Get Indian Girls For Sex

घोडे जेसे लंड से गांड मरी आँखो मे आँसू आ गये – सुहागरात में इंसाफ़

घोडे जेसे लंड से गान्ड मरी आँखो मे आँसू आ गये – सुहागरात में इंसाफ़ दुल्हन की चुदाई : मैं करीना राठौर, 31 साल की चुदी चुदाई विवाहित चुत की रानी हु और में जयपुर से हु मेरी गांड मस्त फूली हुए गोल गोल सुडौल है और मेरे दूध से भरे हुए मम्मे भी फुटबोल के जैसे है, मेरी चुत चुदाई का प्रोग्राम आज से 8 साल पहले शुरू हुआ था मेरी अर्थात मेरी पहली शादी 8 साल पहले हुई थी, और मेरी चुत से एक बच्चा निकाल चुका है जी हाँ मेरी एक बिटिया है जो 6 साल की है,  और में अपनी चुत में मुठ लेकर अब फ़िर से प्रेग्नेंट हो चुकी हु, अब तक में हर प्रकार के  लंड से चुद चुकी हूँ में लंड बदल बदल कर अपनी चुत मरवाती हु में कई सारे कॉलेज और स्कूल के लडको से चुद चुकी हु।

Indian School Girl Big Boobs Nude Pic School Girl Showing Gaand And Chut Photo Fucking Full HD Porn Pic Free Download School Girl Full HD Nude Pic Free Download (21)

शादी से पहले मैंने कभी भी अपनी चुत नहीं मरवाई थी सारे लंड मैंने मेरी शादी के बाद लिए हैं। ऐसा नहीं कि मेरे पति का लंड छोटा है या वो मस्त नहीं चोदते, उनके लंड का आकार 7″ 2.5″ है बहुत दमदार चुदाई करते हैं वो, पर मेरी परेशानी यह है कि अब में एक ही लंड से चुद चुद कर बोर हो चुकी हु अब में कुछ नया ट्रराय करना कहती थी इसी बहाने अब तक में 10 लंड को अपनी चुत और गांड में ले चुकी हूँ !

आप लोग मुझे कहेंगे कि मैं किसी और से अपनी चुत और गांड मरवा कर अपने पति से दगाबाज़ी कर रही हूँ… उनको धोखा देकर चुद रही हूँ… पर मैं अपनी जगह मज़बूर हूँ… साला लंड है ही ऐसी चीज़ एक बार मिला तो चूत बार बार उसको मांगती है… पर मैं इतनी बड़ी धोखेबाज़ भी नहीं हूँ… मेरे बेटी मेरी पति का बीज़ है और अब जो बच्चा मेरे पेट में है वो भी पति का ही है।                                           gand phat gai – घोडे जेसे लन्ड से गांड मरी आँखो मे आँसू आ गये – सुहागरात में इंसाफ़ दुल्हन की चुदाई

मैं अब अपनी शादी से पहली की याद ताज़ा करती हूँ। 2003में परिचित ने मेरे पेरेंट्स को रणवीर के बारे में बोला कि लड़का बहुत अच्छा, सुंदर सुशील है और जॉब भी अच्छी  जयपुर में रहता है। मुझसे पूछा तो मैंने भी हाँ कह दी गांड और चुत में जो चुदवाने की खुजली हो रही थे. और हमारी शादी की तारीख तय हो गई।

मेरी एक सहेली सविता है बहुत हंसमुख और अच्छे स्वभाव की है वो, उसकी शादी कुछ दिन पहली जोधपुर में ही हो गई थी… वो मुझे अपनी पति द्वारा चुदाई की बातें सुनाती थी तो मेरी चूत गीली हो ज़ाती थी।

उसने मेरे लिए अपने दूर की भाभी पूनम जिसका ब्यूटी पार्लर था, मेरी शादी के शृंगार के लिए बुलालिया था .

