Get Indian Girls For Sex

मैने कहा भाभी एक बार और बुर चोद लेने दो तो उन्होनें कहा कि बेटी जगी हुई है

मैने कहा भाभी एक बार और बुर चोद लेने दो तो उन्होनें कहा कि बेटी जगी हुई है : दोस्तों मैंने अपनी सेक्सी भाभी को बहुत बार रंडी की तरह चोदा है और मैंने मेरी भाभी की गांड भी मारी है बस में मेरी उसी सेक्स स्टोरी को लेकर आप सभी के सामने पेश हुआ हु. मेरी भाभी की चुदाई की यह हिंदी सेक्स स्टोरी उस समय की है जब मेरी उम्र 20 साल थी और मैं छात्र था। और मेरे घर में कोई नहीं रहता था मेरे माता पिता सब बहार गए हुए थे. यहाँ भी देखे >> बस में मिली सविता भाभी ने मेरा लंड चूसने से मना कर दिया रंडी सविता भाभी

उसी दिन मेरे चचेरे भाई साहब अपनी बीबी और डेढ़ साल की बेटी के साथ हमारे घर आये।  और अपनी सेक्सी पत्नी को हमारे घर छोड़ कर अपने ऑफिस के काम से बहार चले गए अब घर मे मैं अकेला ही मर्द था और मेरी सेक्सी भाभी और उनकी बेटी थी। मेरे मन मे भाभी के साथ सम्भोग करने का पागलपन सवार हो गया क्योंकि रात को घर में भाभी और मैं अकेले रहने वाले थे, बेटी उनकी काफ़ी छोटी थी उसे चूत चुदाई के बारे में कुछ ज्ञान नहीं था। >> सविता भाभी को चोद चोदकर उनकी चूत फाड़ी और माँ बना डाला

मैने कहा भाभी एक बार और बुर चोद लेने दो तो उन्होनें कहा कि बेटी जगी हुई है

मैने कहा भाभी एक बार और बुर चोद लेने दो तो उन्होनें कहा कि बेटी जगी हुई है

मेरी सेक्सी रंडी भाभी की शादी को तिन साल हो चुके थे, वे बहुत सुन्दर और सेक्सी हैं और शुरू से ही वे हम लोगों से काफ़ी गन्दे मजाक किया करती थीं और वे काफ़ी खुली थीं हालाँकि मैं बहुत शर्मीला था। पर अब मेरा लंड खड़ा होने लगा था और दो-तीन सालों से मैं हस्तमैथुन करके अपने लंड की बेचैनी शान्त कर लेता था, मेरा किसी लड़की की बुर चोदने का बहुत मन करता था पर कोई जुगाड़ नही हो पाता था। मैनें उस रात उनको अपने साथ चुदाई के लिये राजी करने का प्लान बनाने लगा। >> जिगोलो और रंडी राधा भाभी की चूत की खुजली खूब चुदाई करवाई

आधी रात को मैं बाथरूम गया तो मैंने भाभी के कमरे में गंदी नजर से खिड़की में देखा कि भाभी जगी हैं और मोबाइल पर ब्लू फिल्म देख रही है। मैंने उन्हे आवाज दी कि  भाभी जी अगर आप चाहें तो मेरे कमरे मे आ जाइये। वे रंडी झट से तैयार हो गयीं और अपनी बेटी को लेकर मेरे कमरे मे आ गयीं। मेरी रंडी भाभी जी बगल वाली चारपायी पर अपनी बेटी को दूसरी तरफ़ सुला कर खुद मेरे नजदीक लेट गयी।

फ़िर हम बातें करने लगे, पहले से सोचे हुए प्लान के अनुसार मैंने उनसे कहा कि भाभी एक बात पूछना चाहता हूँ, आप नाराज तो नही होंगी। उन्होने कहा कि ऐसी क्या बात है? मैने कहा कि नहीं पहले वादा करो तब। उन्होने कहा “ठीक है बोलिये, मै नाराज नही होउँगी।“ मैने कहा “भाभी आज मैने अपनी एक क्लासमेट को देखा जिसकी शादी ३-४ महीने पहले हो गयी थी, आज सेक्सी रंडी भाभी बहुत ही खूबसूरत लग रही थी, उसका बदन भर गया है और सेक्सी रंडी भाभी बहुत ही सेक्सी लग रही थी। शादी के बाद ऐसा क्या हो जाता है कि लड़कियों मे इतने परिवर्तन हो जाते हैं?” मैने यह सवाल जान बूझ कर बातों का रुख सेक्स की तरफ़ करने के लिये किया था। उन्होने कहा कि शादी के बाद पति के साथ रहने से ऐसा होता है।

मैने कहा कि खुलकर बताइये…… तो सेक्सी रंडी भाभी मुस्कुराकर मेरे गालों को मसल दी। ओह……………ह्………ह्…………!! मुझे तो मानो मन की मुराद ही मिल गयी। मै समझ गया कि आज मेरा भाग्योदय होने वाला है। मै भी उनके बालों मे उँगलियाँ डाल कर सहलाने लगा। वह भी मेरे बालों को सहलाने लगीं। अब तक वह अपनी चारपायी पर ही थी और मैं अपनी चौकी पर। मैं उनके गालों को सहलाते हुए बोला कि मेरे बिस्तर पर आ जाओ भाभी। सेक्सी रंडी भाभी झट से मेरे चौकी पर आ गयीं और………… और………… और………… और………… और…………मैं तो जैसे पागल हो गया……………जोर से उन्हें अपनी बाहों मे भींच लिया………उन्होने भी मुझे अपनी बाहों मे जकड़ लिया…………और दोनो के होठ एक दूसरे के होठों का चुम्बन लेने लगे………दोनो के जिस्म एक दूसरे मे उलझ गये…………सेक्सी रंडी भाभी जोर जोर से मेरा चुम्मा लेने लगी……

उनके चिपकते तथा चुम्मा चाटी करते ही मैं एकदम बेकाबू हो गया, उफ़्फ़ बरदाश्त करना मुश्किल था अब………  जिस बुर को चोदने की कल्पना पिछले तीन सालों से कर रहा था, तथा जिस प्यारी भौजाई को चोदने की कल्पना मैं दोपहर से कर रहा था………वह सुनहरा मौका मेरे सामने आज आ गया था।,उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्………………अब एक पल भी रुकना असम्भव था। >> भाभी की देसी चुत को वायब्रेट करीये भाभी के साथ सेक्स करेने के लिये

उस वक्त भाभी सिर्फ़ घागरे और ब्लाउज मे थीं। मेरा मन चूँची चूसने पर इस लिये नही गया क्योंकि वह उन दिनों अपनी बेटी को दूध पिलाती थीं………वैसे मे चूँचियों को चूसने की कल्पना करते ही मन लिजलिजा सा हो जाता था।

मैंने भाभी से कहा “भाभी क्या आप मुझे आप की बुर चोदने दोगी?”

तो इसपर सेक्सी रंडी भाभी मुस्कराते हुए बोलीं “आपको रोका किसने है,जो इच्छा हो कर लीजिये मेरे साथ”।

अब तो मानो मेरे सपनो के साकार होने का वक़्त आ गया………मैं उनके बगल से उठ कर उनके टाँगों के बीच पहुँचा और उनका घागरे ऊपर उठा दिया………फ़िर उन्होंने अपनी दोनो टाँगों को ऊपर कर लिया, अब उनकी भरी-पूरी बुर जिस पर झाँटें ही झाँटें थी नजर आ रही थी जो अब मेरे लिये थी। जिन्दगी में पहली बार बुर के दर्शन हुए थे,पर नाइट लैम्प की रोशनी मे जितना दिख रहा था वही बहुत था।

मैंने अपना फ़नफ़नाया लंड उनकी बुर मे डाला……बुर एकदम गरम और गीली थी………ओह्……मेरा पूरा लंड घचाक से उनकी बुर मे बिना किसी रुकावट के चला गया…………क्योंकि भाभी का बुर तो भोसड़ा हो गया था…………खैर पहली बार एक छेद मे डालने का मौका तो मिला चहे वह कुँवारी चूत हो या चुदा-चुदाया भोसड़ा………………मै तो गुरू ऽऽ सातवें आसमान पर था…………खैर उनकी गरम बुर मे पूरा लंड जाते ही मेरा पूरा शरीर झनझना गया और मै तुरन्त ही झड़ गया……और सच बताऊँ मै बेहद शर्मिन्दा भी हो गया कि पहली बार मौका मिला भी तो मै शीघ्र पतन का शिकार हो गया।

मै उनके ऊपर से उतर कर बाथरूम गया, लौट कर उनके बगल मे लेट गया, उन्होंने मुस्कराते हुए पूछा-“क्या हुआ देवरजी बड़ा फ़ड़फ़ड़ा रहे थे, सारी मस्ती कहाँ गयी? बस हो गये शान्त।“ मै अन्दर ही अन्दर शर्मिन्दा तो था पर मैने कहा कि दोपहर से ही तुम्हे चोदने का प्लान बना रहा हूँ और तभी से लंड खड़ा है, फ़िर जिन्दगी