Get Indian Girls For Sex

प्लीज दीदी जीजाजी को लंड मेरी विर्जिन चूत के अंदर भी डालने दो ना

जीजाजी से साली की गांड और चूत की मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी “प्लीज दीदी जीजाजी को लंड मेरी चूत के अंदर भी डालने दो ना” मेरा नाम गुंजन गौर है और में आप सभी को मेरी और मेरे जीजाजी की दीदी के सामने होने वाली चुदाई की सेक्स स्टोरी हिंदी में बताने जा रही हु में ये आशा करती हु की मेरी जीजाजी से चुदाई की यह सेक्स स्टोरी पड़कर आप सभी लडकिया भी अपने अपने जीजाजी के लंड से मस्त होकर चूत मरवा कर सेक्स का असली मजा लूटेंगी. यहाँ भी देखे >> दीदी ने मेरी चूत जीजाजी से चुदवाई रिश्तों में चुदाई अन्तर्वासना सेक्स कहानियाँ

दोस्तों मेरी चुदाई होने से पहले मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरी चुदाई कौन करेगा? मेरी गांड और चूत मेरे ही सगे जीजाजी ने पहली बार चोद कर खोली थी. जिसने मेरे पूरे जीवन को बिल्कुल बदलकर रख दीए,  और फिर मेरी पहली चुदाई खत्म होने के बाद में सारी बातें सोचने लगी कि मैंने यह सब क्या किया?

दोस्तों मेरे बूब्स बहुत मोटे मोटे है और मेरी गांड गोल गोल है और थोड़ी फूली हुई भी. में जवानी की दहलीज पर आते आते  सेक्स के बारे में बहुत सारी बातें समझ गई थी लेकिन कभी कोई लंड नहीं डलवाया था अपनी गांड और चूत में.

प्लीज दीदी जीजाजी को लंड मेरी विर्जिन चूत के अंदर भी डालने दो ना

प्लीज दीदी जीजाजी को लंड मेरी विर्जिन चूत के अंदर भी डालने दो ना इंडियन हिंदी सेक्स स्टोरी

मैं उस समय सिर्फ 20 साल की थी जब मेरे जीजाजी ने पहली बार मुझे रंडी की तरह चोद कर अपना लंड चुसाया था. में तो बचपन से ही अपनी चुदाई करवाना चाहती थी किन्तु मुझे यहाँ मोका बीस बरस की उम्र में मीला, मेरी विर्जिन चूत के अंदर चुदाई करवाने की इच्छा और कुछ अजीब सा महसूस होने लगा था, लेकिन मुझे ऐसा कोई मिला नहीं मिला जिसका फायदा उठाकर में अपनी विर्जिन चूत की चुदाई करवाकर उसको शांत करूं और वो मज़े लूँ. यहाँ भी देखे >> प्रेग्नेंट बहन को जीजाजी के सामने चोदा प्रेग्नेंट दीदी की गांड और चुत को चोदा

अभी कुछ दिन पहले मेरे साथ एक ऐसी घटना हुई जिससे मेरी पूरी जिंदगी बदल गई और अब आप सभी का ज़्यादा समय ना लेते हुए में सीधा उस कहानी पर आती हूँ और बताती हूँ कि मेरी चुदाई का वो सपना कैसे सच हुआ, मुझे कैसे लंड और किसका लंड मिला?

दोस्तों वो मेरी दीदी की शादी का दिन था और में भी बहुत खुश थी के अब मेरी बहन के नसीब में लंड होगा और अब मेरी बहन रोज रात को रंडी की तरह अपनी गांड और चूत चुदवाया करेगी और फिर वो पल आ ही गया, मेरी दीदी की उस दिन शादी हो गई और विदाई के समय मेरी दीदी बहुत ज़ोर ज़ोर से रो रही थी.

वैसे तो घर के सभी सदस्य दुखी थे और उनके साथ साथ में भी रो रही थी, तभी कुछ देर बाद मुझसे मेरी मम्मी ने कहा कि तुम भी अपनी दीदी के साथ चली जाओ कुछ दिन रुकने के बाद हम लोग तुम दोनों के लेने आ जाएगें और तुम्हारे साथ रहने से इसका भी मन लगा रहेगा और फिर मैंने अपनी मम्मी को वो बात सुनकर बहुत खुश होकर जाने के लिए तुरंत हाँ कह दीए और जब में दीदी के ससुराल आई तो मुझे वहां पर बहुत मज़ा आया,

वहां पर सभी का व्यहवार बहुत अच्छा था और वो लोग बहुत प्यार से हंस हंसकर मुझसे बातें कर रहे थे, दोस्तों वो दिन तो ऐसे ही मज़े मस्ती में गुजर गया और उस रात को मेरी दीदी की सुहागरात थी, वैसे मुझे तो पहले से ही पता था कि आज दीदी की जमकर चुदाई होगी और उनकी विर्जिन चूत की सील भी जरुर टूटेगी और आज मेरी दीदी को ठीक तरह से पता चलेगा कि लंड क्या होता है और लोलीपॉप किसे कहते है?

उस रात को में अपनी दीदी की सुहागरात की चुदाई के बारे में सोचकर बहुत ज्यादा जोश में आकर में खुद अपनी विर्जिन चूत में उंगली करके अपनी विर्जिन चूत को शांत करके थककर ना जाने कब सो गई और जब में दूसरे दिन सुबह उठी तो में सीधी बाथरूम में जाने के बाद सीधी दीदी के रूम में चली गई, मुझे पता चल गया कि कल रात की चुदाई से मेरी दीदी की विर्जिन चूत की सील टूट चुकी थी.

उस समय मेरे लंड के रजा जीजाजी कमरे में नहीं थे इसलिए में अपनी दीदी से पूछने लगी कि कल रात को उनके साथ क्या क्या हुआ? तो उन्होंने थोड़ा सा शरमाकर मुझसे बोला कि तेरे  जीजाजी का बहुत मोटा लंड है और उन्होंने मुझे बहुत बुरी तरह से जमकर चोदा और अपनी तरफ से चुदाई में कोई भी कमी नहीं आने दी, वैसे उनको यह काम करना बहुत अच्छे से आता है और मुझे उनका हर एक तरीका बड़ा अच्छा लगा, उनमे बहुत जोश भी है, दोस्तों अपनी दीदी की बातें सुनकर मुझे तो अब वो सभी चूत और गांड की चुदाई की बातें पूरी विस्तार से जानने की इच्छा हो रही थी क्योंकि में अब तक वर्जिन थी और मैंने किसी लंड का मज़ा नहीं लिया था,

मेरा जब भी सेक्स करने का मन होता में अपनी ऊँगली को मेरी चूत में डालकर विर्जिन चूत को शांत कर लिया करती,  एक दिन में अपनी चूत में उंगली कर रही थी के अचानक से मेरे जीजाजी भी कमरे में आ गये और वो अब मुझसे पूछने लगे कि क्या हो रहा है तुम कैसी हो और तुम्हे रात को नींद तो ठीक तरह से आई? तो मैंने उनको कहा कि सब कुछ ठीक है और में यहाँ पर बहुत खुश हूँ और आपके रहते हुए मुझे कैसी परेशानी मेरे साथ आप हो ना और में उनकी तरफ मुस्कुराने लगी.

अब मेरी दीदी हम दोनों से कहकर उठकर बाथरूम में जाने लगी और तभी मेरे लंड के रजा जीजाजी ने तुरंत उनका हाथ पकड़कर लिया और उठकर उनको किस किया और वो मेरे ही सामने दीदी के बूब्स को ज़ोर से दबाने सहलाने लगे, लेकिन दीदी उनसे कुछ नहीं बोली, फिर जीजाजी अपना लंड खुजलाते हुए दीदी से पूछने लगे कि साली तो बहुत सेक्सी हैक्या में तुम्हारी बहन से किस ले लूँ? दीदी बोली कि में इसमें क्या कहूँ आप और आपकी साली जानो..

 

जीजाजी मेरे मोटे मोटे बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे …

दीदी हंसती हुई सीधी बाथरूम में चली गई और लंड के रजा जीजाजी उनके कमरे से बाहर जाते ही तुरंत मुझे अपनी बाहों जकड़कर किस लेने लगे और वो मेरे मोटे मोटे बूब्स को भी ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे, दोस्तों मुझे उनके ऊपर उनकी ऐसी हरकत की वजह से बहुत गुस्सा आ रहा था, लेकिन में क्या कर सकती थी, क्योंकि उनको मेरी दीदी ने जो हाँ कर दीए था और में भी उस समय पूरी तरह से जवान थी और मेरे अंदर भी सेक्स भड़क रहा था, इसलिए में उनका ज्यादा विरोध नहीं कर रही थी,

अब जीजाजी ने मेरी तरफ से कोई भी विरोध ना देखकर उनकी हिम्मत ज्यादा बढ़ गई और उस बात का उन्होंने फायदा उठाते हुए मेरी टी-शर्ट को उतारना चाहा, लेकिन मैंने मना कर दीए और उनसे कहा कि क्या आपका दिमाग खराब हो गया है, अगर कोई आ गया तो क्या होगा? प्लीज अब आप मुझे छोड़ दो, लेकिन तभी जबरदस्ती उन्होंने मेरी कोई भी बात को ना सुनकर एक ज़ोर का झटका देकर मेरी टी-शर्ट को उतारने की जगह खींचकर फाड़ दीए और ब्रा को भी ज़ोर से पकड़कर खींचकर उसके हुक को तोड़ दीए.