होमSex Problem Solution And Tipsमुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप...

मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते : दोस्तों सबसे पहले हम यह जानते है की ये हस्तमैथुन अर्थात मुठ मरना क्या होता है : हस्तमैथुन शब्द अंग्रेजी भाषा के शब्द “Masturbation” का हिंदी रूपांतरण है. यह एक प्रक्रिया का नाम है जिसे यौन सन्तुष्टि हेतु पुरुष हो या स्त्री, कभी न कभी सभी सभी अपने गुप्त अंग के साथ करते है इससे उन्हें सेक्स संतुष्टि प्राप्त होती है। कुछ लोग हस्तमैथुन पोर्न फिल्म देखते हुए करते है तो कुछ लोग नंगी नंगी सेक्स फोटो देख कर करते है. हस्तमैथुन सेक्स वासना को शांत करने और अपनी कामुकता पर काबू पाने का एक कॉमन तरीका होता है। यहाँ भी देंखे >> पोर्न स्टार कैसे बने Apply Online

मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

इस क्रिया को केवल युवा ही नहीं बल्कि बुड्ढे-बुड्ढे लोग भी लिंगोत्थान हेतु करते हैं इससे उन्हें यह अहसास होता है कि वे अभी भी यौन-क्रिया करने में सक्षम हैं। अपने यौनांगों को स्वयं उत्तेजित करना युवा लड़कों तथा लड़कियों के लिये उस समय आवश्यक हो जाता है जब उनकी किसी कारण वश शादी नहीं हो पाती या वे असामान्य रूप से सेक्सुअली स्ट्रांग होते हैं। औसत तौर पर पुरुष 12-13 वर्ष की उम्र में ही हस्तमैथुन शुरू कर देते हैं जबकि महिलाएँ तरुणाई (13 से 19 वर्ष) के अन्तिम दौर में हस्तमैथुन का आनन्द लेना शुरू करती हैं, लेकिन उनमें यह मामला इतना ढँका और छिपा हुआ रहता है कि कभी किसी चर्चा में भी सामने नहीं आ पाता।

पुरुष मुठ कैसे मारते हैं (पुरुषो के हस्तमैथुन करने का तरीका )

पुरुष मुठ कैसे मारते हैं (पुरुषो के हस्तमैथुन करने का तरीका ) : पुरुष अपने लिंग को अपनी मुट्ठी में दबाकर लिंग की चमड़ी को आगे-पीछे हिलाते हैं और वो यहाँ क्रिया सामान्यत गन्दी गन्दी पोर्न फिल्म देखते हुए या नंगी नंगी सेक्स फोटो देखते हुए करते है। कुछ पुरुष यह प्रक्रिया अपने लिंग के टोपे पर चिकनाई लगाकर भी करते हैं तो कुछ इस क्रिया को करने के लिये एडल्ट सेक्स टॉय का भी प्रयोग करते है। इस कार्य में उन्हें अपार आनन्द की अनुभूति होती हैं। ये कार्य वे तब तक जारी रखते हैं जब तक उनका वीर्यपात या वीर्य स्खलन नहीं हो जाता।

मुठ मारने हस्तमैथुन करने के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते
मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

इसके अतिरिक्त कभी कभार पुरुष तकिये के बीच में अपना लिंग दबा कर धीरे-धीरे आगे पीछे धक्का देते हुए इस तरह हिलाते हैं मानो वे किसी स्त्री की योनि में अपना पुरुषांग प्रविष्ठ कर रहे हों। अब तो कई प्रकार के नकली महिला जननांग भी बाजार में उपलब्ध हैं जो सॉफ्ट फाइवर के बने होते हैं और महिला जननांग जैसा ही अनुभव देते हैं। कुछ पुरुषों द्वारा इस प्रकार के उपाय भी स्वयं की यौन-सन्तुष्टि हेतु किये जाते हैं।

स्त्रियाँ मुठ कैसे मारती हैं (महिलओं के हस्तमैथुन करने का तरीका )

स्त्रियाँ मुठ कैसे मारती हैं (महिलओं के हस्तमैथुन करने का तरीका ) : स्त्रियाँ अपनी योनि में ऊँगली या कोई लिंग जैसी वास्तु डाल कर उसे अंदर बहार करती है और जोर जोर से हिलती हैं। कभी-कभी लडकियाँ व महिलाए अपनी योनि के अन्दर एक या दो से ज्यादा अँगुलियाँ डालकर मुठ मरती हैं. कुछ महिलाए मुठ मारने के लिये सेक्सी टॉय जैसे वाइब्रेटर अथवा डिल्डो का सहारा भी लेती हैं। बहुत सी महिलाएँ इसके साथ साथ अपने स्तनों को भी जोर जोर से दबाती व रगड़ती हैं। कुछ स्त्रियाँ मुठ मरने के लिये अपनी योनी में कृत्रिम चिकनाई का प्रयोग भी करती है.

