Get Indian Girls For Sex
   

(धीरे से धक्का मारा मेरा लंड का सूपाड़ा ही अंदर गया था की अंजलि ज़ोर से चिल्लाई ओहहह ऊ मरी संजय मर गईईईई कितना मोटा है बहुत दर्द हो रहा है उउक्ककचह मम्मी संजय धीरे डालो अपना ये मूसल लंड मेरी चूत मे )
f187x280_5_big
हाय दोस्तों में संजय मेरी उम्र 26 साल  है  और में एक इंजिनियर हूँ में आपको एक रियल स्टोरी बताने जा रहा हूँ मुझे विश्वास है की आप को जरुर पसंद आयेगी आपका लंड एकदम खड़ा हो जायेगा और आप मुठ मारने पर मज़बूर हो जाओगे और जिनकी चूत गर्म है वो उंगली डाल के अपना पानी निकाल देगी बात उन दिनो की है जब में बी.टेक फर्स्ट इयर मे था उस टाइम मेरी गणित बहुत कमज़ोर थी और मेने अपने एक प्रोफेसर से गणित की कोचिंग लगवाई थी मे रोज कोचिंग जाया करता था वो प्रोफेसर बहुत अच्छी गणित पढ़ाते थे वो घर पर ही कोचिंग पढ़ाते थे उनके साथ उनके घर पर उनकी बीवी थी.
उसका नाम अंजलि था जितना प्यारा और मुलायम नाम था उतनी ही कमसिन वो भी थी एकदम गोरी और नरम बदन वाली वो बहुत ही सेक्सी और मस्त थी और उसकी चूचीयां क्या कहना कोई भी उसको देख ले तो आउट ऑफ कंट्रोल हो जाये ऐसे ही एक दिन मेने उनको झाड़ू लगाते देखा वो नीचे झुकी हुई थी और उनकी मस्त चूंचीयाँ साइड से दिख रही थी उस दिन उनकी चूचीयां क्या कयामत लग रही थी मेरी निगाहे उन पर से हट ही नही रही थी अंजलि भी मुझे घूरने लगी मेरा लंड खड़ा हो गया उसे मे दबाने लगा मेरा दिल करने लगा अभी पीछे से पकड़ के उन्हे चोद डालूं और मे अपने लंड को दबाने लगा मेने मन ही मन उन्हें चोदने का विचार बनाया  बस अब मेरे दिमाग़ में एक ही बात थी? कैसे चोदू अंजलि को?एक दिन मुझे किसी काम से आउट ऑफ सिटी जाना पड़ा मे दो दिन बाद में वापस आया तो मेरी उन दिनो की क्लास और पढ़ाई रह गयी थी  मेने प्रोफेसर सर साहब से एक्सट्रा टाइम माँगा? सर ने मुझे शाम का टाइम दिया मे पहले दिन तो गया मगर जब दूसरे दिन गया तो सर घर पर नही थे अंजलि घर पर ही थी मेने अंजलि से पूछा सर कहा है अंजलि ने कहा वो  तो अपने दोस्त के पापा की डेथ हो गयी है उनके गावं गये है मेने पूछा कब आयेगे  अंजलि ने कहा वो कल आयेगे ओके मेम में कल आता हूँ अंजलि ने कहा संजय अच्छा हुआ तुम आ गये ज़रा मार्केट से मेरे लिये सब्ज़ी ले आओ मेने कहा ओके मे सब्ज़ी लेने गया और करीब 45 मिनिट में वापस आ गया  अंजलि ने उस टाइम गेट पर अंदर से कुण्डी लगा रखी थी.

मैने डोर बेल बजाई अंजलि नही आई मैने फिर से डोर बेल बजाया और इस बार अंजलि गेट खोलने के लिये आई जैसे ही उसने गेट खोला?.उफ़फ्फ़?  मुझको एकदम शॉट लगा और मैने देखा की अंजलि बाथरूम से नहाती हुई एकदम गीली बाहर आ गयी थी उसने अपने बदन पर अपनी चुन्नी लपेट रखी थी और नीचे सिर्फ़ टावल लपेट रखा था मेरा तो उसको देख कर लंड खड़ा हो गया वो तो अब किसी तरह काबू मे नही रहा?  उसकी चुन्नी से उसकी गोरी गोरी चूंचीयां और गुलाबी निपल साफ दिख रहे थे? उउउफ़ क्या चूंचीया दिख रही थी उसकी चुन्नी मे से? उसके गुलाबी तने हुये निपल साफ नज़र आ रहे थे.

में उसकी तरफ देखने लगा उसने टावल के उपर से अपनी चूत पर हाथ फेरते हुये मुझसे कहा बैठो मे कपड़े पहन के आती हूँ मैं अंदर आ गया और कुर्सी पर बैठ गया और सोचने लगा की अंजलि को कैसे चोदू इतने मे अंजलि आ गई मैने कहा में जाऊं मेडम तो उसने कहा चाय (टी) पी कर चले जाना? अंदर टी.वी वाले रूम मे बैठ जाओ मैं चाय बनाकर लाती हूँ  में टी.वी वाले रूम मे जाकर बैठ गया मैने टी.वी चालू किया तो उस टाइम कोई चेनल नही आ रहा था मैने अंजलि से कहा मेडम कोई चेनल नही आ रहा है तो अंजलि ने कहा सी.डी पर गाने लगा लो मैने जैसे ही सी.डी चालू की तो? उसमें ब्लू फिल्म चलने लगी में एकदम चोंक गया और एकदम से मैने बंद कर दिया अंजलि की आवाज़ आई क्या हुआ चालू नही हुआ क्या मैने कहा कर रहा हूँ तो में ब्लू फिल्म चालू करके बैठ गया एक तो में पहले से ही बेचैन था और उस पर ये फिल्म मेरा लंड पेन्ट मे रहने से इनकार कर रहा था में उसे उपर से ही मसल रहा था.

इतने मे अंजलि पीछे से चाय लेकर आ गयी और पीछे से ही वो फिल्म देखने लगी और उसे मेरी पेन्ट के उपर का टेंट भी साफ दिखाई दिया मुझे मालूम नही पड़ा था लेकिन वो सी.डी देखते हुये मेरा लंड जिस अंदाज़ मे फनफना गया था मेरे सामने अंजलि की चूत और उसकी चूचीयां घूम रही थी अब मैने सोच लिया था बस आज तो अंजलि को चोदना ही है? मैंने अपने आप से ही बड़बड़ाते हुये कहा अंजलि आज तुम्हारी चूत मे ये लंड घुसेगा ये उसने सुन लिया था में अपने लंड को मसलने लगा  मेरा लंड जबरदस्त खड़ा हो गया और किसी भी तरह से अंदर नही रह पा रहा था तभी अंजलि ने पीछे से आवाज़ दी संजय ये क्या कर रहे हो पहले तो मे सकपका गया और कहने लगा नही मेडम में में  मेरे मुँह से आवाज़ नही निकल रही थी फिर भी मैने कहा मेडम वो वो सी.डी तो पहले से लगी हुई थी मैने डरते हुये कहा वो सामने आ गयी और कहने लगी क्या ये तेरे सर भी ना सी.डी नही निकाल कर गये.

मुझे अंजलि की आँखो से लगा की वो भी थोड़ा नाटक कर रही है और आज चुदाने के मूड मे है उसने मुझसे कहा ये लो चाय पी लो मैने कप लिया वो मेरे सामने सोफे पर बैठी और पूछा पहले तुमने ऐसी फिल्म देखी मेने कहा नही अभी तक टी.वी पर वो सीडी चल रही थी और अंजलि भी उसे देखने लगी मेरा लंड अब आउट ऑफ कंट्रोल हो गया मैने उसकी तरफ देखा वो भी मेरे लंड को देख रही थी मैने मेरी पेन्ट के उपर से लंड को दबाया और मैने उसे ज़ोर से पकड़ लिया उसने कहा  ये क्या कर रहे हो मैने कहा मेडम मुझे नही मालूम कंट्रोल नही हो रहा अंजलि ने कहा ज़रा मुझे तो दिखाओ तुम्हारा वो कैसा है  मैने कहा मुझे शर्म आती है उसने कहा यहाँ और कौन है देखने वाला में भी तो तुम्हारे सामने नहाते हुये आ गयी थी.

मैने सोचा यही मौका है और फिर मैने अपनी पेन्ट निकाल को दिया और अंडरवेयर भी निकाल कर मेरे 7.5 इंच लम्बा और 2 इंच मोटे लंड को बाहर निकाला अंजलि की तो आँखे फट गयी उसे जैसे बिजली का शॉट लगा हो और बोली बाप रे इतना लम्बा और इतना मोटा मैने इतना बड़ा कभी नही देखा मैने कहा  क्यों सर का भी तो ऐसा ही होगा अरे नही तुम्हारे सर का तो इसका आधा है और एकदम ढीला ये कितना मोटा और कड़क है और वो उठ कर मेरे पास आ गयी और उसने मेरे लंड को हाथ लगाया उसका हाथ लगते ही लंड और ज़ोर से उछला वाह रे आज तो मज़ा आ जायेगा कहते हुये मेरे उछलते हुये लंड को अपने हाथ मे लिया और हिलाने लगी मेरा तो खुशी से बुरा हाल था आज तो मेरा सपना पूरा हो रहा था अंजलि को चोदने का अब वो मेरे लंड को कुछ देर सहलाती रही.

