Get Indian Girls For Sex

भाभी को नये साल पर भाइयों ने मिलकर चोदा

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी को अपनी हॉट सेक्सी भाभी के साथ अपनी उस सच्ची घटना को आप सभी को आज सुनाना चाहता हूँ जिसमें मैंने अपनी भाभी के साथ बहुत जमकर चुदाई के मज़े लिए जो एक पतिव्रता पत्नी थी। में और मेरी भाभी के पति को मिलाकर हम तीन भाई है। वो मेरे बड़े भैया की पत्नी हमारी भाभी है, जिनको हम दोनों भाइयों ने मिलकर चोदा और में अपनी भाभी को देखकर शुरू से ही बहुत आकर्षित रहता था। दोस्तों मेरी भाभी दिखने में बहुत हॉट मस्त माल लगती है। वो हमेशा बड़े ही आकर्षक कपड़े पहनती थी और उनके बड़े गले के ब्लाउज से उनके गोरे गोरे बूब्स बड़े ही मस्त नजर आते थे, जिनको देखकर में हमेशा उनकी तरफ आकर्षित होता और वो हमेशा मुझसे खुलकर बहुत हंस हसंकर बातें किया करती, लेकिन कभी भी किसी बात का बुरा नहीं मानती। फिर एक दिन ऐसे ही बातों बातों में दिनेश मजाक करते हुए उनसे अपने मन की बात कहने लगा और अब आगे की वो बात आप ही सुन लीजिए।

अरे यार दिनेश के होते हुए मेरी भाभी को कोई भी तकलीफ़ नहीं होनी चाहिए और भाभी के गीले गदराए बदन को देखकर वो बोला कि भाभी आपको इस रूप में देखकर तो कहीं भाई का विचार बदलकर आपके साथ कुछ करने का वो विचार ना बना ले? यह बात सुनकर वो शरमा गई और वो थोड़ा सा हंसकर वापस से कपड़े उठाने लगी। तभी दिनेश बोला कि भाभी आज आपको देखकर मेरा कंट्रोल खो रहा है कही में आज आपके साथ कुछ ना कर बैठूं? फिर भाभी कहने लगी क्या दिनेश तुम बिल्कुल पागल हो गये हो? और तुम भूल गये हो कि तुम अपने भाई की पत्नी से बात कर रहे हो और वैसे भी तुम अपनी भाभी के बारे में ऐसा कैसे सोच सकते हो? लो वो राहुल भी आ गया। तभी राहुल बोला, ओह क्या बात है? आज तो देवर भाभी के बीच में प्यार चल रहा है और मुझे आपके खिले चेहरे को देखकर सब कुछ पता चल गया है? तो भाभी उससे बोली अरे चुपकर बदमाश जो मर्जी पड़े तू कुछ भी बोलता रहता है और तेरा भाई भी ठीक तेरी ही तरह है, वो भी इतनी देर से ना जाने क्या क्या बकता जा रहा है और वैसे भी तुम दोनों भाई अपने भैया के बिल्कुल विपरीत हो, वो कितने सीधे-साधे है और तुम दोनों कितने तेज हो।

अब दिनेश कहने लगा कि भाभी जी प्लीज हम आपसे मज़ाक नहीं करेंगे तो आप ही हमें बताओ कि हम किससे यह सब बातें हंसी मजाक करेंगे और आपके अलावा कौन है यहाँ पर हमारे पास? भाभी बोली ओह तो कोई बात नहीं तुम यह सब बातें करने के लिए अपनी अपनी एक गर्लफ्रेंड बना लो और फिर उससे तुम जितना चाहो उतना मजाक मस्ती करना, वो तुमसे कुछ भी नहीं कहेगी और उसको भी तुम्हारे साथ बड़ा अच्छा लगेगा और उसे भी मज़ा आएगा। फिर राहुल कहने लगा कि हाँ भाभी हम गर्लफ्रेंड तो जरुर बना ले, लेकिन आजकल की लड़कियों में आप जैसी वो बात कहाँ है जो सेक्सी गदराया हुआ गोरा बदन आपका है और जो गुलाबी होंठ, यह एकदम टाइट और बिल्कुल गोल आकार के बूब्स और यह सही आकार की टाइट उभरी हुई गांड, आजकल कहाँ किसी में इतना सब कुछ मिलता है जो सब कुछ आप में है। अब भाभी राहुल के मुहं से वो सभी बातें सुनकर बड़ी ही चकित होकर कहने लगी अरे यार तुमने तो बिल्कुल ही हद कर दी, क्या तुम लोगों को बिल्कुल भी लिहाज शरम बाकी नहीं रही। तुम यह सब क्या बोल रहे हो और किससे बोल रहे हो? और अगर तुम्हारे भाई को तुम लोगों के इन इरादो के बारे में पता चल गया तो वो तुम्हारा क्या हाल करेंगे? तो दिनेश कहने लगा कि भाभी हमे पूरा विश्वास है कि आप अपने प्यारे प्यारे देवरो के साथ ऐसा कुछ भी नहीं करोगी, क्या आपके देवरो का अपनी प्यारी सुंदर भाभी पर इतना भी हक नहीं कि हम आपसे थोड़ा सा हंसी या मज़ाक कर सके? तो भाभी बोली कि हाँ मज़ाक तक तो ठीक है, लेकिन आज मुझे तुम लोगो के इरादे कुछ और ही लग रहे है और यह सब मुझे तुम्हारी इस तरह की बातें सुनकर कुछ अलग सा महसूस हो रहा है। फिर दिनेश बोला कि भाभी आप ही हमें बताए आप जहाँ कहीं भी जाती हो वहां पर सभी लोग बस आप ही को देखते है ना? भाभी बोली हाँ तो उसमे क्या परेशानी है? देखने वालों को देखने दो। तो फिर अगर हम भी आपको देखते है और आपको इतना चाहते है तो इसमे क्या ग़लत बात है, प्लीज़ भाभी आप चाहो तो हम दोनों देवरो को भी अपना सकती हो, क्योंकि हम दोनों तो आपको अपना बनाना के लिए ना जाने कब से बैताब है, लेकिन आपकी हाँ का इंतजार कर रहे है। अब भाभी बोली तुम दोनों आज बिल्कुल पागल हो गये हो, चलो अब दूर हटो, जाने दो मुझे बाहर बहुत बारिश हो रही है। दोस्तों इस तरह से वो दोनों मिलकर हमेशा जब भी उन्हें कोई अच्छा मौका मिलता अपनी भाभी को अपनी बातों में फंसाने की कोशिश करते रहते थे और अब दिनेश किसी भी तरह से बस अब भाभी को पाना चाहता था। इसके लिए वो बहुत नये नये विचार भी करता रहता।

