Get Indian Girls For Sex
   

साली की नई नवेली चुत और बूब्स का मज़ा लिया – जीजा साली की चुदाई Sex Stories

Sexy Cute Indian School Girl clean shaved Pussy Fingering XXX pic Online Free Full HD Porn XXX Nude Fucking Pic (11)

साली की नई नवेली चुत और बूब्स का मज़ा लिया – जीजा साली की चुदाई Sex Stories : Sali ki chudai रौशनी ने पिछले साल से ही ब्रा पहनना चालू किया था। वह 18 की हो गयी थी। उसके चुचियां 28 इंच से भी छोटे थे। पर गांड का उभार बढ़ आया था। मेरी वाइफ निमिषा की छोटी बहन हे रौशनी। और अपने नाम के मुताबिक़ वो सच मे रौशनी ही हे। उसकी एज इतनी हे की मासिक स्टार्ट हो गई हे और उसे चुदाई मे अच्छा बुरा पता लग गया हे। वैसे मै उसके प्रति आकर्षित नहीं होता। पर एक दिन दोपहर मे मै जब अपनी बीवी के साथ संभोग कर रहा था। तब मै उसकी दो नीली आँखों को खिड़की के एक छेद से बारी बारी अन्दर झांकते हुए देखी।

मेरी ये कच्ची उम्र की साली अपनी बहन और जीजा यानी की मुझे चोदते हुए देख रही थी। मैने देख के भी अनदेखा किया। ऊपर से उस दिन मैने उसकी बहन को ऐसे चोदा की उसकी सिसकियाँ निकलती रहे। और उसे चुदाई का फुल मजा आये। रौशनी ने एंड तक हम दोनों की चुदाई को देखी और फिर मेरा छुट गया तो वो वहाँ से खिसक ली।

पहले वो मेरे से बहुत मजाक मस्ती करती थी। पर पिछले कुछ वक्त से वो उखड़ी सी रहती थी। मुझे देख के या तो डरती थी या शर्मा जाती थी। मै भी समझता था की इस उम्र मे शरीर मे बहुत बदलाव होते हे। मैने रौशनी को गिफ्ट देना और उसकी दीदी घर पर ना हो तो सेड्युस करना चालू कर दिया था। वो हालांकि मोस्ट ऑफ़ ऐसा नहीं होने देती थी की हम दोनों घर मे अकेले हो। अरे हां मै बोलना भूल गया की वो अपनी पढ़ाई की वजह से हमारे साथ मे रहती हे। उसके माँ बाप यानी की मेरे सास ससुर गाँव मे हे। बहन जीजा इसी शहर मे हे तो तू उन्के घर ही रह ले ऐसा उसे कहा गया था। और मेरे ससुर जी मुझे हर महीने उसकी खर्ची देते थे।

फिर एक दिन मै और रौशनी घर पर अकेले थे। मेरी वाइफ अपने लिए शोपिंग करने के लिए गई थी। रौशनी सोफे के ऊपर बैठी हुई थी टीवी देखने के लिए। मै उसके पास मे ही बैठ गया। उसने मुझे देखा और वो जाने लगी। उसका हाथ पकड़ के मैने उसे बिठा दिया वापस और कहा, कहाँ भागती हो?

वो बोली, जीजू कुछ काम याद आ गया।

मैने कहा, फिर कर लेना।

वो बैठी। मैने अपनी जांघो को उसकी जांघो से लगा दिया था। वो काँप सी रही थी। उसका ध्यान टीवी मे नहीं था। ना ही मेरा! मेरा लण्ड पेंट मे मोंस्टर बन रहा था। वो जोर जोर से साँसे ले रही थी। और फिर वो भाग खड़ी हुई वहाँ से। मेरा लण्ड धरा का धरा रह गया। मैने सोचा की साली के अन्दर वासना की आग को पूरी तरह से भडकाना पड़ेगा। उसी शाम को मै रेलवे स्टेशन पर गया। वहां पर बुक वाले से मटिरियल माँगा गरम। उसने मुझे पोर्न फोटोस की और चुदाई की कहानियाओं की एक किताब बबिता भाभी दिखाई। बबिता भाभी नाम की किरदार कैसे अलग अलग लोगों के लण्ड लेती हे उसकी कहानियाँ थी उसके अन्दर। मैने फट फट पेज बदले तो उसका और उसके जीजा का भी एक चेप्टर था। मैने किताब खरीदी और फिर घर आ गया।

फीर मैने जीजा साली के काण्ड के चेप्टर मे रौशनी, आई लव यु और रौशनी इस वेरी चुदाईी वगेरह अपने पेन से लिखा। कहानियाँ पढ़ी तो वो सब की सब मसालेवाली थी और लण्ड खड़ा हो गया मेरा। मै जानता था की रौशनी इसे पढेगी तो उसकी चुत मे भी आग लगेगी।

अब मुझे इन्तजार था बीवी के कही जाने का। और वो दिन पुरे महीने के बाद आया। बीवी को ऑफिस मे से दो दिन के लिए जाना था। मैने अपनी ऑफिस की मीटिंग का बहाना बताया और नहीं गया। बीवी के जाने के बाद मैने बबिता भाभी की किताब निकाली और उसे रौशनी के रूम मे चुपके से रख आया। मोएँ ऑफिस से जल्दी आ गया वापस रौशनी के कोलेज के आने से पहले ही। फिर मै एक बरमूडा पहन के बैठा और अन्दर मैने कुछ नहीं पहना था। रौशनी आई और वो कमरे मे गई। मैने किताब ऐसी रखी थी की उसकी नजर फट से पड़े उसके ऊपर।

रौशनी के कमरे की विंडो ससे छिप के देखा तो वो किताब के पन्ने फेरने लगी। शायद उसने थोडा बहुत पढ़ा भी। फिर शायद उसकी नजर रौशनी आई लव यु वगेरह के ऊपर पड़ी। वो मन ही मन हंस रही थी। और उसने वो कहानी पूरी पढ़ी। बबिता भाभी का किरदार सविता भाभी से भी रोचक था इसलिए उसकी चुत गर्म हो गई। उसने एक बार अपनी चुत को सहलाया और फिर वो किताब को रख के नहाने के लिए चली गई।

वो नहा के आई तो मै उसके पीछे बाथरूम मे घुसा। जानबूझ के मै तोवेल नहीं ले गया अपने साथ। मैने रौशनी की पेंटी देखी और उसे सूंघी। नाजुक चुत की खुसबू सूंघी और मेरे लण्ड मे तूफ़ान आ गया। मैने शावर ओन किया और नहाने लगा। फिर पांच मिनिट के बाद्द मैने अपने लण्ड के ऊपर साबुन लगा के हलकी सी मुठ मार के लण्ड को एकदम कडक कर लिया।

फिर मैने आवाज लगाईं, रौशनी प्लीज़ तोवेल देना मुझे।

वो शायद बाल ही सुखा रही थी अपने। मेरी आवाज सुन के वो तोवेल ले के आई। उसने हलके से नोक किया दरवाजे को और बोली, जीजू।

मैने दरवाजे को ऐसे खोला की वो मेरे नंगे बदन और लण्ड दोनों को देख सके। उसकी नजर मेरे लण्ड पर पड़ी और उसने मुहं फेर लिया और अपने हाथ को अन्दर कर के तोवेल देने लगी। मैने हिम्मत कर के उसके हाथ को पकड़ा और वो मुझे देखने लगी। उसकी आँखों मे बहुत कुछ था, शायद वासना भी!

मैने और हिम्मत कर के उसे बाथरूम मे खिंच लिया। वो बोली, जीजू मै भीग जाउंगी।

मैने कुछ नहीं बोला और उसे अपने बदन से लगा के उसके होंठो को चूसने लगा। वो छटपटाइ पर मेरी गिरफ्त से निकलने नहीं दिया मैने उसे। वो अपने चुचियों के भीगने को देख रही थी और मै उसके होंठो को जोर जोर से चूसने लगा। एक मिनिट तक उसका आखरी संघर्ष चला। और फिर उसके हाथ मेरी कमर के ऊपर आ गए। वो मुझे अपनी तरफ खिंच रही थी। मैने उसे दिवार से लगा दिया और उसके होंठो को चूसते हुए उसके पतले गाउन के ऊपर से उसकी जवान चूचियां मसलने लगा। मेरा लण्ड एकदम खड़ा था और उसकी चुत के बहुत ऊपर था। मै हाईट मे उस से काफी लम्बा था इसलिए मेरा लण्ड उसकी छाती के निचे टच हो रहा था। रौशनी की गांड पर हाथ दबा के मैने उसके एस चिक्स को खोला और दोनों बम्