Get Indian Girls For Sex

असंतुष्ट पत्नी को पति ने दूसरे मर्द से चुदवाया

असंतुष्ट पत्नी को पति ने दूसरे मर्द से चुदवाया :-

मेरा नाम अजय हे और मैं मुंबई से हूँ. मैं एक सर्विस मेल हूँ जो पैसे के लिए दुसरो की चूत को मारना पड़ता हे. आप को लगता होगा की बड़े मजे का काम हे चूत भी मिलती हे और पैसे भी. लेकिन उतना भी इजी नहीं होता हे. 90% से ऊपर ऐसी लड़कियां और औरतें मिलती हे जो चुदास का सागर होती हे. और छोटे, और कमजोर लंड वालो का तो पेशा ही नहीं हे इस खेल में.

आंटी या भाभी मिल गई तो उन्हें तो घंटो चोदना पड़ता हे क्यूंकि उनकी प्यास कुछ हट के ही होती हे! पति के ऊपर गुस्से हुई लेडिज गिगोलो को गुलाम समझती हे. जैसे की बीवी की मार खाने वाला आदमी रंडी के ली जालिम होता हे! खेर गन्दा हे पर धंधा हे! एक बार मुझे मेरे मोबाइल के ऊपर कॉल आई. ट्रू कॉलर में लुकमान लिखा हुआ आया. मैंने पिक किया. सामने जो आदमी था उसने कहा, हल्लो आप सर्विस देते हो?

मैंने कहा, हां.

वो बोला मुझे अपनी वाईफ के लिए चाहिए.

मुझे डाउट हुआ और मैंने उसे कहा की एडवांस पेमेंट और मैं घर पर नहीं आता हूँ. वो बोला आप कहो वहां पर मैं अपनी वाइफ को ड्राप कर दूंगा.

मैंने उसे कहा की होटल यशिका पेलेस में आप रूम बुक कर लो मैं वहाँ मिल लूँगा.

वो बोला, क्या मैं भी वहां बैठ सकता हूँ?

मैंने कहा, क्यूँ नहीं.

उसने मुझे शाम को एक जगह पर बुला के पे कर दिया. फिर दुसरे दिन उसने मुझे 1 बजे होटल के लिए कहा. जब मैं गया तो उसने ही कमरे का दरवाजा खोला. मैंने देखा की उसकी वाइफ सेक्सी स्काई ब्ल्यू सलवार स्यूट में सोफे के ऊपर बैठी हुई थी. लुकमान ने कहा, ये मेरी वाइफ हे इमराना. मैंने उसे स्माइल दी. वो भी स्माइल दे के मुझे देखने लगी. उसने फिर कहा, इसको अपने बड़े लंड से ऐसे चोदो की उसकी चूत फाड़ दो. मैं देखना चाहता हूँ आज अपनी बीवी की भयंकर चुदाई को.और वो औरत बार बार मेरी पेंट के तरफ ही देख रही थी. जैसे उसे मेरे लंड का ही बहार आने का इंतजार सा था. फिर वो बोली, आप रेडी हो क्या?

मैंने कहा, मैं तो घर से ही रेडी हो के आता हूँ.

इतना सुनते ही इमराना मेरे पास आ गई और मेरी जांघो के ऊपर हाथ रख दिया उसने. मैंने भी अपने हाथ को उसके बड़े बूब्स के ऊपर रख के दबा दिया. उसके बूब्स इतने बड़े थे की एक हाथ में एक चुन्ची का आना भी मुश्किल था. लुकमान हमारे पास आया और उसने अपनी बीवी की सलवार और कमीज को उतारा. अन्दर ब्लेक ब्रा पेंटी थी जिसके अन्दर ये सेक्सी भाभी की बॉडी शाइन कर रही थी. मैंने अपने हाथ को उसकी चूत के ऊपर रख के दबाया. उसकी चूत पहले से ही गीली थी. मैंने पेंटी की डोरी को खिंचा और उस स्टाइलिश पेंटी को निकाल दिया. इमराना ने अपने हाथ से ब्रा के हुक्स खोले और वो अब मेरे सामने पूरी के पूरी नंगी थी.

लुकमान ने अपने लंड को निकाला. एक पल के लिए तो मैं हंसने को ही हो गया था. उसका लंड खड़ा होने पर भी सिर्फ Four इंच का था और काफी पतला भी. अब मैं समझ गया की क्यूँ वो अपनी बीवी के लिए मुझे बुला के लाया था. इमराना के सामने जब मैंने अपने लंड को निकाला तो उसे देख के उसकी आँखों में एक अलग ही चमक आ गई. वो बार बार मेरे और अपने हसबंड के लंड को देख रही थी जैसे कम्पेर कर रही हो साइज को. मैं उसके पास गया और उसके बूब्स के ऊपर अपनी जबान को लगा दिया. मैंने सर्कल बना रहा था उसके निपल्स के ऊपर और वो मेरे माथे को चुचियों के ऊपर दबा रही थी. मैंने उसके सेक्सी दूध से बहरे हुए जग्स को खूब चूसा!

वो जोर जोर से सिसकियाँ ले रही थी अह्ह्ह्ह अह्ह्ह धीरे से प्लीज़ अह्ह्ह्ह उईइ माँ. और फिर मैंने एक हाथ से उसकी सेक्सी चिकनी गांड को दबाई और उसे सहलाने लगा. और फिर मैंने निपल बदल दी. पहले वाली लाल हो गई थी और कडक भी. फिर मैंने दूसरी को अपने मुहं में डाल के चुसना चालू कर दिया.और फिर मैंने उसे सोफे के ऊपर डाला. इमराना ने अपनी दोनों टांगो को खोला और अपनी चूत मेरे लिए पेश कर दी. लुकमान जोर जोर से लंड को हिला रहा था और उसने कहा, इमराना की चाट दो प्लीज!

मैंने मन ही मन कहा, साले तू मुझे मेरा काम मत दिखा.

मैंने अपने होंठो को जैसे ही इमराना के चूत की पलकों पर रखा तो वो जैसे पिगलने लगी थी. उसके मुहं से एकदम जोर की सिसकी निकल पड़ी और उसने मेरे माथे को अपने भोसड़े के ऊपर दबा दिया. उसकी बॉडी कांपने भी लगी थी. और मैंने देखा की लुक्मान की मुठ निकल गई थी. मैंने फिर से चूत की तरफ ध्यान लगाया और उसे अपनी लम्बी जबान से चाटने लगा. मैं पांच मिनिट तक अपनी जबान को उसके ऊपर घुमा के मजे से चूसता रहा. इमराना उस बिच एक बार झड़ चुकी थी. और उसने मुझे कहा की आज से पहले ऐसा ओरल सेक्स उसे किसी ने नहीं दिया! फिर मैंने उसे कन्धा पकड़ के निचे बिठा दिया. और अपने 7 इंच के पेनिस को मैंने उसके मुहं में दे दिया. वो लंड को मजे से चूसने लगी थी. वो लंड चूसने की अच्छी प्रेक्टिस वाली लग रही थी. उसने लंड को बहार निकलने ही नहीं दिया और मुहं के अन्दर भर के लोलीपॉप खाती रही. पांच मिनिट के अन्दर मैंने उसके मुहं को अपने वीर्य से पूरा भर दिया. वो सब माल पी गई.

उसने लंड को चाट चाट के साफ़ कर दिया. मैंने उसकी जांघो को पकड़ के फिर से उसकी चूत को खोल दिया. और अब की मैं उसके चूत के दाने को चूसने और हाथ से सहलाने लगा. उसे बहुत ही मजा आ रहा था. लेकिन ये सब उसके बर्दास्त के बहार भी था इसलिए वो मुझे रुकने के लिए बेग कर रही थी. लेकिन मैंने उसके चूत के दाने को जब तक वो झड़ नहीं गई तब तक चूसा. वो बड़ी ही चुदासी हो चुकी थी और मुझे चोदने के लिए कहने लगी. उसने कहा जल्दी से अपना लोडा मेरी चूत में डाल दो जान वरना मैं प्यासी ही मर जाउंगी! मैंने उसे बिस्तर के ऊपर लिटा दिया और उसकी चूत में अपनी दो ऊँगली डाली. वो अह्ह्ह आह करने लगी. दुसरे हाथ से मैंने उसके बूब्स को ग्रोप किया और मसलने लगा. वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह येस्श्ह्हह्ह येस्सस्सस्स करने लगी थी. मैं दोनों ऊँगली को चूत की गहराई तक डाल के फिर चूत के दाने को दबाने लगा. वो एकदम से सेक्सी आवाजे निकाल रही थी. लुकमान का लंड फिर से खड़ा हो गया और वो फिर से अपनी बीवी को चुदते हुए देख के अपने लंड को हिलाने लगा. मैंने अब उंगलिया निकाल के उसकी जगह पर अपना मोटा लंड अन्दर कर दिया. इमराना की आह निकल गई. मैं उस से लिपट गया और उसके बूब्स को चूसने लगा. मैंने लंड को पहले धीरे धीरे उसकी चूत में पेला. और फिर अपनी स्पीड को एकदम से बढ़ा दिया. इमराना का मुहं खुला के खुला रहा गया और उसके अन्दर से सिर्फ अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह की ही आवाजें आ रही थी. वो मेरे हार्डकोर सेक्स को बहुत एन्जॉय कर रही थी.

फिर मैएँ इमराना को बिस्तर के ऊपर ही घोड़ी बना दिया. पीछे से मैं अपने बड़े लंड को उसकी चूत में डाल के उसकी गांड को पकड़ के हिला रहा था. वो भी फुल एन्जॉय कर रही थी और कुल्हे हिला के चुदने लगी थी. लुकमान का छुट गया और वो थक के सोफे में बैठ गया. फिर उसे क्या हुआ की वो हम दोनों के पास आ गया. वो इमराना के बूब्स पकड के नोंचने लगा और बोला, कैसा हे ये लंड जान? इमराना के बोलने के होश नहीं थी, लेकिन उसने लुकमान के सामने सुकून से आँखे बंद की जिसका मतलब था की उसे मजा आ गया था.

लुकमान ने मुझे देख के कहा, और जोर से चोदो मेरी रानी को!

मैंने अपने लंड को इमराना की चूत से निकाला और उसे