loading...
Get Indian Girls For Sex
   

पड़ोसन भाभी के बोबे चुसे – पड़ोसन के बोबो से दूध चूसा नोचा काठा

Perfect Tits Porn and Huge Naked Boobs Pics Boobs HD Porn Pictures XXX Big Boobs Pictures (5)

पड़ोसन भाभी के बोबे चुसे – पड़ोसन के बोबो से दूध चूसा नोचा काठा : हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम कुणाल है और मेरी उम्र 26 साल है. में आगरा का रहने वाला हूँ.. (यह भी देखे :>> कुँवारी और छोटी सी चूत को फटवा कर भौसड़ा बनवा लिया … ) और अब में आप सभी को अपनी एक सच्ची कहानी सुनाता हूँ. यह घटना मेरे 20 मार्च को हुई थी, जिसमें मैंने अपनी एक भाभी को अपनी बातों में फंसाकर उनकी चुदाई के मज़े लिए और फिर उस दिन मैंने क्या क्या किया आगे सुनिए.

दोस्तों मेरी एक भाभी है जिसका नाम रंजना है वो मेरी पड़ोसन है उनके बूब्स का आकार 36 है और में पिछले कई दिनों से उसके बूब्स को पाना चाहता था, लेकिन मुझे कोई अच्छा मौका नहीं मिल रहा था, इसलिए में उस मौके की तलाश में लग रहा था और उस भगवान से दुआएं मांगता रहा. एक दिन उनके घर के सभी बाहर गए थे, जिसकी वजह से वो घर में बिल्कुल अकेली थी और उनके पति भी अपनी दुकान पर गये थे. दोस्तों यह सब मुझे एक दिन पहले ही पता चला जब में उनके घर गया था. मैंने उसके बूब्स को निचोड़ने का विचार बना लिया था और इसलिए में सुबह ठीक 9.00 बजे उसके घर पर पहुंच गया.

तब मैंने देखा कि वो उस समय नहा रही थी, तो में वहीं पर बैठकर उनके निकलने का इंतजार करने लगा और कुछ देर बाद वो नहाकर बाहर निकली और उन्होंने मुझे देखा और वो मेरी तरफ मुस्कुराई उन्होंने मुझसे पूछा कि में कब से उनके घर पर बैठा उनका इंतजार कर रहा हूँ? तब मैंने कहा कि अभी कुछ देर पहले ही में आया था और फिर वो मेरे लिए चाय बनाने रसोई में चली गई और जब वो चाय बना रही थी तो मैंने उनके पीछे से जाकर उनकी दोनों आँखो पर अपने हाथ रख दिए, तो उन्होंने मुझसे पूछा कि यह क्या कर रहे हो?

मैंने कहा कि कुछ नहीं, उसके बाद मैंने थोड़ी हिम्मत करके उसके दोनों हाथों को उनके बूब्स के पास वाली जगह से पकड़ा जिससे उनके बूब्स का सुखद अनुभव मुझे मिला. मेरे हाथ भी उनके मुलायम बूब्स को दबा रहे थे, लेकिन मुझे थोड़ी देर के लिए वो मज़ा मुझे मिला था.

फिर मैंने महसूस किया कि उन्होंने अब तक मेरा कोई भी विरोध नहीं किया था जिसको देखकर महसूस करके मुझे लगने लगा था कि शायद वो भी मुझसे ऐसा ही कुछ करवाना चाहती है और उनके मन में ऐसा कुछ चल रहा है, लेकिन वो कहने से डरती है या फिर मुझसे छुपा रही है.

वो कहने लगी कि प्लीज छोड़ दो मुझे हमें कोई देख लेगा चलो अब दूर हटो मुझसे और मैंने उनके कहने पर उनको अपनी बाहों से आजाद कर दिया और (पड़ोसन भाभी के बोबे चुसे – पड़ोसन के बोबो से दूध चूसा नोचा काठा) में बाहर आकर बैठ गया, तो वो मेरे लिए चाय बनाकर ले आई और में उनसे बातें करता रहा और उनसे हंसते हुए बातें करते करते में उनके बूब्स को घूर घूरकर देख रहा था, अपने बूब्स पर मेरी खा जाने वाली नजर को देखकर उन्होंने मुस्कुराते हुए अपनी गोरी छाती को अपनी चुन्नी से ढक लिया, लेकिन फिर भी मुझसे उनकी ब्रा साफ दिखाई दे रही थी और चाय पीने के साथ साथ कुछ देर हंसी मजाक इधर उधर की बातें करने के बाद वो अब उठकर दोबारा रसोई में खाना बनाने चली गयी.

में भी रसोई में चला गया और तब मैंने जानबूझ कर किसी ना किसी बहाने से उनके बूब्स को दो तीन बार और छूकर मज़े लिए और उसके बाद हम दोनों उनके पति जिनको में भैया कहता था उनको खाना देने चले गये. हम दोनों करीब दस मिनट के बाद वापस घर लौट आए और तब मैंने उनसे कहा कि मुझे तुमसे कुछ बात करनी है, तो वो बोली कि हाँ कहो ना क्या कहना चाहते हो? तो मैंने उनसे कहा कि पहले तुम सोफे पर बैठ जाओ, तब उसने कहा कि नहीं अभी मेरे पास बहुत सारा काम पड़ा है, में बैठ नहीं सकती में काम खत्म करके अभी आती हूँ और उसके बाद हम आराम से बैठकर बहुत सारी बातें करेंगे, अब में चलती हूँ.

दोस्तों मैंने उसके चेहरे को देखकर उसके मन की बात को पढ़ लिया था कि उसके मन में अब क्या चल रहा है और वो यह सभी बातें मुझसे झूठ कह रही है और तभी मैंने उनको पकड़कर ज़बरदस्ती अपने पास सोफे पर बैठा लिया और फिर मैंने उसका हाथ इस तरह से पकड़ा कि मेरी उँगलियाँ उसके बूब्स को छू रही थी.

तब उन्होंने मुझसे पूछा हाँ बताओ? और फिर वो मेरा हाथ हटाने लगी. तब मैंने भी अपना हाथ बिल्कुल भी नहीं हटाया और अब में उससे इधर उधर की बातें करने लगा और अपने पैर पर मैंने अपनी कोहनी को रखकर में इस तरह बैठा था कि में उसके बूब्स को अंदर तक साफ देख लूँ और में उससे थोड़ी देर तक हंसकर बातें करता रहा.

उसके बाद मैंने कभी टीवी की तरफ तो कभी इधर उधर देखा और दोबारा से में उसके बूब्स को देखने लगा और थोड़ी देर बाद में सिर्फ़ उनके बूब्स को ही देख रहा और उनसे बातें कर रहा था. मेरा पूरा ध्यान उनकी छाती पर था और बातों पर कम था. दोस्तों वो यह सब देख रही थी, लेकिन फिर भी वो मुझसे कुछ नहीं बोली और मुझसे बीच बीच में वो अपने होंठो पर भूखी बिल्ली की तरह अपनी जीभ घुमा रही थी और में यह सब देख रहा था.

एकदम से मैंने उसकी आँखो में देखना शुरू कर दिया और उसके होंठो को देखना शुरू किया अब उसने मुझसे कहा कि में अब जा रही हूँ और तुम यहाँ आराम से बैठकर टीवी देखो, मुझे बहुत सारे काम भी खत्म करने है और मुझसे यह बात कहकर वो उठी.

में भी एकदम से उठकर खड़ा हुआ और मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया, वो मेरी बाहों में थी और मेरे दोनों हाथ उनके बूब्स के ठीक नीचे थे, वो मेरी मजबूत पकड़ में थी.

उन्होंने अपने आपको मुझसे छुड़ाने की थोड़ी बहुत कोशिश की, लेकिन मैंने उसको नहीं छोड़ा और मैंने उनकी आखों में आखें डाली और देखने लगा. अब उन्होंने मुझसे कुछ नहीं कहा बस देखती रही और में भी कुछ देर तक लगातार उनकी आखों में देखता रहा और उनको में अपने और ज्यादा करीब ले आया.

फिर वो बोली कि प्लीज छोड़ दो मुझे कोई आ जाएगा प्लीज अब दूर हटो मुझसे और वो यह शब्द कहते हुए मुस्कुरा भी रही थी और फिर इतना सुनने के बाद मैंने उनका वो इशारा तुरंत समझकर उनके होठों पर अपने होंठ रख दिए और में चूमने लगा, उन्होंने मुझसे छूटने की बहुत कोशिश की, लेकिन कामयाब ना हो पाई. (पड़ोसन भाभी के बोबे चुसे – पड़ोसन के बोबो से दूध चूसा न