हम दोनों की एक दूसरे से बात होने लगी. अब मैं भी वैसे ही उससे बात करने के लिए कभी कभी उसके रूम पर चली जाती थी. जब उसकी मम्मी उसके रूम पर आती थीं, तो वो मुझे अपनी मम्मी से बात करने के लिए अपने रूम पर बुला लेता था. मैं भी उसकी मम्मी से बात कर लेती थी. उसकी मम्मी भी स्वभाव से अच्छी थीं.

फिर तो ऐसा हो गया कि वो जब भी अपने बेटे से मिलने के लिए आती थीं, तो मुझसे जरूर बात करती थीं. मैं उस लड़के की मम्मी को और उसको अपने घर बुलाकर खाना भी खिलाती थी.

वो लड़का अकेले रह कर पढ़ता था, तो उसको सुबह में खाना बनाने के लिए समय नहीं मिलता था. मैं उसको सुबह का नाश्ता उसके रूम पर ले जाकर दे देती थी. मेरी और उस लड़के की एक दूसरे से बहुत अच्छी दोस्ती हो गयी और हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करने लगे. अब हम दोनों अपनापन जाहिर करते हुए रोज एक दूसरे से बात करने लगे. वो भी मुझसे खुल कर बात करने लगा और अपने बारे में मुझे बताने लगा.

मैं दोपहर में फ्री रहती थी और मुझे घर का काम नहीं रहता था, तो मैं उस लड़के से बात करती थी. वो लड़का अब पहले से ज्यादा मेरे करीब आने की कोशिश करता था और मुझसे बात करते करते मेरी चूची को तरफ देखता था. मैं भी मजे से उसको अपनी चूची दिखाती थी. हम दोनों लोग की ये बात चलती रही और हम दोनों लोग एक दूसरे के करीब आते गए. आंखों ही आंखों में हम दोनों ने एक दूसरे को काफी गहरे से पढ़ लिया था. अब तो हालत ये हो गई थी कि हम दोनों लोग जिस दिन बात नहीं करते थे तो वो लड़का मेरे घर आकर मुझसे बात करता था.

धीरे धीरे हम दोनों लोग अपनी पसंद नापसंद के बारे में भी बात करने लगे थे. हम दोनों की बातें एक दिन सेक्स की बातों में बदल गईं और वो मुझे अपने कॉलेज के बारे में बताने लगा कि कैसे उसके दोस्त कॉलेज में गर्लफ्रेंड बनाई हैं. उसके वे फ्रेंड्स कैसे अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मजा करते हैं. उसने ये भी बताया कि उसको भी सेक्स करना बहुत पसंद है, लेकिन उसकी गर्लफ्रेंड गांव में रहती थी, इसलिए वो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स नहीं कर पाता था.

मुझे उसकी भावना और बातों से पता चल चुका था कि वो मुझे चोदना चाहता है. इसलिए वो मुझे बात करते करते मुझे छूने की भी कोशिश करता रहता था. मैं उसका विरोध भी नहीं करती थी.

एक दिन हम दोनों लोग मेरे घर में अकेले थे. मेरे अन्दर एक बेचैनी थी कि मैं एक लड़के के साथ अपने घर में अकेली हूँ.

मैं घर में हमेशा साधारण कपड़े पहनती हूँ, जिसमें से मेरी चूची और गांड का आकार बिल्कुल साफ़ दिखता है. इस वक्त एक जवान लड़का मेरे सूने घर में मुझसे बात करते करते मेरी चूची को देख रहा था और मुझे इस बात से बेहद सनसनी हो रही थी.

जब हम दोनों की नजरें एक दूसरे से मिलीं, तो वो मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था. मैंने भी नशीली आंखों से अपने मम्मे उसके सामने तान दिए. उसने अगले ही पल मुझे अपनी बांहों में लेकर बोल दिया- भाभी, मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ.


वो मुझे किस करने लगा. मैं उसको किस नहीं कर रही थी, लेकिन मैं विरोध भी नहीं कर रही थी. वो मुझे किस कर रहा था. जब उसने मुझे बहुत देर तक किस किया, तो मैं भी गरम हो गई और उसको किस करने लगी. हम दोनों लोग किस करने के बाद चुदासे हो उठे. मैंने उसे इशारा किया तो उसने मुझे गोद में उठा कर मेरे बेडरूम में ले गया.

हम दोनों बिस्तर पर लिपट कर लेट गए. मुझे जल्दी नहीं थी. मैं उसका पूरा मजा लेना चाहती थी. मैंने उसे रुकने को कहा और हम लोग सामने टीवी पर इन्टरनेट कनेक्ट करके उस पर पोर्न मूवीज देखने लगे. उस मूवी में एक लड़का अपनी गर्लफ्रेंड की चूत चाट रहा था.

कुछ ही देर में वो लौंडा मेरी भावना समझ गया और उसने वैसे ही मेरी पेंटी निकाल कर मेरी चूत को सहलाया. मैंने चूत खोली, तो वो जीभ से चूत चाटने लगा. वो मेरी चूत में दो उंगली डाल कर चूत के अन्दर बाहर कर रहा था और साथ में मेरी चूत को चाट रहा था. मैं भी मूवी की तरह जैसे जैसे लड़की सिसकारियां ले रही थी.

हम दोनों लोग ओरल सेक्स करने लगे वो मेरी चूत को चाटने के बाद मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोला और मैं उसका लंड चूसने लगी. जैसे लड़की मूवी में अपने बॉयफ्रेंड का लंड चूस रही थी, वैसे मैं भी उस जवान लड़के का लंड चूस रही थी.

कुछ देर बाद हम दोनों लोग ओरल सेक्स करने के बाद झड़ गए और अब वो मुझे किस करने लगा. हम दोनों लोग इन्टरनेट पर पोर्न मूवी देख कर बहुत गरम हो गए थे.

वो मुझे किस करने के बाद मेरे पूरे जिस्म को चाटने लगा. वो मेरे पूरे जिस्म को चाटने के बाद मेरी चूत को अपने लंड से रगड़ने लगा. मैं भी कामुक आवाजें निकालने लगी और उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

हम दोनों लोग मजे से सेक्स कर रहे थे. वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था. उसका लंड काला था और मोटा था और मुझे उसके लंड से चुदवाने में एक अलग सा मजा आ रहा था. वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा रहा था और जोर लगा कर मेरी चूत में अपना पूरा लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था. हम दोनों लोग सेक्स करते करते कभी कभी पोजीशन भी बदल रहे थे. वो कभी मेरे ऊपर आ कर मेरी चूत को चोद रहा था, तो कभी मुझे अपनी बांहों में लेकर और मुझे उठा कर चोद रहा था.

हम दोनों पूरी मदहोशी से सेक्स कर रहे थे. वो मुझे अपने लंड पर बैठने को बोला और मैं उसके लंड पर बैठ गयी और वो मेरी चूत को चोदने लगा. उसकी चुदाई से मेरी चूचियां भी हिलने लगीं. मुझे उस लड़के से चुद कर ऐसा लगा कि जिंदगी का मजा तो सेक्स में ही है. मेरे पति भी मुझे चोदते हैं, लेकिन इस लड़के से चुदवाने में अलग ही मजा था. ये पूरी जवानी का मजा दे रहा था. मैंने कभी सोची नहीं थी कि मुझे इस लड़के से चुदवाने में इतना मजा आएगा.

साथ ही उसको भी मुझे चोदने में बहुत मजा आ रहा होगा क्योंकि मैं भी बहुत सेक्सी हूँ. तभी मुझे चोदते चोदते उसने अपना लंड निकाल दिया और मेरी चूची में अपना लंड डाल कर मेरी चूची को अपने लंड से चोदने लगा. मेरी गुलाबी चूत से बहुत पानी निकल रहा था और मेरी चूत एकदम गीली हो गयी थी. उसके लंड से भी पानी निकल रहा था.

वो मेरी चूची को अपने लंड से चोद रहा था, तो उसके लंड का पानी मेरी चूची में लग रहा था. उसने कुछ देर मेरी चूची को अपने लंड से चोदने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

अब वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर आराम से चोद रहा था. मेरी चूत गरम थी और मेरी चूत में उसका लंड सटासट आ जा रहा था, तो हम दोनों लोग को चुदाई का मजा आ रहा था. हम दोनों बहुत तेज रफ्तार से चुदाई कर रहे थे, जिससे हम दोनों काफी थक गए थे. अंततः हम दोनों झड़ गए.

फिर चुदाई को ब्रेक करके मैं किचन में गई और कुछ खाने के लिए लेकर आई. हम दोनों ने खाना खाया और उसके बाद हम दोनों लोग लेट कर एक दूसरे से बात करने लगे. वो मुझसे बात करते करते मेरी चूची को चूस रहा था. हम दोनों ने जब आराम कर लिया, तो वो मुझे किस करने लगा. उसके बाद उसने फिर से अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

हम दोनों फिर से चुदाई करने लगे. वो मेरी चूत को धनाधन चोद रहा था. हम दोनों लोग इस बार पूरी ताकत से सेक्स कर रहे थे. हम दोनों लोग गन्दा वाला सेक्स कर रहे थे और मुझे घोड़ी बनाकर मुझे चोद रहा था.


कुछ देर बाद हम दोनों सेक्स करते करते झड़ गए और हमारा पानी निकल गया.

अब हम दोनों बहुत थक गए थे. मैंने घड़ी देखी तो हम दोनों को सेक्स करते हुए बहुत समय हो गया था. मैंने जल्दी से बिस्तर को ठीक किया. बिस्तर ठीक करने के बाद बाथरूम में जाकर एक दूसरे के जिस्म पर लगे पानी को साफ़ किया.

हालांकि मैं बहुत थक गई थी, लेकिन तब भी इसके बाद मैं घर का काम करने लगी. फिर मैंने खाना बनाया और हम दोनों लोग खाना खाया. मेरे बच्चों के स्कूल से आने के समय हो गया था. मैंने उस लड़के को उसके रूम पर जाने के लिए बोल दिया. वो अपने रूम पर चला गया. मैं बच्चों के स्कूल से आने से पहले नहाकर तैयार हो गयी.

जब बच्चे स्कूल से आ गए, तो उनको खाना खिलाया और उसके बाद वो लोग टीवी देखने लगे. मैं अपने बेडरूम में जाकर आराम करने लगी.

मुझे उस लड़के से चुदवाकर सच में बहुत मजा आया. मैं अपने पति से उतना मजा नहीं ले पाती हूँ, जितना उस लड़के से मजा लेती हूँ. मेरे पति और मेरे बच्चे जब घर से बाहर चले जाते हैं. मतलब मेरे पति ऑफिस चले जाते हैं और मेरे बच्चे स्कूल चले जाते हैं, तो मैं उस लड़के को बुलाकर उससे अपने बेडरूम में चुदवाती हूँ.

आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी. मुझे मेल करके बताएं. आप सबके मेल से पता चलता है कि आप लोगों को मेरी कहानी कितनी पसंद आई. आप सबका मेल मेरे लिए बहुत मायने रखता है क्योंकि आपके फीडबैक से मैं अपनी और भी कहानी आपको बताती हूँ.

मैं और वो लड़का हम दोनों लोग आज भी सेक्स करते हैं, लेकिन अब हम दोनों लोग पहले की तरह सेक्स नहीं करते हैं क्योंकि हमारे पड़ोस में कुछ लोगों को शक हो गया है कि मैं उस लड़के से चुदवाती हूँ. हम दोनों लोग अब सप्ताह में एक या दो बार सेक्स करते हैं. आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी. आप सब मुझे फीडबैक दीजिए और मेल करके बताएं.

[email protected]

Hindi Intercourse Story मेरी चुदासी चूत की जवान लंड से चुदाई – सेक्स स्टोरी हिंदी में

Hindi Intercourse Story मेरी चुदासी चूत की जवान लंड से चुदाई – सेक्स स्टोरी हिंदी में. हिंदी सेक्स स्टोरी,इंडियन भाभी,चुदास,रियल सेक्स स्टोरी,लंड चुसाई. हिंदी सेक्स स्टोरी,इंडियन भाभी,चुदास,रियल सेक्स स्टोरी,लंड चुसाई.

Related Post – Indian Sex Bazar