होमAntarvasna Hindi Sex Storiesदादी माँ की चुदाई कर डाली अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद

दादी माँ की चुदाई कर डाली अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद

दोस्तों आज की इस कामुकता से भरी अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी में आप पढेंगे की कैसे मैंने मेरी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ की लेटरिंग में चुदाई कर डाली अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद पहले लेटरिंग में चोदा फिर बैडरूम में घोड़ी बनाकर गांड भी मारी :- हेलो दोस्तों मेरा नाम योगेश है और मेरी उम्र 18 साल है. मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता हूँ और पढाई में बहुत ही ज्यादा होशियार भी हूँ. हमारे परिवार में मेरे अलावा मेरे पापा मम्मी और एक बूढ़ी दादी माँ हैं और वो सभी मुझसे बहुत प्यार करते हैं. मैं बचपन से ही मेरी बूढ़ी दादी माँ का सबसे ज्यादा लाड़ला रहा हूँ. हर नासमझ बच्चे को बचपन से ही सेक्स के बारे में जानने की लालसा रहती है और मुझे भी थी और इस लिए बचपन से ही मैं ब्लू फिल्म देखने में बहुत इंटरेस्ट रखता हूं.

अधिक ब्लू फिल्में देखने की वजह से मेरे अंदर सेक्स करने की इच्छा बहुत ही ज्यादा रहती है जिसे शांत करने के लिए मुझे दिन में कई कई बार मुठ मारनी पड़ती है. दोस्तों अश्लील ब्लू फिल्में देख देखकर मैं सेक्स के मामले में बहुत बड़ा खिलाड़ी बन चूका था बस मुझे चुदाई करने के लिए सही मंच नहीं मिल पा रहा था. अपनी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ की चूत की जबरदस्ती चुदाई करने और फिर डॉगी सेक्स पोजीशन में घोड़ी बनाकर उनकी गांड मारने की ये सेक्सी घटना उन दिनों की है जब मेरी परीक्षा चल रही थी तो मेरे पापा मम्मी मुझे दादी के पास उनकी देखभाल और पढाई करने के लिए छोड़कर किसी रिश्तेदार की शादी में शामिल होने के लिए गए हुए थे. अब घर में मैं और मेरी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ बिलकुल अकेले ही थे.

60 साल की बूढ़ी दादी माँ की लेटरिंग में चुदाई कर डाली अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद हिंदी सेक्स स्टोरी

60 साल की बूढ़ी दादी माँ की लेटरिंग में चुदाई कर डाली अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद

मेरी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ अपने जिस्म पर साड़ी पहनती है वो दिखने में थोड़ी मोटी जुरूर है मगर मुझे वो बहुत सेक्सी लगती है. रात में मुझे मेरी बूढ़ी दादी माँ के साथ ही सोना था ऐसा मेरे पापा मम्मी मुझे बोलकर गए थे तो फिर रात में मैं सोने के लिए मेरी बूढ़ी दादी माँ के बैडरूम में चला गया. रात को मुझे पोर्न फिल्म देखकर मुठ मारनी की गन्दी आदत है और हस्तमैथुन करे बिना मुझे नींद नहीं आती. अब मैं मेरी बूढ़ी दादी माँ के सोने का इंतजार करने लगा ताकि उनके सोने के बाद ब्लू फिल्म देखकर मुठ मर सकूँ और अपनी कामवासना को शांत कर सकूँ. करीब आधे घंटे के बाद मेरी बूढ़ी दादी माँ को गहरी नींद आ गई. बूढ़ी दादी माँ के सोने के बाद मैंने मेरे मोबाइल फोन पर अश्लील ब्लू फिल्म देखने लगा.

गन्दी पोर्न फिल्में देखने से शरीर में उत्तेजना बढ़ने लगी मेरा मुरझाया हुआ लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया. मैंने सोचा कि चलो मुठ मारकर अपनी कामवासना शांत कर ली जाये. फिर मैं मुठ मारने लगा जब मैं झड़ने वाला था तो मैं बाथरूम में गया और वहां झड़ जाने के बाद अपना लंड पानी से धोकर वापस सोने के लिए मेरी बूढ़ी दादी माँ के बैडरूम में आ गया. जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया था की मुठ मारने के बाद मुझे बड़ी अच्छी नींद आती है तो रात में कब मेरी आँख लग गयी मुझे कुछ पता नहीं चला. फिर सुबह मेरी आँखे खोली तो मैंने देखा की मेरी बूढ़ी दादी माँ पहले से जगी हुई है और फिर मैंने उनसे बोला की आप नहा लो मैं जब तक हाथ मुँह धोकर आपके लिए नाश्ता बनाता हूं.

फिर मेरी बूढ़ी दादी माँ अपने कपड़े लेकर बाथरूम में नहाने के लिए चली गयी. मेरी दादी मां बाथरूम में थी मैं उनसे यह पूछने के लिए बाथरूम में गया कि नाश्ते में क्या बनाऊं तो मैंने देखा कि मेरी बूढ़ी दादी माँ सिर्फ ब्लाउज और पेंटी मे आधी नंगी थी और वो लेटरिंग में फ्रेश होने के लिए जा रही थी. दोस्तों मैंने मेरी बूढ़ी दादी माँ को पहली बार आधी नंगी देखा था और उन्हें आधी नंगी देखते ही मेरा लंड चुदाई करने के लिए खड़ा हो गया. अब मुझे मुठ मारने की बहुत ही ज्यादा इच्छा हो रही थी इसलिए मैंने जल्दी से अपनी पैंट उतारी। मेरी दादी मां लेटरिंग में थी और मैं मुठ मारने के लिए पूरा नंगा हो गया था मैंने सोचा की दादी मां मुझसे इतना प्यार करती है इस लिए वह मेरी जवानी की प्यास शांत करने में मेरी मदद करेगी और फिर मैं अपना लंड हिलाते हुए लेटरिंग की तरह गया जहाँ मेरी बूढ़ी दादी माँ टट्टी कर रही थी.

शायद मेरी बूढ़ी दादी माँ को बहुत ही ज्यादा जोर की टट्टी लगी थी इस वजह से वो लेटरिंग का दरवाजा अंदर से बंद करना भूल गई थी. मैं लेटरिंग के बाहर थोड़ी देर रुका जब मुझे फ्लैश करने की आवाज सुनाई दी तो मैं धीरे से अंदर लेटरिंग में चला गया मेरी बूढ़ी दादी माँ की चुदाई करने के लिए. मेरा लंड बूढ़ी दादी माँ की चुदाई करने के लिए पूरी तरह से खड़ा था. लेटरिंग में मैंने देखा मेरी बूढ़ी दादी माँ का चहरा दीवार की तरफ था और उनकी पीठ मेरी तरफ थी. मैंने 1 सेकंड भी देर नहीं करी और जल्दी से पीछे खड़े खड़े अपना खड़ा लंड मेरी नंगी बूढ़ी दादी माँ की बुर में पेलने लगा. जैसे ही मेरा लंबा मोटा लंड मेरी बूढ़ी दादी माँ की बुर में गया वो जोर जोर से चिल्लाने लगी उन्हें कुछ समझ ही नहीं आया था की कौन उनकी चुदाई कर रहा है.

मेरी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ की चुदाई करते वक्त मैं बहुत ही ज्यादा गर्म हो चूका था और उस दौरान मेरे दिल की धड़कन भी बहुत जोरों से धड़क रही थी. दोस्तों बुढ़ापे में भी मेरी दादी की चूत किसी 18 साल की वर्जिन लड़की की चूत के जैसे बिलकुल टाइट थी. मैंने करीब पांच मिनट मेरी बूढ़ी दादी माँ की चुदाई करी होगी और फिर उनकी बुर के अंदर ही अपना वीर्य झाड़ दिया. जब चुदाई ख़त्म हुई तब दादी माँ को पता चला की उनके इकलौते पोते ने उनकी इज्जत लुट ली है. जब मेरी बूढ़ी दादी माँ की इज्जत लुटने के बाद मैं उनसे अलग हुआ तो मैंने उनकी चूत की तरफ देखा उनकी चूत में से मेरा सारा वीर्य नीचे गिर रहा था और वह मुझे घुस्से से घुर घूरकर देख रही थी. मैंने पहली बार दादी को मुझ पर गुस्सा होते हुए देखा था उनका घुस्सा करना भी सही था आखिर मैंने उनके साथ अवैध सेक्स संबंध जो स्थापित करे थे वो भी उनकी सहमती लिए बिना. मैं वहां से तुरंत ही बाहर आ गया.

अब मेरे दिमाग में बस एक ही बात चल रही थी की पता नहीं मेरी दादी माँ को कैसा लगा होगा मेरे साथ सेक्स करके. मैंने मेरी बूढ़ी दादी माँ को खुश करने के लिए उनका मनपसंद नाश्ता बनाया और उनके बैडरूम में रख आया ताकि उनका घुस्सा थोडा शांत हो जाये. फिर मेरी बूढ़ी दादी माँ के नहा कर बाथरूम से बाहर आने के बाद मैं भी नहाने के लिए बाथरूम में चला गया. जब मैं नहा कर बाहर आया तो दादी माँ बैठकर नाश्ता कर रही थी और मुझे देखकर भी अनदेखा कर रही थी. दोस्तों जोश जोश में मैं होश खो बैठा था और अपने पापा की माँ की चुदाई कर बैठा था. पापा की माँ की चुदाई करते वक्त मुझे आनंद तो बहुत आया था मगर अब मुझे अपने किये पर बहुत ज्यादा पछतावा हो रहा था.

मेरे अंदर अपनी बूढ़ी दादी माँ से नजरें मिलाने की भी हिम्मत नहीं थी इस लिए मैं उनसे बात करे बिना ही मेरे बैडरूम में चला गया. मेरी बूढ़ी दादी माँ और मेरी लेटरिंग में हुई चुदाई के बारे में सोचते सोचते मेरा लंड एक बार फिर से चुदाई करने के लिए खड़ा हो चूका था तो मैंने अश्लील ब्लू फिल्म देखकर मुठ मारने के बारे में सोचा मगर अब मेरा लंड हस्तमैथुन से शांत नहीं होने वाला था उसे तो फिर से चुदाई करने के लिए चूत की भूख थी. मैंने सोचा कि अपनी बूढ़ी दादी माँ से माफी मांग लेता हूं अगर उन्हें कोई एतराज नहीं होगा तो एक बार फिर से उनकी इज्जत लुट लूँगा और उन्हें नंगी करके बड़े मजे से चोदुंगा.

फिर जैसे तैसे मैं हिम्मत करके मेरी बूढ़ी दादी माँ के बैडरूम में गया. अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद जब मैं उनके बैडरूम में गया तो वो उस वक्त पलंग पर बैठी थी. मैं उनके पैरों के पास जाकर बैठा और उनसे माफी मांगने लगा पर वह कुछ बोल नहीं रही थी. उनका ऐसा बर्ताव देखकर मुझे बहुत ही ज्यादा बुरा लगा. अचानक से मेरी फिर से बूढ़ी दादी माँ को चोदने की इच्छा जग उठी. मेरा लंड पहले से ही सख्त था मैंने मन ही मन में ठान लिया की दादी को अगर सुबह की बात का कोई ऐतराज होता तो वह मुझसे जरूर कहती। मैंने अपने सारे कपड़े उनके सामने उतार दिए और अपना खड़ा लंड उनके मुंह में पेल दिया.

मेरी बूढ़ी दादी माँ ने मेरी इस गन्दी हरकत का जरा भी विरोध नहीं करा और वो किसी रंडी की तरह पुरे जोश के साथ मेरे लंड को चूसने लगी. फिर मैंने करीब 10 मिनट तक मेरी बूढ़ी दादी माँ के मुँह की चुदाई करी और उसके बाद मैं उनके मुंह में ही झड़ गया. 2 मिनट बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया लंड चूसते चूसते दादी मां ने मेरी गांड के छेद में भी अपनी जीभ डाली थी जिस वजह से मेरी उत्तेजना बहुत ज्यादा बढ़ गयी। फिर मैंने और दादी माँ ने एक साथ बैठकर उनके बैडरूम में लगे टीवी पर अश्लील ब्लू फिल्म देखी और उस अश्लील ब्लू फिल्म को देखने के बाद अब हम दोनों सेक्स करने के लिए बहुत ही ज्यादा उतावले हो गए.

फिर अश्लील ब्लू फिल्म देखने के बाद मैंने चुदाई करने के लिए मेरी बूढ़ी दादी माँ को बेड पर लिटाया. अब मैं उन्हें कामसूत्र की मिशनरी सेक्स पोजीशन में चोदने वाला था उन्होंने खुद ही चुदवाने के लिए अपनी साड़ी ऊपर करी और पैंटी को उतार कर मुझे उनकी चुदाई करने का आमंत्रण देने लगी. फिर मैंने धीरे धीरे अपना पूरा लंड उनकी चुत में डाल दिया और उनकी चुदाई करने लगा. इस बार उन्हें मेरे साथ सेक्स करने में बहुत मजा आ रहा था. मेरी बूढ़ी दादी माँ चुदते चुदते जोर जोरों से चिल्ला भी रही थी. उनके मुंह से बस उई माँ… आह…. आई… आह… जैसी मादक आवाजें निकल रही थी और वह मेरा साथ दे रही थी.

उन्होंने मेरे हाथों को कस के पकड़ रखा था मुझे थकान महसूस हो रही थी मेरा स्पीड थोड़ा धीमा हो गया था. फिर उन्होंने अपने हाथों को मेरी गांड पर रखा और मुझे शॉट मारने में मदद करने लगी हमारा दोनों का कनेक्शन बहुत अच्छा हो रहा था उनकी टाइट चूत किसी तंदूर की भट्टी के जैसे बहुत ज्यादा गर्म हो रही थी. उनका शरीर गर्म था उनकी सांसें बहुत तेज थी मेरे भी यही हालत थी. उनकी टाइट चुत को चोदते चोदते मैं थक गया था और मैं बेड पर लेट गया और दादी मां मुझ पर छोड़ गई उन्होंने अपने हाथों से मेरा लंड उनकी चूत के अंदर डाला और उछलने लगी सिसकियां भरने लगी. अवैध सेक्स संबंध बनाने के दौरान मेरी बूढ़ी दादी माँ का साथ देने के लिए मैं भी निचे से उछलने लगा. करीब दस मिनट की चुदाई के बाद में वह भी थक गई और वह भी मेरी तरह बेड पर लेट गई .

अब मैंने मेरी बूढ़ी दादी माँ की गांड मारने के लिए उन्हें डॉगी सेक्स पोजिशन में बैठा दिया और उनकी गांड पर थोड़ा नारियल का तेल डालकर एक जोर के धक्के के साथ अपना पूरा लंड उनकी टाइट गांड में पेल दिया. जैसे ही मेरा लंबा मोटा लंड उनकी गांड के अंदर गया तो वह दर्द के मारे बहुत जोर से चिल्ला उठी और फिर वह नीचे बेड पर लेट गई. मैं डर गया था की कंही बूढ़ी स्वर्ग तो नहीं सिधार गयी. मगर कुछ देर बाद उन्हें होश आया और वो मुझसे बोली की पोते आज मेरी गांड चुदाई बहुत जोर से करना और रुकना बिल्कुल भी मत चाहे मैं कितना ही बोलूं. मैं समझ गया कि दादी माँ आज पहली बार अपनी गांड मरवा रही है इस लिए बहुत ही ज्यादा उत्तेजित है. फिर मैं अपनी पूरी ताकत लगा कर उनकी गांड मारने लगा. मैं मेरी बूढ़ी दादी माँ की गांड जोर से मार रहा था.

उनकी गांड बहुत ही ज्यादा टाइट थी बिलकुल किसी वर्जिन लड़की की गांड की तरह. गांड मारते मारते अब करीब दस मिनट हो चुकते थे और अब मैं झड़ने वाला था फिर करीब तीन चार धक्कों के बाद मेरे लंड ने मेरी बूढ़ी दादी माँ की गांड के अंदर गरमा गर्म वीर्य की पिचकारी चला दी. जैसे ही मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी चली वैसे ही मेरी बूढ़ी दादी माँ मेरी तरफ पलती और मेरे वीर्य और टट्टी से संदे हुए लंड को अपने मुँह में लेकर जल्दी जल्दी चूसने लगी. वह 60 साल की बूढ़ी महिला किसी रंडी की तरह पुरे जोश के साथ मेरा लंड अपने मुँह के अंदर लेकर चूस रही थी और मेरे मुंह से उई माँ… आह… आह.. आउच.. की आवाज निकल रही थी. दोस्तों मेरा लंड कुछ ज्यादा ही लंबा और मोटा था जिस वजह से मेरी दादी के गले तक जा रहा था जिसकी वजह से उन्हें बार बार खांसी आ रही थी.

करीब दस मिनट तक उन्होंने मुझे ब्लोजॉब दिया होगा की मैं एक बार फिर उनके मुंह में ही झड गया और उन्होंने मेरा सारा पानी पी लिया. सेक्स ख़त्म करने के बाद मुझे मेरी बूढ़ी दादी माँ ने समझाया की बेटा आज तेरे और मेरे बिच जो कुछ हुआ है वो और किसी को पता नहीं चलनी चाहिये ये हमेशा एक राज ही रहना चाहिये. मैंने उनसे वादा करा की ये बाद हम दोनों के बिच ही रहेगी. मेरी 60 साल की बूढ़ी दादी माँ की चूत की जुबान पर अब मेरे लंबे मोटे लंड का स्वाद चढ़ चूका है और अब वो आगे से चुदवाने के लिए रोज रात को मेरे पापा मम्मी के सो जाने के बाद मेरे बैडरूम में आ जाती है. दोस्तों हम दीदी और पोता मिलकर रोज रात को अवैध सेक्स संबंध बनाते है मेरे पापा मम्मी के सो जाने के बाद…

RELATED ARTICLES

What's New

Most Popular