Get Indian Girls For Sex

मां को पहली बार चोदा – Hindi Sex Stories

मां को पहली बार चोदा – Hindi Sex Stories

Deepika Padukone XXX Nude Images Pussy Ass Fucking Pics नंगी दीपिका पादुकोण सेक्स फोटो Deepika padukone nude sex images

मां को पहली बार चोदा – Hindi Sex Stories : मम्मीने मुझे बडे प्यार से गालों पर चुमा. मैं तो उसके होठ चाहता था. उसकी बोबे दबाकर उसकी सारी के अंदर हाथ डालकर उसकी चुत को छुना चाहता था. मैं उसके नंगे बदन को सपने मे, खयालों में चोदता ही रहता था. वह थी ही इतनी प्यारी. मगर कश…वह मुंझे अच्छा बच्चा समझती थी. उसे पता नहीं था कि मं अच्छा बच्चा नहीं हुं…मैं उसे बिस्तर पर लिटाकर जी भरके चोदना चाहता था.

घर में मैं और मेरे पिताजी रहते थे. पिताजी सेल्समन होने के कारण काफी बार बाहर गांव जाते थे. एक बार वे ऐसेही बाहर गांव गये थे. मैने मम्मी से कहा, “मैं तुम्हारे साथ सोना चाहता हूं”

उसे क्या पता कि मेरे मन में क्या चल रहा हैं. उसने हामी भरी. रात खाना खाने के बाद थोडा देर टीव्ही देखने के बाद हम उसकी बेदरुम में गये. मां ने नाईटी पहन रखी थी. उसके बडे बुब्ज और आल्मंड शेपवाली गांड बहोत ही प्यारे दिख रहे थे. मेरा लंड तन गया था. कब इसकी नाईटी उतारू और इसकी चूत में लंड डालु ऐसा हो गया था.

मगर मुझे इंतजार करना पडेगा…वो इतनी जल्दी हामी नहीं भरेगी. उसे नींद में गरम करके चोदने का प्लान मैने सोचा था. अंजाम क्या होगा इसका पता नहीं था.

हम बिस्तर पर लेट गये. मां इधर उधर की बाते करती रही और ओफिर करवट बदलकर आंखे मुंद सो भी गई.

मै इसी वख्त का इंतजार कर रहा था. मैने मां की नाईटी जरा उपर की. उसकी सेक्सी पिंढलिया मुझे आकर्षित कर रही थी. मैने पिंढलियों को  चुमना शुरु किया. उसकी गांडपर से हाथ भी फेरा. वह सचमुच सो गई थी.

मैंने साहस कर उसकी नाईटी और उपर की. उसकी जांघे गोरी और बहोत सुघड थी. मैंने धीरे से हाथ अंदर डाला और उसकी चूत को महसूस करना चाहा. मेंरा बदन पुरा गर्म हो चुका था. आज मैं मम्मी को चोदे बगैर छोडनेवाला नहीं था.

मेंरा हाथ उसकी जांघों के बीच चला गया. कुछ देर रुका. फिर मैने उसकी चूत महसूस करनी चाही. बाप रे. वहां तो भट्टी की तरह गरमी थी. उसने चड्डी नहीं पहनी थी. उसकी चूत फुली हुई थी और झांट भी थे. मैंने उसकी चूत को दबाया. फिर उंगली फेरते मैंने उसकी चूत की गर्म दरार को महसूस किया और उंगली अंदर डाल दी. कुछ पल वैसेही रुका रहा. मां जगी नहीं थी. मगर उसकी सांसे जरा तेज हो गई थी. उसकी चुत के अंदर से मुलायम द्रव आता मैने महसूस किया. अचानक उसने करवट बदली और पीठ के बल हो गई. मैं डर गया. उंगली की हरकते रोक ली. वह जगी नहीं थी. वाह. अब तो चुत में मैं आसानी से उंगली कर सकता था. मैंने नाईटी को और उपर किया.

उसकी फुली हुई चूत अब मेरी आंखों के सामने थी. उसके उपर उसका मुलायम पेट और बोबे.

मैने मेरा पाजामा निकाल दिया. पुरा नंगा हो गया. मेरे उपर वासना चढ चुकी थी. आज मं मेरी मां की चूत को चोदने वाला था. चाहे कुछ भी हो जाये. मैने धीरे से उसकी चुत पर होंठ रक्खे. चुमा. उसके दाने को चि\उटकी में लिया और जरा मसला. फिर चूत में उंगली डाली. वह रस से तरबतर थी. मैने उसकी टांगे फैलाई. उसने जरा भी विरोध नहीं किया. मैने उसकी नाईटी को और उपर सरकाया. उसकी गोरी और बडी बोबे मेरी नजर के सामने थी. मैने हल्के से उसके उपर से हाथ फेरा. वह आंखे बंद कर जैसे अब भी सो रही थी. उसकी सांसे मगर तेज हो गई थी. शायद उसके लिये यह सब कुछ सपने में हो रहा था.

मई अभी हाथों के बल उसके मस्त शरीर पर छत की तरह आ गया. उसकी टांगे और फैलाई. छुट की दरार बडी हो गई. उसके स्तनाग्र टाईट हो गये थे. मुंझ से रहा न गया. जोर से उसकी बोबे दबाई और लंड चूईतपर रगडने लगा.

यकायक उसने आंखे खोली. मई ऐसे दर गया की हार्ट फेल हो जाये. मगर उसने मुझे अपने उपर खिंच लिया और बेतहाशा चुमने लगी.

“घुसा तेरा लंड बेटे मेरी चुत में…आ जा…”  और उसने मेरे लंड को पकड कर छेद पर रख दिया. मैने एक जोर से धक्का दिया और मेंरा लंड मां की चूत में था.

धीरे धीरे मैने धक्के देना शुरु किया. उसकी बोबे दबाने लगा. मेरे हाथ जैसे स्वर्ग आ गया था. उसकी चूत इतनी चिकनी थी कि फचक फचक की आवाज आने लगी थी. मैने गती बढा दी. मां गांड उचका उचका कर साथ देती रही.

“मैं तुमसे बहोत प्यार करता हू मां…” मौइने चुदाई करते करते मम्मी से कहा. उसने टांगे और उपर कर दी. उसकी चूत का टच और अच्छी तरह से होने लगा. मैने जोर जोर से धक्के दिये,. मां भी सेक्सी सिस्कारियां भरती रही.

“मुझे रंडी बना दिया बेटे…चोद और जोर से…फाड दे मेरी चूत को….दे धक्के…हा…ऐसे….चुदक्कड मादरचोद…मां को चोद…चोद ले…चाहे उतन चोद ले…मालूम है मुंझे कितना मरता हैं मेरे लिये तू…चोद…और चोद…”

वह कहती रही. मैं दिलो जान से चुदाई करता रहा…

फिर मेरा वीर्य निकल पडा. मां की चूत से भी उसका लिक्वीड झरने लगा. मैं हांफते हुए वैसे ही उसके गर्म बदन को लपेटे उसके उपर पडा रहा.

“मां…तू बहोत ही प्यारी हैं…मुंझे रोज चोदने दोगी?” मैने पुछा.

वह बोली “हां मेरे लाडले. मेरी चूत को तू चाहे तब चोद सकता हैं. मेरी गांड भी मारना तू…मेरे मुंह को ठोक देना. चूत कैसे लगी तुझे मेंरी?”

“बहोत ही प्यारी और सेक्सी मां.”

“जरा आराम कर ले. तेरी लंड फिर खडा होने दे. फिर मुंझे घोडी बनाकर चोदना.”

“हां मां.” मैने खुशीसे कहा और उसके बदन पर से बाजू आ गया.

उसने मेंरा लंड पकड लिया और उसे खडा करने में जुट गई. मैं उसकी बोबे दबाता रहा..गिली चूत में चारो उंगलियां घुसाकर उंगली-चुदाई करता रहा.

फिर क्या….

हो गया लंड खडा और वो बन गई घोडी.

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email. इस ब्लॉग की सदस्यता के लिए अपना ईमेल पता दर्ज करें और ईमेल द्वारा नई पोस्ट की सूचनाएँ प्राप्त करें।

Name *

Email *

Advertisement