होमAntarvasna Hindi Sex Storiesबदचलन माँ का बलात्कार करा दो सेल्स बॉय और बेटे ने मिलकर

बदचलन माँ का बलात्कार करा दो सेल्स बॉय और बेटे ने मिलकर

मौसी की बेटी की शादी थी शौपिंग के दौरान दूकान में पेटीकोट ब्लाउज उतारने के बाद बदचलन माँ का बलात्कार करा दो सेल्स बॉय और बेटे ने मिलकर रेप करने की अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज फ्री में ऑनलाइन पढ़ें और पढ़ने के बाद ज्यादा से ज्यादा शेयर करें : माँ और बेटे के बीच बने अवैध सेक्स संबंध की ये घटना तब की है जब शादी शुदा सेक्सी माल महिला रूपमती अपनी बड़ी बहन की बेटी की शादी के लिए शॉपिंग करने निकली थी. रूपमती एक हाउस वाईफ है और उसकी उम्र 45 साल की है. उस सेक्सी माल महिला का बेटा मस्तराम 21 साल का है और वो एक नंबर का चुदक्कड़ है. वो हमेशा अपनी माँ का बलात्कार करने का ख्वाब देखता रहता है.

दोस्तों रूपमती एक शादी शुदा हाउसवाईफ है और 45 साल की उम्र मे भी वो एक 18 साल की जवान कामदेवी से कम नहीं लगती है यदि आप एक बार उसे साड़ी और ब्लाउज में देख लो तो उसका बलात्कार करे बिना नहीं रह पाओगे. उस कामुकता से भरी हाउसवाइफ के 34 के फिगर उसकी छाती की शोभा ही नहीं बल्कि अच्छे अच्छो के लंड का साइज़ भी बड़ा देते हैं. उसकी 28 की पतली कमर और गांड के के तो क्या ही कहने, 40 इंच साइज़ की मोटी और गोल गांड जिस कुर्सी पर भी वो रखती होगी, वो कुर्सी भी बहुत खुश हो जाए और रूपमती अपनी कामुकता का प्रदर्शन करने मे कभी भी पीछे नहीं रहती है.

बदचलन माँ का बलात्कार करा दो सेल्स बॉय और बेटे ने मिलकर रेप करने की अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज

बदचलन-माँ-का-बलात्कार-करा-दो-सेल्स-बॉय-और-बेटे-ने-मिलकर-अन्तर्वासना-हिंदी-रेप-सेक्स-स्टोरीज

अब दोस्तों कामुकता से भरी हाउसवाइफ रूपमती की बड़ी बहन की बेटी की शादी का वक़्त था, इसीलिए उसको शादी के लिए शॉपिंग करनी थी. इस लिए वो डिनर के वक़्त अपने पति से कुछ कहने लगी. रूपमती अपने पति से बोली की मेरी बड़ी बहन की बेटी सीमा की शादी तय हो गयी है और शादी अगले हफ्ते ही है अब हमे भी जल्दी से शादी की शॉपिंग कर लेनी चाहिए. राम : हाँ तुम ठीक कह रही हो, तुम एक काम करो मेरा क्रेडिट कार्ड ले लो और कल मस्तराम के साथ जा कर शॉपिंग कर लो जो भी तुम्हे चाहिए. मस्तराम की कामुक माँ बोली की ठीक है, मेरे प्यारे बेटे मस्तराम तुम भी चलोगे ना मेरे साथ मार्किट शोपिंग करने के लिए? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की क्यों नहीं माँ बिल्कुल चलूँगा.

अगले दिन दोनों माँ बेटे शादी की शॉपिंग के लिए तैयार होने लगते हैं. मस्तराम की कामुक माँ बोली की मस्तराम जल्दी चलो वरना हमे बहुत देर हो जाएगी, में कपड़े बदलने जा रही हूँ, तुम भी जल्दी से कपड़े बदल लो. तभी कपड़े बदलने का नाम सुनते ही मस्तराम अपने बेड से उठकर चुपचाप अपनी माँ के कमरे मे जाने लगा, उधर अंदर रूपमती ब्लाउज और पेटिकोट मे थी. तभी धीरे धीरे उसने अपना ब्लाउज और ब्रा उतार दी थी. फिर उसके गोरे गोरे नारियल जैसे बूब्स देखते ही मस्तराम का लंड खड़ा हो गया और तभी रूपमती ने अपना पेटीकोट और पेंटी भी उतार दी और पूरी नंगी होकर अलमारी की तरफ बढ़ी.