अब उसने थोड़ी सी हिम्मत करके अपनी भाभी से पूछ ही लिया क्यों भाभी इस नये साल पर आपका क्या करने का प्लान है? तभी वो बोली हुम्म क्या खाक प्लान बनाऊँ, तुम्हारे भाई को तो उनकी कंपनी वालों के साथ कल ही दिल्ली जाना है और उनकी कंपनी अपने सभी काम करने वालों के लिए नये साल पर दिल्ली में एक बहुत बड़ी पार्टी रख रही है, इसलिए उनका वहां पर जाना ज़रूरी है। फिर इस वजह से मेरा नया साल तो इस बार बेकार चला गया और तभी राजू कहने लगा कि भाभी आप इस बात की चिंता क्यों करती हो आपके यह दो दीवाने देवर है ना, हम साथ में मिलकर नये साल में मज़े मस्ती करेंगे, क्यों ठीक है भाभी? तो भाभी ने उनकी बातें सुनकर खुश होकर कहा कि हाँ ठीक है। फिर राजू और दीपक ने मिलकर विचार किया कि कैसे एक साथ मिलकर भाभी को नये साल में चोदा जाए? फिर उस नये साल की पार्टी में वो ड्रिंक्स ले आए और रात के समय उन्होंने पीना शुरू कर दिया और कहने लगे, लो भाभी आप भी लो ना। फिर भाभी ने कहा कि हाँ ठीक है अगर तुम दोनों इतना कहते हो तो में तुम्हारा दिल रखने के लिए सिर्फ़ बियर पी लूँगी और उन्होंने पीने के लिए हाँ कह दिया।

दोस्तों उन दोनों भाइयों में दीपक बहुत ज्यादा समझदार था इसलिए वो उसने बोला कि भाभी ज़रा आप थोड़ा सा बर्फ लेकर आना ऐसे पीने में मज़ा नहीं आएगा और अब भाभी हाँ कहकर उठकर चली गई। फिर भाभी के उठकर जाते ही उसने उसके गिलास में थोड़ी सी वोड्का मिला दी और वो वापस आकर पीने लगी और उसके पीने के कुछ देर बाद अब नशा भाभी को चड़ चुका था इसलिए वो अब बड़ी बहकी बहकी बातें करने लगी थी। तभी राजू ने म्यूज़िक लगा दिया और वो भाभी से उसके साथ में डांस करने का आग्रह करने लगा। भाभी उस समय काले कलर की साड़ी में गहरे गले और बिना बाहँ के ब्लाउज में बड़ी कातिल लग रही थी और फिर वो कहने लगा भाभी आज तो आप बहुत ही सेक्सी मस्त पटाका लग रही हो, कहीं आज में आपके साथ कुछ ग़लत ना कर बैठूं? लेकिन अब भाभी पहली बार उसकी बातों से नाराज़ होने की बजाए मुस्काराई, तो जैसे उन दोनों को उनकी तरफ से एक ग्रीन सिग्नल मिल गया और अब डांस करने के बीच ही राजू ने भाभी की गोरी नंगी पीठ पर अपना एक हाथ सहलाना शुरू कर दिया। उस समय नशे के सुरूर की वजह से वो इसके साथ मज़े कर रही थी और तभी पीछे से दीपक ने आकर भाभी की डोरी को खोल दिया जिससे उनका ब्लाउज खुल गया। अब राजू ने सही मौका देखते ही तुरंत ब्लाउज को निकाल दिया और वो उस समय विरोध करना चाहती थी, लेकिन नशे की वजह से कुछ नहीं कर पा रही थी। अब अपनी सेक्सी भाभी को काली कलर की जालीदार ब्रा में देखकर उन दोनों का हाल बड़ा बुरा हो गया था और अब राजू ने भाभी की साड़ी को भी आराम से खोल दिया और साड़ी खुलते ही दीपक ने भाभी का पेटीकोट नीचे खींच दिया। अब भाभी सिर्फ़ काली कलर की पेंटी और ब्रा में थी दोस्तों जिस सुंदर सेक्सी और गरदाये जिस्म को पाने के वो दोनों आज तक सपने देखते थे। आज वो उनके सामने ब्रा पेंटी में खड़ी थी। जिसको देखकर लगता था कि व