Get Indian Girls For Sex

फार्महाउस में पहली चुदाई – Desi Intercourse Kahani in Hindi- देसी कहानी हिंदी में

intercourse tales in hindi, antarvasna मेरा नाम पायल जैन है और मैं रीवा की रहने वाली हूँ | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी ले कर आई हूँ ये मेरी पहली कहानी है | मेरा कद 5 फुट 5 इंच है और मैं दिखने में सुन्दर भी हूँ और मेरा फिगर भी…

फार्महाउस में पहली चुदाई


intercourse tales in hindi, antarvasna

मेरा नाम पायल जैन है और मैं रीवा की रहने वाली हूँ | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी ले कर आई हूँ ये मेरी पहली कहानी है | मेरा कद 5 फुट 5 इंच है और मैं दिखने में सुन्दर भी हूँ और मेरा फिगर भी बहुत सेक्सी है ऐसा मेरे फ्रेंड्स कहते हैं | मेरा रंग गोरा है और मैं बहुत चुलबुली किस्म की लड़की हूँ | मेरा ये नेचर मुझे क्यूट बनाता है इसलिए मुझसे हर कोई दोस्ती करना चाहता है लेकिन मैं हर किसी से दोस्ती नहीं कर सकती क्यूंकि मेरे घर वालो को लड़के दोस्त बनाना पसंद नहीं | मेरे घर में पापा, मम्मी, दो बड़े भाई हैं और दोनों की शादी हो चुकी है | मेरे पापा का नाम प्रियंक है और वो किराने की शॉप चलाते हैं | मेरे सबसे बड़े वाले भैया अमित भैया वो सरकारी नौकरी करते हैं और उनकी शादी रिया भाभी से हुई है और उनकी दो बेटी हैं पायल  और मुस्कान | मेरी मम्मी अराधना हाउसवाइफ हैं |

मेरे मंझले भैया रोहित भैया वो प्राइवेट जॉब करते हैं लेकिन सरकारी नौकरी के लिए कोशिश करते रहते हैं | उनकी शादी मेघा भाभी से हुई है और मेघा भाभी स्कूल टीचर हैं | अभी फिलहाल में उनके कोई बच्चे नहीं हैं | मेरी उम्र 22 साल है और मैं भी एक प्राइवेट स्कूल में इंग्लिश की टीचर हूँ | वैसे मुझे जॉब की कोई जरुरत नहीं है पर खाली घर में बैठे रहो ये मुझे बिलकुल पसंद नहीं है | मेरे घर वाले मुझे शादी के लिए कभी फ़ोर्स नहीं करते | उनका कहना है कि तुम्हे जब शादी करने की इच्छा हो तब करना बाकी हम शादी के लिए लड़के देखते रहेंगे | मैं भी उनकी बात से सहमत हूँ | वैसे दोस्तों मैं शादी इसलिए नहीं करना चाहती क्यूंकि मुझे अभी जिन्दगी के मजे लेना है | अगर मैं शादी कर लूंगी तो मेरी सारी आजादी छीन जायेगी | दोस्तों मैं आप लोगो को अपनी पहली चुदाई के बारे में बताती हूँ | उस समय मैं कॉलेज के फर्स्ट इयर में थी और मेरा कॉलेज हाईवे रोड पर था | मुझे रोज बस से आना जाना करना पड़ता था |

loading…

एक महिना केवल में बस से गई उसके बाद मेरी एक सहेली और बन गई परिणीता | उसके पास कार थी तो वो मुझे लेने आ जाती थी | जब कॉलेज में मुझे कुछ महीने हो गए थे तब मुझे नए नए और अच्छे बिगड़े सभी दोस्त मिले | उन्ही में से एक लड़का था जिसका नाम अविनाश था और वो बहुत ही हेंडसम था | उसके देख कर ऐसा लगता था जैसे वो जिम जाता है | उसकी हाईट 5 फुट 11 इंच और अच्छा शरीर | वो पढने में उतना अच्छा तो नहीं था लेकिन उसके पास कोटा था इसलिए उसे कॉलेज मिल गया | उसने मुझे एक बार फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी | मैं भी ऑनलाइन थी तो मैंने एक्सेप्ट कर लिया क्यूंकि मैं उसे जानती थी इसीलिए | तभी उसने मुझे मेसेज किया थैंक्स फॉर एक्सेप्टिंग माय फ्रेंड रिक्वेस्ट ! मैंने कहा नो नो इट्स ऑलराइट | उसने पूछा और कैसे हो ? मैंने कहा मैं अच्छी हूँ तुम बताओ ? उसने कहा मैं भी अच्छा हूँ | उस समय रात थी तो उसने मेसेज किया और क्या कर रहे हो ? खाना हो गया ? मैंने कहा कुछ नहीं बस न्यूज़ फीड देख रही हूँ और हाँ खाना हो गया | बस हम दोनों की ऐसे ही बात होने लगी |

फिर मुझे नींद आने लगी तो मैंने उसे गुड नाईट बोल दिया | अगले दिन कॉलेज था | कॉलेज में हम मिले एक दुसरे को स्माइल दिए | फिर कॉलेज खत्म होने के बाद मेरी फ्रेंड कार निकालने गई स्टैंड | उतने में वो भी आ गया | उसने मुझसे कहा तुम्हे घर ड्राप कर दूं क्या ? मैंने कहा नहीं मेरी फ्रेंड आ रही है | तो उसने कहा ठीक है | मुझे लगा वो पैदल होगा लेकिन जब सामने मर्सिडीज़ गाड़ी आई और वो उसमे बैठ कर पीछे बाय बोल कर चला गया | मुझे अपनी आँखों में यकीन नहीं हुआ कि जिस लड़के को मैं कोटे वाला समझ रही थी वो तो रईस बाप की औलाद निकला | शाम के समय उसका फिर मेसेज आया तो मैंने उससे पुछा यार तुम रोज मर्सिडीज़ से आते हो क्या ? उसने कहा हाँ जी | मैंने पुछा तुम्हारे पापा क्या करते हैं तो उसने कहा मेरे पापा इस कॉलेज के ट्रस्टी हैं और ऐसे तो वो बिल्डर हैं | अब मैं उस लड़के पर फिसलने लगी | मैं उसे ज्यादा भाव देने लगी | वो भी मुझसे लह्टने लगा था | मैंने मन में सोचा कि चलो इससे पट जाती हूँ ताकि मेरे बाकी के ख्वाब ये पूरा कर सके | धीरे धीरे मैं उसे अपनी अदाओ में बिखेरने लगी |

फिर एक दिन उसने मुझे खुद ही प्रोपोस कर दिया और मैं तो उससे पटना ही चाहती थी इसलिए मैंने बिना सोचे समझे उसे आई लव यू टू कह दिया | अब हम दोनों बिना किसी को पता चलने दिए रिलेशनशिप में आ गए | फिर एक दिन उसने मुझे अपने फार्महाउस चलने को कहा तो मैंने मन कर दिया | वो मुझे कई बार बोलता कि चलो मैं तुम्हे अपने फार्महाउस घुमा कर लाता हूँ | पर मैं उसे मन कर देती | एक बार हम विडियो चैट कर रहे थे और उस समय मैं भी मस्ती में थी तो मैंने उससे कहा कि तुम अपनी टी-शर्ट उतार के दिखाओ | उसने जैसे ही अपनी टी-शर्ट उतारा हाय क्या मस्त शरीर लग रहा था उसका | फिर उसने मुझसे कहा कि मैं तुम्हे ब्रा में देखना चाहता हूँ तो मैंने भी अपने टॉप को निकाल दिया और बस ब्रा में आ गई | वो देख कर कुछ ज्यादा ही उत्तेजित हो गया और तुरंत अपना 9 इंच लम्बा लंड निकाल कर मुट्ठ मारने लगा | उसका लंड देख कर मैं भी गरम हो गई | उसके बाद उसने मुझसे कहा यार प्लीज कल चलो न मेरे साथ फार्महाउस में | मैंने कहा ओके कल चलते हैं | ये सुन कर वो खुश हो गया और मेरे सामने ही मुट्ठ मार कर अपने लंड को शांत किआ | अगले दिन मैं और वो उसकी कार में उसके फार्महाउस पंहुचे | उसका फार्महाउस काफिया बड़ा था |

जब हम वहां पंहुचे तो उसने मुझे जूस और केक खिलाया और फिर मुझसे कहा कि मुझे तुम्हे प्यार करना है | तो मैंने कहा मैंने कब मना किया कर लो न प्यार | फिर उसने आगे बाधा और मुझे अपनी बांहों में भर कर मेरे होंठ से अपने होंठ को लगा दिया और किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को किस करने लगी | मैं उसके होंठ को किस करते हुए पेंट के ऊपर से ही उसके लंड को सहलाने लगी और वो मेरे होंठ को किस करते हुए मेरे बूब्स को दबा रहा था | उसके बाद उसने मेरे कुरते को उतार दिया और फिर मेरे ब्रा को भी उतार दिया | अब वो मेरे बूब्स को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मेरे मुंह से अहन उन्ह उमह आहा की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे बूब्स को जोर जोर से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कैर्याँ लेते हुए उसके लंड को मसल रही थी | फिर उसके बाद उसने मेरे पायजामा को भी उतार दिया और बेड पर लेटा कर मेरी पेंटी को भी उतार दिया जो गीली हो चुकी थी |

अब उसने मेरे दोनों पैरो को खोल कर अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने लगा और मैं आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए सिस्कारियां भर रह थी | वो मेरी चूत को मजे से चाट रहा था और साथ में मेरे बूब्स भी दबा रहा था और मैं आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए मदहोश हो चुकी थी | फिर मैंने उसके शर्ट को उतार दिया और फिर उसकी छाती चूमते हुए उसके पेंट को भी उतार दिया | अब मैं उसकी अंडरवियर को उतार दी और उसके लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी | फिर मैं उसके लंड पर अपनी जीभ फेरने लगी तो उसके मुंह से आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ की आवाज़ निकलने लगी | मैं उसके लंड को हर तरफ से चाट रही थी और वो आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और चोदने लगा और मैं आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | कुछ देर बाद उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से चुदाई करने लगा और मैं भी आहा ऊंह य्म्म्ह आहाऊ ऊंह मह आ करते हुए गांड उचका उचका कर चुदाई में साथ दे रही थी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद उसने अपना वीर्य मेरे बू