Get Indian Girls For Sex
   

नौकर के बेटे ने मुझे चोद दिया - Hindi sex stories

Big natural boobs Valentina Nappi takes her coach big cock after the match Full HD Porn FREE Download tight pussy fucked00012

नौकर के बेटे ने मुझे चोद दिया - Hindi sex stories

नौकर के बेटे ने मुझे चोद दिया - Hindi sex storiesहाय मेरे प्यारे दोस्तों मैं आपकी सोनल रांड | मेरे अन्दर दबा कर सेक्स भरा हुआ है | मेरे गांडू पति का लंड छोटा है और मेरी टाइट चूत को अन्दर तक नहीं चोद पाता इस कारण चुदाई होते हुए भी चुदाई का अहसास नहीं होता गांड मेरे उप्पर कूदकाद कर पानी निकाल देता है उसकी खुद की चुदाई की आग तो शांत हो जाती है किन्तु मेरी टाइट चूत ठंडी नहीं हो पाती | मैं इसलिए बाहर की दुनिया में सैक्स की तलाश में घूमती रहती हूँ और कई बार मुझे ऐसे लोग मिले भी लेकिन मेरे साथ ज्यादा टिक नहीं पाए और मुझे छोड़ के चले गए | अगर आपको लगता है कि आप मेरी अगन बुझा सकते हो तो आप मेरे पास आ सकते हो आप इस लिंक पर क्लिक करके मुझसे संपर्क कर सकते है :

Click Here >> Contect Me For Sex ( आप का लंड 6 ‘’ से लम्बा होना चाहिये)

| चलिए अब मैं आपको अपनी रोचक कहानी बताती हूँ जिसमे मैंने अपने नौकर से चुदवाया था |

ये बात है दो साल पहले की जब मेरे गांडू पति को काम के सिलसिले में बाहर जाना था एक महीने के लिए और मैं ये सोच रही थी कि अब मुझे एक महीने तक चुदाई करने नहीं मिलेगी | मेरे घर में एक बुढा सा नौकर था उसका नाम था ननकू | ननकू की तबियत अचानक ख़राब हो गई और उसने मेरे घर में काम करने के लिए अपने बेटे को गाँव से बुला लिया | उसका नाम था ज्ञानेंद्र सब उसे रंडवे समीर बुलाते थे | वो गाँव में खेती करता था लेकिन बहुत पतला था शरीर से | उसकी शकल से वो बहुत भोला सा लग रहा था | मुझे लगा ये किस काम का है अगर ये किसी को चोदे तो उसे ज्यादा देर तक चोद भी न पाए |

मुर्गे ने फार्म के हर जानवर को चोदा पूरी रफ्तार के साथ

मेरे गांडू पति जा चुके थे और अब घर में मैं और रंडवे समीर ही रहते थे | मुझे लगता था रंडवे समीर बहुत शर्मीला है क्योंकि वो हमेशा सिर झुकाके बात करता था और मैं जो भी करने को कहती थी चुपचाप कर देता था | लेकिन वो बहुत चालू था सर झुका कर वो मेरे दूध देखता रहता था | रंडवे समीर हमारे घर में ही रहता था और वहीँ खाता और सोता था | एक बार रंडवे समीर बाहर नल में सटक लगा के नाहा रहा था | मैं अन्दर खड़ी थी और उसे देख रही थी | तभी रंडवे समीर ने पानी बंद किया और तौलिया से खुद को पोंछने लगा | उसने पुरे कपडे उतार दिए थे और सिर्फ तौलिया लपेट रखी थी | तभी उसकी तौलिया खुल गई और नीचे गिर गई और एक पल के लिए वो नंगा हो गया |

मेरी नज़र उसके लंड पे पड़ी और मैं हैरान रह गई | उसका लंड अभी सोया हुआ था फिर भी मेरे गांडू पति के खड़े लंड से बड़ा लग रहा था और मोटा भी | उसने जल्दी से अपनी तौलिया उठाई और अपने ऊपर लपेट ली और यहाँ वहां देखने लगा | अब मैं रंडवे समीर की ओर आकर्षित होने लगी थी और उसके लंड लंड की प्यासी बन गई थी | मैं अब रंडवे समीर को छूने के बहाने ढूढंती रहती थी और कभी कभी उसको भी पकड़ लेती थी | हम कभी कभी शाम को खेलते भी और मैं उसका फायदा उठा लेती थी |

एक बार घर में ज्यादा काम नहीं था तो रंडवे समीर ने कहा मेमसाब मैं बाहर अपनी तेल मालिश कर रहा हूँ | तो मैंने कहा हाँ ठीक है जाओ और अन्दर से खड़े होकर उसको देखने लगी | वो बैठ कर अपनी तेल मालिश कर रहा था तभी उसने अपने पजामे में हाँथ डाला और अपने दोनों हाँथ से अपने लंड की भी तेल मालिश करने लगा | मैं अन्दर खड़े होकर अपनी चूत मल रही थी और ऊँगली डाल रही थी | फिर वो थोड़ी देर वहीँ बैठा रहा और उठ कर नहाने चला गया | जब वो नाहा रहा था तो वो कुंडी नहीं लगता था इसलिए मैं छुप कर दरवाज़े से उसको देख रही थी | वो अन्दर खड़े होकर मुट्ठ मार रहा था लेकिन मुझे उसका लंड नहीं दिख रहा था | फिर उसका मुट्ठ निकला और वो हल्का सा घुमा तो मैंने उसका खड़ा लंड देखा और मुझे मज़ा आ गया |

उसका लंड बहुत बड़ा था और मोटा बिलकुल जैसा मुझे चाहिए था | अब मैं उससे चुदने के सपने देखने लगी और सोचने लगी कि कैसे उसको मुझे चोदने के लिए मनाऊ | फिर मैंने सोचा क्यों ना मैं इससे तेल मालिश करवाऊ | तो मैंने अगले दिन उससे कहा रंडवे समीर क्या तुम मेरी तेल मालिश कर सकते हो ? तो उसने कहा हाँ मेमसाब कर दूंगा, चलिए | तो मैं उसे लेकर अन्दर वाले कमरे में चली गई और मैंने सिर्फ मैक्सी पहनी थी तो मों जाके बिस्तर पर लेट गई | मैं उल्टा बिस्तर पर लेट गई और उससे कहा पहले मेरे पैर की तेल मालिश करो |

अब उसने अपने हाँथ पे तेल लिया और मेरे पैर पर लगाने लगा | मैंने उससे कहा था कि मेरी मैक्सी पर तेल नहीं लगना चाहिए | तो वो मेरी मैक्सी बचा बचा के तेल मालिश कर रहा था | वो पहले सिर्फ मेरे घुटने तक ही पैर मल रहा था तो मैंने कहा थोडा सा और ऊपर करो | तो उसने मेरी मैक्सी थोडी सी ऊपर की और मेरी जांघों को मलने लगा | तो मैंने कहा और ऊपर तक करो तो वो रुक गया | तो मैंने पूछा रुक क्यों गए तो उसने कहा मेमसाब हाँथ में तेल है आप ही उठा दो | तो मैंने मैक्सी अपनी गांड से भी ऊपर तक उठा दी और मैंने पैंटी भी नहीं पहनी थी |

फिर उसने तेल मालिश करना शुरू की लेकिन उसका हाँथ मेरी गांड तक नहीं आ रहा था | तो मैंने कहा जहाँ तक दिख रहा है वहां तक पूरा मलो | तो उसने अब मेरी गांड पे हाँथ और मेरी गांड पे हाँथ फिराना शुरू कर दिया | फिर मैंने उससे कहा अब वहीँ से नीचे जाओ तो उसका उँगलियाँ मेरी टाइट चूत को छू रही थी और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था | फिर मैं पलट गई औ