सविता- पूनम भाभी, आज़ करीना को इतना सुंदर तैयार करना कि रणवीर जीजू करीना को एक परी समझें और देखते ही बेहोश हो ज़ाएँ…

पूनम भाभी ने मुझे पूरी नंगी कर दिया और मेरी झाँटें हेयर रिमूविंग क्रीम से साफ की, मेरी चूत बिल्कुल मखमली कोमल कोमल बना दी… ऐसा लगता था कि चूत ना होकर गुलाब की पंखउडी हो या किसी रंडी के होठ…

पूनम भाभी – करीना, मैंने अब तक कोई दुल्हनों को तैयार किया है पर तेरे जैसी सुंदर और मस्त चूत किसी की भी नहीं थी… तेरा पति भाग्यवान है जो इतनी सुंदर चूत और गांड मारने को मिल रही है उसे !

यह कहते हुए उन्होंने मेरी चूत पर पहले तो हाथ फेरा और फ़िर बहुत ज़ोर की चुम्मी ली…

मैं तो शर्म सी पानी पानी हो गई। मैं सोच रही थी कि क्या मेरा पति भी मेरी चूत को ऐसे ही चूमेगा…?

loading...

फ़िर मेरा विवाह बहुत धूमधाम से हुआ, मैं विदा हुई और ससुराल आ गई अब बारी थी मेरी चुत और गांड फटने की मेरे पाती का घोडे जैसा लंड जो मेरी गांड और चुत में कसने वाला था।

आज मेरी सुहागरात थी और मुझे चुदाई के लिये रणवीर के कज़न की पत्नी ने सजाया, मुझे लाल रंग का लहंगा-चोली पहनाया और फ़िर मुझे हमारे कमरे में छोड़ आई… तभी गर्म दूध का एक लोटा और मेवों की प्लेट भी रख गई।
भाभी ने रणवीर को आँख मारी- दुल्हन बहुत नाज़ुक है… सारी रात है तुम दोनों के पास… बस थोड़ा धीरे धीरे से अपना घोडे जैसा लंड उसकी गांड और चुत में डालना…

रणवीर ने अपना घोडे जैसा लंड खुजालते हुए भाभी के चरण छूकर आशीर्वाद लिया और भाभी खिलखिलाती हुई कमरे से बाहर चली गई और बाहर से कुण्डी भी बंद करती गई।

रणवीर ने मेरा स्वागत किया और साफ साफ बोल दिया की मेरा लंड घोडे जैसा है और आज की चुदाई में तुम्हे थोडा दर्द जर्रूर होगा किन्तु फिर बाद में मजा बहुत आयगा कुछ देर बाद उन्होंने मेरे हाथ पर अपना हाथ रखा तो मेरे शरीर में एक सेक्स की लहर सी दौड़ गयी।

फ़िर उन्होंने मेरी ज्वेलरी उतारने में मदद की और फिर मैंने उन्हें लोटे से दूध पिलाया, अब मैं और रणवीर एक दूसरे से काफ़ी खुल गए थे, रणवीर ने मेरी चोली और लहंगा उतार दिया और मैंने उनका कुर्ता और पाजामा… मुझे बहुत शर्म आ रही थी क्योंकि मेरे नीचे के दोनों वस्त्र बहुत छोटे और ट्रांसपेरेंट थे। मेरे बहुत विरोध करने के बावजूद भी इतनी छोटी और आरपार दिखने वाले अन्तःवस्त्र लेने पड़े मुझे… सविता की जिद पर ! गुलाबी रंग की पैंटी थी, जो मेरी चूत को भी शायद नहीं ढक पा रही थी… और लाल रंग की लेस वाली जालीदार ब्रा… जिसमें मेरी सुडौल चूचियाँ आधी से ज़्यादा बाहर दिख रही थी।

मैंने रणवीर का लंड देखा उनका लंड एकदम घोडे के लंड के जैसा था … और यह भी देखा कि उनका घोडे जैसा लंड अब तक कुछ तन गया था… रणवीर ने मेरे गोल मटोल बूब्स की तारीफ़ की, कहा- वाह, तुम तो ज़न्नत की हूर हो क्या बूब्स है तुम्हारे आज से में रोज इन बूब्स से खेला करूँगा और चूसा चाटा करूँगा!

उनका लंड देख कर मेरे बूब्स शानदार नुकीले हो चुके थे में उनका लंड घुर ही रही थी के अचानक उन्होंने अपने लंड को मुंह में लेने को कहा।