Get Indian Girls For Sex

मेरी बहन एक कॉल गर्ल बनी

Meri bahan ek call lady bani:

Kamukta, vergin sex

मेरा नाम कोमल है यह कहानी मेरे परिवार की है। मेरे परिवार में मेरी छोटी बहन सिमरन और मेरी मां रहते हैं। हम नागपुर के रहने वाले है हमारी एक छोटी सी फैमिली है। हम दोनों बहनें अपनी मां के साथ ही रहते हैं। मेरी मां एक अच्छे ऑफिस में जॉब करती है। हमारे परिवार में कमाने वाली सिर्फ मेरी मां ही है जो घर को चलाती है और हमारी फीस भर्ती है। कुछ समय बाद हमारी स्कूल की पढ़ाई पूरी हो चुकी थी। अब हमें कॉलेज की पढ़ाई करनी थी लेकिन परेशानी होती थी। कॉलेज की पढ़ाई के लिए इतने सारे पैसे कहां से आएंगे। जैसे तैसे करके मेरी मां ने हम दोनों बहनों का एडमिशन मुंबई जैसे बड़े शहर के एक कॉलेज में कर दिया। अब हम दोनों बहने मुंबई में ही अपनी ग्रेजुएशन कर रहे थे और हमारी मां नागपुर में ही थी। मैं सोच रही थी कि कॉलेज के बाद मैं पार्ट टाइम जॉब कर लूं ताकि अपना खर्चा खुद ही निकाल सकूं। जिससे मेरी मां का भी थोड़ा खर्चा बच जाएगा फिर मैंने अपने लिए वहीं एक जॉब ढूंढनी शुरु कर दी। मैंने काफी इंटरव्यू दिए काफी समय बाद मेरी जॉब लगी। मैं शॉप में काम करती थी। शॉप में काम करना मुझे अच्छा नहीं लग रहा था लेकिन जॉब भी तो नहीं मिल रही थी।

मुझे बस थोड़े टाइम के लिए जॉब चाहिए थी। कॉलेज खत्म होने के बाद मैं सीधे शॉप पर चली जाती थी और फिर रात को ही शॉप बंद होने के बाद घर जाती थी। सिमरन मुझसे पहले घर पहुंच जाती थी घर जाने के बाद हम दोनों मिलकर खाना बनाते और फिर खाना खाकर सो जाते। ऐसे ही चलता रहा कॉलेज के बाद शॉप पर और वहां से देर रात को घर आती थी। कभी-कभी तो मुझे घर जाने में बहुत देर हो जाती थी। मेरी बहन सिमरन अकेली घर पर रहती थी क्योंकि मैं कॉलेज के बाद सीधे शॉप पर आ जाती थी और वह घर चली जाती थी। कुछ दिनों बाद जैसे ही उसके भी दोस्त बनने लगे वह घर से बाहर जाने लगी थी। कॉलेज खत्म होने के बाद मैं उसे घर भेज देती थी लेकिन वह घर से फिर अपने दोस्तों के साथ घूमने चली जाती थी। घूमने तक तो ठीक था लेकिन वह देर रात तक बाहर ही रहती थी। नए शहर में देर रात तक घर से बाहर रहना मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा था। मेरे घर पहुंचने के बाद भी वह घर नहीं आई मैंने उसे काफी फोन किए लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। मुझे चिंता होने लगी की सिमरन कहां गई और क्या कर रही होगी।

मैं उसे ढूंढने भी कहा जाती मुझे तो पता भी नहीं था कि वह कहां गई हुई है। काफी देर हो गई थी फिर थोड़ी देर बाद सिमरन घर आई। मैंने उससे पूछा कि तुम कहां गई थी उसने कहा कि मैं अपने दोस्तों के साथ बाहर घूमने गई थी। मैंने उसे समझाया कि देर रात तक घर से बाहर मत रहा करो मेरे घर आने से पहले तुम घर आ जाया करो। उस दिन तो वह समझ गई पर थोड़े दिन बाद फिर से वह देर में आने लगी। इस बार तो हद ही हो गई थी वह अपने दोस्तों के साथ शराब पीकर घर आई। उसके दोस्तों ने उसे घर तक छोड़ा और फिर वहां से चले गए। मैंने उससे पूछा तुम इतनी देर तक कहां थी अब तुम्हारा हमेशा का हो गया है तुम शराब पी कर घर आने लगी हो तो उसने मुझे बताया कि मुझे अपनी ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए  किसी आदमी और लडको के साथ सोना पड़ता है और मुझे उसके बदले पैसे भी मिलते हैं। मैं वह पैसे जमा कर रही हूं। मैं दूसरों से अपनी चूत मरवाती हूं।

उसके बाद मैंने उसे बहुत डांटा और कहा कि अगर अगली बार से ऐसा हुआ तो मैं सीधी तुम्हारी शिकायत मां से जाकर कर दूंगी और फिर वह तुम्हें वापस अपने पास बुला लेंगी। यह सुनकर वह थोड़ी घबरा सी गई कि अगर मां को यह बात पता चलेगी तो उन पर क्या बीतेगी। यही सोच कर मैंने भी मां से कुछ नहीं कहा क्योंकि कितने अरमानों से मां ने हमें यहां पढ़ने के लिए भेजा। अगर यह सब मां को पता चलता कि सिमरन यहां आकर क्या कर रही है तो उनको बहुत बुरा लगता। मैं और सिमरन जब कॉलेज गए तो हम दोनों अपनी अपनी क्लास में चले गए थे और घर आते समय मैंने उसे एक लड़के के साथ देखा। थोड़ी देर बाद मैंने उससे उस लड़की के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वह उसका दोस्त है और उसी क्लास में पढ़ता है। मैंने उसे उस लड़के से दूर रहने के लिए कहा। मैंने उससे कहा कि तुम उसके साथ ज्यादा बात मत किया करो। हम दोनों इस शहर में नई है। हमें नहीं पता कि कौन कैसा है हम ऐसे ही किसी पर विश्वास नहीं कर सकते और फिर मैंने कहा कि कुछ दिनों में मां यहां आने वाली है। उनके सामने तुम ऐसी हरकतें मत करना। मैंने उसे मां के यहां आने से पहले सब कुछ समझा दिया था।

कुछ दिनों बाद वह हमारे साथ रहने के लिए मुंबई आई। मैंने मां को बताया कि मैं कॉलेज की बात पार्ट टाइम जॉब कर रही हूं इसलिए आने में देर हो जाती है। मेरी मां ने मुझसे कहा कि तुम्हें जॉब करने की क्या जरूरत है फिर मैंने अपनी मां से कहा की मैं जॉब इसलिए कर रही हूं। ताकि अपना और सिमरन का छोटा मोटा खर्चा खुद उठा सकूं। यह सुनकर मेरी मां को खुशी हुई कि मैं अपनी जिम्मेदारी समझ पा रही हूं। मैं तो समझ ही गई थी लेकिन सिमरन को कौन समझाता वह तो जैसे हाथ से निकलती ही जा रही थी। अगर यह बात मां को पता चलती तो मां उसके बारे में क्या सोचती। लेकिन यह बात मां को बताना भी ठीक नहीं था नहीं तो मां को हमेशा हमारी चिंता सताती रहती इसलिए मैं चुप रही मैंने मां से कुछ नहीं कहा। कुछ दिनों तक मां हमारे साथ ही रही उसके बाद वह नागपुर वापस चली गई थी। मां के जाने के बाद सिमरन फिर से देर रात घर लौटती थी वह अपने दोस्तों के साथ क्लब में जाकर शराब पीकर आती थी। मैं उसकी इन हरकतों की वजह से बहुत परेशान हो गई थी लेकिन उसे समझाने का मेरे पास अब कोई रास्ता नहीं था। मैं सोच रही थी कि उसे नागपुर वापस भेज दू लेकिन उसकी आधी पढ़ाई छोड़ कर उसे वापस भी कैसे भेज सकती थी।

मैंने उसे पकड़ने के लिए घर पर कैमरा लगा दिया और मैं अपने काम पर चली जाती। जब एक दिन मैं अपने काम से लौटी तो मैंने उस कैमरे की रिकॉर्डिंग देखी तो उसमें सिमरन ने किसी लड़के को घर पर बुलाया था और उस लडके ने उसे कुछ पैसे भी दिए। सिमरन एकदम नंगी हो गई उस लड़के के सामने और उसकी पिंक चूत को वह लड़का अपनी जीभ से चाट रहा था। यह सब रिकॉर्डिंग देखते हुए मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी और मैंने अपनी चूत मे उंगली करनी शुरू कर दी। अब मैंने देखा तो वह उसका बडा सा लंड  अपने मुंह में ले रही है और उसे अंदर तक चूसे जा रही है। मैं यह देखकर बहुत गुस्सा हो गई वह लड़का उसके स्तनों को बड़े अच्छे से चूस रहा था। उसके बाद उस लड़के ने उसे घोड़ी बनाकर चोदना शुरू किया। उसने उसके चूतड़ों के बीच में से अपने लंड को अंदर डाल दिया और उसकी चूतडो को पकड़ते हुए धक्के मारने लगा। वह बहुत तेजी से झटके मार रहा था। उसका पूरा बदन हिलने लग गया था।

मुझे साफ साफ दिखाई दे रहा था और वह उसे बड़ी तेजी से चोद रहा है। उस लड़के ने उसे छोडा ही नहीं रहा है। अब मेरी बहन भी शायद उत्तेजित हो गई थी और वह अपने चूतडो को उस लड़के के लंड की तरफ ले जाती और ऐसे ही अपनी चूत मरवाती। उसने उसको आधे घंटे तक उसे चोदा और उसके बाद उसने अपने माल को उसके मुंह के अंदर गिरा दिया उसने सब अपने अंदर ही निगल लिया। मैं यह सब देखकर बहुत हैरान रह गई मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि सिमरन एक कॉल गर्ल बन चुकी है। मैंने भी उसे बोलना छोड़ दिया था और वह ना जाने कितने मर्दों और लड़कों के लंड अपनी चूत मे ले चुकी थी। उसे यह सब अच्छा लगता था इस वजह से मैंने उसे समझाने बिलकुल छोड़ दिया था। वह अब एक नंबर की जुगाड़ बन चुकी है और रातों को दारू पीकर आती है और ना जाने किस किस के साथ घर पर रहती है। मैं अपनी सीधी सादी जिंदगी में ही खुश हूं लेकिन सिमरन की इच्छाएं पूरी नहीं हो रही हैं।


Feedback are closed.

मेरी बहन एक कॉल गर्ल बनी

मेरी बहन एक कॉल गर्ल बनी , Kamukta – कामुकता,Virgin – पहली चुदाई का अनुभव,chikni chut,doodh chatai,gand marai,mota lund, Kamukta – कामुकता,Virgin – पहली चुदाई का अनुभव,chikni chut,doodh chatai,gand marai,mota lund .

मेरी बहन एक कॉल गर्ल बनी