होमAntarvasna Hindi Sex Storiesभाई ने अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर लगाया और जोर...

भाई ने अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर लगाया और जोर से पेल दिया

दोस्तों मेरा नाम सुप्रिया गुप्ता है और मेरी उम्र 30 साल है. मेरे अपने छोटे भाई के साथ अवैध सेक्स संबंध हैं और हम भाई बहन एक दुसरे की कामवासना शांत करते हैं. आज इस हिंदी सेक्स कहानी के माध्यम से मैं आप सभी को बताउंगी की कैसे वैलेंटाइन डे के दिन मेरी टाइट चुत का नमकीन पानी चाटने के बाद बुर की चुदाई करने के लिए मेरे छोटे भाई ने अपना लंबा मोटा लंड मेरी कुंवारी चुत के मुँह पर लगाया था और एक ही झटके में जोर से अंदर पेल दिया था. दोस्तों मुझे पहली बार भाई के लंड से चुदवाने में काफी ज्यादा दर्द हुआ था मगर आनंद भी बहुत आया था. निचे पूरी हिंदी सेक्स स्टोरी विस्तार से पढ़ें और यदि हम भाई बहन की हिंदी सेक्स स्टोरी पसंद आये तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर भी करें…

मैं कुंवारी लड़की वेलेंटाइन डे के दिन मैं घर पर बिलकुल अकेली थी क्योंकि मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझे धोखा दे दिया था और वो मेरे जिस्म के मजे लूटकर अब किसी दूसरी लड़की के साथ लग चूका था. घर में अकेले होने की वजह से मैं निडर होकर मिलन मेरे मोबाइल फोन में ब्लू फिल्म देखते हुए अपनी टाइट चुत को केले से चोद चोदकर अपनी कामवासना को शांत करने में लगी हुई थी. मेरा छोटा भाई अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने गया था और मेरे मम्मी पापा दोनों ही शहर से बाहर गए थे. तो घर में मैं और मेरा छोटा भाई ही था. मेरा भाई रात के करीब नौ बजे वापस आया तो वो मुझे बहुत ही ज्यादा उदास लग रहा था. कारन जब पूछी तो पता चला की उसकी गर्लफ्रेंड किसी और लड़के से प्यार करने लगी और वो बस मेरे भाई के पैसे पर ऐश कर रही थी.

वैलेंटाइन डे के दिन छोटे भाई ने अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर लगाया और जोर से पेल दिया अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी

वैलेंटाइन डे के दिन छोटे भाई ने अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर लगाया और जोर से अंदर पेल दिया

प्यार में मिले धोखे की बझा से मेरा छोटा भाई टूट गया था और काफी ज्यादा गम में डूबा हुआ था. मुझे लगा की अपने छोटे भाई को सहारा देना चाहिए और इस दुःख से निकालना चाहिये. इसलिए मै अपने भाई को प्यार और दुलार करने लगी और उसे अपने सीने से लगाने के लिए दोनों हाथ फैला दिए. वो भी मेरे से लिपट गया और जोर जोर से रोने लगा. भाई ने कहा दीदी मैंने मेरी गर्लफ्रेंड को खुश रखने के लिए क्या क्या नहीं किया मगर वो तो साली रंडी निकली उसे जैसे ही मुझसे ज्यादा पैसा वाला मेरा दोस्त दिखा तो उसने मुझे छोड़ कर उसे पकड़ लिया. उस साली ने मुझसे वादा करा था की वैलेंटाइन डे के दिन वो OYO होटल में मुझे उसकी सील पैक वर्जिन चुत की चुदाई करने देगी मगर उसने तो किसी और को अपनी अस्मत सौंप दी.

फिर मुझे मेरा भाई बताने लगा की दीदी मैंने तो वैलेंटाइन डे के दिन उसकी चुदाई करने के लिए OYO होटल में कमरा भी बुक किया था पर उसी होटल में वो साली रंडी मेरे दोस्त विक्रांत के साथ सेक्स करने के लिए गयी थी. वो रंडी निकली दीदी वो रंडी निकली, कहकर वो और भी ज्यादा रोने लगा. आज मेरा भाई बहुत बुरी तरह से टूट चूका था क्योंकि आज उसे चोदने के लिए गर्लफ्रेंड की चुत मिलने वाली थी मगर मिला धोखा. मुझे लगा की कही मेरा छोटा भाई कोई गलत कदम ना उठा ले इसलिए मैं मेरे छोटे भाई से बोली की तू चिंता मत कर भाई मैं रिश्ते में तेरी बड़ी बहन हूँ पर तू मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बना ले. क्यों बाहर खुशियां ढूंढता है जब घर में ही सब ख़ुशी मोजूद है.

फिर मैं मेरे भाई को बहलाने लगी की भाई इस दुनिया में सभी लोग बेवफा होते हैं. मैं खुद भी इस प्रकार के धोखे का शिकार हो गयी थी मेरे बॉयफ्रेंड ने भी मेरी कामुक गांड और चुत को यूज किया और मुझे चोद चाद कर छोड़ दिया और अब वो किसी नयी लड़की के साथ सेक्स करता है. अपना दुखड़ा रोते रोते मैंने मेरे छोटे भाई को अपनी छाती से चिपका लिया. अब प्यार में दोखा खाया मेरा भाई मेरी पीठ को बड़े प्यार से सहलाने लगा और अब मैं भी उसकी पीठ को सहलाने लगी. हम भाई बहन दोनों ही कामुक होने लगे मेरी सांसे तेज तेज चलने लगी. उसका लंड खड़ा होने लगा क्यों की उसका लंड मेरी जांघ पर सट रहा था मुझे महसूस हो रहा था की उसका लंड टाइट हो रहा है. उसके बाद क्या बताऊँ दोस्तों उसने अपने होठ मेरे होठों पर रख दिए और मेरे होठों को चूसने लगा.

दोस्तों मैं मेरे भाई को ऐसा करने से रोक नहीं पाई और अब मैं खुद भी मेरे भाई के होठ को चूसने लगी. हम सगे भाई बहन दोनों ही आँखे बंद कर के एक दूसरे के होठ को पागल प्रेमियों की तरह से चूस रहे थे. अब हम सगे भाई बहन दोनों ही कामुक हो गए. मेरा प्यारा छोटा भाई मुझ कुंवारी बहन की मोटी मोटी चूचियों को सहलाते हुए हुए कहा आई लाइव यू दीदी. आप ही वेलेंटाइन हो. और मेरा प्यारा छोटा भाई मुझ कुंवारी बहन की कामुक गांड को सहलाते हुए मेरी गर्दन को चूमने लगा. मैं कामुकता से भरी कुंवारी लड़की अब अपना जवना और सेक्सी जिस्म अपने छोटे भाई को पूरी तरह से सौंप चुकी थी और अब वो मेरी इज्जत लुटने के लिए बिलकुल आजाद था. वो मेरे कपडे उतारने लगा तो मैं बोली बाहर का दरवाजा तो बंद कर लो अच्छे से उसके बाद मुझे चोदने के लिए नंगी कर लेना.

फिर मेरा भाई घर का मेन दरवाजा बंद करने के लिए चला गया और में दरवाजा बंद करने के बाद भाग कर वापस आ गया तब तक मैं कमरे में पहुंच गयी और बेड पर बैठ गयी. वो आते ही मुझे लिटा दिया और मेरी मोटी मोटी चूचियों को मसलने लगा. धीरे धीरे मेरे छोटे भाई ने मेरे सभी कपडे उतार डाले और मुझे बिलकुल नंगी कर दिया. मुझे नंगी करने के बाद अब मेरा भाई खुद भी अपने कपडे उतार कर नंगा हो गया. मेरी बड़ी बड़ी चूचियां जो टाइट थी और निप्पल कथई रंग का वो देख कर पागल हो गया. वो मेरे गोरे बदन को ऊपर से निचे तक चाटने लगा और मोटी मोटी चूचियों को पीने लगा. वो दांत से जब वो मेरे मोटे मोटे स्तनों के निप्पल को काटता मैं पागल हो जाती.

मेरे मुँह से सिर्फ आह आहे आह आह आह निकल रहा था. अब वो निचे चला गया और मेरी दोनों टांगो को अलग अलग करने के बाद मेरी चुत चाटने लगा. मैं अपनी टाइट चुत चटवाते चटवाते पागल सी हो गयी थी आज पहली बार कोई मेरी चुत चाट रहा था इस लिए मुझे काफी ज्यादा आनंद आ रहा था. अब मेरी बुर के अंदर से पानी भी निकलने लगा था. मेरा छोटा भाई अब मेरी चुदने की भूखी चुत से रीस रहे पानी को चाट रहा था और कह रहा था दीदी तुम्हारी बुर का पानी तो बहुत ही ज्यादा नमकीन है ऐसा लग रहा है जैसे मानो तुम्हारी चुत के अंदर से सोडा निकल रहा हो. मेरा छोटा भाई बिना रुके लगातार मेरी टाइट चुत के पानी को चाटे जा रहा था और मैं कुंवारी लड़की कामवासना में लिप्त अपनी दोनों आँखे बन करके आआआह आआआह कर रही थी. दांतो को पीस रही थी और अपने लाल लाल होठों को खुद से ही काट रही थी.

अब क्या था दोस्तों मैं बोली तुम भी अपना लंड मुझे खिलाओ तो वो तुरंत ही ऊपर मेरी छाती पर आकर बैठ गया और अपना मोटा लम्बा लंड मेरे मुँह में पेल दिया. मैं मेरे बहनचोद भाई के लंड को चूसने लगी हाथो से सोटने लगी. वो अअअअअ आआआ अअअअअ आआ ओह्ह्ह्हह करने लगाए मैं चुपचाप मेरे बहनचोद भाई के लंड को अपने कंठ तक ले जाती फिर बाहर करती. मुझसे तो अब जरा भी रहा नहीं जा रहा था मेरी चुदने की भूखी चुत की गर्मी भी अब काफी ज्यादा बढ़ गए थी साँसे मेरी तेज हो गयी थी. अब रुके नहीं रुक पा रही थी मुझे अब लंड चाहिए थे. तो मैं बोली अब देर मत कर मैं तड़प रही थी. वो तुरंत ही निचे मेरी चुत की तरफ गया और चुदाई करने के लिए मेरी दोनों टांगो को अलग अलग किया अब उसे मेरी चुत बिलकुल साफ़ साफ़ दिखाई देने लगी थी.

मेरी टाइट चुत को देखकर मेरे भाई के मुंह में पानी आने लगा था. अब मेरी चुदाई करने के लिए मेरे छोटे भाई ने अपना लंबा मोटा लंड मेरी कुंवारी चुत के मुँह पर लगाया और एक ही झटके में जोर से अंदर पेल दिया था. जैसे ही मेरे नंगे भाई का लंबा मोटा लंड मेरी चुत को चीरता हुआ अंदर गया मुझे बहुत तेज का दर्द हुआ और मैं दर्द के मारे कराह उठी. मैं दर्द से छटपटाने लगी क्योंकि मेरी चुत काफी ज्यादा टाइट थी और मेरे भाई का लंड काफी ज्यादा लंबा और मोटा था. दोस्तों आज से पहले मैं कई बार अपने एक्स बॉयफ्रेंड के साथ भी कई बार होटल में सेक्स करा था और घोड़ी बनकर अपनी गांड भी मरवाई थी मगर उसका लंड छोटा और पतला था इस लिए उसके साथ सेक्स करने में इतने मजे नहीं आये थे जितने मजे भाई के लंड से चुदने मी आ रहे थे.

मैं कुंवारी लड़की अब जन्नत में थी और भाई के लंबे मोटे लंड से चुदने के मजे ले रही थी. मेरा भाई अपनी गांड को जल्दी जल्दी आगे पीछे करके मुझे चोदने लगा और पूरा का पूरा लंड मेरी चुदने की भूखी चुत में अंदर बच्चेदानी तक चोट करने लगा. भाई के लंबे मोटे लंड से चुदवाने में बड़ा मजा आ रहा था और मैं अपनी सेक्सी गांड उठा उठा कर उसके मरदाना लंड से चुदवाने लगी. मेरा प्यारा छोटा भाई मुझ कुंवारी बहन की दोनों मोटी मोटी चूचियों को मसल रहा था कभी होठ चूसता कभी मेरी मुँह में अपना जीभ डालता. मैं उसके अपने ऊपर तैरते देखकर मजे लेने लगी. निचे से मैं धक्का देती ऊपर से वो धक्के देता. फिर करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद हम सगे भाई बहन दोनों ही झड़ गए और निढाल हो गए.

मेरी चुदाई करने के बाद वो एक साइड गिर गया मैं नंगी ही अपने दोनों पैरों को फैला कर आँखे बंद कर के सो गयी. मेरी चुदने की भूखी चुत गीली थी क्योंकी मेरे छोटे भाई का वीर्य भी मेरी चुदने की भूखी चुत में पड़ा था और मेरी चुत ने भी आज काफी ज्यादा रस छोड़ा था. हम सगे भाई बहन दोनों ही चुदाई के नशे में थे तुरंत हो सो गए. आधे घंटे बाद फिर से वो मुझे चोदने लगा. अब दोस्तों हम भाई बहन के बीच बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड के जैसा रिश्ता बन गया है और हम दोनों मौका पाकर घर में ही अवैध सेक्स संबंध बना लेते हैं और एक दुसरे की कामवासना को शांत कर देते हैं. दोस्तों उम्मीद करती हूँ की आप सभी को हम भाई बहन के बीच बने पहले अवैध सेक्स संबंध की यह हिंदी सेक्स स्टोरी “वैलेंटाइन डे के दिन छोटे भाई ने अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर लगाया और जोर से अंदर बच्चेदानी तक पेल दिया ” बहुत पसंद आयी होगी…

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular