मैंने मेरी चचेरी बहन पल्लवी को उसके बॉयफ्रेंड से मोबाइल फोने पर गन्दी गन्दी बातें करते रंगे हथों पकड़ा फिर सलवार खोलकर जबरदस्ती चुदाई करी उसकी सील पैक वर्जिन चूत की इंडियन भाई बहन के अवैध सेक्स संबंध की नयी हिंदी XXX असली अन्तर्वासना कामुकता से भरी सेक्स स्टोरी फ्री में ऑनलाइन पढ़ें और पढ़ने के बाद अपने दोस्तों और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ भी शेयर करें और उन्हें भी इस गन्दी सेक्स कहानी का आनंद लेने दें…

आज की यह हिंदी सेक्स कहानी मेरी चचेरी बहन की सील पैक वर्जिन चूत और गांड की जबरदस्ती चुदाई करने की है. दोस्तों मेरे एक चाचा है जिनका नाम है गिरधारी प्रकाश शर्मा और उनकी एक बहुत सुन्दर और सेक्सी बेटी है जिसका नाम पल्लवी है। मैं मेरे चाचा की जवान और सेक्सी बेटी को बचपन से ही मन ही मन बहुत प्यार करता हूँ मगर कभी अपने चाचा की लड़की से अपने प्यार का इजहार करने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। फिर एक दिन मैंने उसे किसी लड़के के साथ फोन पर बातें करते हुए सुन लिया। मैंने उसे उसके बॉयफ्रेंड के साथ मोबाइल फोने पर गन्दी गन्दी बातें करते हुए पकड़ लिया तो फिर उसने मुझे कहा- तुम किसी को कुछ नहीं कहोगे भाई नहीं तो मुझे मेरे घर वाले बहुत बुरा मरेंगे और मेरी पढाई भी छुडवा देंगे।

चचेरी बहन को रंगे हाथों पकड़ा फिर जबरदस्ती चुदाई करी अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी

चचेरी-बहन-को-रंगे-हाथों-पकड़ा-फिर-जबरदस्ती-चुदाई-करी-अन्तर्वासना-हिंदी-सेक्स-स्टोरी

मैंने मेरे चाचा और चाची को उसके बॉयफ्रेंड के बारे में कुछ नहीं कहा और मैं चुपचाप अपने घर आ गया। मेरी चचेरी बहन जिसे मैं बचपन से अपनी गर्लफ्रेंड बनाना कहता था उसका एक बॉयफ्रेंड बन चूका था यह सब देखकर मैं बहुत दुखी हुआ और उस रात मैं बहुत रोया भी और रोते रोते ना जाने कब मुझे नींद आ गई पता ही नहीं चला । जब मैं सुबह सवेरे गहरी नींद से जागा तो मेरी चचेरी बहन पल्लवी मेरे बेडरूम में बैठ कर रो रही थी, उसने कहा कि अगर मैंने किसी को कुछ बताया तो वो घर में किसी को अपना मुह दिखने के काबिल नहीं रहेगी। मैंने मेरी चचेरी बहन से बोला की बहन यदि तू चाहती है की तेरा और तेरे बॉयफ्रेंड का राज राज ही रहे तो तुझे मेरी एक शर्त माननी पड़ेगी जल्दी से बता क्या तू मेरी वो शर्त मानने के लिए तैयार है???

मेरी चचेरी बहन एकदम से चुप हुई और बोली की बता भाई क्या शर्त है…? मैंने मेरी चचेरी बहन को कहा- तू आगे से अपने बॉयफ्रेंड से फोन पर बाते नहीं करेगी। उसने हाँ कर दी। मेरे चाचा का घर हमारे घर के बिल्कुल पास में था। अब मैं रोज उनके घर पर जाता, मैं उससे खूब मजाक करता और मजाक-मजाक में उसे ऐसी जगह छू लेता था जहाँ पर एक भाई का हाथ नहीं लगाना चाहिए। लेकिन मेरी चचेरी बहन ने इस बात का कभी भी विरोध नहीं किया इसलिए मैंने एक दिन उससे हिम्मत करके अपने प्यार का इजहार कर दिया और उससे कहा की मेरी प्यारी बहन मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूँ और मैंने उसको ‘आई लव यू’ बोल डाला।

मेरे चाचा की लड़की मेरे मुँह से ये सब बातें सुनकर चौंक गई और वहाँ से चली गई। बाद में मुझे बहुत पछतावा हुआ कि मैंने यह क्या कह दिया अपनी बहन से। मेरी चचेरी बहन ने मुझसे बातें करनी बिलकुल बंद कर दी। उसने हमारे घर आना भी बहुत कम कर दिया था। पर कुछ दिन बाद सब सामान्य हो गया और मेरी चचेरी बहन ने फिर से मुझसे बात करना शुरू कर दिया। लेकिन उसने कभी उस दिन के बारे में बात नहीं की और मैंने भी सोच लिया कि अब ऐसी गलती नहीं करूँगा। लेकिन मैं जब भी मेरी चचेरी बहन को देखता था तो उसके साथ सेक्स करने के लिए पागल सा हो जाता था और हमेशा उसकी गांड मारने और चूत चोदने के बारे में सोचता रहता था। एक दिन मेरी किस्मत मुझ कुंवारे लड़के पर मेहरबान हो गयी।

हुआ यूं की मैं ऑफिस में काम कर रहा था की तभी मेरे पास घर से फोन आया कि माँ और पापा मामा के घर जा रहे हैं और घर की चाबी चाचा के घर से ले लूँ। मेरे घर की चाबी चाचा के घर पर थी इसलिए मैं ओफिस से शाम को सीधा चाभी लेने वहाँ गया। मैंने देखा मेरी चाचा की कुंवारी बेटी पल्लवी घर पर बिलकुल अकेली थी। मैंने मेरी चचेरी बहन से कहा- पल्लवी, घर की चाबी दे दो। मेरी बहन पल्लवी ने मुझे हमारे घर की चाबी लाकर दी और बोली- चाची कहकर गई है कि तुम्हें रात का खाना यहीं खाना है तो अब यहीं रुक जाओ खाना खाकर ही जाना। मैं मेरे चाचा की वर्जिन बेटी से बोला- नहीं मैं पहले नहाऊँगा, फिर खाना खाऊँगा बिना स्नान करे मुझे रात का खाना नहीं भाता। मेरी जवान और सेक्सी बहन बोली- ठीक है भाई, मैं तेरे घर खाना लेकर आती हूँ।

मैंने कहा- ठीक है फिर मैं घर के लिए निकल गया और घर पहुचते ही सीधे बाथरूम में नहाने के लिए चला गया नहाने से पहले मैंने एक बार मेरी चचेरी बहन के नाम की मुठ मरी और फिर मैं नहाने लग गया। करीब आधे घंटे बाद जब मैं बाथरूम से नहा कर निकला तो मैंने देखा के मेरी बहन पल्लवी पहले से मेरे बेडरूम में थी और मेरे मोबाइल फोन पर किसी से खूब हंस हंस कर बातें कर रही थी। मुझे शक हुआ और चुपचाप छुप कर उस साली रांड की बातें कान लगाकर सुनने लगा और मेरा शक यकीन में बदल गया मेरी चचेरी बहन अपने बॉयफ्रेंड से गन्दी गन्दी बातें कर रही थी।

उनकी गन्दी गन्दी बातें सुनकर मेरे लौड़े ने तौलिये का तंबू बना दिया और मैं बिना सोचे समझे सीधा उसके सामने जा पहुँचा। मैंने मेरे नंगे शरीर पर सिर्फ़ तौलिया बाँध रखा था और नीचे कुछ नहीं पहन रखा था। इससे पहले कि मेरे चाचा की वर्जिन बेटी मुझसे कुछ कहती, मैंने उसकी हाथों से मेरा मोबाइल फोन लिया और ऑफ कर दिया और अपनी वर्जिन बहन के सामने ही अपने तौलिये को उतार दिया। अब मैं बिना कपड़ों के मेरे चाचा की वर्जिन बेटी के सामने बिलकुल नंगा खड़ा था। वो कुछ बोल नहीं पा रही थी। मैं बोला- जानेमन, मैं आज रुकने वाला नहीं हूँ, मुझे तुम्हारी इस सील पैक वर्जिन चूत और गांड की चुदाई करने दो।

मेरी चचेरी बहन बोली की भाई तुम गलत कर रहे हो भाई बहन के पवित्र रिश्ते में अवैध सेक्स संबंध पाप है। मैंने फिर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए। मेरे चाचा की कुंवारी बेटी चुदाई के दौरान चीखना चाहती थी पर मैंने उसका मुँह अपने मुँह से बंद कर दिया। मैं उसके मोटे मोटे मम्मों को अपने हाथों से सहलाने लगा। वो मना करती रही की भाई भगवन के लिए मेरा बलात्कार मत करो मगर मैं उसके जवान और सेक्सी जिस्म के साथ काम क्रीड़ा करता रहा। मुझे आज बहुत ख़ुशी हो रही थी कि जिस लड़की को मैं बचपन से ही इतना पसंद करता हूँ आज वो मेरी बाँहों में है और मैं उसके साथ जोर जबरदस्ती चुदाई करने वाला हूँ।

वो डरी सहमी लड़की दबी जुबान से कहने लगी- प्लीज मुझे छोड़ दो भाई मेरे साथ बलात्कार मत करो मेरी इज्जत मत लूटो। मैंने मेरे चाचा की वर्जिन बेटी से बोला की देख बहन तेरी इस वर्जिन चूत और गांड को एक दिन किसी ना किसी मर्द के लंड से चुदना तो है ही, इससे तो अच्छा है कि तू शारीरिक संबंध बनाने में मेरा साथ दे और खुद भी चुदाई के मजे ले और मुझे भी चोदने दे। अब वो कुछ बोल नहीं रही थी शायद उसे मेरी चुम्मा चाटी करने से मज़ा आने लगा था और वो भी चुदवाने के लिए गरम होने लग गयी थी। अपने चाचा की वर्जिन बेटी की गांड मरने और चूत की चुदाई करने के लिए मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल कर थोड़ा ढीला कर दिया।

मैंने अपना हाथ मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत पर रखा और अब मैं अपनी उंगली से मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत को हल्की मसाज कर रहा था। इसमें उसको मज़ा आने लगा और अब वो ऊपर से मेरी किस्सिंग में साथ देने लगी थी। उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्बे सहलाने लगा, अब उसका विरोध कुछ धीमा पढ़ रहा था, वो सिसकारियाँ ले रही थी। वो अब मेरा मुँह अपने बूब्बों पर दबा रही थी। कुछ देर बाद वो ज्यादा गर्म हो गई, मैंने उसकी ब्रा उतारकर उसके बदन से अलग कर दी उसके उरोज ज्यादा बड़े नहीं थे पर एकदम गोल और गोरे गुलाबी रंग के थे जिनको देख कर मैं अपने पर काबू नहीं कर पा रहा था। ऐसे मोटे मोटे मम्में मैंने सिर्फ़ गन्दी गन्दी पॉर्न फ़िल्में में ही देखे थे जोश में आकर मैं मेरी बहन के मोटे मोटे बूब्स को जोर जोर से मसलने लगा।

मेरी नंगी चचेरी अब आनन्द भरी सिसकारियाँ ले रही थी। मैंने अपने होंठों से उसके एक मम्मे के चुचूक चुभलाना शुरू किये और दूसरे हाथ से मैं उसके दूसरे मम्मे को दबा रहा था। मुझे बोबे चूसने में बहुत मजा आया। वो भी गर्म होकर मेरा मुँह अपनी चूचियों में दबाने लगी। उसको गर्म होते देख मैंने उसकी पेंटी हटानी चाही लेकिन उसने मना कर दिया और बोली- शादी के बाद मेरा पति क्या सोचेगा? प्लीज मुझे चोदना मत। मैंने उसकी बात मानते हुए कहा- मैंने आज तक पॉर्न मूवीज़ में ही चूत चाटते हुए देखा है, आज मैं खुद उस एहसास को महसूस करना चाहता हूँ, मैं तुझे चोदूँगा नहीं बस तेरी चूत चाटूँगा।

मेरे चाचा की वर्जिन बेटी मेरे साथ अवैध शारीरिक संबंध बनाने के लिए राजी हो गई और फिर मैंने उसकी सलवार और पेंटी उसके सेक्सी जिस्म से अलग कर दी और उसे चोदने के लिए नंगी कर दिया। मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत देखकर मैं होश में नहीं रहा। दोस्तो, जैसा मैंने कहा था कि उसके बोबे गोरे गुलाबी रंग के थे, बिल्कुल वैसे ही मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत भी एकदम गुलाबी रंग की थी। अपना आपा खोकर मैं टूट मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत पर पड़ा और उसकी बुर को चाटने लगा। उसकी बुर पर एक भी बाल नहीं था और एकदम गुलाबी थी, अगर कोई बुड्ढा भी देख ले तो उसका भी खड़ा हो जाये। मैंने अपनी जीभ मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत के अंदर तक डालकर उसे चोदा और उसके दाने को चूसा।

दोस्तो, मैं पहले सोचता था कि लड़कियों की चूत को क्यों चाटा जाता है, पर उस दिन मुझ कुंवारे लड़के को सब समझ में आ गया, मुझे मेरे चाचा की बेटी की वर्जिन चूत का स्वाद थोड़ा नमकीन सा लग रहा था मगर आनंद खूब आ रहा था चूत को अपनी जीभ से चाटने में । मुझे उससे बड़ा सुख मिल रहा था, वो और गर्म हो गई और मेरे मुँह को अपनी चूत में दबाने लगी। मुझे भी उसका ऐसा करने से बहुत मजा आया। आखिरकार पल्लवी से भी रहा नहीं गया और उसने मुझे कहा- मुझे अजीब सा कुछ हो रहा है भाई। और वो मुझे अपने से अलग करने की नाकाम कोशिश करने लगी।

मैं समझ गया था कि वो कुंवारी लड़की अब अपनी सील पैक वर्जिन चूत और गांड मेरे लम्बे और मोटे लंड से चुदवाने के लिए बिल्कुल तैयार है। यह सुन कर मेरा लंड चुदाई करने के लिए फड़फड़ाने लगा और मैं फिर देर न करते हुए अपना लंड उस कुंवारी बहन की सील पैक वर्जिन चूत में घुसाने की नाकाम कोशिश करने लगा पर मेरा लंड उसकी टाइट चूत के हिसाब से काफ़ी लम्बा और मोटा था जिस कारण उसकी वर्जिन चूत में घुस नहीं पा रहा था। पर काफ़ी देर तक चूमाचाटी करने से उस वर्जिन लड़की की सील पैक टाइट चूत से पानी निकल गया था जिससे मेरी चचेरी बहन की टाइट चूत चिकनी हो गई थी.

दोस्तों इस सेक्स की शुरुवात भले ही जोर जबरदस्ती से हुई थी मगर अब मेरी बहन मेरे सामने अपने हतियार डाल चुकी थी और चुदवाने के लिए बिलकुल तैयार थी. मेरा लंड मोटा और लम्बा होने पर भी चिकनाई की वजह से मेरी नंगी बहन की टाइट चूत में घुसता चला गया। चुदते चुदते मेरे चाचा की कुंवारी बेटी दबी आवाज़ में रो रही थी, गर्मी की वजह से उसका सारा नंगा शरीर पसीने में भीग चुका था। चुदाई करते करते मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और लंड पूरा अन्दर सरक गया। मैं थोड़ी देर रुका और जब मैंने देखा अब उसका दर्द कम हो गया है, तो मैंने धक्के मारने शुरू किये। कुछ ही धक्कों के बाद उसको भी अब मजा आने लगा, वो भी नीचे से अपने चूतड़ों को उठा कर मेरा साथ देने लगी। मैंने धक्के लगाना जारी रखा और थोड़ी देर बाद मैं चोदते चोदते उस कुंवारी रांड की बुर के अंदर ही झड़ गया।

उस साली बहन की लौड़ी ने घुस्से में मुझे कहा- यह क्या कर दिया भाई तूने? अब मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बन जाउंगी फिर किसी को क्या मुँह दिखाऊँगी। मैंने मेरी नंगी बहन से बोला की देख पल्लवी मैं जोश जोश में होश खो बैठा था और इसलिए मैं अपने आप को रोक नहीं पाया जिस वजह से मेरा वीर्य तेरी बुर के अंदर निकल गया और तुझे भी तो मजा आया ना मेरी प्यारी बहन मेरे लम्बे और मोटे लंड से अपनी सील पैक वर्जिन चूत की चुदाई करवाने में… मेरी नंगी बहन बोली- मजा तो आया भाई तेरे साथ सेक्स करने में लेकिन यदि मैं तेरे बच्चे की कुँवारी माँ बन गयी तो दुनिया वाले क्या कहेंगे हम भाई बहन के बारे में जरा ये भी तो सोच भाई…

मैंने उसको समझाया- मेरी प्यारी बहन तू बिलकुल चिंता मत कर मैं तुझे कुंवारी माँ नहीं बनने दूंगा अभी तुझे बच्चा नहीं होने वाली गोली लाकर दे दूंगा वो पानी के साथ खा लेना जब दुनिया को हमारे अवैध सेक्स संबंध के बारे में कुछ पता ही नहीं चलेगा तो कोई क्या बोलेगा। दोस्तों मैंने मेरी चचेरी बहन के साथ और जबरदस्ती चुदाई करी थी इस लिए उसके साथ मैं कुछ गलत नहीं होने देने वाला था आखिर थी तो वो मेरी बहन ही ना… फिर मैंने मेरी बहन को बच्चा नहीं होने वाली गोली खिला दी और एक बार फिर उसके साथ सेक्स करा। दोस्तों मैंने मेरी चचेरी बहन की गांड की भी जबरदस्ती चुदाई करी थी और उसकी सील पैक वर्जिन गांड से खून निकाल डाला था खैर वो वाली हिंदी सेक्स स्टोरी कल इसी वेबसाइट पर प्रकाशित करूँगा उसे पढ़ना मत भूलना…