फिर नीचे बैठ गयी और लंड को चूमते हुये मुँह मे ले कर चूसने लगी मेरा लंड उसके मुँह में पूरी तरह पूरा नही जा रहा था ये मेरा पहला मौका था और मे काफ़ी गर्म हो चुका था उसकी इस हरकत से 5 मिनट मे मेरा पानी उसके मुँह मे निकल गया अंजलि ने कहा ये क्या हुआ इतना जल्दी कामतमाम हो गया मैने कहा ऐसी बात नही है पहली बार किसी ने मेरा लंड चूसा और वो भी फिल्म देखते हुये और आपको आधी नंगी देख कर में पहले ही बहुत गर्म हो गया था  इसलिये जल्दी हो गया मेरा लंड झड़ने के बाद भी ढीला नही हुआ था ये देख कर वो खुश हो गयी उसके मुँह और गालो पर मेरा वीर्य लगा हुआ था इसलिये वो और भी सेक्सी लग रही थी ये देख कर मेरा लंड 5 मिनिट मे ही फिर से कड़क होने लगा अंजलि ने मुस्कुराते हुये पूछा  कैसा लग रहा  मैने कहा मज़ा आ रहा है मेडम  उसने मेरी तरफ देखते हुये पूछा और मज़ा चाहिये.

मैने कहा हाँ तो चलो बेडरूम मे मेंने बेडरूम मे जाने के पहले उसे ज़ोर से अपने पास खींचा और उसके होंठो को किस करने लगा अब मैने उसकी भरी हुई चूंचीयों को भी हाथ लगाया और उसे अपने से चिपका के उसको बेडरूम मे ले गया इसके साथ ही अंजलि ने मुझे अपने दोनो हाथो मे जकड़ लिया मैने भी उसको कस के पकड़ लिया और ज़ोर –ज़ोर से किस करने लगा और हम बेड पर लेट गये मैने अपना हाथ उसके गोल गोल और कसी हुई चूंचीयों पर घुमाया और ज़ोर से दबाने लगा उसके मुँह से ऊओह  संजू और ज़ोर से दबाओं तुम्हारे सर के हाथ मे तो ताक़त ही नही है मैने जल्दी से उसके ब्लाउज के बटन खोल डाले और उसकी काली ब्रा के उपर से ही चूंचीयों को किस करने लगा ब्रा के उपर से ही निपल को मुँह मे ले लिया और चूसने लगा उसकी ब्रा मेरे थूक से गीली हो गयी थी साड़ी भी आधी खुल गयी थी वो सिसकारी ले रही थी श उउउफ़फ्फ़ ओह माआअ की आवाज़ आई.

मैने धीरे धीरे अपना एक हाथ साड़ी और पेटीकोट के उपर से उसकी गठीली जाँघो पर लगाया और उसकी चूत तक पहुँचाया जैसे ही मेरे हाथ ने उसकी फूली हुई गदराई चूत को टच किया वो एकदम उछल गयी अब उसने अपनी साड़ी निकाल दी और मैने उसके पेटीकोट को खोल दिया और उसके पेट को सहलाते हुये उसके गोल और कड़क चुतड दबाते हुये पेटीकोट को नीचे खिसकाया और फिर उसने पैर झटकाते हुये उसे निकाल दिया उसने ब्लेक ब्रा पहन रखी थी ब्रा के अंदर उसके दूधिया स्तन बहुत ही उत्तेजक लग रहे थे इस हालत मे उसे देख कर आप भी आउट ऑफ कंट्रोल हो जाते अब उसने उसकी चिकनी चिकनी जाँघो की बीच में सिर्फ़ स्काइ ब्लू कलर की पेंटी नज़र आ रही थी वो भी जालीदार थी उसकी चूत एक दरार जैसी थी और पेंटी उसमे धँसी हुई थी ये देख कर मेरा लंड एकदम कड़क हो गया.

मैने उसे अपने पास खींचा तो मेरा लंड सीधे उसकी पेंटी के अंदर की चूत को पेंटी के उपर से ही सलामी दे रहा था मैं अब उसे पागलो की तरह किस करने लगा  उपर से नीचे तक मैने बहुत किस लिये गीली जीभ की नोंक से उसके चिकने पेट को चाटा अब मैने पीठ के पीछे हाथ ले जा कर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसकी चूंचीयां उछल कर बाहर आ गयी उस