मुठ मारने हस्तमैथुन करने के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते 2
मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

कुछ महिलाएँ केवल विचार और सोच मात्र से ही मदनोत्कर्ष (स्वत:स्खलन सीमा) तक पहुँच जाती हैं। कुछ महिलाएँ अपनी टाँगें कसकर बन्द कर लेती हैं और इतना दबाव डालती हैं जिससे उन्हें स्वत: यौन-सुख अनुभव हो जाता है। ये काम वे सार्वजनिक स्थानों पर भी बिना किसी की नजर में आये कर लेती हैं। इस क्रिया को महिलाएँ बिस्तर पर सीधी या उल्टी लेटकर, कुर्सी पर बैठकर या उकडूँ बैठकर भी करती हैं। लेकिन ऐसी कोई भी क्रिया जिसे बिना शारीरिक सम्पर्क के पूरा किया जाता है इस श्रेणी में नहीं आती।

महिलाओं व लड़कियों द्वारा हस्‍तमैथुन (मुठ मारने) के लिये एडल्ट सेक्स टॉय के अलावा सब्जियों जैसे: लम्बे वाले बैंगन, खीरा, गाजर, मूली, ककडी आदि का प्रयोग करा जाता है वो इसे अपनी योनी के छेद के अंदर बहार करती है। कुछ स्कूल में पढने वाली किशोर बालिकायें अपनी योनि में मोटा वाला कलम (पेन), मोमबत्ती या मोटी पेन्सिल डालकर हिलाती हैं। इस क्रिया से भी उन्हें चरमोत्कर्ष की प्राप्ति हो जाती है। यह भी देखा गया है कि कुछ महिलायें पलंग के किनारे अथवा किसी मेज के किनारे से अपने यौनांग रगड़ कर ही यौन-सुख प्राप्‍त कर लेती हैं।

स्त्री-पुरुष परस्पर हस्तमैथुन कैसे करते हैं

स्त्री-पुरुष परस्पर हस्तमैथुन कैसे करते हैं : जब स्त्री-पुरुष दोनों एक दूसरे को यौन सुख देने के लिये एक दूसरे का हस्तमैथुन करते है तो उसे अंग्रेजी में नाम दिया गया है-“ओननिज़्म”। हस्तमैथुन एक व्यक्ति के जननांगों की यौन उत्तेजना को भी प्रभावित करता है। आमतौर पर संभोग से पूर्व स्त्री-पुरुषों में यह उत्तेजना मैन्युअली प्राप्त की जाती है। शारीरिक सम्पर्क (संभोग से कम) किये बिना अन्य प्रकार की वस्तुओं या उपकरणों के उपयोग द्वारा भी परस्पर हस्तमैथुन एक आम बात है जो एक पुरुष साथी अपनी दूसरी महिला साथी को अधिक समय तक यौन सन्तुष्टि प्राप्त करने के लिये करते हैं। अंग्रेजी में इसे “फोरप्ले” कहा जाता है।

मुठ मारने हस्तमैथुन करने के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते 3
मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

पुरुषों और महिलाओं में और भी तकनीकों से हस्तमैथुन के लक्षण पाये जाते हैं, लेकिन इन तरीकों से हस्तमैथुन के अध्ययन में यह पाया गया है कि हस्तमैथुन स्त्री या पुरुष दोनों ही लिंगों और सभी उम्र के इंसानों में अक्सर होता है। म्युचुअल हस्तमैथुन सभी यौन झुकाव के लोगों द्वारा किया जाने वाला एक अभ्यास है जो पुरुष-लिंग को स्त्री-योनि में प्रवेश किये बिना एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। किशोरियों में उनके कौमार्य को संरक्षित करने के लिये या गर्भावस्था को रोकने के लिये भी यह सहायक हो सकता है।

कुछ लोग इसे आकस्मिक सेक्स करने के लिये भी एक विकल्प के रूप में चुनते हैं, क्योंकि यह वास्तविक सेक्स के बिना ही यौन-सन्तुष्टि देता है। कुछ युवा लोगों के लिये, अपने दोस्तों के साथ परस्पर एक दूसरे का लिंग आपस में रगडकर यौन सन्तुष्टि में मदद करता है। कुछ लोगों को यह मनोवैज्ञानिक प्रक्रिया उनके अपने ओगाज़्म को विकसित करने अथवा अपने सुख में वृद्धि करने के लिये अधिक समय तक हस्तमैथुन करने के लिये प्रेरित भी करती है। परस्पर हस्तमैथुन जोड़े या समूहों में पुरुषों या महिलाओं द्वारा किया जा सकता है या फिर किसी अन्य व्यक्ति को छूकर या बिना सम्पर्क द्वारा भी सम्पन्न हो सकता है।

हस्तमैथुन करने या मुठ मारने से होने वाले लाभ

हस्तमैथुन करने या मुठ मारने से होने वाले लाभ : दोस्तों यदि आप के पास बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड नहीं है और आप की अभी तक शादी नहीं हुई है तो आप की काम वासना को काबू में रखने के लिए मैस्टरबेशन पूरी तरह से सेफ प्रक्रिया है. जब आप मैस्टरबेशन के दौरान क्लाइमेक्स पर होते हैं, तब एंडोर्फिन हॉर्मोन्स रिलीज होता है। इस हॉर्मोन्स के रिलीज के बाद आपकी बेचैनी खत्म होती है और आपको मानसिक शांति मिलती है.

मुठ मारने हस्तमैथुन करने के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते 3
मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

मैस्टरबेशन करने अर्थात मुठ मारने के दौरान स्त्रियों और पुरुषो दोनों की धड़कन बढ़ जाती है यह ठीक वैसी स्थति होती है जैसी सेक्स करते वक्त होती है जिससे शरीर में ब्लड का फ्लो बढ़ता है और मसल में सख्ती आती है जिस कारण तनाव से मुक्ति मिलती है और रात को नींद अच्छी आती है अथ रात में अच्छी नींद के लिए मैस्टरबेशन एक शानदार प्रक्रिया है. हस्तमैथुन करना पूरी तरह से नैचरल प्रक्रिया है। इससे प्रजनन क्षमता पर किसी भी तरह का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। सेक्सुअली कमजोरी और कामुकता में कमी की बात भी पूरी तरह से अफवाह है।

हस्तमैथुन करने या मुठ मारने से होने वाले नुकसान

हस्तमैथुन करने या मुठ मारने से होने वाले नुकसान : युवावस्‍था में हस्तमैथुन की शुरुआत की सबसे ज्‍यादा संभावना रहती है और ऐसा होने पर दिन में बार-बार हस्तमैथुन करने का मन करता है। अति हर चीज की ख़राब होती है. हस्तमैथुन तब तक हानिकारक नहीं है जब तक इसको कम मात्रा में किया जाये. अधिक मुठ मारने से लड़कियों और पुरुषो की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है यदि वह इस क्रिया को बहुत ज्यादा करते हैं या नशे की तरह लत पड़ गई है यदि ऐसा है तो आपको तुरंत किसी सेक्सॉलजिस्ट से मिलने की जरूरत है। शरीर को चलाने के लिए कैलोरी की जरुरत होती है और यदि आप ज्यादा हस्तमैथुन करते है तो आप अपनी कैलोरी को उसमे खर्च कर देते है. जिस कारण आप को थकान व कमजोरी महसूस हो सकती है.

मुठ मारने हस्तमैथुन करने के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते 4
मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते

अत्यधिक मात्त्रा में हस्‍तमैथुन करने से शुक्राणुओं की संख्‍या कम होने लगती है। इसका असर सीधा असर प्रजनन क्षमता पर भी पड़ता है। इसके अलावा नियमित रूप से हस्‍तमैथुन करने से आपको संतुष्‍ट होने का समय कम या बढ़ सकता है। इसके साथ ही आपका वीर्य स्‍खलित होने का समय भी बढ़ या घट सकता है। इसके अलावा हस्‍तमैथुन की आदत इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्‍य कारण होती है।

कई लोग ऐसे होते है जो जल्दीबाजी के चक्कर में बहुत तेजी से हस्तमैथुन (Masturbation) करने लगते है. जिस कारण उनका वीर्य से पहले निकलने वाला तरल पानी उनके लिंग की मासपेशियों में चला जाता है. इस कारन लिंग में सूजन आने लगती है और तब तक रहती है जब तक वह वापस से खून में न मिल जाये. ऐसा बार – बार होने पर यह गंभीर समस्या बन जाती है. इसके अलावा हस्तमैथुन (masturbation) करते समय अपने लिंग को कस कर दबाने या मोड़ने का प्रयास हानिकारक हो सकता है इससे ‘पायरोनी’ नाम की बीमारी हो सकती है। यही नही पेनाइल फ्रेक्‍चर भी हो सकता है यानी आपके लिंग की मांसपेशियां टूट सकती हैं।

दोस्तों हम उम्मीद करते है की आप सभी को हमारी इस पोस्ट के माध्यम से बहुत अहम जानकारी मिली होगी. आप सभी को हमारी पोस्ट “मुठ मारने (हस्तमैथुन करने) के बारे में वह सब कुछ जो आप नहीं जानते” यदि उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करना जिससे आप के दोस्तों को भी मुठ मारने (हस्तमैथुन) करने से सम्बंधित जानकारी मिल सके और उनकी सेक्स लाइफ में सुधर हो सके निचे लाइक बटन पर क्लिक करना भी न भूले.

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular