Get Indian Girls For Sex

Hindi Me Chudai ke kahani – Supreme Hindi sex experiences क्यों खतना करवाना स्वास्थ्य के लिए सही और लाभदायक है ? – Hindi sex memoir antarvasna

Hindi Me Chudai ke kahani :

Photo Credit: Youtube

लड़के अपने लिंग की आगे की चमड़ी के साथ जन्म लेते हैं – वह चमड़ी जो लिंग मुंड को ढके रहती है। जब किसी लड़के या पुरुष का खतना किया जाता है, तो उनके लिंग के आगे की चमड़ी निकाल दी जाती है और लिंग मुंड दिखने लगता है।

वैज्ञानिक शोधों और खोज के अनुसार जिन बच्चे का खतना होता है , वो कई तरह की बीमारियां होने की संभावना कम हो जाती है। इनमें खासतौर पर छोटे बच्चों के यूरिनरी ट्रैक्ट में होने वाले इंफेक्शन, पुरुषों के गुप्तांग संबंधी कैंसर, यौनसंबंधों के कारण होने वाली बीमारियां, एचआईवी और सर्वाइकल कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

पेशाब की नली में संक्रमण

खतना कराये हुए बच्‍चों की पेशाब की नली में संक्रमण नहीं होता है। क्‍योंकि उनके पेनिस के आगे की चमड़ी खतने के दौरान निकाल दी जाती है, यह चमड़ी ही पेशाब की नली में फैलाने के लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार होता है। यह यूरीनरी ट्रैक्‍ट इंफेक्‍शन को होने से बचाता है।

एचआईवी और एड्स

खतना कराने से एचआईवी और एड्स जैसी जानलेवा बीमारी के होने का खतरा भी कम हो जाता है। अमेरिका के जार्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार खतने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि पुरुषों को एचआईवी संक्रमण होने की संभावना कम होती है।

यौन संचारित रोग से बचाव

एसटीडीज यानी यौन संचारित रोगों के होने की संभावना भी खतना होने के बाद कम हो जाती है। पुरुषों में यौन संचारित रोग बैक्‍टीरिया के संक्रमण से फैलते हैं। खतने के बाद सिफिलिस जैसे यौन संचारित रोग से बचा जा सकता है। सिफलिस असुरक्षित मुख, योनि या गुदा मैथुन करने से होता है। कभी-कभार किसी संक्रमित व्यक्ति के शरीर पर सिफि़लिस के घाव के संपर्क में आने से भी आपको सिफि़लिस हो सकता है। लेकिन खतने के बाद इसकी संभावना कम हो जाती है।

कैंसर से बचाव

खतना कराने से पुरुषों को गुप्‍तांग संबंधी कैंसर से बचाता है। इसके अलावा यह महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर से बचाता है जो महिला में पुरुष मित्र के द्वारा यौन संबंध के दौरान फैलता है।

संक्रमण नहीं होता

वैज्ञानिकों का मानना हैं कि खतना किए गए पुरुषों में संक्रमण का कम जोखिम होता है क्योंकि पेनिस के आगे की चमड़ी के बिना कीटाणुओं के पनपने के लिए नमी वाला माहौल नहीं मिलता है, इसलिए संक्रमण नहीं होता।

शैन्क्रोयड

यह बीमारी सेक्‍स संबंध बनाने से फैलती है, लेकिन खतना होने के बाद शैन्क्रोयड जैसी बीमारी से भी बचा जा सकता है।

बैलानीटीस(balanitis) के खतरे को कम करता है

बैलानीटीस की समस्या में लिंग के अगले सिरे के हिस्से में सूजन और जलन की समस्या उत्पन्न होती है। खतने के बाद लिंग के अगले हिस्से की चमड़ी हटा दी जाती है जिस वजह से लिंग का अगला हिस्सा बाहरी वातावरण के संपर्क में रहता है और कम सवेंदनशील हो जाता है जिस वजह से बैलानीटीस होने की समस्या कम हो जाती है।

Hindi Me Chudai ke kahani hindi sex experiences,desi fonts chudai kahaniya,antarvasna in hindi, sex memoir, xxx desi hindi sex kahani, mast chudai kahaniya, bhabhi ki chut chudai. New sex memoir, adult fictions, erotic sex experiences, free sex experiences, loyal sex experiences, erotic fictions, erotic brief experiences, engrossing novels and much extra. Supreme Hindi sex experiences

Hindi sex memoir क्यों खतना करवाना स्वास्थ्य के लिए सही और लाभदायक है ? – Hindi Me Chudai ke kahani

क्यों खतना करवाना स्वास्थ्य के लिए सही और लाभदायक है ? – गान्ड और चूत कहानियाँ Hindi Me Chudai ke kahani सेक्स और सम्बन्ध,Intercourse Training in Hindi,Intercourse Pointers in hindi , सेक्स और सम्बन्ध,Intercourse Training in Hindi,Intercourse Pointers in hindi Hindi sex experiences Hindi sex memoir indian desi sex experiences hindi antarvasna हिन्दी सेक्स कहानियाँ – हिन्दी सेक्स स्टोरी गान्ड और चूत चुदाई की कहानियाँ गान्ड और चूत मारने की कहानियाँ गान्ड और चूत मरवाने की कहानियाँ गान्ड और चूत की नंगी नंगी और गंदी गंदी कहानियाँ हिंदी सेक्स कहानी हिन्दी चुदाई Erotic Hindi Intercourse Tales,Grownup Hindi Jokes, | kamuk kahaniya | उत्तेजक देसी आंटी भाभी की सेक्स स्टोरी | सेक्सी कहानी | कामुक कथा -गंदे जोक्स | सेक्सी कथा | गान्ड और चूत कहानियाँ | सेक्सी जोक्स | चुटकले |हिन्दी सेक्स स्टोरी | चूत की कहानियाँ | Supreme Hindi sex experiences , Hindi Me Chudai ke kahani