लेकिन ये सब उसके हवस से भरे जवान बेटे मस्तराम के लिए सहन करना बहुत मुश्किल था, तभी वो अपनी आधी नंगी माँ को देखकर मुठ मारने लगा और फिर उसने अपना वीर्य वहीं पर गिरा दिया और फिर वो अपने कमरे मे कपड़े बदलने चला गया. मस्तराम हस्तमैथुन करने की वजह से थोड़ा थक गया था तो वो कपड़े बदल कर लिविंग रूम मे बैठा था. मस्तराम अपनी माँ से बोला की माँ में तैयार हो चूका हूँ अब आप थोड़ा जल्दी चलो. मस्तराम की कामुक माँ बोली की हाँ बेटा में अभी आ रही हूँ, तुमने दरवाजे पर जो सफेद पानी गिराया है, पहले उसे साफ तो कर दूँ.

तभी ये सुनते ही मस्तराम के पसीने छूट गये और फिर रूपमती लिविंग रूम मे आ गई और क्या क़यामत लग रही थी वो गोरे बदन पर काली साड़ी और काला ब्लाउज साड़ी भी सेक्सी ब्लाउज इतना लो कट की उसके क्लीन बूब्स किसी अंधे को भी दिख जाए और फिर वही हाल उसकी पीठ का भी था. साड़ी रूपमती ने इतनी नीचे पहनी थी कि अगर एक सेमी. भी वो नीचे हो जाए तो उसकी भोसड़ी के बाल बाहर आ जाए, इस नज़ारे को देखकर मस्तराम का लंड फिर से खड़ा हो गया. तभी उसकी आँखे फटी की फटी और मुहं खुला ही रह गया. मस्तराम की कामुक माँ बोली की में कैसी लग रही हूँ बेटा…?

मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की अच्छी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की अच्छी या बहुत अच्छी? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की माँ बहुत अच्छी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की बहुत अच्छी या माल? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की आप ये क्या कह रही हो माँ? में तुम्हारा बेटा हूँ. मस्तराम की कामुक माँ बोली की अच्छा तो इस बेटे को अपनी नंगी माँ को देखकर मुठ मारने मे तो शर्म नहीं आती, बता तुझे थोड़ी भी शर्म आई थी क्या? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की सॉरी माँ आई एम रियली सॉरी.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की अरे सॉरी क्यों तू तो मेरा बेटा है, तू मुझे नंगा नहीं देखेगा तो और कौन देखेगा? तभी ये कहकर रूपमती ने अपने बेटे के होंठो पर अपने लाल लाल होंठ रख दिये और फिर वो एक दूसरे को चूमने लगे, तभी मस्तराम का हाथ अपनी कामुकता से भरी बदचलन माँ के दूध से भरे मोटे मोटे बूब्स को जोर जोर से दबाने लगा और तभी रूपमती ने अपने बेटे को उसके दूध से भरे मोटे मोटे बूब्स दबाने से रोक दिया और बोली की बेटे ऐसा नहीं करते… मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की प्लीज़ माँ, प्लीज़ करने दो.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की बचपन में तू मेरे बूब्स के साथ बहुत खेला है मगर आज नहीं, आज हमें शादी की शॉपिंग के लिए मार्केट जाना है. माँ का दूध पीने के लिए पूरी रात पड़ी है, वैसे भी तुम्हारे डेडी आज घर नहीं आने वाले और तुम्हारी बहन तो हॉस्टल मे ही पढ़ाई के लिये रुकने वाली है, तू रात भर मज़े कर लेना ठीक है. अब मस्तराम खुश हो गया और उसे फिर से चूमने लगा और फिर वो शॉपिंग के लिए निकल पड़े थे. फिर करीब एक घंटे बाद मौल मे, दोपहर 1:30 बजे. मस्तराम की कामुक माँ बोली की आज तो मौल मे बिल्कुल ही भीड़ नहीं, क्या बात है? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की शायद ऑफ सीज़न की वजह से.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की चलो पहले हम तुम्हारे कपड़े खरीदे. फिर माँ बेटे एक मेन्स वियर शॉप मे मस्तराम के लिए कपड़े देखने लगे और वहाँ के शॉप कीपर्स रूपमती के जिस्म को अपनी आँखों से ही चोदने लगे. अब रूपमती ये सब नोटीस कर रही थी और फिर उसने भी मज़े लेने का इरादा बना लिया. मस्तराम की कामुक माँ शरमाते हुए डबल मीनिंग में बोली की भैया ज़रा पेंट तो निकालना. सेल्स बॉय के चेहरे पर हवस उतर आई और वो बोला क्या बोला मैंडम पेंट उतारू…? मस्तराम की कामुक माँ बोली की वो जो ब्लू पेंट है ना लटकी हुई, ज़रा उसे निकालना वो. सेल्स बॉय बोला की ओह, आई एम सॉरी अभी निकालता हूँ. मस्तराम की कामुक माँ बोली की अरे आप तो नर्वस हो गये, मैने आपको आपकी पेंट निकालने के लिए तो नहीं कहा था.

फिर कुछ ऐसी ही मस्ती मज़ाक करके वो अगली शॉप मे चले गये, अब करीब 40 मिनट मे मस्तराम ने अपने कपड़े खरीद लिये. फिर रूपमती शॉपिंग के लिए साड़ीयों की एक दुकान मे जाने लगी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की बेटा तुम वहाँ पर बोर हो जाओगे, क्यों ना तुम एक फिल्म देख आओ या कुछ खाने पीने चले जाओ? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की ठीक है माँ, आप आपकी शोपिंग पूरी होने के बाद मुझे कॉल कर देना ठीक है. मस्तराम की कामुक माँ बोली की चल अब जा ठीक है, में सब कर दूंगी और फिर रूपमती एक साड़ी की दुकान मे चली गयी और वहाँ पर पांच सेल्स बॉय और 7, 8 फीमेल ग्राहक थे.

तभी कामुकता से भरी हाउसवाइफ रूपमती को अटेंड करने के लिये एक सेल्स बॉय आया और बोला की नमस्ते मेडम मेरा नाम संजय है, बताइए में आपकी क्या मदद कर सकता हूँ??? मस्तराम की कामुक माँ बोली की जी मुझे शादी के लिए कुछ साड़ीयां ख़रीदनी है, क्या आप मुझे साड़ी दिखाएँगे. सेल्स बॉय संजय बोला की जी मेडम क्यों नहीं, आइये मेडम आप इधर. फिर संजय ने रूपमती को 10 से 15 साड़ीयां दिखाई उसमे से रूपमती ने सिर्फ तीन साड़ी अलग करके रखी थी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की क्या में इन्हे ट्राई कर सकती हूँ. सेल्स बॉय संजय बोला की जी हाँ मेडम पास मे एक ट्रायल रूम है आप वहाँ पर जा सकती है.

तभी कामुकता से भरी हाउसवाइफ रूपमती ट्रायल रूम मे चली गयी, फिर संजय अपने दूसरे सेल्स बॉय दोस्त की तरफ बढ़ा और बोला,सेल्स बॉय संजय बोला की अबे वो क्या माल है यार. सेल्स बॉय राजू बोला हाँ यार, क्या लग रही है उस साड़ी मे. सेल्स बॉय संजय बोला की अबे उसने साड़ी इतनी नीचे पहनी है कि उस के झांट के बाल बिलकुल साफ साफ दिखाई दे रहे है. सेल्स बॉय राजू बोला अबे पीछे से उसकी गांड भी नज़र आ रही है, मैने तो मेरे मोबाइल फोने में उसकी अश्लील विडियो भी बना ली है.

