होमAntarvasna Hindi Sex Storiesसोई हुई कामुक बहन की सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली...

सोई हुई कामुक बहन की सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली डाली

फ्रॉक ऊपर उठाकर और पैंटी नीचे सरका कर गहरी नींद में सोई हुई कामुक बहन की सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली डाली और चूत चाटी अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज फ्री में पढ़ें और अपने दोस्तन व परिवार के सदस्यों के साथ भी शेयर करें :- हमारे घर में मेरे अलावा मेरे पता पिता और मेरी 2 छोटी बेहन रहते हैं. अभी मेरी उमर मात्र 21 वर्ष है और मेरे से छोटी बहन की उमर 19 साल और उससे छोटी वाली बहन की उमर करीब 16 साल है. ये कहानी करीब 3 साल पहले स्टार्ट हुई थी. घर में अधिकतर मेरी बहनें अकेले ही रहती हैं क्योंकि मेरे माता पिता दोनों सर्विस करते हैं और इस लिए घर से सुबह जल्दी निकल जाते हैं और रात में देरी से घर आते हैं.

मेरी बड़ी बहन का नाम साक्षी है और छोटी बहन का नाम विधुशी है. हम सभी भाई बहन अभी पढाई करते हैं. हम भाई बहनों का एक ही बैडरूम हैं और मेरे माता पिता का अलग बैडरूम है. जिस कारण से मैं बचपन से ही अपनी बहनों को कच्ची कली से फुल बनते हुए देखते आ रहा हू. बचपन मैं जब मैं छोटा बच्चा था तो कुछ ग़लत लड़को की संगति के कारण मैं सेक्स के बारे मैं जल्दी ही जान गया था, सेक्स के जानकारी होने के कारण और ग़लत बुक्स और ग़लत दोस्त के कारण मैंने बचपन में ही हंस्थमैथून करना सुरू कर दिया था. इसी बीच मेरी छोटी बहन साक्षी पर भी जवानी आ रही थी और मैं उसकी तरफ आकर्षित होने लगा था.

सोई हुई कामुक बहन की सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली डाली अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज

सोई-हुई-कामुक-बहन-की-सील-बंद-टाइट-चूत-के-अंदर-उंगली-डाली-अन्तर्वासना-हिंदी-सेक्स-स्टोरीज

मैं जवानी के जोश में कभी उसे अपने गले से लगाकर उसके गोल गोल संतरे जैसे स्तनों का मज़ा लेता तो कभी मेरी कामुक बहन की कमर पकड़ कर उसके गांड का मज़्ज़ा लेता था वो छोटी होने के कारण इस हरकत को भाई का प्यार समझती थी लेकिन मैं तो कुछ और ही मज़्ज़ा लेता था. इसी बीच मैं कभी कभी जब वो सो जाती तो मैं धीरे से उसकी फ्रॉक को उप्पर उठाकर उसकी और उसकी पैंटी निचे सरका कर उसकी सील पैक वर्जिन चूत चाटता था. मुझे आज भी वो दिन याद है जब मैने पहली बार मेरी छोटी बहन की सील बंद टाइट चूत को फ्रॉक ऊपर उठाकर देखा था और मुँह लगाकर चाटा भी था.

मेरी छोटी बहन ने अपने कामुक जिस्म पर एक लाल रंग की एक छोटी सी फ्रॉक पहनी हुई थी और उस दिन वो बहुत गहरी नींद मैं थी. जवान और सेक्सी बहन को गहरी नींद में देखकर मेरी नींद उड़ गयी और मैं धीरे धीरे उसके बगल मैं जाकर सो गया(हम लोगो का कमरा कॉंमान था ई मीन मेरा और बहन का)और धीरे से उसकी फ्रॉक को उठा दिया मैने देखा उसकी मस्त जाँघ एक दम मुलायम थी और मैने धीरे धीरे फ्रॉक को और उपर किया और देखा की साक्षी ने ब्लॅक कलर की पेंटी पहनी हुई है.

मैं तो मेरी वर्जिन बहन की सील बंद टाइट चूत देखना चाहता था और उसके यौवन के मजे लूटना चाहता था इस लिए उसकी फ्रॉक ऊपर उठाकर धीरे धीरे उसकी पेंटी नीचे करी. मैने देखा मेरी कुंवारी बहन की चूत तो बिलकुल सील पैक है मेरी कामुक बहन की चूत पर हल्के हल्के झांट के बाल उगने शुरू हुए थे. फ्रॉक ऊपर उठाकर और पैंटी नीचे सरका कर जैसे ही मेरी नजरें मेरी बहन की चूत पर पड़ी वैसे ही मैं तो मेरी वर्जिन बहन की सील बंद टाइट चूत देखते ही मदहोश हो गया और उसकी सील बंद टाइट चूत को चूमने और चाटने लगा. दोस्तों आज पहली बार मैंने किसी लड़की की सील बंद टाइट चूत चाटी थी.

फिर मैने धीरे धीरे उसकी सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली डाली और अपनी ऊँगली उसकी चूत के अंदर बाहर करने लगा और उसके यौवन के मजे लुटने लगा. दोस्तों उस कुंवारी लड़की की सील बंद टाइट चूत बहुत ज्यादा टाइट थी। मैं एक हाथ से मेरी छोटी बहन की वर्जिन बूर को अपनी उंगली से छेड़ रहा था और दुसरे हाथ में अपना लंड लेकर हस्तमैथुन कर रहा था. इसी तरह दोस्तों जब भी मेरी छोटी बहन सो जाती थी तो मैं उसके यौवन के मजे लेता रहता था लेकिन मैं मेरी वर्जिन बहन की सील पैक चूत कभी चोद नही पा रहा था क्योकि सोचता था की कही ये जाग गई और इसे पता चल गया की मैंने इसके साथ अवैध सेक्स संबंध बनाये हैं तो फिर घर में सभी को इस बारे में पता चल जायगा और सभी मिलकर मुझे कूटेंगे और घर से निकाल देंगे .

फिर मैं गुरुकुल में पढाई करने के लिए चला गया. कुछ दिन अपनी छोटी बहन से दूर रहने के बाद मुझे अहसास हुआ की मुझे मेरी ही छोटी बहन से एक तरफा प्यार हो गया है और अब मुझे दूसरी लड़कियाओं से ज़्यादा सेक्सी मेरी छोटी बहन ही लगती थी. फिर मैने जब भी गुरुकुल से घर पर आता तो साक्षी के गहरी नींद में सोने का इंतजार करता और उसके सो जाने के बाद मैं उसके कामुक कुंवारे जिसमे के मज़े लेता था. मेरी सुन्दर सी दिखने वाली छोटी बहन अब धीरे धीरे जवान हो रही थी और मैं उसके इस कामुक जिस्म को भोगने के लिए अब बहुत ज्यादा तड़पने लगा था.

आज कल मैंने उसके फोटो देखकर बाथरूम में कुछ ज्यादा मुठ मरना शुरू कर दिया था. मैं हमेशा जब भी गुरुकुल से घर आता तो मैं उससे चोद्ने के लिए सोचता रहता था और गुरुकुल में मेरी कामुक बहन की मस्त जवानी को सोचकर कई कई बार हस्तमैथुन करता रहता था. पता नही क्यो मैं साक्षी के तरफ आकृषित हो रहा था जबकि मेरी दूसरी बहन विधुशी भी जवान हो रही थी लेकिन मुझे उसमे कोई इंटेरेस्ट नही आ रहा था और ना ही उसे देखकर मेरे अंदर उसके लिए किसी तरह का कोई आकर्षण पैदा होता था.

मेरी कामुक बहन शायद मेरा पहला प्यार बन गई थी और मैं रात दिन मेरी कामुक बहन की चुदाई करने के ही सपने सजोता रहता था. अब मैं इंतज़ार कर रहा हू की कब मुझे अपनी सगी बहन के साथ अवैध सेक्स संबंध बनाने का मौका मिले और मैं उसकी गांड और चूत में मेरा लम्बा मोर मोटा लंड पेलकर उसकी खूब जमकर चुदाई करूँ. दोस्तों अभी तक तो मैंने मेरी बहन की सील बंद टाइट चूत के अंदर उंगली डाली है और चूत चाटी है मगर भविष्य में यदि मैं मेरी बहन की चुदाई करने में या गांड मारने में कामयाब हुआ तो आपको मेरी अगली हिंदी सेक्स स्टोरी में वो घटना ज़रूर बताउँगा…

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular