होमAntarvasna Hindi Sex Storiesसिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story :  हेल्लो दोस्तों मेरी इस हार्डकोर गैंग बैंग चुदाई की XXX Story में आप सभी का बहुत स्वागत है. मेरा नाम सोनिया है और में 21 साल की बहुत खुबसूरत और सेक्सी कुंवारी लड़की हूँ. दोस्तों मैं एक मेडिकल स्टूडेंट हूँ. मेरा फिगर 32-30-36 है जो की दिखने में बहुत हॉट और सेक्सी है, गोरा कलर, सिल्की बाल, और में बहुत सुंदर दिखती हूँ और मेरा एक पुरुष मित्र (बॉयफ्रेंड) भी है.. जिसका नाम भानु खंडेलवाल है. मेरे पुरुष मित्र भानु की बहुत अच्छी खासी बॉडी है..

उस साले मादरचोद ने कई बार मेरी गांड चुदाई और चूत चुदाई भी की है जिससे मुझे पता चलता है कि उसका लंड हर उम्र की महिला की चूत को एक बार में ही फाड़ देगा और खुनम खान कर देगा और मेरे बॉयफ्रेंड फौलादी लंड को झेलने की ताकत हर किसी महिला की चूत में नहीं है वो बस एक बार में ही चूत फाड़ देता है लेकिन उसके तगड़े लंड से चुदवाने में बहुत मजा देता है. तो दोस्तों में जो स्टोरी यहाँ पर आप सभी को बता रही हूँ वो 100% सच है. में और मेरा पुरुष मित्र भानु बहुत खुलकर एक दूसरे के साथ रहते है. हमने बहुत बार चुदाई करी है. मै 18 साल की थी जब मैंने अपने भाई के दोस्तों के साथ गैंग बैंग ग्रुप चुदाई करवाकर उनसे अपनी वर्जिन चूत की सील तुड़वाई थी.

सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Story

मै और मेरा पुरुष मित्र भानु साथ में मिलकर चुदाई वाली गन्दी गन्दी पोर्न फिल्म देखते थे और हम ज्यादातर हार्डकोर ग्रूप चुदाई या नये नये तरीके की हार्डकोर पोर्न फिल्म देखते थे. उसके बाद एक दिन हमने कॉलेज से बंक मारकर सिनेमाघर जाकर फिल्म देखने का प्लान बनाया. उसके बाद हम सभी लोग एक फ्लॉप फिल्म देखने गये. सिनेमाघर पूरा करीब करीब खाली ही था. उसके बाद जैसे ही फिल्म स्टार्ट हुई.. तभी मेरा पुरुष मित्र भानु भी अपना काम करने में स्टार्ट हो गया. उस दिन मैंने सफेद कमीज और शॉर्ट मिनी स्कर्ट पहनी हुई थी.

तभी उसने कमीज के सारे बटन खोल दिए. उसके बाद मेरा पुरुष मित्र भानु मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे मेरी ब्रा के ऊपर से चूस रहा था. तभी मैंने उसे अपनी ब्रा खोलकर अपने निप्पल उसके मुहं में डाल दिए. उसके बाद वो एक छोटे बच्चे की तरह मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाकर चूस रहा था. तभी उसने मेरी कमीज पूरी तरह निकाल दी और में ऊपर से पूरी नंगी हो गयी थी. उसके बाद वो कभी मेरे सीधे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे को दबाता तो कभी उल्टे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे को. उसके बाद उसने चूस चूस कर मेरे दोनों मोटे मोटे बूब्स लाल कर दिए थे.

उसके बाद मैंने उसकी पेंट की ज़िप खोलकर उसका 8 इंच मोटे लम्बे लंड को बाहर निकालकर सहलाने लगी और उसके बाद उसे अपने मुहं में लेकर चूसने लगी और उसके बाद मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मैंने बहुत लोगो का तगड़ा मोटा लंड कई बार चूसा है इसलिए मुझे बहुत अनुभव है.. लंड चूसने में और चूस चूसकर खड़ा करने में. उसके बाद मेरे पुरुष मित्र भानु ने मेरा सर पकड़ा और ज़ोर जोर से मेरे मुहं को अपने तगड़े मोटे लंड से चोदने लगा. उस साले ने मेरी आज हालत बहुत खराब कर दी थी क्योंकि उसे आज बहुत दिनों के बाद मौका मिला था मेरे साथ चुदाई करने का और वो आज इतने दिनों की पूरी कसर निकालना चाहता था.