सेल्स बॉय संजय बोला यार मेरे लंड में तो बहुत ही ज्यादा हलचल हो रही है सेक्स करने के लिए बोल क्या बोलता है? जोर जबरदस्ती बलात्कार कर डालते हैं इस कामुकता से भरी बदचलन औरत का, आज इसके साथ अवैध सेक्स संबंध बनाने में बड़े मजे आयंगे. सेल्स बॉय संजय बोला की लेकिन क्या वो बदचलन औरत मान जाएगी हमारे साथ अवैध सेक्स संबंध बनाने के लिए? सेल्स बॉय राजू बोला अबे ये साली रंडी अपना खुदका जोर जबरदस्ती बलात्कार करवाने के लिए क्यों नहीं मानेगी, ऐसे सेक्सी कपड़े सिर्फ़ साली बदचलन रंडी किस्म कीओरतें ही पहनती है. सेल्स बॉय संजय बोला की ठीक है, चल आज इस बदचलन औरत का जोर जबरदस्ती बलात्कार कर डालते हैं.

फिर कामुकता से भरी बदचलन हाउसवाइफ रूपमती ने अपने लिए तीन साड़ीयां पसंद कर ली और बिल बनाने संजय के साथ निकल पड़ी. सेल्स बॉय संजय बोला की मेडम हमारी शॉप मे एक नया ब्रा पेंटी का सेक्षन भी खुला है, आप इन साड़ीयों के लिए मेचिंग की स्टाइलिश ब्रा और पेंटी भी खरीदना पसंद करेंगी. तभी रूपमती को थोड़ा उनके गंदे इरादों पर शक़ हुआ, लेकिन आज तो वो शादी शुदा रांड खुद भी अपना रेप करवाने के मूड मे थी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की जी ठीक है चलिए. फिर संजय रूपमती को एक कमरे मे ले गया जहाँ पर बहुत सारे ब्रा पेंटी के सेक्षन्स थे. मस्तराम की कामुक माँ बोली की ग्रीन साड़ी के लिए मॅचिंग की ब्रा और पेंटी भी दिखाइए प्लीज. सेल्स बॉय संजय बोला की ये लिजिए मेडम.

मस्तराम की कामुकता से भरी माँ बोली की लेकिन में इसे ट्राई कहाँ पर करूं? सेल्स बॉय राजू बोला सॉरी मेडम यहाँ दूकान में ट्रायल रूम नहीं है. मस्तराम की कामुक माँ बोली की ओह तो फिर मुझे ये पता कैसे चलेगा की ये सही साइज़ है या नहीं. सेल्स बॉय संजय बोला की कोई बात नहीं मेडम आप यहीं पर ट्राई कर लीजिए. मस्तराम की कामुक माँ बोली की लेकिन तुम दोनो के सामने? सेल्स बॉय राजू बोला अरे मेडम परेशान ना होइए, ये तो हमारा रोज का काम है. मस्तराम की कामुक माँ बोली की ठीक है. तभी ये कहकर रूपमती ने अपनी साड़ी का पल्लू गिराया था, फिर उसके लो कट ब्लाउज से उसके आधे नंगे कंधों ने हवस से भरे संजय और राजू की नज़रो को चमका दिया था और उनके मुहं मे पानी आ गया था और अब वो उस महिला के साथ जोर जबरदस्ती बलात्कार करने के लिए पुरे जोश में थे.

उस सेक्सी हाउसवाइफ को पता था की वो दोनों हवस के पुजारी उसका जोर जबरदस्ती बलात्कार करना चाहते हैं मगर ये बात जानते हुए भी रूपमती ने संजय की आँखो मे आँखे डालकर अपनी ब्लाउज का एक हुक खोला और फिर राजू की आँख मे आंखे डालकर दूसरा हुक खोला. फिर हवस से भरे संजय और राजू को एक मादक अंगड़ाई देकर उसने अपना ब्लाउज उतार कर संजय को पड़ने के लिए दिया. फिर वो ब्रा उतारने के लिए पीछे का हुक खोलने लगी. अब हवस से भरे संजय और राजू के टाईट लंड उनकी पेंट मे ही तंबू बना चुके थे और कामुकता से भरी बदचलन रूपमती वो देखकर मन ही मन मुस्कुरा रही थी. तभी रूपमती ने हुक खोल दिया था और अपनी ब्रा को नीचे कर दिया था.

फिर हवस से भरे संजय और राजू उस कामुकता से भरी बदचलन महिला के आधे नंगे जिस्म को देखकर तिलमिला रहे थे. लेकिन अब रूपमती कहाँ रुकने वाली थी. अब वो आगे बढ़ी और संजय से कहा कि…. मस्तराम की कामुक माँ बोली की प्लीज मेरी साड़ी उतारने मे मेरी मदत करो. सेल्स बॉय संजय बोला की क्यों नहीं. मस्तराम की कामुक माँ बोली की अब ये लो मेरा पल्लू और खींचो. संजय रूपमती की साड़ी खींच रहा था और रूपमती गोल गोल घूमते हुए साड़ी उतार रही थी. अब वहाँ पर रूपमती का चीरहरण उसकी मर्ज़ी से हो रहा था और आज इस द्रौपदी को नंगा होने से कोई रोकने वाला नहीं था.

कामुकता से भरी बदचलन रूपमती की साड़ी उतरते ही उसने अपने पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और फिर उसका पेटीकोट एक झटके मे नीचे जमीन पर गीर गया था. अब उसकी गोरी गोरी मसल जांघे, फिर दोनो मर्दो के लंड को उत्तेजित करने लगी. तभी रूपमती पीछे पलट कर पेंटी उतारने लगी, अब रूपमती ने पेंटी उतारते वक़्त अपनी गांड का नज़ारा दोनो को दिखाया और फिर हवस से भरे संजय और राजू की तरफ बढ़ी और बोली, मस्तराम की कामुक माँ बोली की तो अब, ब्रा पेंटी ट्राई करे यह उसे आगे बोलने से पहले ही संजय ने उसके होठो को चूसना शुरू कर दिया, फिर राजू पीछे से उसकी गांड को चाटने लगा और उसकी भोसड़ी मे उंगली करने लगा. लेकिन रूपमती पहले से ही गीली हो चुकी थी.

जोर जबरदस्ती बलात्कार करने के दौरान संजय उस कामुकता से भरी बदचलन हाउसवाइफ के बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और फिर उन्हे चूसने लगा. मस्तराम की कामुक माँ बोली की आहह चूस मेरे राजा चूस ले और जोर से. सेल्स बॉय राजू बोला साली साली बदचलन रंडी, आज तो हम तुझे मसल कर रख देंगे.  तभी हवस से भरे संजय और राजू ने अपना टाईट लंड पेंट से बाहर निकाला और रूपमती अपने घुटनो पर बैठे हुए उनको एक एक करके चूसने लगी. फिर करीब पांच मिनट तक चूसने के बाद दोनो के लंड झड़ गये. तभी संजय ने रूपमती को टेबल पर लिटा दिया और उसकी भोसड़ी चाटने लगा, रूपमती कामुकता से चहकने लगी. अब संजय की जीभ जब भी उसकी भोसड़ी के दाने से टकराती रूपमती के मुहं से तड़पती हुई आवाज़ आने लगती थी.

तभी राजू ने उन आवाजो को अपने लंड से बंद कर दिया, अब रूपमती राजू का सोया हुआ लंड जगाने के लिए उसे ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी थी और नीचे संजय उसकी भोसड़ी को चाट चाट कर गज़क की तरह नरम करने लगा और फिर करीब दस मिनट तक राजू का लंड चूसने के बाद, राजू का लंड भी खड़ा हो गया था. मस्तराम की कामुक माँ बोली की चलो, अब अपना लंड मेरी भोसड़ी मे जल्दी से घुसा दो. प्लीज़ अब सब्र नहीं होता, चोद दे मुझे हरामी, चोद मुज़े जल्दी. सेल्स बॉय राजू बोला हरामी किसे बोल रही है साली बदचलन रंडी रुक साली छिनाल अब तेरी भोसड़ी का भोसड़ा ही बना देता हूँ. तभी राजू ने रूपमती का एक पैर अपने कंधे पर रखा और अपना लंड एक ही झटके मे पूरा का पूरा उसकी भोसड़ी मे घुसेड़ दिया.

तभी कामुकता से भरी बदचलन रूपमती के मुहं से एक जोरदार चीख निकली, मस्तराम की कामुक माँ बोली की हे भगवान, तू कितना हरामी निकाल अपना लंड मेरी भोसड़ी से मुझे भोसड़ी के बल दर्द हो रहा है निकाल अपना काला लंड कुत्ते. सेल्स बॉय संजय बोला की चुप कर साली कुतीया छिनाल कहीं की ये ले, संजय ने अपना लंड रूपमती के मुहं मे डालकर उसकी आवाज़ बंद कर दी थी. फिर थोड़ी देर बाद रूपमती का दर्द कम हुआ और फिर वो चुदाई का मज़ा लेने लगी थी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की आहआहहह बस चोद मुझे, चोद मुझे जोर से, और जोर से आज तू अपना पूरा जोर लगा कर चोद मुझे, ऊओह ऊओह औरजोर से और जोर से फास्टर फास्टर ऊओ ऑश! उउउंम्म.

तभी राजू ने अपनी चोदा चादी करने की रफ्तार बड़ाई और फिर उसे ज़ोर जोर से उस कामुकता से भरी बदचलन हाउसवाइफ की चुदाई करने लगा. मस्तराम की कामुक माँ बोली की जोर से और जोर से आहह अब में झड़ने वाली हूँ. आअहह तभी रूपमती की भोसड़ी से पानी निकलने लगा और फिर ऐसा लग रहा था कि वो कामुकता से भरी बदचलन औरत पेशाब कर रही है. लेकिन अब रूपमती झड़ने की वजह से मछली की तरह तड़पने लगी थी. सेल्स बॉय संजय बोला की तू हट ला अब में चोदता हूँ, इससे. संजय अब राजू की जगह आ गया था और फिर उसने रूपमती की भोसड़ी मे अपना मोटा लंड घुसेड दिया और तभी रूपमती सिसकियां भरने लगी थी.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की कम ओंन संजय, चोदो मुझे, जोर से चोदो मुझे, अब मुझे चोद कर तुम साली बदचलन रंडी बना दो और जोर से संजय और ज़ोर से. सेल्स बॉय संजय बोला की उउउम्म्फफ्, उउम्म्म्फफ्फ़, ये ले साली बदचलन रंडी ये ले और ले बहुत चाहिए तुझे लंड ले आज तू लंड खा. मस्तराम की कामुक माँ बोली की साले भड़वे जोर से चोद ना तूने कभी किसी को चोदा नहीं क्या? और जोर से चोद फाड़ दे आज मेरी भोसड़ी. तभी संजय ने अपनी स्पीड एकदम तेज कर दी और फिर कुछ देर के बाद रूपमती एक बार फिर झड़ गयी थी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की संजय तुम ज़मीन पर सो जाओ.

सेल्स बॉय संजय बोला की क्यों मैडम जी… ? मस्तराम की बदचलन माँ बोली की साली बदचलन रंडी की औलाद मैने तुझे जितना बोला है, तू सिर्फ उतना ही कर. तभी संजय नीचे फिर्श पर सो गया, तभी उसका टाईट लंड छत की तरफ खड़ा हुआ था और फिर रूपमती संजय के लंड पर बैठ गई और ऊपर नीचे करने लगी. अब संजय को बहुत मज़ा आने लगा, रूपमती नीचे झुककर उसे किस करने लगी थी और संजय अपनी गांड उठाकर उसकी भोसड़ी मारने लगा और तभी रूपमती को कुछ महसूस हुआ, अब उसे एहसास हो गया था कि राजू अब उसकी गांड मारना चाहता है.

लेकिन कुछ कहने से पहले राजू ने एक जोरदार झटका लगाया और अपने लंड का मुहं उसकी गांड मे डाल दिया. तभी रूपमती फिर से जोर जोर से चिल्लाने लगी थी. मस्तराम की कामुक माँ बोली की भड़वे जा अपनी माँ की गांड मार मेरी क्यों मार रहा है, हे भगवान साले भड़वे. तभी रूपमती की आँखो से आंसू आने लगे लेकिन राजू ने उस पर कोई रहम नहीं किया और फिर वो जोर लगा कर गांड मारने लगा था. अब रूपमती एक साली बदचलन रंडी की पोज़िशन मे भोसड़ी भी चुदवा रही थी और गांड भी मरवा रही थी, अब कॉलेज के दिनो के बाद ये पहला वक़्त था जब रूपमती दो लंड एक साथ लेकर चुदवा रही थी लेकिन इस बार थ्रीसम सेक्स के दौरान संजय भोसड़ी मे उसकी चुदाई कर रहा था और राजू उसकी गांड मार रहा था.

अब रूपमती दर्द से तड़प रही थी, रोते रोते चुदाई का मज़ा आ रहा था. वो आज पहली बार ये मजा ले रही थी. तभी थोड़ी देर बाद राजू संजय की जगह चला गया और रूपमती को अपने काले लंड पर बिठा दिया था और संजय उसकी गांड मारने लगा. तभी करीब 25 मिनट तक वो दोनो भोसड़ी और गांड को चोद रहे थे. 25 मिनट तक गांड मरवा कर अब रूपमती की गांड ढीली हो चुकी थी और वो भी मज़े लेने लगी थी और फिर उन दोनों का साथ देने लगी. मस्तराम की कामुक माँ चुदते चुदते बोली की और जोर से चुदाई करो यार मेरी मुझे ऐसे चोदो जैसे तुम किसी 16 साल की वर्जिन लड़की का बलात्कार कर रहे हो…

अब 10 मिनट बाद राजू रूपमती की भोसड़ी मे झड़ गया और संजय रूपमती की गांड मे, अब तीनो चुदाई करके 10 मिनट तक नंगे एक दूसरे के ऊपर ही लेटे रहे. सेल्स बॉय संजय बोला की वाहह, मज़ा आ गया आज. सेल्स बॉय राजू बोला क्या औरत है तू साली तुझे तो साली बदचलन रंडी होना चाहिए था. मस्तराम की कामुक माँ बोली की हाहाहा… चलो अब कपड़े पहन लो और चलो बाहर, अब तीनो कपड़े पहनने लगे थे. मस्तराम की कामुक माँ बोली की संजय, तुम्हारी शॉप मे क्या सभी औरतो को ऐसे ही सर्विस मिलती है? सेल्स बॉय संजय बोला की जी सबके साथ जोर जबरदस्ती बलात्कार नहीं करते सिर्फ़ खास कस्टमर्स के साथ ही जोर जबरदस्ती बलात्कार करते हैं हम.

जोर जबरदस्ती अपना बलात्कार करवाने के बाद मस्तराम की कामुक माँ राजू की तरफ उंगली करते हुए नाम क्या है तेरा? सेल्स बॉय बोला जी रा राजू. मस्तराम की कामुक माँ बोली की राजू तू अपनी माँ का क्या ऐसे ही जोर जबरदस्ती बलात्कार है क्या कभी किसी को चोदा भी है या नहीं अबे साले हरामी पहले जाकर अपनी माँ बहन का बलात्कार करके आ साले हरामी भड़वे. सेल्स बॉय राजू बोला सॉरी मेडम तुम हो ऐसी माल की कंट्रोल नहीं हुआ अगली बार ऐसा नहीं होगा. मस्तराम की कामुक माँ बोली की क्या मतलब अगली बार?सेल्स बॉय संजय बोला की अगली बार साड़ी खरीदने जरुर आइये आप, हमे भी खिदमत का दूसरा मौका मिलेगा.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की भड़वे तेरा मन नहीं भरा और इन मेचिंग ब्रा पेंटी का क्या? सेल्स बॉय संजय बोला की सब फ्री. मस्तराम की कामुक माँ बोली की थेंक यू चलो अब चलते है. अब करीब दो घंटे खतरनाक थ्रीसम सेक्स के बाद रूपमती फ्री में ही अपनी साड़ीयां ब्लाउज पेटीकोट और ब्रा सब लेकर दूकान से के बाहर आ गई और अब उसने मस्तराम को कॉल करके पार्किंग मे बुलाया और दोनों कार के अन्दर बेठ गये. फिर मस्तराम बोला … मस्तराम अपनी माँ से बोला की माँ तुम्हारे बालो को क्या हुआ? मस्तराम की कामुक माँ बोली की क्या हुआ? मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की सब बिखरे हुए है, ऐसा लग रहा है कि तुम्हारा किसी ने तुम्हारे साथ जोर जबरदस्ती बलात्कार कर दिया है.

मस्तराम की कामुक माँ बोली की नहीं बेटा मेरे साथ किसी ने जोर जबरदस्ती बलात्कार नहीं करा. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की तो फिर? मस्तराम की कामुक माँ बोली की बस फ्री में शॉपिंग के चक्कर में थोड़ी इज्जत लुटा ली और देखो सभी सामान फ्री में लेकर आ गयी. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की किससे चुद कर आई है आज साली रंडी तू…? मस्तराम की कामुक माँ बोली की बस दो सेल्स बॉय थे शॉप में उन्ही ने मेरा जोर जबरदस्ती बलात्कार कर दिया और मुझे नंगी करके मेरे साथ थ्रीसम सेक्स करा है.

जोर जबरदस्ती बलात्कार के दौरान थ्रीसम सेक्स की बात सुनते ही मस्तराम अपनी माँ पर वहीँ कार में टूट पड़ा मस्तराम ने एक मिनट के अंदर रूपमती की साड़ी पेटीकोट और ब्लाउज सब उतार दिया और अपनी माँ का बलात्कार करने लगा. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की माँ, तुम्हारी ब्रा पेंटी कहाँ है? मस्तराम की कामुक माँ बोली की मै वो तो दुकान पर ही भूल आई हूँ और तभी मस्तराम ने अपनी माँ का बलात्कार करने के लिए उसकी नंगी बुर मे अपना खड़ा लंड पेल दिया और उसे कार में ही अपनी रंडी बनाकर चोदने लगा. मस्तराम की कामुक माँ बोली की मस्तराम बेटा घर चलकर चोदो ना प्लीज़, प्लीज़ इधर मेरा बलात्कार मत कर कोई देख लेगा तो बहुत बदनामी होगी.

मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की नहीं माँ अब सहन नहीं होता, प्लीज़ आप छोड़ दो मुझे. मस्तराम की कामुक माँ बोली की आअहह, अहह चोद बेटा चोद तू तो सच मे बड़ा हो गया रे चोद दे अपनी माँ को आज. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की आहह माँ तुम बहुत गरम हो माँ तुम्हारी भोसड़ी भी गरम है, में ज़्यादा देर तक नहीं रुक सकता हूँ. मस्तराम की कामुक माँ बोली की तू बस चोदता रह बेटा लंबी चुदाई तो घर जाकर करेंगे, आहह ऐसे ही ऐसे ही बेटा ऐसे ही चोद वाह मेरा बेटा अब बड़ा हो गया है. चोद बेटा चोद आअहह. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ की चुदाई करते हुए उससे बोला की माँ मेरा तो हो गयाअब मैं अब आपकी बुर के अंदर ही झड़ने वाला हूँ…

मस्तराम की बदचलन माँ बोली की अंदर ही झड़ बेटा डाल दे अपना वीर्य मेरी भोसड़ी मे आअहह. मस्तराम अपनी कामुकता से भरी माँ से बोला की आहह माँ आहहाहह. मस्तराम की कामुक माँ बोली की वाउ, मेरे बेटे के लंड मे तो बहुत दम है और पानी भी बहुत है काश ये बात मुझे पहले पता होती तो आज तक तो ना जाने कितनी बार मैं तुम्हारे साथ अवैध सेक्स संबंध बना चुकी होती. तभी मस्तराम के लंड का वीर्य अपनी बदचलन माँ की भोसड़ी से निकलकर उस नंगी महिला की मोटी मोटी जाँघो पर सरकने लगा और फिर बदचलन रूपमती ने उसे अपने हाथ मे लिया था और उस हाथ पर लगे वीर्य को किसी रंडी की तरह चाटने लगी.

मस्तराम की नंगी माँ अपने बेटे का वीर्य पीने के बाद उससे बोली की उउंम्म! तेरे लंड का पानी तो बहुत टेस्टी भी है बेटा, चल घर चल आज तेरे इस लंड का सारा टेस्टी पानी पी जाउंगी और फिर दोनो माँ बेटे अपने घर पर चले गये. मस्तराम ने उस रात अपनी माँ कामसूत्र की हर सेक्स पोज़िशन मे चोदा था वो रात मस्तराम की सबसे यादगार और मजेदार रात रही और उसकी माँ अपने कॉलेज के दिनो के बाद पहली बार इतना मजे से चुदी थी…

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular