70 साल के वृद्ध ससुर ने अपनी जवान और सेक्सी बहू की चुदाई करी और उस बेचारी को चोदकर शारीरिक संतुष्टि प्रदान करी अन्तर्वासना की हॉट हिंदी XXX सेक्स कहानियाँ फ्री में पढ़ें : मैं बहुत ही ज्यादा सेक्सी और खूबसूरत शादी शुदा लड़की हूं और मेरी शादी भी अच्छे खासे पैसे वाले घर में हुई है किन्तु मुझे शादी के बाद मेरे पति से शारीरिक संतुष्टि नहीं मिल पायी थी जो हर नयी नवेली दुल्हन को अपने दुल्हे से सुहागरात पर चुदवाकर प्राप्त होता है. मैं अपने पति को रिझाने के लिए वह सारी हरकतें करती थी जिससे उसका लौड़ा खड़ा हो जाए और उसका दिल मेरी चूत मारने का और गांड में लंड पेलकर मेरी गांड मारने का करे मगर उस साली नामर्द के लंड में किसी भी प्रकार की हलचल नहीं होती थी.

मैं पति को लुभाने के लिए मेरे सुन्दर और सेक्सी जिस्म पर सेक्सी सेक्सी ब्लाउज के साथ साड़ियां पहनती थी और तो और रात को सोते समय अपने जवान और खूबसूरत जिस्म पर सेक्सी नाइटी पहनती थी लेकिन उस नपुंसक का लंड खड़ा ही नहीं होता था. मैंने बहुत प्रयास करे मगर मुझ शादी शुदा जवान लड़की को अपने पति से शारीरिक संतुष्टि नहीं मिल पा रही थी और अंत में मैं सारी उम्मीद हार चुकी थी और अब चूत में ऊँगली कर करके अपने चुदवाने के प्यासे जिस्म की गर्मी शांत करने लगी थी. मैं दिन में कम से कम तिन चार बार अपनी योनी में ऊँगली करा करती थी और हस्तमैथुन करके शारीरिक संतुष्टि प्राप्त करने लगी थी.

वृद्ध ससुर ने जवान बहू को चोदकर शारीरिक संतुष्टि प्रदान करी अन्तर्वासना हॉट हिंदी सेक्स कहानियाँ

वृद्ध-ससुर-ने-जवान-बहू-को-चोदकर-शारीरिक-संतुष्टि-प्रदान-करी-अन्तर्वासना-हिंदी-सेक्स-कहानियाँ

मैं अपने पति को गुस्से के मारे अपने कमरे में मेरे पास नहीं सोने देती थी इस वजह से वह सोफे पर जाकर सोता था. मैं अकेले कमरे में अपनी टांगे फैलाकर मेरी प्यासी योनी में उंगली करती थी और कभी कभी केले और खीरे से हस्तमैथुन करके अपनी चुदास शांत करा करती थी. दोस्तों फल और सब्जी के द्वारा हस्तमैथुन करने से किसी सच्ची के लंड जितना संतुष्टि तो नहीं मिलती थी लेकिन मुझ शादी शुदा लड़की की प्यासी चूत को थोड़ी बहुत राहत जरूर मिल जाया करती थी. एक दिन की बात है मैं मेरे बेडरूम में बैठकर मेरी चूत में उंगली कर ही रही थी कि तभी अचानक से मेरे ससुर जी मेरे बेडरूम में आ गए और उन्होंने मुझे हस्तमैथुन करते हुए पकड़ लिया. लेकिन ठरकी बुड्ढे ने अपनी नजरें नहीं फेरी और वह मुझे आंखों से ही चोदने लग गए.

फिर वह धीरे धीरे मेरे पास आया और मुझे भी कुछ समझ में नहीं आ रहा था. ससुर जी मेरे पास आए और बोले – बहु मुझे पता है मेरा बेटा एक नपुंसक है और इस वजह से तुम्हें शारीरिक संतुष्टि नहीं मिल पा रही है! मैंने कहा – ससुर जी आपको कैसे पता चला की आप का बीटा नपुंसक है??? ससुर जी बोले – मेरी उमर हो चुकी है मैंने घाट घाट का पानी पिया है सब पता लग जाता है मुझे बहु !! और फिर 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने अपनी बीच वाली लम्बी मोटी उंगली मेरी टाइट चूत में डाल कर अंदर बाहर करना चालू कर दिया और मेरी चूत में ऊँगली करते करते बोलने लगे बहु रानी मजा आ रहा है ना चूत में ऊँगली करवाने में बेटी मेरा लंड तुम्हारी प्यास बुझा सकता है और तुम्हे माँ भी बना सकता है…

मैंने मेरे मर्दाना ससुर जी से बोला – ससुर जी आपके बस की है इस 70 साल की उम्र में कुछ कर पाओगे??!! मेरे मर्दाना ससुर जी बोले – मेरी प्यासी बहु रानी शेर बूढ़ा जरुर हो गया है लेकिन आज तक शिकार करना नहीं भूला है. और फिर 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने अपनी धोती उप्पर उठाकर अपना मोटा लंड बाहर निकाला. उनका लंड बहुत ही ज्यादा तगड़ा था मेरे पति का लंड तो इसका आधा भी नहीं था. मेरे मर्दाना ससुर जी का सिर्फ लंड ही देखकर मैं इतनी ज्यादा गरम हो गई कि मेरी प्यासी चूत पूरी गीली हो गई. और 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने अपनी मोटी अंगुलियों से मेरी टाइट चूत में खतरनाक तरीके से उंगली अंदर बाहर करते हुए उसे अपनी ऊँगली से ही चोदना चालू कर दिया.

मैंने मेरे 70 साल के मर्दाना ससुर जी कहा – ससुर जी मेरी इस चुदवाने की प्यासी चूत के अंदर सिर्फ अपनी उंगली ही डालोगे या फिर अपने इस मुसल जैसे तगड़े लंड को पेलकर मेरी चुदाई भी करोगे…??? उन्होंने मुस्कुराते हुए बोला की बहु रानी आज तो मैं तेरी चीखें निकाल दूंगा ऐसा खतरनाक चोदुंगा तुझे की तू मुझे जिन्दगी भर याद रखेगी. फिर सासु जी ने मेरी दोनों टांगों को फैलाया और मेरी चूत के छेद में थूक लगाया. मेरी चूत में थूक लगाने के बाद उन्होंने अपना लंड मेरी टाइट चूत में एकदम झटके से घुसा दिया जिस वजह से मुझे बहुत जोर का दर्द हुआ और चुदते चुदते मेरे मुह से चीखें निकलने लगी.

मेरे मर्दाना ससुर जी का लंड लेते ही मुझ चुदवाने की प्यासी शादी शुदा लड़की को चरम सुख की प्राप्ति हो गई. मुझे मेरे 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने कहा – अभी तो मैंने शुरुआत ही कि अब तुम्हारा मूत निकल गया. और फिर 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने अपने मजबूत मेरे से मेरी प्यासी योनी की चुदाई करना चालू कर दिया. वह अपने मजबूत लंड से मेरी प्यासी योनी की खूब पिटाई कर रहे थे और मुझे घचाघच चोद रहे थे. उनका मोटा लंड मेरी लंड लेने की प्यासी चूत में अंदर बाहर हो रहा था और पुरे जोश के साथ मेरी चुदाई कर रहा था.

मेरे पति का बाप मुझ जवान लड़की को किसी रंडी की तरह बड़े मजे से चोदे जा रहा था और मुझे भी उनके लम्बे मोटे लंड से चुदवाने में बड़ा आनंद आ रहा था. फिर 70 साल के वृद्ध ससुर जी ने मुझे घोड़ी बनाया और मेरी प्यासी योनी की चुदाई करनी चालू कर दी. मेरे पति के पिता जी मेरे नंगे कूल्हों पर जोर जोर के थप्पड़ मार मार कर मेरी प्यासी योनी की चुदाई कर रहे थे. सच में मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था मेरे मुंह से लार ही टपक रही थी वासना प्यार के मारे. मेरे मर्दाना ससुर जी का तगड़ा लंड कुछ ही देर में झड़ने वाला था मेरा तो फिलहाल कई बार झड़ चुका था. ससुर जी का जैसे ही डरने वाला था उन्होंने अपने लंड बाहर नहीं निकाला बल्कि अपना सारा माल मिल प्यासी योनी में भर दिया.

मेरी चूत के अंदर मेरे ससुर की का वीर्य लबा लब घर चूका था और बहुत सारा वीर्य मेरी चूत से होते हुए मेरी गांड के छेद तक भी पँहुच चूका था. चुदवाने के बाद मैंने मेरे पति के पिता से बोला की ससुर जी यह क्या किया आपने तो मेरी चूत के अंदर अपना बीज डाल दिया अब मैं आपके बच्चे की माँ बन जाउंगी. मेरे मर्दाना ससुर जी बोले – चिंता की कोई बात नहीं है बहु रानी ये तो मेरे खानदान का ही बीज है अब फसल में उगाऊ या मेरा बीटा उगाए क्या फर्क पड़ता है और दोस्तों मुझे भी इसमें कुछ गलत नहीं लगा जैसे बाप का फर्ज उसका बेटा निभाता है ठीक ठीक उसी प्रकार यदि किसी नामर्द बेटे का फर्ज एक बाप निभाय तो इसमें हर्ज ही क्या है.

उस रात मेरे वृद्ध ससुर ने मुझे चोदकर पूरी तरह से शारीरिक संतुष्टि प्रदान करी थी मैं हमारी उस पहली चुदाई को कभी नहीं भूल सकती. फिर उस रात की खतरनाक चुदाई के बाद से मुझ शादी शुदा जवान लड़की को मेरे पति की जगह ससुर जी चोदकर संतुष्टि देने लग गए वो मेरी गांड भी मारा करते थे घोड़ी बनाकर. दोस्तों वाकई मेरी सासू माँ बड़ी भाग्यशली रही होंगी जो उन्हें मेरे ससुर जैसा पति मिला.

जरा सोचो जो आदमी 70 साल की उम्र में इतनी खतरनाक चुदाई कर सकता है तो वो जवानी में मेरी सासू माँ को कितना बुरी तरह चोदता होगा. मेरे पति के पिता ने मेरी मजबूरी का फायदा उठाकर मेरे साथ गलत काम करा मगर मुझे इसमें असीम सुख की प्राप्ति हुई. मेरा और मेरे ससुर जी का अबैध शारीरिक रिश्ता काफी लंबा चला जब तक की मैं उनके दो बच्चों की माँ नहीं बन गयी. फिर एक दिन दिल का दौरा पड़ने की वजह से उनकी मौत हो गयी और मैं एक बार फिर अकेली हो गयी दोस्तों यदि आप में से कोई मुझे संतुस्ट कर सकता है तो तुरंत मुझसे संपर्क करे…