Nangi Nude College Girl In Bikini Fucking Hard Indian Desi Porn MMS XXX Sex Video And Pic Gallery (10)
सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

उसके बाद उसकी इस हार्डकोर चुदाई ने मेरी आँखों में आंसू तक भर दिये थे और पूरा का पूरा मुहं चोदते चोदते लाल कर दिया. उसके बाद करीब थोड़ी देर बाद उसने मेरे मुहं में ही अपना सारा काम रस निकाल दिया और उसके बाद में उसका सारा काम रस पी गई. उसके बाद मेरा पुरुष मित्र भानु फिल्म देखते देखते मेरी चूत में उंगली कर रहा था. तभी वहाँ पर दो लड़के और एक औरत हमारे आगे आकर बैठ गए. तभी मैंने तुरंत मेरी कमीज लेकर मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे छुपा लिए लेकिन उन्होने शायद मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे देख लिए थे. उसके बाद थोड़ी देर बाद में चौक गयी..

मैंने देखा कि वो दो लड़के उस औरत के सेक्सी जिस्म के मज़े ले रहे थे. एक लड़का उसके मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबा रहा था और दूसरा उसके गुलाबी गुलाबी होंठो को किस कर रहा था. उसके बाद मेरे और मेरे पुरुष मित्र भानु के सामने ग्रुप चुदाई चल रहा था. तभी मेरी चूत गीली हो गई और तभी मेरा पुरुष मित्र भानु भी अब मुझे जमकर किस करने लगा और तभी मैंने भी अपनी कमीज उतार कर उसके बाद से साईड में रख दी.

मेरी मिनी स्कर्ट भी ऊपर आ गई थी और अब मुझे ऐसा लग रहा था जैसे में नंगी बैठी हूँ. तभी मैंने देखा कि उनमे से एक लड़का पीछे मुड़कर हम लोगो को देख रहा था. उसके बाद इस बार मैंने जान बूझकर मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे उसको दिखाए और अपने दोनों हाथों से अपने मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाने लगी. तभी मेरे पुरुष मित्र भानु ने देखा कि में उसको मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाकर दिखा रही हूँ और तभी उस लड़के ने सामने देखा और कहा कि क्या आप दोनों हमारे साथ में मिलकर यह सब करना चाहोगे? उस लड़के ने मेरा पुरुष मित्र भानु से पूछा.

माँ के बोबे दबाए माँ के दूध से भरे बूब्स को खूब कस कसके दबा रहा था
सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

उसके बाद मेरे पुरुष मित्र भानु ने बिना मुझे पूछे हाँ कह दी क्योंकि वो दो लड़के जिस औरत के साथ चुदाई कर रहे थे वो 40 साल की होगी और बहुत मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे वाली थी. उसके बाद जैसे ही मेरे पुरुष मित्र भानु ने हाँ कहा तभी वो तीनों लोग हमारे पीछे आ गये. में ज़रा सी डरी हुई थी. उसके बाद हमने एक दूसरे का नाम पूछा.. एक का नाम राज था.. उसकी उम्र 21 साल और दूसरे लड़के का नाम मादरचोद राहुल था.. उसकी उम्र 23 साल थी और उस औरत का नाम सुष्मिता मिश्रा था. तभी पहले राज ने शुरुआत करते हुए मेरे हाथ सहलाने शुरू किए और मेरा मुहं उसकी तरफ करके किस करने लगा.

उसके बाद मादरचोद राहुल भी मेरे दूसरी तरफ आकर मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाने लगा. मेरा पुरुष मित्र भानु उस सेक्सी सुष्मिता रंडी की बाहों में चला गया था और दोनों एक दुसरे को चुम्मा चाटी कर रहे थे. उसके बाद में मेरे पुरुष मित्र भानु को भूलकर उनके साथ चुदाई करने लगी. उसके बाद में राज को किस करने में साथ देने लगी और अपने एक हाथ से मादरचोद राहुल का सर पकड़ कर मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे पर दबा रही थी. तभी थोड़ी देर बाद मादरचोद राहुल मेरी चूत चाटने लगा और राज मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे चूसने लगा.

मुझे ऐसे लग रहा था जैसे मैं जन्नत में पहुँच गयी. उसके बाद मादरचोद राहुल अपनी पूरी जीभ मेरी चूत में डाल रहा था और जीभ से चूत चाट चाटकर चुदाई कर रहा था और मजे ले रहा था. तभी में ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ लेने लगी. मैंने इससे पहले कभी एक साथ दो लड़को से मजे नहीं लिये थे. उसके बाद मैंने आँख खोलकर साईड में देखा तो पता चला कि मेरा पुरुष मित्र भानु सुष्मिता रंडी को बहुत बुरी तरह से चोद रहा था और सुष्मिता रंडी रो रही थी क्योंकि मेरा पुरुष मित्र भानु का तगड़ा मोटा लंड बहुत बड़ा था.

उसके बाद तभी.. हम भी तुझे ऐसे ही चोदेंगे.. राज ने मेरे पुरुष मित्र की तरफ देखते हुए बोला लेकिन मादरचोद राहुल अभी भी मेरी चूत चाट रहा था और में मेरी अंतिम सीमा तक पहुँच चुकी थी और तभी कुछ दो- तीन मिनट के बाद मैंने अपना सारा काम रस मादरचोद राहुल के मुहं में छोड़ दिया और वो उसे पी गया. तभी मादरचोद राहुल ने अपना लंड निकालकर मेरे मुहं में डाला और उसके बाद राज अब मेरी चूत चाट रहा था. उसके बाद में मादरचोद राहुल का तगड़ा मोटा लंड पूरे जोश के साथ चूस रही थी.

तभी फिल्म खत्म होने वाली थी और मादरचोद राहुल ने मेरा सर पकड़ा और जोर जोर से आगे पीछे करने लगा शायद अब वो भी झड़ने वाला था इसलिए एकदम से इतने जोश में आ गया था. उसके बाद थोड़ी देर में ही मादरचोद राहुल ने उसका काम रस मेरे मुहं में छोड़ दिया और में उसे पी गई और राज ने भी मेरी चूत का जूस पी लिया. तभी उधर सुष्मिता रंडी मेरा पुरुष मित्र भानु की गोदी में बैठी थी और दोनों किस कर रहे थे. उसके बाद शिपा और मेरे पुरुष मित्र भानु ने पूरे कपड़े पहन लिए. उसके बाद में भी कमीज पहनने लग गई..

तभी राज ने कहा कि साली लंदी तू यह क्या कर रही हो अभी तो पूरी चुदाई बाकी है? उसके बाद मैंने कहा कि लेकिन अब तो फिल्म खत्म होने वाली है और अब आगे कुछ करना मुमकिन नहीं है. तो उसके बाद इसे होटल में ले जाकर चोदो.. आज तो इसे चोद चोद कर पूरी की पूरी रांड बना दो.. मेरे पुरुष मित्र भानु ने सुष्मिता रंडी को किस करते हुए बोला. तभी में मेरा पुरुष मित्र भानु की बातें सुनकर चोंक गई और उसके बाद सब हँसने लगे. उसके बाद जब फिल्म खत्म हुई तभी मै मेरे पुरुष मित्र भानु के साथ जाने लगी. उसके बाद एकदम से राज ने मेरा हाथ पकड़ा और बोला आज तू हमारे साथ चल.. हम तुझे तेरे घर पर छोड़ देंगे.

उसकी इस हरकत पर मै कुछ बोलती उससे पहले मादरचोद राहुल ने मेरी कमर पर हाथ रख कर मुझे ले गया और मेरा पुरुष मित्र भानु सुष्मिता रंडी को लेकर चला गया. तभी मुझे बिलकुल भी विश्वास नहीं हुआ की मेरा पुरुष मित्र भानु मेरा बहन का लौड़ा पुरुष मित्र किसी और औरत के साथ चला गया और मुझे दो अंजान लड़को के साथ छोड़ गया. तभी रास्ते में मुझे पता चला था कि सुष्मिता रंडी जो मेरा पुरुष मित्र भानु के साथ गई थी वो राज और मादरचोद राहुल की माँ थी.

मुझे बिलकुल भी विश्वास नहीं हुआ.. तभी मैंने उनसे पूछा कि क्या तुमने अपनी माँ को भी चोद डाला? तभी मादरचोद राहुल कहने लगा कि हमारी माँ रंडी है और उसे भी नहीं पता होगा वो अब तक कितनों से चुदी हुई है. उसके बाद राज और मादरचोद राहुल मुझे एक गार्डन लेकर गये और वहाँ पर हम एक बेंच पर बैठ गये. उसके बाद मैंने देखा कि वहाँ पर सभी लोग हम उम्र थे और कुछ कपल आधे नंगे एक दूसरे की बाँहों में बाहें डालकर प्यार कर रहे थे और कुछ लोग रंडियों को लेकर वहाँ पर आए थे. तभी राज ने मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाने शुरू किए और मादरचोद राहुल मेरी गर्दन पर चूमने लगा लेकिन ऐसी जगह पर मुझे चुदाई करने का ज़रा भी मन नहीं था. लेकिन मुझे बस दिखावा करना पड़ा.

तभी राज बैठ गया और उसके बाद मुझे राज ने उल्टा खड़ा किया और उसके बाद मेरी स्कर्ट थोड़ी उँची करके उसके लंड पर मेरी चूत सेट हो जाए ऐसे अपनी गोद में बैठाया और उसके बाद मेरी चुदाई शुरू की. उसके बाद राज ने चुदाई करते करते मेरी कमीज के बटन खोल दिए और मेरे मोटे मोटे दूध से भरे मम्मे दबाने लगा. तभी मादरचोद राहुल ने अपनी ज़ेब में से केमरा निकाला और मेरी वीडियो बनाने लगा. तभी राज मुझे कमर से पकड़ कर जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगा. उसके बाद राज मेरी धमाधम चुदाई किये जा रहा था.

उसके बाद उसने करीब दस मिनट तक मुझे चोदा और उसके बाद तेज और जोरदार धक्को के साथ झड़ गया. तभी राज की चुदाई खत्म होने के बाद उसने मुझे मादरचोद राहुल का तगड़ा मोटा लंड चूसने को कहा और राज वीडियो बनाने लगा. उसके बाद उन दोनों ने मेरी पूरी चुदाई का वीडियो बना लिया था. तभी थोड़ी देर बाद में मादरचोद राहुल का तगड़ा मोटा लंड ना चाहते हुए भी चूसने लगी.

कश्मीरी लड़की पुलिस बाले के लंड के साथ खेलते हुए और Kissing Pic And Videos (1)
सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story

उसके बाद करीब दस मिनट तक लंड चूसने के बाद वो भी झड़ गया और उसने पूरा का पूरा काम रस मेरे मुहं में लंड को हिला हिला कर निकाल दिया और एकदम शांत हो गया जैसे कि उसकी पूरी जान मेरे मुहं में ही निकल गई हो. तभी पता नहीं क्या हुआ लेकिन सभी लोग भागने लगे और गार्डन खाली करने लगे. मादरचोद राहुल ने भी जल्दी से अपना लंड पेंट के अंदर डाला और साले राज और मादरचोद राहुल भाग गये.

उसके बाद में आधी नंगी बेंच पर बैठी थी. उसके बाद मैंने अपनी स्कर्ट ठीक की और उसके बाद कमीज पहनती कि उसके पहले पुलिस आ गयी. तभी में बहुत डर गयी. उसके बाद पुलिस ने आकर मुझे पकड़ा और उसके बाद मुझे वो लोग पुलिस स्टेशन ले जाने को कहने लगे. तभी मैंने कमीज पहनी और पुलिस की जीप में बैठ गयी. उसके बाद वो लोग मुझे और 2-3 लोगों को पुलिस स्टेशन ले गये.

उसके बाद मैंने अपना पता बताया और उन्होंने मुझसे कुछ बातें पूछी और मेरे साथ साथ सभी लोगो को छोड़ दिया और कहा कि अगली बार कुछ ऐसा हुआ तो नहीं छोड़ेगे. उसके बाद उसके बाद में घर पर आ गई और मैंने अपने पुरुष मित्र से रिश्ता तोड़ दिया और इसे एक हादसा समझकर भुला दिया. तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं की आप को हमारी Hindi Gang Bang XXX Story “ सिनेमाघर में हार्डकोर ग्रुप चुदाई का गन्दा खेल XXX Sex Story ” बहुत पसंद आई होगी तो इस हिंदी चुदाई कहानी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करना.   

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular